अनिल अंबानी की जीवनी | Anil Ambani Biography In Hindi

loading...

Anil Ambani

पूरा नाम   – अनिल धीरुभाई अंबानी
जन्म      – 4 जून 1959
जन्मस्थान – मुंबई ( महाराष्ट्र )
पिता –  धीरुभाई अंबानी
माता      –  कोकिलाबेन अंबानी
विवाह      – टीना मुनीम ( Anil Ambani Wife )

 Anil Ambani Biography In Hindi

अनिल धीरुभाई अंबानी का जन्म 4 जून 1959 को महाराष्ट्र के मुंबई में हुआ. वे भारत के महान उद्योगपति धीरुभाई अंबानी के छोटे बेटे है और मुंबई में रहते है. मुंबई यूनिवर्सिटी के के.सी. कॉलेज से वे ग्रेजुएट हुए और पेनसिलवेनिया यूनिवर्सिटी के व्हार्टन से उन्होंने MBA की उपाधि प्राप्त की. बाद में उन्होंने पूर्व बॉलीवुड अभिनेत्री टीना मुनीम से शादी कर ली. उनके दो बेटे अनमोल और अंशुल भी है. साथ ही उनका एक बड़ा भाई मुकेश अंबानी और दो छोटी बहने दीप्ती सलगओकार और नीना कोठारी भी है.

अनिल धीरुभाई अंबानी एक भारतीय व्यवसायी और निवेशक है. वे 2005 में आये रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन है. अनिल अंबानी रिलायंस कैपिटल और रिलायंस कम्युनिकेशन के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक और रिलायंस एनर्जी तथा पूर्व में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के उप-अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक थे. 2014 की फ़ोर्ब्स की दुनिया के करोडपतियो की सूचि के अनुसार उनकी संपत्ति लगभग 5.9 बिलियन अमेरिकन डॉलर थी.

अनिल अंबानी बॉलीवुड में Hindi फिल्म इंडस्ट्री के एक प्रख्यात प्रोडूसर भी है. अनिल का ज्यादा से ज्यादा ध्यान मनोरंजन में होता है जिसमे मुख्य रूप से 44 FM रेडियो स्टेशन, राष्ट्रिय स्तर पर DTH व्यवसाय, एनीमेशन स्टूडियो और बहोत से मल्टीप्लेक्स भी शामिल है. उनके दो बेटे अनमोल और अंशुल भी है.

Loading...

करियर :

अनिल अंबानी भारत के उत्कृष्ट उद्योगपतियों में से एक है. अंबानी का भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में काफी योगदान रहा है. वे रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन है जिसमे मुख्य रूप से रिलायंस कम्युनिकेशन, रिलायंस कैपिटल, रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर और रिलायंस पॉवर शामिल है.

1983 में, अपने पिता धीरुभाई अंबानी द्वारा स्थापित कंपनी में शामिल हुए और को-चीफ-एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के पद पर कार्यरत रहे. उन्होंने अपनी चालक नीतियों के बदौलत भारतीय अर्थव्यवस्था को विकसित किया और अपने कामो से पूरी दुनिया को प्रभावित किया. उनके इन्ही प्रयत्नों की बदौलत 1991 में रिलायंस का ग्लोबल मार्केट शेयर बढ़कर 2 बिलियन US डॉलर हो गया. बाद में अनिल ने अपने भाई मुकेश अंबानी के साथ मिलकर रिलायंस इंडस्ट्रीज की स्थापना की, जो आज भारत की शीर्ष की टेक्सटाइल और पेट्रोलियम कंपनी है.

2002 में उनके पिता की मृत्यु के बाद अनिल अंबानी ने टेलिकॉम, एंटरटेनमेंट, फाइनेंसियल सर्विस, पॉवर & इंफ्रास्ट्रक्चर में अपनी रूचि दिखाते हुए रिलायंस ग्रुप को अपने हाथो में ले लिए. बाद में 10 सालो में ही रिलायंस ग्रुप में भारतीय बाज़ार और कुछ विदेशी बाजारों पर अपना कब्ज़ा जमा लिया था. जिनमे मुख्य रूप से टेलीकम्यूनिकेशन, जनरेशन, ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन शामिल है.

अंबानी को भारतीय कैपिटल मार्केट के विस्तार का पूरा श्रेय दिया जाता है. क्योकि ऐसा माना जाता है की रिलायंस ग्रुप की कमान अपने हातो में लेकर उन्होंने जितना भारतीय कैपिटल मार्केट का विस्तार किया है उतना आज तक कोई नही कर पाया.

अंबानी ने मनोरंजन के क्षेत्र में अपनी शुरुवात 2005 में की थी. अनिल अंबानी भारत का सबसे बड़ा मीडिया साम्राज्य खड़ा करने की दिशा में बढ़ रहे है. अनिल ने “टीवी टुडे” और “ब्लुमबर्ग टीवी” के शेयर खरीदने के साथ “बीबीसी” जैसे अंतर्राष्ट्रीय समाचार चैनलो के साथ करार भी किया है. आरआईएल ने बार-बार सर्व्जनिल रूप से कहा है की अनिल अंबानी का उद्देश ‘शिक्षा, स्वास्थ-सेवा, सुरक्षा, वित्तीय-सेवा, मनोरंजन और सरकार-नागरिक इंटरफ़ेस जैसे प्रमुख क्षेत्रो में अपनी मौजूदगी दर्ज कराना है. उनका इरादा ये है की उपभोक्ता आसानी से डिजिटल उपलब्ध नए कंटेंट तक पहोचे, जिससे देश में एक नए डिजिटल युग की शुरुवात हो सके. यूनिवर्सल म्यूजिक के साथ किये गये एक करार के अनुसार अनिल की कंपनी से जुड़े उपभोक्ता तीन लाख गानों में से अपनी पसंद चुन सकते है. उन्होंने कुछ प्रमुख फिल्म प्रोडक्शन हाउस, जिनके मालिक स्टीवन स्पीलबर्ग, ब्रेड पिट, निकोलस केज, जिम कैरी और टॉम हैक्स जैसे फ़िल्मी सितारे है, के साथ अग्रीमेंट किये है.

अवार्ड्स :

1)  भारत की मुख्य बिज़नस पत्रिका बिज़नस इंडिया द्वारा “बिजनेसमैन ऑफ़ द इयर 1997” का सम्मान.
2)  टाइम्स ऑफ़ इंडिया के TNS चुनाव द्वारा वर्ष 2006 के लिये बिजनेसमैन ऑफ़ द इयर चुने गये.
3)  इंडिया टुडे पत्रिका द्वारा अगस्त 2006 में आयोजित नेशन पोल में सभी बिज़नस उद्योगपतियों में “बेस्ट रोल मॉडल” का सम्मान.
4)  बॉम्बे मैनेजमेंट एसोसिएशन द्वारा अक्टूबर 2002 में “दशक के सबसे महान उद्यमी” से सम्मानित.
5)  रिलायंस को इसके अनेक व्यवसाय क्षेत्रो में विश्व स्तर पर शीर्ष क्रमांक पर स्थापित करने में इनके योगदान के लिए दिसंबर 2001 में “व्हार्टन इंडिया इकनोमिक फोरम (WIEF)” द्वारा पहले भारतीय व्हार्टन अलुमिनी अवार्ड से पुरस्कृत.
7)  जून 1990 में भारत में उन्हें व्यापार और वित्तीय क्षेत्र का “नया हीरो” कहा गया.
8)  सितम्बर 2003 में “एमटीवी यूथ आइकॉन ऑफ़ द इयर” चुने गये.

अनिल अंबानी की हमेशा से ही यह सोच रही है की समय सीमा पर काम खत्म कर लेना काफी नही है, मै समय से पहले काम खत्म होने की अपेक्षा करता हु. अपने सहकर्मियों को वे हमेशा कहते रहते है की कठिन समय में भी अपने लक्ष्य को नही छोड़ना चाहिये और मुश्किलों को अवसरों में बदलने की कोशिश करनी चाहिये………………………

जरुर पढ़े :-  धीरुभाई अंबानी जीवन परिचय

जरुर पढ़े :- Dhirubhai Ambani Quotes In Hindi

जरुर पढ़े :-  मुकेश अंबानी की जीवनी

Please Note :- अगर आपके पास Anil Ambani Biography In Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. धन्यवाद
*अगर आपको हमारी Information About Anil Ambani History In Hindi अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook पे Like और Share कीजिये.
Note:- E-MAIL Subscription करे और पायें All Information Biography Of Anil Ambani In Hindi आपके ईमेल पर.
* कुछ महत्वपूर्ण जानकारी अनिल अंबानी( Anil Ambani ) के बारे में विकिपीडिया से ली गयी है.

loading...

6 COMMENTS

  1. Behad khobsurt biography anil ambani.ji ki …desh ki tarf se salute..ese mahaan aadmi har desh me hona chahiye. Thnks

    Ankit gupta

  2. मुझे उनकी दिन चर्या पड़नी की वो दिन की शुरुवात कैसे करते है और कैसे खत्म करते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here