एक प्रेरणादायक संशोधक उद्धब भराली – Uddhab Bharali

Uddhab Bharali inspiring entrepreneurs

हमारे देश के हर राज्य से कई सारे Talented लोगोंने अलग-अलग Fields में अपनी अलग पहचान बनायीं है। फिल्म Industry हो या कला क्षेत्र हमारे देश के हर हिस्से से बहुत सारे लोग आज अपने क्षेत्र में बेहद सक्सेसफुल बने है और सभी के लिए Inspirational भी है।

देश के उत्तर-पूर्व राज्योंका Cotribution भी काबिल-ए-तारीफ है। इन राज्योने भी हमे Mary Kom जैसे महान inspirational celebrities दिए है। आज हम ऐसी है एक महान व्यक्ति के बारे में बात करने वाले है जिन्होंने अपने काम की शुरुवात आसाम के एक छोटे घर से की और आज वह अपने Inovations और Talent के लिए Iternational Level पर जाने जाते है। तो चलिए आज उद्धब भराली और उनके महान कार्य के बारे जानते है।

Uddhab Bharali
Uddhab Bharali

प्रेरणादायक संशोधक उद्धब भराली – Uddhab Bharali Inspiring Entrepreneurs

उद्धब भराली एक बुद्धिवान और मेहनती संशोधक है जिनके पास 39 जागतिक पेटेन्ट और जिन्होंने 100 से भी ज्यादा Innovative Products बनाये है। 2012 में आसाम के रहने वाले उद्धब की बनायीं हुयी एक मशीन को NASA ने NASA Exceptional Technology Achievement इस Award नवाजा।

उद्धब का जन्म आसाम के लखीमपुर में रहनेवाले एक व्यापारी के घर में हुआ। उद्धब बचपन से ही बहुत होशियार थे और उनकी इसी होशियारी के वजह से स्कुल में उन्हें पहली कक्षा से सीधे तीसरी कक्षा और पाचवी कक्षा से सीधे दसवी कक्षा मैं Admission मिला। अपने Teachers को बहुत सारे मुश्किल सवाल पूछने की वजह से अक्सर उन्हें क्लास के बाहर खडा किया जाता था।

बाद मे उद्धब Engineering को गए पर उनके घर के हालात ख़राब होने के वजह से उन्हें अपनी पढाई बिच मैं ही छोड़नी पड़ी। काम करके घर खर्च चलाने की जिम्मेदारी उनके ऊपर आयी, और इसी कारण उनके अन्दर के संशोधक की पहचान हुई।

पिताजी के Business में घाटे के वजह से उद्धब के घर पर बैंक का कर्जा हुआ था, कोई भी नौकरी कर के इतना कर्ज नहीं चुकाया जा सकता हैं ये उद्धब जानते थे। उसी समय एक कपंनी को पोलीथिन बनाने की एक विदेशी मशीन की कॉपी करके उसी तरह मशीन कम से कम पैसे खर्च करके यहाँ भारत में बनानी थी।

उद्धब ने ये Challenge Accept किया और 23 साल की उम्र मैं पहली मशीन बनायी। इस मशीन की कीमत बाज़ार में 5 लाख होने के बावजूद उन्होंने यह मशीन सिर्फ 67000 रुपयों में बनायीं। यह मशीन बनाने के बाद उन्हें अपने अन्दर की कला का एहसास हुआ और उसके बाद उन्होंने एक से बढ़कर एक प्रोडक्ट्स बनाना शुरू किया। उनकी यह सारी मेहनत काफी वक़्त तक लोगो से छुपी रही और बहुत से लोगो ने उन्हें निरुत्साही करने की कोशिश भी की पर वह डटे रहे।

आखिरकार 2005 में National Innovation Foundation ( NIF ) Ahmedabad इन्होने उद्धब भराली के Product और उनकी खोज पर ध्यान दिया, और उसके बाद उद्धब के हर काम को लोगो ने सराहना चालू किया।

गरीब हालातों से गुजर कर ऊपर आने वाले उद्धब उनका समाज के प्रति जो उत्तरदायित्व या Responsibility है उसे बखुब ही जानते थे। कोई भी काम करते वक़्त उनका मुख्य उद्देश उस काम से लोगो का और समाज का भला करना ही रहा।

उद्धब ने खास तौर पर खेती के लिए काम में आने वाली ऐसी अनेक प्रकार की मशीने बनायीं। अमेरिका के इंजीनियर 30 साल मेहनत करके जो अनार के छिलके निकालने की मशीन (Pomegranate De- Seeder) नहीं बना पाए वो मशीन उद्धब ने बनायीं और वो उनका सबसे फेमस संशोधन है। इसी मशीन को NASA, MIT जैसे बड़ी संस्था ने नवाजा और भराली का व्यक्तिमत्व दुनिया के सामने आया।

आज कई देशो से उन्हें अलग अलग मशीन बनाने के काम दिए जाते है। उनकी और भी फेमस मशीन है जिसमे अनार की तरह सुपारी तोड़ने की मशीन, विकलांगो के लिए बनायीं Machanised Toilet और चाय की पत्ति से चाय पावडर (CTC) इ. मशीन शामिल है।

ऐसी बहुत सी मशीन बनाने के बाद भी उद्धब ने कोई भी मशीन जरुरत मंद और गरीब लोगों को बेचीं नहीं बल्कि उन्होंने उन मशीनों को फ्री में दे दिया। उन्होंने कभी भी अपने मशीन का Commercial Production होने नहीं दिया, उनका कहना है की “पैसा और संपत्ति” इंसान को पागल बना देती है उसके वजह से कोई भी नई creativity नहीं हो पाती। वो अपना परिवार और संशोधन का खर्च चलने के लिए अपने प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी की और से royalty के रूप में पैसा लेते है।

टेक्नोलॉजी में उनके contribution के लिए उन्हें कई awards और सम्मान मिले है।2013 में उन्हें राष्ट्रीय एकता सम्मान मिला और 2014 में हुए TEDx में वह speaker भी रह चुके है। मुश्किल से मुश्किल हालातोंसे उभर कर उद्धब भराली ने यह साबित कर दिया की हमारे देश के हर कोने में talent छुपा है। 100 से ज्यादा innovations के बाद भी उद्धब भराली आज भी उसी लगन, मेहनत और interest से काम करते है। हम सभी के लिए वह एक inspiration और Idol है।

अपने असामान्य कार्य से उन्होंने यह दिखा दिया है की,

“लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती,
कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।”


जरुर पढ़े: Foodking Sarathbabu “फर्श से अर्श तक”

Note: आपके पास About Uddhava Barali in Hindi में और Information हैं। या दी गयी जानकारी में कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल में लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे। कुछ महत्त्व पूर्ण जानकारी Uddhava Barali के बारे में अनेक किताबों / अखबारों और अन्य जगह से ली गयी हैं। अगर आपको Uddhava Barali Inspiring Entrepreneurs in Hindi language अच्छी लगे तो जरुर हमें Whatsapp और facebook पर share कीजिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here