पाइथागोरस की जीवनी और इतिहास | Pythagoras Biography in Hindi

Pythagoras – पाइथागोरस

Pythagoras

पूरा नाम  – पाइथागोरस
जन्म       – 571 BC
जन्मस्थान – सामोस
पिता       – Mnesarchus
माता       – Pythais
विवाह     – Theano

पाइथागोरस की जीवनी और इतिहास – Pythagoras biography in Hindi

पचास वर्ष की आयु में वे इटली के क्रोटोना नामक स्थान पर आ बसे। उस समय उनके तथा उनके अनुयायियों के विचार नये थे। इसीलिए लोग उनका विरोध करते थे और उनकी सभाओं पर आक्रमण करते थे। उनकी मृत्यु के बाद कही जाकर ‘पाइथागोरियन’ सिध्दांतों का विकास हुआ जिन्होंने उन्हें ख्याति के उच्च शिखर पर पहुंचा दिया।

पाइथागोरस यूनान के प्राचीन दार्शनिक और गणितज्ञ थे। उनके दार्शनिक विचारों के आधार पर जो विचार-प्रवाह चला उसे ‘पाइथागोरस’ मत कहा जाता है।

इस मत संबंध दार्शनिकों के कार्मिक भाईचारे से है। उनका और उनके अनुयायियों का अंको की शक्ति में विश्वास था। जैसे दो का अंक रेखा, तीन सतह, चार घनत्व, छह आत्मा, सात स्वास्थ्य और प्रकाश तथा आठ प्रेम कें घोतक हैं।

पाइथागोरस ने यह भी बताया कि धातु के तारों को खींचने से ध्वनि उत्पन्न होती है। गणित-संबंधी युक्लिड के सिध्दांत उन्होंने ही निर्धारित किए थे। वे परमाणु-सिध्दांत को भी स्वीकार करते थे और पुनर्जन्म को भी मानते थे।

मृत्यु : c. 495 BC (aged around 75)

और अधिक लेख:

I hope these “Information about Pythagoras” will like you. If you like these “Life History Of Pythagoras in Hindi language” then please like our Facebook page & share on Whatsapp. and for latest update Download: Gyani Pandit Android app.

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.