Secret of success | सफलता का रहस्य

loading...

Secret of success – सफलता का रहस्य

जो लोग सफल माने जाते है वे क्या करते होंगे ? विशेष रूप से वे लोग जिन्होंने अपने जीवन में अलग-अलग जगहों पर सफलता प्राप्त की है। हमारे खुद के आस-पास सफल लोगो के बहोत से उदाहरण मिल जायेंगें। लेकिन कैसे वे लोग आसानी से सफलता प्राप्त कर लेते है ? इस आर्टिकल में आपको Secret of success बताने जा रहा हु जो मैंने सफल लोगो के बारे पढ़-पढ़कर जानी हैं। और अगर आप भी Gyani Pandit पर सभी सफल लोगो की Biographies पढोंगे तो आप भी खुद जान पओंगे की सभी लोगो में कुछ ना कुछ बातें similar जो उन्हें successful बनतीं हैं।

Secret of success in HindiSecret of success

Secret of success in Hindi | सफलता का रहस्य

ज्यादातर सफल लोग सफलता में नही जन्मे। बल्कि उन्होंने सफलता प्राप्त की है। और लगातार कोशिशे करते गये। जैसे सचिन तेंडुलकर, धीरूभाई अंबानी, मार्क जगरबर्ग, संदीप माहेश्वरी, लता मंगेशकर, शाहरुख़ खान, etc… तो इन लोगो को success का ऐसा कोनसा Secret पता था ? जो बाकि लोगो को नहीं होता। इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़ते जाये आपको सभी Secret of success पता चल जायेंगें।

Successful people Goal (लक्ष्य) बनाकर उसे पाने की कोशिश करते है।

Loading...

सफल लोग सामान्य होते है। अपने दिमाग में वे वास्तविक लक्ष्य को ही रखते है। वे जानते है की उन्हें कौनसी चीज चाहिये और वे उसे पाने के लिये क्यों लड़ रहे है। सफल लोग ही स्मार्ट लक्ष्य को बनाते है और उसे पाने की कोशिश करते है।

जब आप लक्ष्य निर्धारित करते हो तब आप अपने आप को ही प्रेरित करते रहते हो। स्मार्ट को हासिल करने के लिए अपनी योग्यता और आदतो को विकसित करने की जरुरत होगी। तभी आप धीरे-धीरे अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ सकते हो। इन नियमो को अपनाकर आप खुद का विकास कर सकते हो और लक्ष्य निर्धारित कर सकते हो।

सफल लोग सोच-समझकर निर्णय लेते है और तत्काल प्रक्रिया करते है।

ये कोई मायने नही रखता की आप कितने बुद्धिमान हो या आपने कितनी डिग्रीया हासिल की है। तबतक आप इस दुनिया में कुछ बदल नही सकते जबतक आप कोई एक्शन नही ले लेते। किसी चीज को कैसे करते ये जानना और उसे असल में करके देखना। इन दोनों बातो में बहोत बड़ा अंतर है। यदि आप एक्शन नही लोगे तो आपका ज्ञान और आपकी बुद्धिमत्ता किसी काम की नही।

इसीलिये आपको अपने ज्ञान की बदौलत सोच-समझकर निर्णय लेने की और निर्णय लेने के बाद उसके अनुसार तुरंत एक्शन लेने की जरुरत है तभी आप सफल बन पाएंगे और अपने सपनो को पूरा कर सकोगे।

सुख-सुविधाओ से भरे क्षेत्र के बाहर भी काम करो।

बहोत सी बार मै देखता हु की सफल लोग किसी भी अवसर को युही अपना लेते है केवल इसलिए नही की वे हमेशा तैयार होते है। बल्कि वे नए अवसरों को अपनाकर कुछ सीखना चाहते है। वे ज्यादा का ज्ञान अर्जित करना चाहते है और अपनी योग्यताओ और अनुभवों को विकसित करना चाहते है।

सच्चाई यही है की जब अवसर आते है तब कोई भी 100% अपनेआप को तैयार नही समझता। क्योकि हमारे जीवन में बहोत से अवसर हमें मानसिक और बौद्धिक रूप से विकसित करने के लिये आते है। ऐसे अवसर हमें सुख-सुविधाओ से भरे क्षेत्र के बाहर आकार काम करने का दबाव डालते है। आपको समझ जाना चाहिये की जहा आप आरामदायक महसूस न करे वहा आप पूरी तरह से तैयार नही हो।

यदि आप अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव लाना चाहते हो तो आपके अपने क्षेत्र से बाहर निकलकर चुनौतियों को अपनाकर उनका सामना करना होंगा। और भले ही आप 100% तैयार न हो लेकिन आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

हमेशां छोटे-छोटे काम करे और लगातार प्रगति करने पर ध्यान केन्द्रित करे।

हेनरी फोर्ड ने एक बार कहा था,

“यदि आप कठिन से कठिन काम को छोटे-छोटे टुकडो में बाटते है तो वह काम भी आपके लिये आसान हो जायेंगा।”

इसी बात को हम एक प्रश्न की मदद से समझ सकते है : आप एक हाती को कैसे खओंगे? जवाब: एक समय एक-एक टुकड़ा खाकर। इसी धारणा को अपनाकर आप बड़े से बड़े लक्ष्य को भी हासिल कर सकते हो। इसीलिए हमेशा छोटा काम करकर शुरवात करे, – कितना बेहतर होगा की आप ख़ुशी से धीरे-धीरे अपने लक्ष्य को हासिल कर के सफल बनो।

और यदि आप कुछ छोटा करने की कोशिश करोगे तो आपको ज्यादा प्रेरणा की भी जरुरत नही होगी। कुछ छोटा करते रहने से आप खुद अपने लिए ख़ुशी के पल बना सकते हो और जिसकी आपको जरुरत है उसे हासिल कर सकते हो। ऐसा करने से आपमें सकारात्मक बदलाव होगा।

कोई भी एक ही काम करते हो अपने लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश करे और फिर मुश्किलों को हल करने की योजना बनाये। उदाहरण के लिये यदि आप आपका वजन कम करना चाहते हो तो पहले अपने लिये स्वस्थ खाने की सूचि बना ले और जब आपको भूक लगे तो वही खाना खाये। ऐसा करना शुरू में थोडा मुश्किल होगा। लेकिन बाद में ऐसा करना आपके लिए बहोत आसान होगा। और यही मै आपको यहाँ बताना चाहता हु। जैसे-जैसे आपकी ताकत बढ़ेगी वैसे-वैसे आप बड़ी-बड़ी चुनौतियों को स्वीकार करने लगोगे।

अपनी Progress पर ध्यांन दो और रास्ता बनातें जवों।

सफल लोग केवल उनके जॉब या व्यवसाय में ही काम नही करते। बल्कि वे इनके उपर भी काम करते है। वे रोज़ एक कदम पीछे जाकर अपनी Progress को गिनते है। वे अपने लक्ष्य के विपरीत अपनी Progress पर ध्यान देते है और आगे क्या करना है इसका PLAN बनाते है।

यदि आपने अपनी Progress पर ध्यान नहीं दिया तो आप उसे नियंत्रित भी नही कर सकते।

आपको पहले ये जानना होगा की आपका लक्ष्य क्या है और कौनसी बाते आपके लक्ष्य को प्रभावित करती है। और उन्ही चीजो को ध्यान देना चाहिये। मै आपको यह राय देना चाहूँगा की ये जानना बहोत जरुरी है की कोई भी काम करने के पीछे आपका लक्ष्य क्या है। और आपकी काम में ऐसी कौनसी चीजे है जो आपके लक्ष्य को प्रभावित करती है। तभी आप अपनी Progress पर ध्यान दे सकोगे। फिर चाहे आप महोनो में, हफ्तों में, या साल में भी अपनी Progress को गिन सकते है। आप चाहे एक समय में कम Progress करो या ज्यादा करो ये मायने नही रखता। सिर्फ आपका उस बात को जानना मायने रखता है ताकि पहले काम करते समय आपने जो गलतिया की थी वो गलतिया आप दूसरी बार काम करते समय ना करे।

अपनी गलतियों से सीखें और सकारात्मक दृष्टिकोण रखे।

सफल लोग हमेशा सकारात्मक बातो पर ही ध्यान केन्द्रित करते है। वे किसी भी परिस्थिती में अपने लिए सकारात्मकता ही देखते है। क्योकि वे जानते है की उनकी सकारात्मकता ही उन्हें महान बनाती है। यदि आप सफल बनना चाहते हो तो इस दुनिया के प्रति आपका दृष्टिकोण भी सकारात्मक ही होना चाहिये। जिंदगी हर मोड़ पर आपकी परीक्षा लेती रहेगी। लेकिन यदि आपने अपने अंदर नकारात्मकता भर ली तो आप कभी सकारात्मक नही बन सकते।

हमेशा याद रखे, आपके द्वारा की गयी हर एक गलती आपकी प्रगति ही है। गलतिया आपको महत्वपूर्ण पाठ पढ़ाती है। जितनी आप गलतिया करोगे उतना ही आप अपने लक्ष्य के करीब जाओगे। लेकिन कुछ न करने को चुनना ही आपकी सबसे बड़ी गलती होगी और वह आपको काफी दुःख भी देगी और ऐसा करने से आपको गलतिया करने से भी डर लगेगा।

इसीलिए कभी न शर्माए – कभी अपनेआप पर शक न करे! नकारात्मकता को अपने शरीर से दूर रखे। और सकारात्मकता को अपनाये।

अपने जीवन में संतुलन बनाये रखते है।

यदि आप बहोत से लोगो को वे जीवन में क्या चाहते है ये सवाल पुछोंगेतो वे यही कहेंगे :, “प्यार करना चाहते है”, “पैसे कमाना चाहते है”, “परिवार के साथ समय बिताना चाहते है”, “ख़ुशी पाना चाहते है”, “लक्ष्य हासिल करना चाहते है” इत्यादि। लेकिन बड़े दुःख की बात है की बहोत से लोग अपने इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिये अपनी जिंदगी को संतुलित नही कर पाते। और बड़ी मुश्किल से इनमे से एक या दो चीजो को ही वे हासिल कर पाते है।

आइये मै आपको 2 उदाहरण देता हु :

1) मेरा एक दोस्त हैं जिसने पिछले साल ऑनलाइन लाखो डॉलर कमाये थे। उसके व्यवसाय की सफलता को देखते हुए। हर एक उद्योगपति उसी को देखना चाहता है। पता है क्या हुआ? कुछ ही दिनों पहले, उसने मुझे बताया की वह काफी उदास है। मैंने पूछा, क्यों? उसने जवाब दिया की, “मै अंदर से पूरा जल चुका हु और अकेला हु। मुझे मेरे लिए ही समय नही मिल पाता और मुझे मेरी जिंदगी में किसी की कमी महसूस होती है।” मैंने मन ही मन सोचा, “एक सफल और अमीर इन्सान जिसे मै जानता हु वह उदास है। वह अपनेआप को सफल नही समझता क्योकि उसने जिस तरह से अपने जीवन को संतुलित किया है उससे वह खुश नही है।”

2) दूसरी तरह मै ऐसे इंसानों को भी जानता हु तो महेनत करते है। रोज़ महेनत करते है। और धीरे-धीरे आगे बढ़ते है। ऐसे लोग अपना काम खत्म करते ही अपने परिवार के साथ समय व्यतीत करते है। मौज-मस्ती करते है और सभी एकसाथ सोते है और जिंदगी को ख़ुशी से जीते है। ऐसे लोगो को सिर्फ अपने परिवार का पालन पोषण करने जितने पैसो की ही जरुरत होती है। उतने पैसो में ही वे अपनेआप को सफल समझने लगते है। क्योकि उनके लिए पैसा ही सफलता नही है। उनके लिए उनकी ख़ुशी ही उनकी सफलता है।

इन दो उदाहरण से हम यह समझ सकते है की जिंदगी में संतुलित रहना कितना जरुरी है।

जिंदगी में हर एक चीज जरुरत के अनुसार ही चाहिये कोई भी चीज़ यदि प्रमाण से ज्यादा रही तो वह हमारे लिए ज़हर भी बन सकती है। दुनिया में हजारो ऐसे हमें उदाहरण मिलेंगे जिन्होंने अपनी जिंदगी में पैसा तो बहोत कमाया और सफल भी बने लेकिन अपने जीवन को संतुलित ना रखने की वजह से वे खुश नही रह पाते।

यदि आप हमेशा अपने अतीत के बारे में सोच रहे है या भविष्य के बारे में दिन में सपने देखते है तो आप अपने जीवन के मौजूद लम्हों को खो देंगे। याद रखे की अतीत और भविष्य केवल एक भ्रम है और वास्तविक जीवन यहाँ और आज है।

सही और अच्छे लोगो के साथ समय व्यतीत करो :

सफल लोग दयालु, और सहायक लोगो के साथ रहते है। वे उन्ही लोगो के संपर्क में रहते है जिनके आते ही कमरे में सकारात्मक उर्जा का प्रवेश होता है और कमरा प्रकाशमय हो जाता है।

आपको भी ऐसे ही लोगो के साथ समय व्यतीत करना चाहिये। यदि आप गलत लोगो के साथ समय व्यतीत करोगे तो आपमें नकारात्मक विचारो का संचार होगा। लेकिन यदि आप अच्छे लोगो के साथ रहोगे तो आपमें सफलता प्राप्त करने की काबिलियत का विकास होगा और सकारात्मकता का संचार होगा। इसीलिए अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिये अच्छे लोगो के संपर्क में रहे।

Some book’s on Secret of success topic  

और अधिक लेख

I hope these “Secret of success in Hindi” will like you. If you like these “Secret of success in Hindi” then please like our facebook page & share on whatsapp. and for latest update download : Gyani Pandit free android App

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here