बंगाली सिनेमा की एक महान अभिनेत्री सुचित्रा सेन | Suchitra Sen Biography

Suchitra Sen – सुचित्रा सेन बंगाली सिनेमा की एक महान अभिनेत्री जिनका जीवन बहुत ही विविधता से भरा हुआ है। उन्होंने बहुत सारी हिन्दी फिल्मो में भी काम कीया है जैसे की ममता, आंधी, बॉम्बे का बाबु। उनके खास बात यह थी की वो बंगाली की ऐसी पहली अभिनेत्री थी जिन्हें 1963 मास्को फ़िल्म महोत्सव में सम्मानित किया गया था।

Suchitra Sen बंगाली सिनेमा की एक महान अभिनेत्री सुचित्रा सेन – Suchitra Sen Biography

सुचित्रा सेन का जन्म 6 अप्रैल1981 में बांग्लादेश के पबना में हुआ था। करुनामय दासगुप्ता उनके पिता और इंदिरा दासगुप्ता उनकी मा का नाम है। उनके बचपन का नाम रोमा दासगुप्ता था उसके बाद उन्होंने फिल्मो के लिए सुचित्रा नाम रख दिया था। उनके पिताजी पबना के स्कूल के हेडमास्टर थे। इसलिए उनकी शुरुवाती पढाई बांग्लादेश के पबना में हुई।

सुचित्रा सेन की शादी दिबनाथ सेन से हुई थी। जब उनका करियर उचाई की बुलंदी पर था तब उनके पति गुजर गए।

सुचित्रा सेन का करियर – Suchitra Sen Career

सुचित्रा सेन ने उनके फ़िल्मी करियर की शुरुवात 1952 की फ़िल्म शेष कोथाय से की लेकिन वो फ़िल्म कभी रिलीज़ ही नहीं हो पाई। उसके अगले साल ही उन्होंने शरे चौत्तोर फ़िल्म में उत्तम कुमार के साथ काम किया। वो फ़िल्म निर्मल डे की थी। उस फ़िल्म ने पुरे बॉलीवुड जगत में तहलका मचा दिया था।

उस फ़िल्म में उत्तम और सुचित्रा मुख्य भूमिका में नजर आयी। उन दोनों कलाकारों ने बंगाली ड्रामा की फिल्मो पर 20 साल से भी अधिक समय तक राज किया। सुचित्रा ने लगभग जो 60 फिल्मे की उनमेसे में वो 30 फिल्मो में उत्तम कुमार के साथ नजर आयी।

1955 में रिलीज़ हुई देवदास फ़िल्म के लिए तो उन्हें सर्वश्रेष्ट अभिनेत्री का पुरस्कार भी मिला। और खास बात तो यह है की देवदास उनकी पहली हिंदी फ़िल्म थी।

उनकी सभी फिल्मे मेलोड्रामा और रोमांस से भरी होती थी और खास तौर पर जब उनकी कोई भी फ़िल्म उत्तम कुमार के साथ होती तो वो और भी रोमांटिक हो जाती थी। और इसी बात ने उन्हें बंगाली फिल्मो की सबसे मशहूर अभिनेत्री बना दिया था।

सुचित्रा सेन और उत्तम कुमार ने साथ मिलकर बंगाली फिल्मो पर ऐसा जादू कर दिया था की दूसरी कोई भी जोड़ी उनकी बराबरी नहीं कर सकी।

60 और 70 के दशक दौरान उन्होंने बहुत सारी फिल्मे की और उसके बाद में जब 1970 में अमेरिका के बाल्टिमोर, मेरीलैंड में उनके पति गुजार गए तब भी उन्होंने फिल्मो में काम करना जारी ही रखा। 1974 में रिलीज़ हुई आंधी फ़िल्म में सुचित्रा नजर आयी। भारत की प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी से प्रेरित होकर आंधी फ़िल्म बनाई गयी थी।

उस फ़िल्म के लिए सुचित्रा सेन को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार के लिए नामित भी किया गया था और दूसरी तरफ़ उसी फ़िल्म में उनके पति का किरदार निभानेवाले संजीव कुमार को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फ़िल्मफेयर पुरस्कार भी मिला था।

1963 में रिलीज़ हुई उत्तर फाल्गुनी में उन्होंने बहुत बढ़िया काम किया। असित सेन की इस फ़िल्म में वो दो किरदार निभाती हुई नजर आयी। इस फ़िल्म में वो पन्नाबाई और उसकी बेटी सुपर्णा का किरदार निभाते हुए नजर आयी।

सुपर्णा इसमें वकील की भूमिका में दिखाई देती है। इस फ़िल्म में उन्होंने जो किरदार निभाया उसे उन्होंने पूरी तरह से बखूबी निभाया है।

इस फ़िल्म में वो एक गिरी हुई चरित्र की महिला की भूमिका में है लेकिन वो ख़ुद की लड़की को अच्छे माहोल में बड़ी होते हुए देखना चाहती है और इसके लिए वो किसी भी मुसीबत का सामना करने के लिए तैयार रहती है।

1963 में उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्थर की कामयाबी हासिल हुई जब उन्हें मास्को इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल में सप्तपदी फ़िल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का सम्मान प्राप्त हुआ। वो भारत की पहली अभिनेत्री थी जिन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्थर का पुरस्कार मिला।

सुचित्रा सेन की मृत्यु – Suchitra Sen Death

17 जनवरी 2014 को कोलकाता में दिल का दौरा पड़ने के कारण सुचित्रा सेन की मृत्यु हो गई। उन्हें कुछ तबियत ख़राब होने के वजह से अस्पताल में भरती करवा गया था लेकिन हालत और भी ख़राब होती गयी और उनका अंत हो गया।

सुचित्रा सेन को मिले कुछ पुरस्कार – Suchitra Sen Awards
  • सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री, मास्को फ़िल्म फेस्टिवल (1963)
  • सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री, फ़िल्मफेयर पुरस्कार (नामित) (1963)
  • पद्मश्री (1972)
  • सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री, फ़िल्मफेयर पुरस्कार (नामित) (1976)
  • बांगा विभूषण (2012)

Read More:

  1. अमिताभ बच्चन जीवनी
  2. सुपरस्टार रजनीकांत की जीवनी
  3. रेखा की अनसुनी कहानी
  4. धर्मेन्द्र की जीवन कहानी

Note: आपके पास About Suchitra Sen Biography In Hindi मैं और Information हैं। या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे।
अगर आपको Life history of Suchitra Sen in Hindi language अच्छी लगे तो जरुर हमें Whatsapp और Facebook पर share कीजिये। Email subscription करे और पायें Essay with short biography about Suchitra Sen in Hindi language and more new article. आपके ईमेल पर।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here