जज्बा, जुनून, जैफ बेजोस और जीत | Amazon Founder Jeff Bezos Biography

Jeff Bezos – जैफ बेजोस, एक ऐसी शख्सियत हैं, जिन्होंने ऑनलाइन बिजनेस की शुरुआत कर एक ई-कॉमर्स मार्केट की एक क्रांति की खोज की और ऑनलाइन मार्केटिंग को नई बुलंदियों पर पहुंचाया। जिन्होनें अपने बलभूते पर दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन ( Amazon )को स्थापित किया, और वे आज दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में शामिल हो चुके हैं।

Amazon Founder Jeff Bezos Biography

जज्बा, जुनून, जैफ बेजोस और जीत – Amazon Founder Jeff Bezos Biography

यहां तक पहुंचना जेफ बेजोस के लिए इतना आसान नहीं था, उनकी जिंदगी का सफर जोखिमों से भरा हुआ है, आज हम इस लेख के ज़रिये उनके इस सफ़र को जानेंगे और जानेंगे की उन्होनें अपने जज्बे और जुनून के साथ कैसे जीत हासिल की।

जेफ बेजोस का जन्म 12 जनवरी को न्यू मैक्सिको के अल्बुकर्क में हुआ था, जेफ बेजोस, नाबालिग मां के बेटे थे, और जिनके पिता महज डेढ़ साल उम्र में ही उनको छोड़कर चल बसे, पिता का साया सिर से उठने के बाद सौतले पिता की साया में जैफ ने अपनी पढ़ाई की इसके बाद जैफ अपनी नानी के यहां चले गए और वहां आगे की पढ़ाई पूरी की।

जैफ को शुरू से ही कम्प्यूटर से बेहद लगाव था उन्होनें बीटेक की पढ़ाई कम्प्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में अल्बुकर्क, प्रिंसटन विश्वविद्यालय से की , ग्रेजुएशन के बाद जैफ वॉल स्ट्रीट में काम करने लगे वहीं उनकी दूरगामी सोच के लिए साल 1990 में उन्हें उस कंपनी का सीनियर वाइस प्रेसीडेंट बना दिया गया।

लेकिन जैफ बेजोस नौकरी कर के अपना पेट पालने वालों से नहीं थे इसलिए उन्होनें साल 1994 में अपनी कीमती नौकरी छोड़कर ऑनलाइन बिजनेस में अपनी किस्मत आजमाई और एक छोटे से गैरेज से 3 कम्प्यूटर के साथ जुलाई 1994 में अमेजॉन कंपनी की स्थापना एक ऑनलाइन बुक स्टोर खोलकर की।

जैफ को ऑनलाइन कंपनी खोलने का आइडडिया तब आया जब वे इंटरनेट सर्फिंग कर रहे थे तभी उन्होनें देखा की करीब 20 मिलियन लोग इन्टरनेट पर एक्टिव रहते हैं। तभी से उन्होनें ऑनलाइन बिजनेस की शुरुआत कर दी।

जैफ ने पहले तो इस कंपनी का नाम केडेब्रा डॉट कॉम रखा, लेकिन तीन महीने बाद उन्होंने इसका नाम बदलकर दुनिया की सबसे बड़ी नदी के नाम पर अमेज़ॉन डॉट कॉम (amazon.com) कर दिया।

अमेजॉन कंपनी को शुरुआती दौर में ही अच्छा रिस्पोंस मिलना शुरु हो गया था। कंपनी ने शुरु होने के पहले ही महीने में अमेरिका के 50 स्टेट और 45 दूसरे देशों में बुक बेचना शुरु किया था लेकिन उस वक्त ये इतना आसान नहीं था लेकिन जैफ के जज्बे ने इसे आसान बना दिया और वे सितंबर, 1995 तक उनकी कंपनी हर हफ्ते में करीब 20,000 डॉलर की सेलिंग होने लगी थी।

जैफ बेजोस की दूरगामी सोच ने इंटरनेट की क्रांति की शुरुआती की साथ ही ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन का स्थापना कर इतिहास रच दिया,जहां ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन ने हमारी लाइफस्टाइल को और भी ज्यादा आसान बना दिया है।

घर बैठे ही हम अपनी मनपसंद चीजें चुटिकियों में मंगा लेते हैं, साल 2007 तक अमेज़ॉन डॉट कॉम (amazon.com) ऑनलाइन बिक्री की अच्छी ब्रांड के रूप में स्थापित हो चुकी थी, तभी अमेज़ॉन ने अमेज़न किन्डल नाम ई-बुक रीडर बाजार में उतारा, जिसके माध्यम से किताब को तुरंत डाउनलोड करके पढ़ा जा सकता था।

इससे कम्पनी को काफी लाभ तो हुआ ही लोगों को बुक पढ़ने के लिए अब ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ता था और मनचाही पुस्तक मिनटों में उनके पास आ जाती थी। जैफ की किस्मत के सितारे बुलन्दियों पर थी इसलिए महज कुछ घंटों में भी किन्डल का सारा स्टॉक बिक गया और इसी की बदौलत अमेज़ॉन ने अमेरिका के 95 प्रतिशत ई-बुक व्यवसाय पर कब्ज़ा कर लिया।जो कि कंपनी के लिए काफी फायदेमंद साबित हुआ।

Jeff Bezos Net Worth

इस कंपनी की बदौलत जैफ बेजोस दुनिया के सबसे अमीर शख्स भी बन चुके हैं, ब्लूमबुर्ग इनडेक्स के मुताबिक 16 जुलाई, 2018 को अमेजॉन कंपनी के फाउंडर जैफ बेजोस की नेट वर्थ 150 बिलियन डॉलर है जो कि माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के फाउंडर बिल गेट्स की 55 बिलियन डॉलर से ज्यादा है।

दुनिया के सबसे अमीर शख्स जैफ बेजोस ने साबित कर दिया कि अगर कुछ करना दिखाने का जज्बा हो तो जीत आपकी ही होती है।

Read More Inspirational Stories:

Hope you find this post about ”Jeff Bezos Success Story In Hindi” inspiring. if you like this Article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.