बिन्नी बंसल की सक्सेस स्टोरी | Binny Bansal Biography

Binny Bansal

वैसे तो हम सभी “Flipkart” का नाम जानते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं की इस “Flipkart” ऑनलाइन ई.कॉमर्स साइट को बनाने वाले सचिन बंसल और बिन्नी बंसल – Binny Bansal को यह सफ़लता पाने के लिए किन मुसीबतों का सामना करना पड़ा, उनकी लाइफस्टाइल कैसी थी नहीं ना? हमने अपने पिछले लेख में आपको सचिन बंसल के जीवनी के बारेमें बताया था आज हम उन्ही के दोस्त और “Flipkart” ऑनलाइन ई.कॉमर्स साइट के को – फाउंडर बिन्नी बंसल के जीवन के बारेमें बताने जा रहे हैं।

Binny Bansal
Binny Bansal

बिन्नी बंसल की सक्सेस स्टोरी – Binny Bansal Biography

बिन्नी बंसल को भारतीय इंटरनेट उद्यमी और एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में जाना जाता है। ये 2007 में अपने मित्र सचिन बंसल के साथ जुड़े और दोनों ने मिलकर मशहूर ऑनलाइन ई.कॉमर्स साइट “Flipkart” की ऑनलाइन ई.कॉमर्स साइट की नीव रखी। बहुत से लोगो को ऐसा लगता हैं कि फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक सचिन बंसल और बिन्नी बंसल दोनों भाई हैं लेकिन ऐसा नहीं हैं। दोनों ने फ्लिपकार्ट की स्थापना करने से पहले कुछ समय तक अमेज़ॅन जो की एक विशाल ई।कॉमर्स प्लेटफार्म हैं में काम किया था।

बिन्नी बंसल का प्रारंभिक जीवन – Binny Bansal Early Life

बिन्नी बंसल मूल रूप से चंडीगढ़ से हैं जो की पंजाब और हरियाणा की राजधानी है। इनका जन्म साल 1983 में हुआ था। इनके पिता पहले सेना में थे और रिटायर होने के बाद बैंक में मुख्य प्रबंधक के रूप में कार्यरत हैं। उनकी माता जी भी एक सरकारी कर्मचारी हैं। बिन्नी बंसल अपने माता पिता की एकलौती संतान थे और इनका कोई भाई बहन नहीं था। बिन्नी बंसल वर्तमान में बैंगलोर में अपनी पत्नी के साथ रहते हैं।

बिन्नी बंसल शिक्षा – Binny Bansal Education

उन्होंने चंडीगढ़ के ही सेंट ऐनी स्कूल से पढाई की हैं। और बाद में दिल्ली के आईआईटी कॉलेज से इंजिनयरिंग की डिग्री प्राप्त की हैं।

बिन्नी बंसल का करियर – Binny Bansal Career

आईआईटी दिल्ली से कंप्यूटर साइंस में बीण्टेक डिग्री प्राप्त करने के बाद बिन्नी ने सरनोफ कॉर्प नामक एक शोध और विकास फर्म के लिए काम किया जहां उन्होंने कार सेंसर तैयार कि जो ड्राइवर को सिग्नल दि बिना लेन बदलते हैं।

साल 2007 जनवरी में बिन्नी को सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में अमेज़ॅन जैसी ऑनलाइन कंपनी के साथ काम करने का मौका मिला। यहाँ उन्होंने 9 महीने तक काम किया था। बाद में बिन्नी ने यह जॉब छोड दी और अपने साथी सचिन बंसल के साथ मिलकर फ़्लिपकार्ट नामक अपनी ऑनलाइन बुकस्टोर लॉन्च करने की योजना बनायी।

शुरुआत के दिनों में वे दोनों खुद ही अपने स्कूटर पर किताबें पैक और वितरित किया करते थे। उनकी मेहनत का परिणाम था की फ्लिपकार्ट जो केवल एक किताबों की दुकान के रूप में शुरू हुआ धीरे – धीरे बढ़ी और फैशन, इलेक्ट्रॉनिक्स, खेल, विद्युत उपकरण इत्यादि सहित कई श्रेणियों के उत्पादों को शामिल किया।

फ्लिपकार्ट भारत में पहली ई.कॉमर्स कंपनी के रूप में उभरी जिसे ग्राहकों को कैश ऑन डिलीवरी जैसी विकल्प प्रदान की जिससे वे आसानी से ऑनलाइन शॉपिंग कर सके।

बिन्नी बंसल को मिले हुए पुरस्कार और सम्मान – Binny Bansal Awards
  • सितंबर 2015 में, बिन्नी बंसल और सचिन बंसल को फोर्ब्स इंडिया रिच लिस्ट द्वारा $ 1.3 बिलियन नेट वर्थ के साथ भारत का 86 वां सबसे अमीर व्यक्ति के रूप में नामित किया गया था।
  • 2016 में TIME के द्वारा सचिन और बिन्नी बंसल को 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूचिमें शामिल किया गया था।
  • साल 2017 में इंडिया टुडे के 50 सबसे शक्तिशाली लोगों की सूचि में सचिन और बिन्नी बंसल को 26 स्थान पर रखा गया था।

सच में दोस्तों कहते है न की,

“मेहनत लगन और हिम्मत से ही सफ़लता मिलती हैं”

इस सुविचार का एक अच्छा उदहारण हैं बिन्नी बंसल। उनके जीवन में कई मुसीबत आयी, बहुत बार वह असफल भी हुए लेकिन कभी उन्होंने हार नहीं मानी और अपने सपनो को साकार करने की जीद नहीं छोड़ी इसलिए उनकी बनायीं ऑनलाइन ई.कॉमर्स साइट “Flipkart” दुनिया में सबसे बड़ी साईट के लिस्ट में नामांकित हैं।

Read More Inspirational Stories:

Hope you find this post about ”Binny Bansal Success Story In Hindi” inspiring. if you like this Article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

1 COMMENT

  1. मुझे यह कहानी पढ़कर काफी प्रेरणा मिली, इसे लिखने के लिए बहुत धन्यवाद !!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.