क्रेडिट कार्ड प्रोटेक्शन प्लान के बारे में जानना सभी के लिए है बेहद जरूरी – Credit Card Protection Plan

What is Credit Card Protection Plan

जब बैंगलोर के एक कॉर्पोरेट कर्मचारी अमन का पर्स खो गया, तो यह उसके लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं था, इससे उसको काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था।

दऱअसल, अमन के पर्स में 4 Credit card, 2 Debit card के अलावा कुछ नगद रुपए भी थे। वहीं जब अमन को अपने कार्ड खोने का एहसास हुआ तो उसे अपने सभी कार्ड को ब्लॉक करवाने के लिए एक-एक करके हर बैंक में कॉल करना पड़ा।

वहीं अगर अमन ने कार्ड प्रोटेक्शन प्लान लिया होता तो उसके लिए अपने कार्डों को ब्लॉक करवाने में बेहद आसानी होती और वह चुटकियों में अपने कार्ड को ब्लॉक कर लेता।

आजकल कई Credit card प्रदाता जैसे, SBI Card, ICICI Bank छोटे वार्षिक प्रीमियम के लिए अपने ग्राहकों को कार्ड प्रोटेक्शन प्लान उपलब्ध करवाती हैं।

तो कार्ड प्रोटेक्शन प्लान का वास्तव में क्या मतलब है और क्या आपको वाकई में इसकी जरूरत है?

क्रेडिट कार्ड प्रोटेक्शन प्लान के बारे में जानना सभी के लिए है बेहद जरूरी – Credit Card Protection Plan

Credit Card Protection Plan
Credit Card Protection Plan

क्रेडिट कार्ड प्रोटेक्शन प्लान – Credit card Protection Plan

साफ और सीधे शब्दों में समझें तो, कार्ड प्रोटेक्शन प्लान, आपके कार्ड के लिए एक बीमा पॉलिसी की तरह ही है।

आमतौर पर, यह न केवल आपके Credit card को कवर करता है, बल्कि आपके पर्स में रखे अन्य Debit card, रिटेल स्टोर के मेंबरशिप कार्डक के अलावा लॉयल्टी कार्ड को भी कवर करता है।

वहीं अमेरिका जैसे पश्चिमी देशों में कार्ड प्रोटेक्शन प्लान के बारे में लोग काफी जागरूक है और लोगों के बीच यह काफी लोकप्रिय भी है, जबकि भारत में अभी भी लोग कार्ड प्रोटेक्शन प्लान को इतना महत्व नहीं देते हैं।

ज्यादातर सभी बड़ी Credit card देने वाली बैंकें जैसे HDFC, SBI, ICICI और Axis बैंक भारत में अपने ग्राहकों के लिए प्रोटेक्शन प्लान ऑफर करती है।

भारत में, Credit card सर्विसेज के लिए मुख्य रुप से दो विकल्प उपलब्ध है – यह हैं वन असिस्ट (One assist) और क्रेडिट प्रोटेक्शन प्लान (CPP)।

आपका Credit card प्रदाता इनमें से किसी एक Credit card सर्विस के माध्यम से आपको Credit card प्रोटक्शन प्लान उपलब्ध करवाता है।

वहीं इन Credit card सर्विसेज के बारे में एक अहम प्वाइंट ध्यान रखने वाला यह है कि इन्हें हर साल रीन्यू करवाना पड़ता है, यानि कि इस सेवा का लुफ्त उठाने के लिए सालाना फीस चुकानी पड़ती है, क्योंकि यह बीमा की तरह काम करते हैं।

इस प्लान को एक्टिव रखने के लिए हर साल प्रीमियम का भुगतान भी करना पड़ता है।

कार्ड प्रोटेक्शन प्लान कैसे काम करता है – How Card Protection Plans Work

जब आप Credit card लेते हैं तो आपके पास कार्ड प्रोटेक्शन प्लान की पेशकश को लेकर बैंक से एक कॉल आती है। वहीं अगर आपको कार्ड प्रोटेक्शन प्लान फायदेमंद लगता है और आप इसके नियम और शर्तों से सहमत होते हैं, तो आप अपनी जरूरत के मुताबिक इस प्लान को चुन सकते हैं।

Credit card सर्विस प्रोवाइडर किसी एक व्यक्ति के लिए और पूरी फैमिली के लिए अलग-अलग प्लान की पेशकश करता है। प्लान के मूल्यों का निर्धारण भी पैक के लाभों के आधार पर अलग-अलग किया जाता है।

कुछ सामान्य विशेषताएं और लाभ कार्ड प्रोटेक्शन प्लान में शामिल हैं, जो कि इस प्रकार हैं –

एक बार में एक से ज्यादा कार्ड को करें ब्लॉक

अगर आपके पास क्रेडिट प्रोटेक्शन प्लान (सीपीपी) है तो आपका पर्स खोने की स्थिति में आपको अपना कार्ड ब्लॉक करने के लिए अलग-अलग बैंकों के पास कॉल करने की जरूरत नहीं होती है।

आपको सिर्फ कार्ड प्रोटेक्शन सर्विज प्रोवाइडर को अपने कार्ड खोने की सूचना देनी होती है, जिसके बाद वे कार्ड प्रदाताओं को कॉल करने की जिम्मेदारी लेते हैं, जिससे आपके खोए हुए सभी कार्डों को तुरंत ब्लॉक किया जा सके।

आपातकालीन नगद अग्रिम सुविधा – Emergency Cash Advance Facility

अगर आप यात्रा के दौरान अपना पर्स खो देते हैं, यह आपके लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं होता है, लेकिन सारे पैसे चले जाने के बाबजूद भी आप एक नए शहर में अपने दम पर खड़े होते हैं, यह तब मुमकिन होता है जब CPP आपकी मदत करता है।

दरअसल ऐसी परिस्थितियों में सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा इमरजेंसी कैश एडवांस सुविधा की पेशकश की जाती है।

धोखाधड़ी संरक्षण (फ्रॉड प्रोटेक्शन) – Ford Protection

आपके कार्ड प्रोटेक्शन प्लान के साथ फ्रॉड प्रोटेक्शन मिलना कॉम्प्लीमेंट्री है।

दऱअसल जब आपका कार्ड चोरी हो जाता है, खो जाता है, गिर जाता है, कार्ड का गलत तरीके से इस्तेमाल होता है या कार्ड से संबंधित किसी भी तरह के धोखाधड़ी के लेनदेन के मामले में फ्रॉड प्रोटेक्शन आपके लिए काफी मदतगार साबित होता है।

जीरो लायबिलिटी क्लॉज के विपरीत, आपके द्धारा की गई नुकसान की रिपोर्ट के बाद कार्ड जारीकर्ताओं के द्धारा सीपीपी के तहत नुकसान की भरपाई की जाती है, इस नुकसान की रिपोर्ट के 7 से 15 दिन पहले ही सीपीपी के तहत फ्रॉ़ड प्रोटक्शन शुरु हो जाता है।

हालांकि, सर्विस प्रोवाइडर की तरफ से अधिकतम भरपाई पहले से ही निर्धारित कर ली जाती है।

इमरजेंसी रोडसाइड असिसटेंस- Emergency Roadside Assistance

कार्ड प्रोटेक्शन प्लान के तहत आपके सर्विस प्रोवाइडर के द्धारा आपातकालीन स्थिति में सड़क के किनारे भी सहायता प्रदान की जाती है।

आपको बता दें कि इसके तहत आपको उस स्थिति मे मद्द मिलेगी जब सड़क के किनारे आपकी गाड़ी का टायर पंचर हो जाता है या फिर गाड़ी खराब हो जाती है।

ट्रेवल एंड होटल असिस्टेंस – Travel and Hotel Assistance

अपने पर्स को खोना वाकई किसी बुरे सपने से कम नहीं है, लेकिन किसी विदेशी स्थान पर कार्ड का खो जाना, मतलब की ट्रिप को पूरी तरह से बर्बाद कर देना।

इस तरह की परिस्थितियों में CPP काफी उपयोगी साबित होता है, इसकी मदत से आप अपनी यात्रा के लिए रिप्लेसमेंट ट्रेवल टिकट प्राप्त कर सकते हैं और पैसों की चिंता किए बिना आसानी से अपने घर वापस आ सकते हैं।

इसके अलावा होटल में ठहरने के किराए की भी भरपाई इसके तहत की जाती है।

खोए हुए दस्तावेजों का रिप्लेसमेंट – Replacement of Lost Documents

कभी-कभी कार्ड प्रोटेक्शन प्लान के तहत आपकी अति मूल्यवान दस्तावेज जैसे पैन कार्ड, पासपोर्ट आदि के नुकसान की भी भरपाई की जाती है।

इसकी सहायता से आप आसानी से बिना किसी अतिरिक्त फीस दिए बदल सकते हैं।

फोन का नुकसान –

अगर आपके प्रोटेक्शन प्लान के तहत फोन के नुकसान को शामिल किया गया है, तो आप अपना फोन खो जाने की स्थिति में कार्ड सर्विस प्रोवाइडर को इसके तहत सूचित कर सकते हैं, जिसके बाद वह आपकी फोन की सिम को ब्लॉक कर देते हैं।

वे आपके IME नंबर को बनाए रखने में भी मद्द कर सकते हैं। इस नंबर का इस्तेमाल आपके फोन को ट्रेस करने के लिए किया जा सकता है।

क्या आपको यह विकल्प चुनना चाहिए?

हालांकि, Credit card पहले से ही से कुछ अन्य तरह के बीमा के साथ-साथ खोए हुए कार्ड की लाइविलिटी की भरपाई की पेशकश करते हैं, जिससे कई लोग इस Credit card प्रोटेक्शन प्लान को लेने को लेकर असमंजस में पड़ जाते हैं।

जैसे कि हमने आपको पहले बताया कि खोए हुए कार्ड की लायबिलिटी के साथ, आपको सिर्फ धोखाधड़ी वाले लेनदेन की भी भरपाई की जाएगी जो कि आपके द्धारा नुकसान की सूचना देने के बाद की जाएगी।

वहीं एक बार जब आप नुकसान की रिपोर्ट करते हैं तो आपका कार्ड तुरंत ब्लॉक कर दिया जाता है और उसके बाद किसी भी तरह की धोखाधड़ी के लेनदेन की आशंका भी बेहद कम होती है।

वहीं दूसरी तरफ CPP आपके द्धारा ऐसे नुकसानों की रिपोर्ट करने से पहले ही आपको कार्ड से हुए धोखाधड़ी के लिए कवर करता है।

इसके अलावा आपको बिना किसी अतिरिक्त चार्ज दिए कई अन्य लाभ भी मिलते हैं, जैसे कि हमने आपको ऊपर बताए हैं।

निष्कर्ष –

ऐसी कोई भी सुविधा नहीं है, जो सभी तरह की देनदारियों को कवर कर सके, वहीं CPP अपनी कुछ सीमाओं के साथ ग्राहकों को लाभ प्रदान करता है।

एक स्मार्ट ग्राहक के रुप में, आपको यह फैसला लेने की जरूरत है कि क्या इस तरह के प्लान आपके लिए फायदेमंद साबित होंगे या फिर नहीं होंगे।

अगर आपकी भागदौड़ भरी जिंदगी में कार्ड खोने की ज्यादा आशंका है तो आपके लिए इस तरह के प्लान का चयन करना बेहतर साबित हो सकता है।

हालांकि इसके लिए आपको इसके सभी नियम और शर्तों को ध्यानपूर्वक पढ़ लेना चाहिए और यह जान लेना चाहिए कि किस तरह की लायविलिटीज को इसके द्वारा कवर किया जाता है।

इसके अलावा उन बैंकों के बारे में भी आपको जानने की जरूरत है, जिनके साथ Credit card प्रोटेक्शन प्लान सर्विसेज का टाइ-अप है, खासतौर पर आप उस बैंक के बारे में जरूर जानें जिनके साथ आपके पहले से ही संबंध हैं।

अपने Credit card पर पहले से मिल मिल रहे बीमा लाभों की तुलना, कार्ड प्रोटेक्शन प्लान के साथ करें, इसके बाद दोनों के लाभों का सही तरह से मूल्यांकन करें और फिर एक स्मार्ट कदम उठाए।

Read Also: 

If You Like, Credit card Protection Plan Information in Hindi Then Please Share On Facebook and Whatsapp.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *