दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना | Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्धारा देश के विकास और लोगों को तमाम सुविधाएं देने के मकसद से कई योजनाएं लॉन्च की गईं जिसका लोग बड़े स्तर पर फायदा ले रहे हैं इसके साथ ही नरेन्द्र मोदी ने ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की समस्या को दूर करने के लिए दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना – Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana लॉन्च की है जिसका मकसद सभी गांव और शहरों में बिजली की आपूर्ति करना है।

Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना – Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

Deendayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana Launched – नरेन्द्र मोदी ने 20 नवंबर 2014 को इस योजना की शुरुआत की है। दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंर्तगत मोदी सरकार का लक्ष्य 1000 दिन के अंदर करीब 18 हजार 452 गांवों में बिजली उपलब्ध करवाना था। ये योजना भारत सरकार द्धारा शुरु की गई मुख्य योजनाओं में से एक है क्योंकि इससे न सिर्फ ग्रामीण परिवारों को बिजली उपलब्ध हुई बल्कि कई परिवारों को रोजगार के अवसर भी मिलें हैं और विशेष लाभ पहुंचा है।

आपको बता दें कि Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana – दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना राजीव गांधी विघुतीकरण योजना की जगह प्रधानमंत्री द्धारा लॉन्च की गई योजना है जिसका मुख्य मकसद हर घर में 24 घंटे बिजली की सुविधा देना है।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का उद्देश्य – Purpose of Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana – दीनदयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की समस्या को दूर करने का मुख्य लक्ष्य है, इसके साथ ही हर घर में 24 घंटे बिजली की आपूर्ति देना है. इस योजना के तहत बिजली की ज्यादा मांग के मुताबिक लोड में कमी करना भी इस योजना का मुख्य मकसद है इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की अच्छी सुविधा देना समेत बिजली बिल में सुधार करना भी इस योजना के मुख्य मकसद है।

इसके अलावा दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का उद्देश्य कृषि और गैर-कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करवाना भी है। इसके अलावा इस योजना के निन्नलिखित उद्देश्य नीचे दिए गए हैं।

  • सभी गांवों में बिजली की आपूर्ति करने का उद्देश्य।
  • दीन दयाल योजना के तहत बिजली डिस्कॉम में हो रहे नुकसान को कम कर अच्छी गुणवत्ता प्रदान करना है।
  • किसानों को पर्याप्त बिजली उपलब्ध कराने के लिए फीडर सेपरेशन और अन्य उपभोक्ताओं को नियमित बिजली की आपूर्ति करने का उद्देश्य।
  • सब-ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क में सुधार करना ताकि बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता और विश्वसनीयता में सुधार लाया जा सके और बिजली उपभोक्ताओं को फायदा पहुंचा जा सके।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का लाभ- Benefits of Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

  • दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत सभी गांवों और घरों में बिजली पहुंचेगी यानि कि हर गांव रोशन होगा।
  • दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंर्तगत फसल की अच्छी पैदावार होगी। जिससे कृषि उत्पादन में बढ़ोतरी होगी।
  • दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत हर गांव- शहर में बिजली उपलब्ध होगी जिससे स्वास्थ्य, शिक्षा, बैंकिंग सेवाओं में सुधार होगा।
  • दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत कारोबार क्षेत्र में भी खासा फायदा होगा जिससे नए रोजगार के अवसर सृजित होंगे।
  • ग्रामीण इलाकों में विकास के ज्यादा अवसर मिलेंगे साथ ही गांवों की तरक्की होगी।
  • दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत रेडियो, टेलीफोन, टेलीविज़न, इंटरनेट और मोबाइल की पहुंच में भी सुधार होगा।
  • 6 बिजली होने की वजह से गांव की सामाजिक स्थिति में भी सुधार होगा।
  • स्कूल, पंचायतों, अस्पतालों और पुलिस स्टेशनों में बिजली की पहुंच आसानी से हो सकेगी।

मोदी सरकार के द्धारा शुरु की गई दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना प्रमुख रूप से ग्रामीण इलाकों में और ज्यादा सुधार करने में सहायता करेगी क्योंकि इस योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा ग्रामीण बिजली की सुविधा ले सकेंगे।

आपको बता दें कि ये योजना ग्रामीण परिवारों और कृषि पर आधारित हैं, भारत सरकार की इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में सभी स्तरों पर मीटर लगाने समेत वितरण बुनियादी ढ़ाचे को मजबूत बनाना है। इसके साथ ही इस योजना के माध्यम से ग्रामीण परिवारों को बिजली मिलेगी इससे किसानों को भी फायदा होंगा क्योंकि ये योजना किसानों को उचित बिजली प्रदान करने में मदत करेगा।

आपको बता दें कि इस परियोजना के तहत लोगों को बिजली उपलब्ध करवाने को लेकर करीब 76000 करोड़ रुपए खर्चा आया था जिसके तहत भारत सरकार ने 63000 करोड़ का अनुदान दिया था जबकि बिहार के लिए करीब 5827 करोड़ रुपए की परियोजनाओं को मंजूरी दी गई थी वहीं जिसमें से करीब 14, 680 करोड़ रुपए की परियोजनाओं को मंजूरी दे दी गई हैं।

मोदी सरकार की इस योजना के तहत बिहार समेत कई कृषि राज्यों को बेहद लाभ पहुंचा। दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंर्तगत हजारों किलोमीटर की नई लाइनें बिछाई गईं इसके साथ ही सैकड़ों नए सबस्टेशन की योजना बनाई गई।

इस योजना के कृषि उत्पादकता में तो सुधार हुआ ही है इसके साथ ही सभी घरों के विद्युतीकरण सुनिश्चित होंगे। आपको बता दें कि ये योजना राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना को फिर से स्थापित करेगा लेकिन राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना की सभी सुविधाओं को इस योजना में शामिल किया गया है।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के प्रमुख तत्व- Key elements of Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

  • इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में कृषि और गैर कृषि उपभोक्ताओं की आपूर्ति को बहाल करने की सुविधा।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली ट्रांसफार्मर, बिजली फीडर उपभोक्ताओं की नपाई समेत वितरण की आधारभूत संरचना को मजबूत बनाना।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की मुख्य विशेषता – Main Feature of Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

  • राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना को दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना – Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana में शामिल किया गया है।
  • इस योजना की खास बात यह है कि ये सभी डिस्कॉम की मदत करती है, इसके तहत डिस्कॉम को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।
  • आपको बता दें कि इस योजना के तहत ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड योजना को सुचारू रूप से चलाने के लिए नोडल एजेंसी मद्द करेंगी जिससे सभी ग्रामीण इलाकों में उचित बिजली की आपूर्ति करवाई जा सके।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत नोडल एजेंसी की अहम भूमिका – Role of nodal agency under Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

इस योजना में नोडल एजेंसी की अहम भूमिका होती है आपको बता दें कि नोडल एजेंसी बिजली मंत्रालय के इशारे पर काम करती है।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के लिए बजट- Budget for Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में 43,033 करोड़ रुपये निवेश किए गए हैं जिसमें योजना की अवधि में भारत सरकार से 33,453 करोड़ रुपये के बजटीय समर्थन लिए जाएंगे।

आपको बता दें कि इस योजना के तहत प्राइवेट डिस्कॉम और राज्य के विद्युत विभागों समेत सभी डिस्कॉम को वित्तीय सहायता दी जाएगी ताकि ग्रामीण स्तर पर बिजली की आपूर्ति करवाई जा सके।

इसके साथ ही डिस्कॉम ग्रामीण बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने लिए उच्च नेटवर्क की जरूरत को प्राथमिकता के तौर पर किया जाएगा।

Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana – दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की शुरुआत करना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वाकई एक सराहनीय पहल है इससे न सिर्फ गांव-गांव तक बिजली की आपूर्ति हुई बल्कि गांव का बड़े पैमाने पर विकास हुआ रोजगार के नए अवसर बढ़े, कारोबारों को बढ़ने में मद्द मिली।

वहीं सरकारी आंकड़ो के मुतबाकि देश के करीब 597,464 गांवों में बिजली पहुंचा दी गई है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने जब दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना सरकार की शुरुआत की थी, तब देश के कुल 18,452 गांवों में बिजली का आपूर्ति मानो न के बराबर थी। वहीं 75,893 करोड़ के खर्च के चालू हुई इस योजना को जब शुरु किया गया तब पता चला कि 1275 गांव ऐसे हैं जिनमें अंधेरा था यानि की बिजली की आपूर्ति ही नहीं थी।

आपको बता दें कि इन गांवों में 28 अप्रैल 2018 तक नेशनल ग्रिड या ऑफ ग्रिड से बिजली पहुंचा दी गई जबकि 1236 गांव ऐसे भी हैं जहां कोई रहता नहीं है और 35 गांवों को चारागाह रिजर्व के रूप में घोषित किया गया है।

अंधेरे गांव को रोशन करने की मोदी सरकार की ये पहल वाकई काबिले तारीफ है इस योजना से न सिर्फ गांव में बिजली की आपूर्ति हुई है बल्कि कारोबार में भी बढ़ोतरी हुई है और रोजगार के नए अवसर सृजित हुए हैं।

Source and More Information: Official Website

Read More:

Hope you find this post about ”Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana” useful. if you like this articles please share on Facebook & Whatsapp. and for the latest update download : Gyani Pandit free android App.

Leave a Reply

Your email address will not be published.