“फर्श से अर्श तक” | Foodking Sarathbabu Success Story

Foodking Sarathbabu Success Story

हा ये कहावत उन लोगो के बारे मैं हैं, जो सबसे ऊपर उठकर कुछ ऐसा कर गुजरते हैं जो न सिर्फ उनकी जिन्दगी बदल देते हैं बल्कि लाखों के लिए INSPIRATION बन जाते हैं।

जो लोग सपने देखते हैं और अपने सपनों पे विश्वास रखकर उने पूरा करने के लिए पुरे जी जाना से प्रयास करते हैं। उन्हें कोई भी मुश्किल रोक नहीं सकती।

दोस्तों, आज मैं आपको ऐसे शख्स के बारे मैं बताऊंगा जिसने “फर्श से अर्श तक” का सफ़र तय किया।

“फर्श से अर्श तक” – Foodking Sarathbabu Success Story In Hindi

दुनिया उन्हें Foodking Sarathbabu के नाम से जानती है। शरथ बाबु नाम का चेन्नई शहर का लड़का जिसने अपने इच्छाशक्ति के जोर पे सभी मुश्किलों पर विजय प्राप्त करके, अपने सपने को साकार किया।

बहूत गरीब घर मैं, चेन्नई के एक झोपड़ियों की बस्ती मैं जन्मे शरथ ने BITS PILANI से इंजीनियरिंग ओर IIM Ahmedabad से MBA पूरा किया।

आज वे एक बड़े Businessman और Foodking Catering Services Pvt Ltd, कंपनी के मालक हैं। 2008 साल मैं उन्हें ‘पेप्सी यूथ आयकॉन’ (आदर्श युवक) पुरस्कार से सन्मानित किया।

शरथ का जन्म चेन्नई के माडीपक्कम मैं हुआ। उसे दो बड़ी बहने और दो छोटे भाई है। शरथ के माँ ने बहुत मेहनत कर के अपने पाच बच्चो को बढाया। उनके घर मैं वे अकेली ही कमाने वाली थी। शरथ की माँ सुबह ईडली बेचती थी, दोपहर सरकारी स्कुलो मैं बच्चों को खाना देने का कम करती थी। इतनी ख़राब हालत होकर भी शरथ ने कभी भी हार नहीं मानी।

इंजीनियरिंग के बाद शरथ ने 3 साल पोलारीस सॉफ्टवेयर कम्पनी मैं काम किया। पोलारीस मैं काम करके उन्होंने अपने परिवार के ऊपर के सारे कर्जे उतार दिये।

CAT की तयारी शुरू कर दी। जब पहली CAT परीक्षा हुई तो पेपर लिक होने के वजेह से उन्हें फिर से CAT की परीक्षा देनी पड़ी जिसमे सरथ ने अच्छा Score किया और उन्हें IIM कॉलेज से इंटरव्यू को बुलाया गया।

एक बड़ी आईटी कम्पनी ने उन्हें 8 लाख year रुपये की salary की नोकरी का offer दिया पर उन्होंने उस नोकरी को ठुकराकर अपनी कटरिंग कम्पनी शुरू करने का जब फैसला लिया तो वो एक चर्चा का विषय बन गया।

MBA के बाद शरथ ने इडली बेचने का काम किया। जीस काम को उनकी माँ घर चलाने के लिए करती थी। लेकिन उन्होंने डटकर अपनी “फूडकिंग” नाम की कॅटरींग कम्पनी पर अपना पूरा लक्ष्य केन्द्रीत किया और उसे ऊचाई पर ले गए। जिसकी first unit opening Mr.Narayana Murthy, founder of INFOSYS के हाथो से हुई।

आज पुरे भारत में फूडकिंग की 500 से ज्यादा शाखायें हैं और फूडकिंग का TURNOVER करोडो का हैं। और सबसे बड़ी बात आज फूडकिंग के जरिये 50,000 से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलता हैं।

कम उम्र मैं ही उन्होंने जो उचाई छू ली, जिसे देखकर सभी उनसे inspire होंगे।

चीटी की मुहं से खाना छिनकर खाने तक की गरीबी देखकर शरथबाबु ने जो कर दिखाया, सचमुच में  “फर्श से अर्श तक” का सफ़र हैं!

“सफलता कर्म करने से मिलती है।”

उनका Favorite Quote

Expect from yourself You will unleash your potential.

Read More:-

  1. Inspiring Entrepreneurs Story 
  2. Motivational Story
  3. Inspiring Motivational Story

14 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.