Flipkart कंपनी के फाउंडर सचिन बंसल | Founder of Flipkart Sachin Bansal Biography

Sachin Bansal

Flipkart का नाम वैसे सब ने ही सुना होगा ऐसे बहुत हे कम लोग होंगे की जिन्होंने Flipkart के नाम को न सुना हो। Flipkart कंपनी 2007 में शुरू हुई थी जो की Sachin Bansal और Binny Bansal ने मिलकर खोली थी।

Sachin Bansal Biography
Sachin Bansal Biography

Flipkart कंपनी के फाउंडर सचिन बंसल – Founder of Flipkart Sachin Bansal Biography

Sachin Bansal और Binny Bansal दोनों ने ही IIT दिल्ली से अपना Graduation Computer science से कम्पलीट किया। अब वो दोनों IIT दिल्ली से अपना ग्रेजुएशन कर रहे थे तो उनको अपने करियर की टेंशन तो बिलकुल नहीं थी। तो अब Sachin Bansal और Binny Bansal दोनों का फॅमिली बैकग्राउंड एकसा ही था तो दोनों के बीच में समझ भी एकसी ही थी जो की पार्टनरशिप में बहुत जरुरी होती है।

अब जब दोनों की पढाई कम्पलीट हो गई तो उन लोगो ने Amazon दुनिया की सबसे बड़ी E-commerce में काम किया पर कुछ समय बाद उन्होनें के मन में खुद की E-commerce कंपनी खोलने का ख्याल आया। तो फिर Sachin Bansal और Binny Bansal दोनों ने Amazon कंपनी का काम छोड़ दिया और खुद की कंपनी का काम चालू कर दिया। ये उनके लिए बहुत हे बड़ा रिस्क था पर वो तो अब लेना ही पड़ता है क्यूंकि वो कहते है ना,

“जो जोखिम उठाने का साहस नहीं रखता वह जीवन में कुछ हासिल नहीं कर सकता”

तो दोनों ने मिलकर 5 सितम्बर 2007 में अपनी एक E-commerce कंपनी खोली जिसका नाम Flipkart रखा। अब जब Flipkart 2007 में आया तब न के बराबर E-commerce कपनियां थी क्यूंकि उस समय लोगो की ये मानसिकता थी की हम कुछ भी सामान बिना देखे, बिना छुए कैसे खरीद सकते है। और समाना आने से पहले पैसे कैसे दे सकते है।

तो लोगो की इस मानसिकता को दूर करने के लिए Sachin Bansal और Binny Bansal ने cash on delivery service ले आये जिससे लोग सामान उनतक पहुंचने के बाद ही पैसे देते थे। ये भारत में पहली बार हुआ था जिसके कारण उनको अपनी कंपनी को ग्रो करने में ज्यादा मदत मिल गई थी।

अब 2007 में Sachin Bansal और Binny Bansal दोनों किताबे ऑनलाइन बेचा करते थे जिसकी डिलीवरी वो लोग खुद स्कूटर से घर-घर जाकर किया करते थे और वो दोनों Bookshop के सामने खड़े होकर अपनी कंपनी के pamphlet बाटा करते थे।

आखिर कर अब 2008-2009 में Sachin Bansal और Binny Bansal की मेहनत रंग लाई उन लोगो ने इस समय 40 मिलियन रुपयों की बिक्री कर दी थी। अब इस कंपनी के बहुत सारे customers बन गए थे और ये कंपनी अब बहुत सारे पैसे कमाने लगी थी ये कंपनी अब Amazon जैसी कम्पनियों को टक्कर देने लगी थी।

अब 2014 में Flipkart ने myntra.com और बाकि कई कंपनियों को खरीद लिया था और अब जिसके कारण अब काफी सामान Flipkart पर मिलने लगा।

अब Flipkart सब चीज़े जैसे की Fashion,Accessories,Mobile,Computer जैसा सब सामान मिलने लगा था। और अब जैसे की ये कंपनी आसमान छुने लगी थी और 2016 में Flipkart ने 40 बिलियन डॉलर तक की खरीदी कर चुके थे। अब जैसे की अपने देख हे लिया की Flipkart ने कैसे सफलता पाई।

तो कोई भी काम कठिन नहीं होता है अगर हम उसको दिल लगाकर करे तो। Sachin और Binny Bansal दोनों ने बहुत ही ज्यादा मेंहनत की और खुद ही सामान की डिलीवरी करने जाया करते थे बिना कुछ सोचे और अपने करियर को भी दाओ पर लगा दिया था और वो रिस्क रंग लाई।

Read More Inspirational Stories:

Hope you find this post about ”Sachin Bansal Success Story In Hindi” inspiring. if you like this Article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.