Skip to content

“होम लोन” (Home Loan) संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी।

Ghar Banane ke Liye Loan

जीवन में हर एक व्यक्ति को खुदका घर बनाने का सपना होता है, यहाँ पर अपने आय के स्त्रोत और उपलब्ध धन के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति घर बनाने की सोच रखता है। पर अगर आपके पास पर्याप्त जमा धन ना हो, तो भी उस स्थिति में कुछ ऐसे विकल्प होते है जिनके माध्यम से आप खुदके घर का निर्माण कर सकते है। इसमे बैंक या फाइनेंस कंपनी द्वारा वित्तीय सहायता से घर बनाने का विकल्प काफी जाना माना और परिचित कहलाया जाता है। इस तरह के वित्तीय सहायता को होम लोन यानि गृह निर्माण कर्ज कहाँ जाता है।

अगर आप इस विषय में रूचि रखते है और होम लोन के विषय में अधिक जानकारी को हासिल करना चाहते है, तो इस लेख द्वारा दी जानेवाली जानकारी आपके लिए काफी महत्वपूर्ण सिध्द हो सकती है। यहाँ आपको उन तमाम बुनियादी बातो को जानने का अवसर मिलेगा जिसे जानने के बाद आप आसानी से होम लोन को प्राप्त करने की संपूर्ण प्रक्रिया को जान पायेंगे।

हमें लगता है के आज के युग में प्रत्येक व्यक्ति को होम लोन से जुडी सभी प्राथमिक जानकारी होना अनिवार्य है, इसी मकसद से इस लेख द्वारा आपको होम लोन संबंधी अधिक से अधिक महत्वपूर्ण बातो से परिचित कराने का हमारा प्रयास होगा। हमे पूरा विश्वास है की ये लेख आपके लिए काफी लाभदायक सिध्द होगा जिसका निकट भविष्य में आपको अवश्य लाभ होगा।

“होम लोन” (Home Loan) संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी। – Home Loan Details in Hindi

Home Loan Details in Hindi

Home Loan Details in Hindi

मुख्य मुद्दे :

  1. होम लोन क्या होता है? जानिए इसे विस्तार से – What is a Home Loan? Detailed Information.
  2. होम लोन के प्रकार – Types of Home Loan.
  3. होम लोन हेतु लागू होनेवाले शुल्क – Charges Applicable For Home Loan.
  4. कैसे करे होम लोन के लिए आवेदन ? आवश्यक कागजात तथा सम्पूर्ण प्रक्रिया की जानकारी – How to Apply For Home Loan? Essential Documents and Whole Process Information.
  5. FAQ.

होम लोन क्या होता है? जानिए इसे विस्तार से – What is a Home Loan? Detailed Information

हमारे मुख्य विषय के बारे में अधिक जानकारी को हासिल करने से पूर्व सबसे महत्वपूर्ण बात यह है के हम जाने के होम लोन क्या होता है? तो चलिए जानेंगे के होम क्या होता है।

मुख्य तौर पर होम लोन वह धन राशि होती है जिसके रूप में ग्राहक को किसी भी बैंक या वित्तीय संस्था से भवन/ गृह निर्माण के लिए वित्तीय सहायता दी जाती है। यहाँ पर ग्राहक के जरुरत के अनुसार उसे धन राशि प्रदान की जाती है, जिसका अर्थ है के ग्राहक को गृह निर्माण से संबंधी किस विशिष्ट मकसद के लिए धन की आवश्यकता है उस के अनुसार सहायता दी जाती है। इसे हम आगे होम लोन के विभिन्न प्रकारो के दौरान और अच्छी तरह से समझने का प्रयास करेंगे।

यहाँ पर ग्राहक को बैंक या वित्तीय संस्था द्वारा तय ब्याज दरों के अनुसार प्रतिमाह विशिष्ट राशि का भुगतान करना होता है, जिसे इ.एम.आय (EMI) के तौर पर भी जाना जाता है हालांकि ब्याज दर बैंक या वित्तीय संस्था से पहले से तय किए गए होते है। ग्राहक द्वारा भुगतान में ब्याज को मिलाकर राशि तय होती है जिसके अनुसार तय समय तक ग्राहक को पुरे कर्जे का भुगतान करना होता है।

ग्राहक की प्रतिमाह आय, आय की स्त्रोत तथा अन्य संपत्ति के ब्यौरे के अनुसार उसे गृह निर्माण कर्ज दिया जाता है। हालाँकि बहुत बार भुगतान की स्थिति अनुसार कर्ज लेना उत्तम होता है, इसी के अलावा कभी भी होम लोन लेते समय कुछ प्रमुख बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है जिसे हम आगे जानने की कोशिश करेंगे।

अबतक आपको होम लोन के परिचय से संबंधी कुछ प्रमुख बाते समझ में आयी होगी, आगे अब हम होम लोन के प्रमुख प्रकारो पर नजर डालेंगे।

होम लोन के प्रकार – Types of Home Loan

अब हम समझने की कोशिश करेंगे की होम लोन के मुख्य कितने प्रकार होते है, जिससे आपको इस विषय को स्पष्ट तौर पर जानने का मौका मिलेगा, निम्नलिखित तौर पर होम लोन के प्रकारो का विवरण दिया गया है जो की इस प्रकार से है ;

  • घर बनाने के लिए लोन (Home Construction Loan)
  • घर खरीदनें के लिए लोन (Home Purchase Loan)
  • प्लॉट खरीदने के लिए लोन (Land Purchase Loan)
  • घर की मरम्मत के लिए लोन (Home Improvement Loan)
  • टॉप-अप होम लोन (Top Up Home Loan)
  • होम एक्सटेंशन लोन (Home Extension Loan)
  • जॉइंट होम लोन (Joint Home Loan)
  • होम लोन बैलेंस ट्रांसफर (Home Loan Balance Transfer)

उपरोक्त तौर पर अब तक आपने होम लोन के कुछ मुख्य प्रकारो के बारे में जाना, अब हम इसे स्वतंत्र रूप से विस्तार से समझाने की कोशिश करेंगे के इन सभी होम लोन प्रकारो का उद्देश्य क्या होता है तथा इनके माध्यम से आप किस प्रकार का लाभ उठा सकते है।

१. घर बनाने के लिए लोन (Home Construction Loan)

बहुत बार ऐसा होता है के किसी व्यक्ति के पास घर निर्माण के लिए पहले से भूमि मौजूद होती है, पर उसके पास उतनी पर्याप्त धन राशि मौजूद नहीं होती है के जिससे वो उस जगह पर घर बना सके। इस स्थिति में उस खाली भूमि पर घर के निर्माण हेतु बैंक या अन्य वित्तीय संस्थाओ द्वारा कर्ज के के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, इस प्रकार के लोन को होम कंस्ट्रक्शन लोन कहाँ जाता है।

यहाँ पर आप उचित और तय ब्याज दरों पर गृह निर्माण कर्ज प्राप्त कर सकते है जिस हेतु आपको बैंक या वित्तीय संस्था में होम कंस्ट्रक्शन लोन हेतु आवेदन करना होता है जिसकी प्रक्रिया और ब्याज दर इत्यादि संबंधी जानकारी को हम आगे विस्तार से समझने का प्रयास करेंगे।

२. घर खरीदनें के लिए लोन (Home Purchase Loan)

मान लिजिए के आपको घर बनाने के बजाय कोई ऐसा घर खरीदना है जो पहलेसे बना हुआ है और बेचनेवाले व्यक्ति और आपके बिच घर के मूल्य का सौदा होने जा रहा है जिसमे दोनों की आपसी सहमति बन गई है और इस सौदे के लिए आप दोनों भी राजी है।

ऐसे स्थिति में अगर आपके पास पर्याप्त धन ना होने के स्थिति में आप बैंक या किसी भी वित्तीय संस्था के पास घर खरीदने हेतु लोन के लिए आवेदन कर सकते है, इस प्रकार के लोन को होम परचेस लोन कहाँ जाता है। इस प्रकार के लोन के स्थिति में ग्राहक पहले से बना मकान, फ़्लैट इत्यादि ख़रीदने हेतु बैंक या वित्तीय संस्था से होम लोन को उठाता है, जिस हेतु उसे एक तय प्रक्रिया से गुजरना होता है जिसके पश्चात उसे धन राशी प्राप्त हो जाती है।

३. प्लॉट खरीदने के लिए लोन (Land Purchase Loan)

अगर किसी व्यक्ति को भविष्य में घर आदि बनाने हेतु भूमि खरीदना हो और पर्याप्त धन मौजूद ना होने की स्थिति में ऐसा व्यक्ति किसी भी सार्वजानिक या निजी बैंक से, या फिर इसके अलावा वित्तीय संस्थाओ द्वारा लोन के माध्यम से आर्थिक सहायता प्राप्त कर सकता है।

आप को बता दे की भूमि को खरीदने हेतु जो लोन दिया जाता है उसे लैंड परचेस लोन कहाँ जाता है। आम तौर बहुत बार इस तरह के लोन के माध्यम से लोग स्वयं के घर निर्माण के सपने को पूरा करते है। हालाँकि उचित समय पर अगर आप लोन का भुगतान करते है तो उसी बैंक या वित्तीय संस्था से आप इस भूमि पर घर के निर्माण हेतु भी लोन प्राप्त कर सकते है जिसके विषय में हमने पहले ही आपको समझाया है।

४. घर की मरम्मत के लिए लोन (Home Improvement Loan)

कई बार ऐसा होता है के आप जिस घर में रहते है उसके छोटे बड़े मरम्मत के काम करने होते है, इसके अलावा अधिकतर बार मौजूदा घर में आधुनिकता अनुसार कुछ बदलाव की चाह भी मन में होती है। इन सभी परिस्थिति में अगर धन से जुडी दिक्कत हो या आपके पास पर्याप्त धन ना हो तो आप इम्प्रूवमेंट लोन के तहत होम लोन ले सकते है।

इसके लिए आपको संबंधित बैंक या वित्तीय संस्था में इम्प्रूवमेंट लोन के लिए आवेदन करने पर लोन मंजूर किया जाता है, जिसमे प्राप्त हुए धन राशी से आप अपने घर की मनचाही मरम्मत या उसमे बदलाव कर सकते है।

५. टॉप-अप होम लोन (Top-Up Home Loan)

यह वह होम लोन होता है जिसमे आपको पहले से लिए हुए लोन के ऊपर कुछ और लोन लेने का प्रावधान मिल जाता है, मान लिजिए किसी व्यक्ति ने घर बनाने हेतु १० लाख तक का लोन लिया हुआ है और अब इस प्रकार की स्थिति है के पूरा घर बनने के लिए १३ लाख तक का खर्चा होनेवाला है। इस स्थिति में वह व्यक्ति ३ लाख का अतिरिक्त लोन अगर बैंक या वित्तीय संस्था से लेता है तो इसे टॉप- अप होम लोन कहाँ जाता है।

इस प्रकार का लोन सिर्फ उन ग्राहको को दिया जाता है जिनमे भुगतान करने की क्षमता होती है, जिनका क्रेडिट स्कोर अच्छा होता है या जिनके मौजूदा हालात तक के भुगतान सही तरह से किए गए होते है। भलेही आप टॉप अप होम लोन लेनेवाले हो परन्तु अंततः आपके ब्याज दरों में बदलाव देखने को नहीं मिलता है।

६. होम एक्सटेंशन लोन (Home Extension Loan)

कुछ स्थितियों में अगर घर में अतिरिक्त निर्माण कार्य करना हो जैसे के नए कमरे, बाथरूम, टॉयलेट, रसोईघर आदि को बनाना हो तो इन स्थितियों में भी होम लोन के तहत वित्तीय सहायता का प्रावधान दिया हुआ होता है जिसे होम एक्सटेंशन लोन कहाँ जाता है। यहाँ पर जब कभी भी आपको इस प्रकार के लोन की आवश्यकता होती है उस समय होम एक्सटेंशन के तहत लोन के लिए आवेदन करना आवश्यक होता है।

७. जॉइंट होम लोन

इस प्रकार के होम लोन में एक से अधिक व्यक्ति ग्राहक के तौर पर बैंक या वित्तीय संस्था से लोन प्राप्त कर सकते है। अधिकतर बार पति -पत्नी को इस प्रकार का लोन लेना फायदेमंद साबित होता है, एक से अधिक व्यक्ति ग्राहक के तौर पर लोन लेते है इसी कारण इस लोन को जॉइंट होम लोन कहाँ जाता है।

८. होम लोन बैलेंस ट्रांसफर (Home Loan Balance Transfer)

होम लोन के मामले में ये सुविधा दी गई होती है जिसमे मान लिजिए के आपने किसी भी वित्तीय संस्था या बैंक से पहले से ही लोन लिया हुआ है और अब आपको कोई अन्य बैंक या संस्था में कम ब्याजदर और नियम तथा शर्तो लागू होती दिखाई देती है तो उस स्थिति में आप अपनी बकाया राशि को दूसरे जगह पर स्विच कर सकते है। इस प्रक्रिया को होम लोन बैलेंस ट्रांसफर कहाँ जाता है, जिस से ग्राहक को कम ब्याज दर पर होम लोन की सुविधा मिलती है।

होम लोन हेतु लागू होनेवाले शुल्क – Charges Applicable For Home Loan

होम लोन को मंजूर कराने हेतु विभिन्न शुल्क बैंक या वित्तीय संस्था द्वारा लागू किये जाते है इनमे से कुछ प्रमुख शुल्क निम्नलिखित तौर पर हैं, जैसे के;

  • प्रोसेसिंग फीस (Processing Fees): जिस किसी भी विशिष्ट धन राशी के लिए आप होम लोन हेतु आवेदन करते है उसके अनुसार कुल मूल्यांकन किया जाता है इसमें आनेवाले खर्च के अनुसार होम लोन प्रोसेसिंग फीस ली जाती है। आपको बता दे की होम लोन प्रोसेसिंग फीस हर जगह पर नहीं ली जाती है, आपको कुछ ऐसे भी बैंक या वित्तीय संस्थान मिल जायेंगे जहाँ प्रोसेसिंग फीस बिलकुल नहीं ली जाती है।
  • ई एम आय संबंधी लगनेवाला अतिरिक्त शुल्क (Additional Charges Related to EMI): जब कभी भी कोई ग्राहक होम लोन के बदले में प्रतिमाह के ई एम आय को जमा करने में देरी करता है या फिर किसी कारणवश जमा नहीं कर पता उस स्थिति में ग्राहक को अतिरिक्त शुल्क देना होता है। ई.एम.आय पर लगने वाले अतिरिक्त शुल्क में बैंक और वित्तीय संस्था के अनुसार भिन्नता देखने को मिलती है।
  • अप्लीकेशन फीस (Application Fees): जब भी कोई ग्राहक होम लोन हेतू आवेदन करता है तो उस ग्राहक के सभी महत्वपूर्ण कागजात की जाँच पड़ताल वित्तीय संस्थान/ बैंक इत्यादि द्वारा की जाती है, इस प्रक्रिया हेतु लगने वाले खर्च को अप्लीकेशन फ़ीस के रूप में लिया जाता है।
  • भुगतान के प्रकार से संबंधित शुल्क (Repay Related Charges):- अगर कोई ग्राहक अपने होम लोन की भुगतान करते समय, भुगतान के प्रकार में बदलाव हेतु संबंधित वित्तीय संस्थान को आवेदन करता है तो यहाँ पर इस हेतु शुल्क देना होता है। बहुत बार इस प्रकार के शुल्कों में वित्तीय संस्थान अनुसार बदलाव देखने को मिलता है।
  • फोरक्लोजुअर फीस (Foreclosure Fees): ग्राहक को होम लोन के मामले में यह फ़ीस तभी देनी होती है यदि ग्राहक ने होम लोन अवधि के तय समय से पूर्व अगर उसका भुगतान किया हो, इस प्रकार की फीस विभिन्न वित्तीय संस्थान में भिन्न होती है।

होम लोन के लिए आवश्यक पात्रताए – Required Eligibility to Approve Home Loan.

वैसे तो आप होम लोन किस जगह से ले रहे है इस पर निर्भर करता है के किन आवश्यक पात्रता मानदंडों को आपको पूरा करना होगा, जैसे के सार्वजनिक या निजी बैंक या वित्तीय संस्थान इत्यादि के अनुसार भिन्न पत्राताए होती है, निम्नलिखित तौर पर आपके जानकारी हेतु कुछ पात्रता मानदंड दिए है जो के इस प्रकार से है ;

  • होम लोन इच्छुक ग्राहक की उम्र १८ साल से लेकर ६५ साल के बिच में होनी चाहिए।
  • वह व्यक्ति भारत का रिहायशी नागरिक या फिर अनिवासी भारतीय होना चाहिए।
  • लोन इच्छुक व्यक्ति व्यवसाय से संबंधित या फिर नौकरी पेशा होना चाहिए।
  • ऐसे व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर ७५० तक होना चाहिए।
  • प्रतिमाह आय लगभग २५,००० न्यूनतम होनी चाहिए।

कैसे करे होम लोन के लिए आवेदन ? आवश्यक कागजात तथा सम्पूर्ण प्रक्रिया की जानकारी – How to Apply For Home Loan? Essential Documents and Whole Process Information.

निम्नलिखित तौर पर होम लोन हेतु आवश्यक कागजात की जानकारी दी गई है जो के इस प्रकार से है;

  • पहचान प्रमाण पत्र (आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटिंग कार्ड, पासपोर्ट इत्यादि)
  • निवास स्थान के पते से सम्बंधित कागजात (इलेक्ट्रिसिटी बिल, पहचान पत्र, मकान टैक्स की रसीद, टेलीफोन बिल, पोस्टपेड मोबाइल बिल इत्यादि)
  • आय विवरण संबंधी कागजात (फॉर्म १६, सैलरी स्लिप)
  • अगर घर खरीदना है तो उसके क़ानूनी कागजात, भूमि खरीदनी है तो उस भूमि से जुड़े क़ानूनी कागजात, भूमि पर मकान निर्माण करना है तो उसके भूमि से जुड़े सभी दस्तावेज।
  • लोन इच्छुक व्यक्ति के पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ।

अब अंत में हम चर्चा करेंगे की किसी भी व्यक्ति को अगर होम लोन हेतु आवेदन करना हो तो किस तरह के प्रक्रिया से गुजरना होता है जो के निचे हमने दिया हुआ है;

  • सर्वप्रथम होम लोन इच्छुक व्यक्ति को किसी नजदीकी बैंक या फिर जहाँ पर उनका बैंक खाता है उस शाखा में जाना होगा, इसके अलावा अगर आप किसी निजी वित्तीय संस्था से लोन लेने के इच्छुक है तो उस स्थिति में आपको उस संस्था के होम लोन विभाग में जाना होगा। आजकल ऑनलाइन के माध्यम से भी होम लोन के लिए आवेदन करने का विकल्प दिया गया होता है, परन्तु ऐसे मामलो में प्रत्यक्ष जाकर जानकारी लेना हमेशा फायदेमंद सिध्द होता है।
  • लोन विभाग से अप्लीकेशन फॉर्म लेकर उसे आपको ध्यानपूर्वक पढ़ना है और फिर भरना है, यहाँ आपके लोन राशी की आवश्यकता और भुगतान के क्षमता अनुसार लोन लेना हरदम सही निर्णय साबित होता है।
  • बैंक या वित्तीय संस्था द्वारा आपको माँगे गए आवश्यक कागजात की आपको पूर्तता करनी होती है, इसीलिए मूल कागजात को पहले निकालकर रख दे साथ में आपके हाल फ़िलहाल की पासपोर्ट साइज फोटो को भी फॉर्म के साथ जोड़ दे।
  • आपके कागजात सत्यापन के दिन सभी मूल कागजात द्वारा सम्पूर्ण प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक पूरा कर ले।
  • इ एम आय तथा ब्याज दरों को सही परख ले अगर सभी बाते आपके क्षमता अनुरूप अनुकूल है तो, होम लोन प्रक्रिया की शर्ते और नियम को सावधानी पढ़े उसके बाद ही कागजातों पर अपनी दस्तखत करे।
  • आवश्यकता होने की स्थिति में सुरक्षा फीस, प्रोसेसिंग फीस, अप्लीकेशन फीस आदि भुगतान करे।
  • तकनिकी और क़ानूनी जाँच प्रक्रिया को पूरा करे।
  • उपरोक्त सभी चरणबध्द प्रक्रिया को पूरा करने के पश्चात आपके होम लोन को मंजूरी मिल जाती है।

इस प्रकार से अबतक आपने होम लोन की प्रक्रिया और इससे संबंधित महत्वपूर्ण दस्तावेजों के बारे में पढ़ा, हालाँकि आपको बैंक और वित्तीय संस्था संस्था के अनुरूप होम लोन मंजूरी की प्रक्रिया में कुछ बदलाव देखने को मिल सकते है।

हम आशा करते है अबतक दी गई जानकारी को पढ़कर आपको होम लोन के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई होगी तथा ये जानकारी आपको काफी पसंद भी आयी होगी इस महत्वपूर्ण जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने हेतु लेख को अवश्य साझा करने की कोशिश करे।

होम लोन से सम्बंधित अधिकतर बार पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण सवाल – Questions to ask about Home Loan

Q. होम लोन के भुगतान प्रक्रिया के ई.एम.आय में क्या शामिल होता है? (Which things are included in to Home Loan EMI?)

जवाब: होम लोन की मूल कर्ज राशी तथा मूल राशी पर लागू ब्याजदर को जोड़कर ई.एम.आय मूल्य तय किया जाता है जिसका ग्राहक को प्रतिमाह भुगतान करना होता है।

Q. होम लोन के मुख्य कितने प्रकार होते है? (How many types of Home Loan?)

जवाब:

Q. क्या घर में अतिरिक्त कमरे इत्यादि के निर्माण हेतु होम लोन दिया जाता है? (Whether home loan is given for construction of additional rooms etc. in the house?)

जवाब: हाँ।

Q. होम लोन इच्छुक व्यक्ति की आयु कितनी होना आवश्यक होती है? (What is the age limit eligibility to apply for Home Loan?)

जवाब: १८ साल से लेकर ६५ साल तक की आयु होना अनिवार्य होता है।

Q. होम लोन हेतु आवेदन करने पर कुल कितना लोन प्राप्त हो जाता है? (How much Home Loan we can get after apply for that?)

जवाब कुल संपत्ति के लगभग ९०% तक का लोन मंजूर किया जाता है जिसे ग्राहक को अंतिमतः प्रदान किया जाता है।

1 thought on ““होम लोन” (Home Loan) संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.