प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

किसानों को फसल के खराब हो जाने के कारण कई बार उन्हें अत्याधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिससे तंग आकर कई बार किसान आत्महत्या तक करने को मजबूर हो जाते हैं। किसानों की इन्ही हालतों को देखते हुए प्रधानमंत्री ने किसानों को सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से 13 जनवरी 2016 को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना – Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की शुरुआत की।

यह योजना किसानों के ऊपर से फसल के लिए लिये गए लोन के भार को कम करने में सहायक होगी। इस योजना का लक्ष्य यह है कि इसकी सहायता से लगभग 13 करोड़ किसान भाइयों को लाभान्वित किया जा सके। इस योजना का प्रारूप भी अत्यंत सरल है। प्रधानमंत्री मोदी जी ने स्पष्ट रूप से यह कहा है कि इस योजना के लिए सरल प्रक्रिया को रखा जाए जिससे कि किसान भाई इससे आसानी से जुड़ सके एवं बिना किसी कठिनाई के जल्द से जल्द बीमा राशि को प्राप्त कर सकें।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना – Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)

भारत एक कृषि प्रधान देश हैं। यही नही भारत की आर्थिक अर्थव्यवस्था की रीढ़ ही कृषि है। भारत की 50% से भी अधिक जनसंख्या प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से कृषि पर निर्भर है। ऐसे में कभी कभी प्राकृतिक आपदा अथवा किन्ही अन्य कारणों से फसलों के नुकसान हो जाने की वजह से किसानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इन्ही दिक्कतों से निजात दिलाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की।

इस योजना के तहत केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा किसानो को उनकी फसल के लिए बीमा करवाया जायेगा। जिसमे प्रीमियम दर बहुत कम कर दी गई हैं जिससे किसानो को बीमा का पूरा लाभ मिल सके। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत प्रीमियम कम होगा परन्तु नुकसान की भरपायी अधिक मात्रा में की जाएगी। इस योजना में लगने वाले बजट के खर्च का वहन राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा मिश्रित रूप से किया जाएगा। अनुमानित तौर पर इस योजना का बजट 17600 करोड़ रुपये तक तय किया गया हैं। यह बीमा एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी के अंडर में होगा एवं यह कंपनी ही बीमा राशि का भुगतान करेगी।

फ़सल बीमा योजना के तहत प्रीमियम दर – Premium rate under Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

इस बीमा योजना के तहत अलग.अलग प्रकार के फसलों के लिए अलग अलग प्रीमियम दर निर्धारित की गई है जो कि निम्नलिखित है।

रबी की फसल – रबी की फसल जिनकी पैदावार नवंबर से मार्च महीने के बीच मे होती हैं। इनमें गेंहू, चना, जौ, मसूर एवं सरसों इत्यादि शामिल है। इनके लिए 1.5% की प्रीमियम दर निर्धारित की गयी है।

खरीफ़ की फसल – खरीफ की फसलों जिसमे धानए मक्का, ज्वार, बाजरा, मूंग, गन्ना एवं मूंगफली इत्यादि शामिल है। इसके के लिए प्रीमियम दर 2% निर्धारित की गई है।

बागवानी फसल – इस तरह की फसल में कपास को शामिल किया गया हैए जिसके लिए प्रीमियम दर 5% की निर्धारित किया गया है।

तिलहन की फसल – तिलहनी फसलों के लिए प्रीमियम दर 1.5% निर्धारित किया गया है।

प्रधानमंत्री फसल योजना की शुरुआत 13 जनवरी 2016 से लागू किया गया था। परन्तु खरीफ की फसल के लिए यह योजना जून 2016 से लागू की गई। यह योजना पूरे देश मे लागू की गई है इसके अतिरिक्त देश मे कृषि संबंधित चल रही अन्य योजनाओं को बंद कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत आवेदन करने हेतु आवश्यक योग्यता

इस योजना के तहत बीमा करवाने के लिए किसी जटिल प्रक्रिया से नही गुजरना पड़ता। कोई भी व्यक्ति जो कि कृषि से जुड़ा हुआ है आसानीपूर्वक बीमा करवा सकता है। मोदी जी ने खासतौर पर कहा हैं इस योजना को सरल से सरल प्रक्रिया के रूप में ही लागू किया जाए ताकि हर छोटा बड़ा किसान इससे बिना किसी परेशानी के जुड़ सके और उसे हर हाल में इस योजना से लाभ और सहारा मिल सके।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ – Advantages of Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के विमोचन में प्रधानमंत्री ने स्पष्ट किया हैं कि यह योजना किसानो को सुरक्षित करने के उद्देश्य से लायी जा रही है। इसकी सहायता से किसानों को होने वाले नुकसान से राहत मिलेगी। देश भर में किसानो के लिए कई तरह की योजना चलाई गयी हैं जिनमे कई बार बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता था उन्ही परेशानियों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की गई। अब सभी योजनाओं के स्थान पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना चलाई जा रही जो कि ज्यादा कारगर सिद्ध हुई है।

पहले की बीमा स्कीम में बहुत अधिक प्रीमियम भरना पड़ता था इस स्कीम में लगभग 25 से 50% तक की राहत हुई है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की विशेषताएं – Characteristics of Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

योजना के तहत जब कोई किसान प्राकृतिक आपदा के कारण अपनी फसल को खो देता हैं तब किसानो को तुरंत 25% नुकसान का मुआवजा सरकार द्वारा दिया जायेगा और बचा हुआ नुकसान की भरपाई स्थिती के अवलोकन के बाद की जाएगी।

इस योजना के तहत 8% का वहन केंद्र सरकार द्वारा एवं 8% का वहन राज्य सरकार द्वारा उठाया जायेगा जबकि 2% राशि प्रीमियम के तौर पर किसानों द्वारा जमा की जाएगी।

यह योजना पुरे देश के किसानों को लाभान्वित करेगी जिससे किसानो द्वारा की जाने वाली आत्महत्या के बढ़ते तादात को कम किया जा सकेगा।

इस बीमा योजना के लिए की जाने वाली पूरी कार्यवाही को आसान बनाया गया है जिससे किसान आसानी से इसे पूरा कर राशि प्राप्त कर सकेँ।

इस योजना के तहत 13.5 करोड़ किसानो को जोड़ा जायेगा और उन्हें संकट से उभारा जायेगा।

इस योजना के तहत सभी किसान शामिल हो सकते हैं फिर चाहे उन्होने लोन लेकर खेती की हैं या अपने स्वयं के धन से खेती की हैए दोनों ही परिस्थिति में किसान बीमा के लिये क्लेम कर सकता हैं।

केंद्र ने राज्य सरकार को अपने नियमों में संशोधन करने का आदेश दिया हैं जिससे किसान इस योजना का लाभ आसानी से उठा सके।

देश के कई हिस्सों में बटाई पर खेती की जाती हैं जिस कारण कई किसानो के पास प्रमाण नहीं होता कि उन्होंने फसल में पैसा लगाया हैंए जिसके लिये नियमो में संशोधन कर उन बटाईदार किसानो को प्रमाणपत्र मुहैया कराये जायेंगे जिससे वे इस योजना का लाभ उठा सके।

सरकार ने तकनीकी सुविधा भी उपलब्ध कराई है हैं जिससे किसानो को जल्द से जल्द बीमा राशि मिल सके। तकनीकी सुविधा के कारण इस प्रक्रिया में धोखाधड़ी होने की सम्भावना भी कम होगी जिससे धन सही हाथों में जायेगा एवं जरूरतमंद व्यक्ति ही योजना का लाभ उठा सकेंगे।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानो को सुरक्षित करना हैं ताकि वे जिन्दगी की दौड़ से हार ना माने। यह अब तक की सबसे अच्छी फसल बीमा योजना मानी जा रही हैं। खासतौर इसकी सरल प्रक्रिया एवं कम प्रीमियम दर के कारण अधिक से अधिक किसान इससे जुड़ सकेंगे।

अब बस यही कामना हैं कि देश में किसानो की आत्महत्या से बढ़ी मृत्यु दर कम होगी और व्यवस्था सुचारू रूप से लागू होने के बाद बीमा की राशि सही वक्त पर सही हाथों पहुंच सकेगी। इसके लिये जरुरी हैं कि सभी लोग इस योजना के बारे में अमूल्य जानकारी एकत्र कर अपने आस पास के किसान भाइयों तक इसे पहुँचाये जिससे किसान इससे जुड़ सके।

Read More:

Hope you find this post about ”Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)” useful. if you like this articles please share on Facebook & Whatsapp. and for the latest update download : Gyani Pandit free Android App

Leave a Reply

Your email address will not be published.