मात्र 15 हजारे के निवेश से शुरू करे ये बिज़नेस, सरकार के सहयोग से बनेगे करोडपति!

Sanitary Napkin Business Opportunity in India

आज के समय में सरकार रोजगार देने के वजाय ये प्रयास कर रही है की वो ऐसे लोगो को पैदा कर सके जो की रोजगार का निर्माण कर सके यानी की छोटे छोटे उद्यमी हर जगह हो और वो लोगो को काम दे सके। इसी के चलते सरकार ने मुद्रा योजना शुरू की है जिसके तहत लोन दिया जाता है और इसके साथ सरकार ने कई सारे बिज़नेस मॉडल शुरू किये है जिन्हें करके आप बेहतर फायदा कमा सकते है। ऐसा ही एक बिज़नेस हम आपको बता रहे है जिसमे सरकार के सहयोग से आप बहुत पैसा कमा सकते है।

मात्र 15 हजारे के निवेश से शुरू करे ये बिज़नेस, सरकार के सहयोग से बनेगे करोडपति! – Sanitary Napkin Business

Sanitary Napkin Business Opportunity in India
Sanitary Napkin Business Opportunity in India

सेनेटरी नैपकिन का बिज़नेस –  Sanitary Napkin Business Plan

इसका अर्थ होता है पैड जो की महिलाये पीरियड्स के दौरान इस्तेमाल करती है। आपने अक्षय कुमार की फिल्म पैडमैन देखी होगी जिसमे वो ऐसा ही कुछ काम करता है। आप भी इस बिज़नेस को शुरू कर सकते है और मात्र पंद्रह हजार रुपये में क्योकि बाकी का इन्वेस्टमेंट सरकार दे रही है जिससे आपको फायदा भी होगा और आप दूसरो को रोजगार भी दे सकेगे।

सेनेटरी नैपकिन का बिज़नेस कैसे शुरू करे – How to Start Sanitary Napkin Manufacturing Project

सरकार ने मुद्रा योजना के तहत इसे जोड़ा है और इसके साथ पूरी रिपोर्ट बताई है की आप कितना लगाये, कैसे लगाये और कितना कमाए। इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको केवल 16*16 का एक कमरा चहिये और सरकार आपको इस बिज़नेस के लिए 90 फीसदी लोन दे रही है। सरकार के हिसाब से अगर आप 1140 नैपकिन रोज बनाते है और एक पैकेट में आप आठ नैपकिन रखते है तो ये रोजाना के 180 पैकेट होते है।

इस क्षमता की यूनिट लगाने के लिए आपको लगभग एक लाख पैतालीस हजार रुपये खर्चने होगे लेकिन सरकार इसमें 90 फीसदी लोन दे रही है जिससे आपको केवल 15 हजार रुपये ही खर्च करने पड़ेगे और आपकी ये यूनिट लग जाएगी।

सेनेटरी नैपकिन बनाने की मशीन और मटेरियल – sanitary napkin manufacturing machine and materials

रिपोर्ट कहती है की आपको मिलने वाली सभी मशीनों की कीमत लगभग सत्तर हजार रुपये होगी वो भी इनस्टॉल करने के बाद यानी की सत्तर हजार रुपये में आपकी यूनिट बनकर तैयार हो जाएगी। इसके लिए आपको कोर मोर्निंग मशीन, डिफाइबरेशन मशीन, सॉफ्ट टच सीलिंग मशीन, नैपकिन कोर डाइ और यूवी यूनिट लेनी होगी। यह आपका सबकुछ सत्तर हजार में आ जाएगा।

इसके अलावा आपको नैपकिन बनाने के लिए रॉ मटेरियल – Raw Materials for Sanitary Pads चाहिए जो की आप ले सकते है। मटेरियल में आपको टॉप लेयर, वुड पल्प, बैक लेयर, रिलीज पेपर, गम, पैकिंग कवर आदि लेना होगा जो की लगभग 35 हजार रुपये में आ जाएगा।

पूरा खर्चा-

सरकार के द्वारा दिए गए पूरे खर्चे का व्यौरा आपको जान लेना चहिये। साल के 365 दिन होते है और आपने मान लीजिए की केवल 300 दिन काम किया तो इससे आपके लगभग 54 हजार पैकेट प्रोडूस होगे।

इसमें आपको रा मटेरियल का खर्च लगभग 4.32 लाख रुपये आएगा, आप एम्प्लाइज को लगभग 84 हजार रुपये की तनख्वाह देगे आठ सौ का इन्सोरेंश, 27 हजार मान लीजिए की प्रशासनिक खर्च, डेप्रीसिएसन का खर्च आठ हजार रुपये, कभी मशीन खराब हो गई या फिर रिपेयर करवाना है।

तो आपको चार से पांच हजार रुँपये, कैपिटल इंटरेस्ट लगभग 18 हजार रुपये, सेलिंग का खर्चा लगभग 16200 रुपये, यानी की मान लीजिए की आपको छ लाख का कुल खर्च आ रहा है एक साल में शुरू से लेकर अंत तक और पूरे प्रोडक्शन के बाद।

कितनी कमाई-

अब मान लीजिए की एक पैकेट आप लगभग 13 रुपये में बेचते है जबकि बाकी ब्रांड इसे बीस से कम में नहीं बेचते है तो आपको लगभग 7 लाख 2 हजार रुपये मिलते है। अब इसमें आप छ लाख कम कर दीजिए तो आपको एक लाख दो हजार रुपये का फायदा पहले साल में हो रहा है।

अब अगले साल आपको मशीन खरीदने का, प्लांट सेट करने का पैसा नहीं देना होगा। इसके अलावा आपकी बिक्री भी बढ़ेगी और आपका माल भी अधक बिकेगा तो आपको और अधिक फायदा होगा। ऐसे करके धीरे धीरे आप महीने का लाख रुपये का फायदा कमा सकते है।

समय की मांग-

आज के समय में जिस तरह से महिलाओ के स्वास्थ को लेकर जागरूकता बढाई जा रही है उसे देखते हुए कहा जा सकता है की आप इस बिज़नेस में जरूर उतरे क्योकि सरकार सेनेटरी नैपकिन को लेकर बहुत प्रचार कर रही और इसे गाँव गाँव में पहुचाने की कवायद कर रही है। अक्षय कुमार की फिल्म पैडमैन के बाद ये एक क्रांति बन चुका है। इसके अलावा आप खुद इसे लगाकर लोकल लेवल पर अपना बिज़नेस बना सकते है।

Loading...

Read More:

Note: अगर आपको Sanitary Napkin Business Opportunity in India in Hindi अच्छी लगे तो जरुर Share कीजिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.