सबवे(Subway) रेस्टोरेंट की असफलता से सफलता की कहानी…

Subway Success Story

सबवे रेस्टोरेंट खाने की दुनिया का एक ऐसा नाम जिससे आज हर कोई परिचित है फिर वह बेशक खाने के शौकीन हों या फिर नहीं पर लोगों के दिलों तक पहुंचने के लिए कंपनी के मुख्य कर्मचारियों ने बेहिसाब मेहनत की है और उन्हें प्रयासों के दौरान कई बार नकारात्मक परिणाम भी प्राप्त हुए हैं।

Subway Success Story
Source: Subway Success Story

सबवे (Subway) रेस्टोरेंट की असफलता से सफलता की कहानी – Subway Success Story

आइये जानते हैं सबवे की शरुआत से अंत तक का सफर कि कैसे एक लड़के ने छोटी सी सैंडविच की दुकान को एक ब्रैंड का रूप दिया।

सबवे की शुरुआत, फ्रेड डेलुका के साथ – Fred Deluca of Subway Founder

आज विश्व में सबसे बड़ी रेस्टोरेंट चैन के नाम से मशहूर सबवे का जन्म तकरीबन 53 साल पहले फ्रेड डेलुका नामक व्यक्ति द्वारा हुआ था। जी हाँ फ्रेड ही थे जिन्होंने सबवे की नींव रखी थी।

फ्रेड का जीवन – Fred Deluca Biography

फ्रेड का जन्म किसी धनी परिवार में नही हुआ था, उनके पास इतने भी पैसे नहीं हुआ करते थे कि वह अपना खर्चा भी उठा सकें। लेकिन ऐसी कठिन भरी परीस्थितयों के बावजूद भी अपनी लाख कोशिशों और सकारात्मक सोच के साथ चलकर उन्हों ने 45000 से अधिक फ्रेंचाइजी वाले रेस्टोरेंट का निर्माण किया है।

फ्रेड ने बचपन के सपने को टाला

फ्रेड ने अपनी जिंदगी के सबसे पहले सैंडविच एक छोटी सी दुकान से बनाने शुरू किये थे। असल में फ्रेड बचपन से एक बेहतरीन डॉक्टर बनना चाहते थे पर आर्थिक तंगी के चलते वह ऐसा नहीं कर पाये क्योंकि डॉक्टरी शिक्षा प्राप्त करने के लिए बहुत से धन की आवश्यकता थी जो की फ्रेड के पास नहीं था।

पैसों की तंगी से जूझ रहे फ्रेड को देख कर उनके एक करीबी दोस्त पीटर ने उन्हें एक हजार डॉलर दिए और एक छोटी सी दुकान खोलने की सलाह दी। जिससे फ्रेड कुछ पैसे कमा सके और अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी कर सके।

पर कुछ समय के लिए फ्रेड को पढ़ाई से दूरी बनाना उचित लगा और उन्हों ने अपने बचपन के सपने पर कुछ समय के लिए विराम लगा दिया।

फ्रेड द्वारा पहले सैंडविच बने यहां

दरअसल पीटर ने उन्हें जो एक हजार डॉलर दिए थे उससे उन्हों ने निवेश करते हुए एक रेस्टोरेंट खोलने का निर्णय लिया जहां वे अच्छे और सस्ते फास्ट फूड बेच सकें। इसी मजबूत इरादे के साथ उन्होंने 28 अगस्त 1965 को एक सैंडविच स्टोर खोला था जिसका नाम उन्हों ने “पीटर सुपर सबमरीन” रखा था। पर कुछ कारणों से फ्रेड को अपने स्टोर का यह नाम बदलना पड़ा क्योंकि उस रेस्टोरेंट का नाम किसी “पीज्जा मरीन” से काफी मेल खाता था।

फ्रेड की विफलता, पहला रेस्टोरेंट

फ्रेड ने कुछ महीने बीतने के बाद यह विश्लेषण किया कि उनका स्टोर नुकसान की और जा रहा है पर इस विफलता के बावजूद उन्होंने ने स्टोर बंद नहीं किया बल्कि एक और रेस्टोरेंट खोल दिया था। इस रेस्टोरेंट के साथ फ्रेड ने लम्बा वक्त बिताया।

फ्रेड को मिली पहली सफलता, दूसरा रेस्टोरेंट

फ्रेड द्वारा खोले गए दूसरे रेस्टोरेंट के परिणाम बेहद अच्छे तो नहीं थे पर उनका हौसला बढ़ाने के लिए काफी थे। इस रेस्टोरेंट से फ्रेड को केवल 6 डॉलर का फायदा हुआ था।

फ्रेड का तीसरा सफल रेस्टोरेंट, नाम रखा सबवे ( SUBWAY)

फ्रेड के बुलंद होसलें थमने का नाम नहीं ले रहे थे जिस के चलते उन्होंने 1968 में एक तीसरा रेस्टोरेंट खोल दिया जिसका नाम रखा गया सबवे – Subway। इस रेस्टोरेंट के शुरूआती परिणाम ही सफलता की ओर बढ़ते नजर आ रहे थे। सबवे से फ्रेड को जो पहली बार कमाई हुई थी वह सात हजार डॉलर की थी। एक अच्छे मुनाफे को नजर में रखते हुए फ्रेड ने सबवे की फ्रेंचाइजी शुरू की।

अब सबवे को लोगों द्वारा काफी लोकप्रियता मिलने लगी थी। इसके बाद फ्रेड ने पीछे मुड़ के नहीं देखा था और वर्ष 1978 तक सबवे ने करीब 100 स्टोर खोल दिए। यह आंकड़ा धीरे धीरे बढ़ता रहा और 1987 तक यह संख्या एक हजार तक पहुंच गयी।

भारत में सबवे ने रखे कदम

दुनिया भर में अपना जलवा बिखेरने के बाद फ्रेड के सफल प्रयासों की पहली झलक भारत में 2001 में दिखी। वर्तमान की बात करें तो अब भारत के 68 छोटे बड़े शहरों में करीब करीब 591 सबवे के रेस्टोरेंट खुल चुके हैं।

फ्रेड ने की पढ़ाई पूरी – Fred Deluca Education

सबवे की कमाई अब सातवें आसमान पर थी। फ्रेड को पढ़ाई करने की कोई आवश्यकता नहीं थी पर उन्होंने 2002 में कॉलेज जाने का सपना पूरा किया। फ्रेड ने ब्राइड पोर्ट नामक युनिवर्सिटी से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की।

वर्तमान में सबवे का सीईओ

फ्रेड ज्यादा लम्बी समय तक सबवे के साथ जिंदगी नहीं बिता पाये। 2015 में ल्यूकेमिया नामक बीमारी के कारण उनका देहांत हो गया था जिसके बाद सबवे का जिम्मा उनकी बहन ने संभाला और अब फ़िलहाल सुनैन सबवे की सीईओ हैं।

फ्रेड की सफलता का कारण उनकी आपने काम के प्रति लग्न है और उनका दोस्त पीटर है। फ्रेड ने सबवे को इस मुकाम तक लाने के लिए दिन रात एक किये हैं। परिणामस्वरूप आज सबवे दुनिया की सबसे बड़ी रेस्टोरेंट चेन है।

Loading...

Read More:

Hope you find this post about “Subway Success Story” inspiring. if you like this articles please share on Facebook & Whatsapp. and for the latest update download : Gyani Pandit free android App.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.