युवा भारतीय बिजनेसमैनस | Young Entrepreneurs in India

Young Entrepreneurs in India

बहुत से लोगों को पूरी उम्र लग जाती है उतने पैसे कमाने जितने कुछ लोग एक दिन में कमा लेते है खैर इसे आप किस्मत कहिए या मेहनत। लेकिन इस सफर को तय करना आसान नहीं होता। भारत में भी कई बिजनेसमैन है जिन्होनें अपनी कमाई से पूरे भारत को चौंकाया है। लेकिन मिशाल तो वो भारतीय बने है जिन्होनें कम उम्र में ही करोड़ की कमाई कर ली है।

दरअसल हम ऐसा इसलिए कह रहे है क्योंकि फेमस बिजनेस मैगजीन फोर्ब्स इंडिया ने इस साल की रईस भारतीयों की सूची जारी कर दी है। वैसे तो इस लिस्ट में हमेशा की तरह मुकेश अंबानी 3.48 करोड़ के साथ नंबर वन पर है। और मुकेश अंबानी के बाद इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर विप्रो के मालिक अजीम प्रेमजी और तीसरे नंबर पर आर्सेलर मित्तल कंपनी के ऑनर लक्ष्मी मित्तल का नाम है।

लेकिन इन सभी बिजनेसमैनस की उम्र 60 साल से ज्यादा है। जबकि 100 रईस भारतीयों की इस सूची में कई युवा भारतीय बिजनेसमैन ने भी जगह बनाई है। और आज हम उन्ही 5 युवा रईस भारतीयों के नाम बताने वाले है जिनकी उम्र से उनकी संपत्ति का अंदाजा लगाना नामुनकिन सा लगता है। लेकिन जिन्होनें अपनी कमाई से सबको चौंका कर रख दिया है।

Young Entrepreneurs in India
Young Entrepreneurs in India

युवा भारतीय बिजनेसमैनस – Young Entrepreneurs in India

5. मनिपाल ग्रुप, डॉक्टर रंजन पई (45 साल)

इस लिस्ट को हम नीचे से शुरु कर रहे है। और सबसे पहले उस बिजनेसमैन के बारे में बताने जा रहे है जो रईस युवा भारतीयों की लिस्ट में पांचवे स्थान पर हैं। इस लिस्ट में पांचवे स्थान पर मनिपाल ग्रुप के अध्यक्ष डॉक्टर रंजन पई है।

रंजन पई के पास 1.86 बिलियन डॉलर यानी करीब 13,705 करोड़ की संपत्ति है। और आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि डॉक्टर रंजन पई अभी सिर्फ 45 साल के है और उन्होनें सिर्फ 45 साल की उम्र मे देश के कई बड़े बिजनेसमैन को संपत्ति के मामले में पीछे छोड़ दिया है।

डॉक्टर रंजन पई ने कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज मनिपाल ने डिग्री हासिल की है। इसके बाद उन्होनें अपना करियर मलेशिया के मेलका मनिपाल कॉलेज में मैनेजिंग डॉयरेक्टर के रुप में शुरु किया। आपको बता दें मनिपाल ग्रुप के अंतगर्त 6 मेडिकल कॉलेज और 16 अस्पताल आते है। जिनके कैंपस भारत सहित मेलिशया, नेपाल, दुबई और एँटीगुआ में है।

4. इंडियाबुल्स ग्रुप , समीर गहलोत (44 साल)

इस लिस्ट में चौथा नंबर पर समीर गहलोत है जिनकी उम्र 44 साल है समीर गहलोत के पास मौजूदा समय में 4.2 बिलियन डॉलर यानी की 30 ,925 करोड़ की संपत्ति है। समीर गहलोत हरियाणा रोहतक के रहने वाले है उन्होनें दिल्ली के आईआईटी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है इंजीनियरिंग करने के बाद समीर विदेश चले गए थे।

लेकिन दो साल बाद ही भारत लौट आए और एक ब्रोकरिंग कंपनी को खरीद कर इंडियाबुल्स ग्रुप की शुरुआत की। 100 अमीर भारतीयों की सूची में समीर को 29वां स्थान मिला है।

3. वीपीएस हेल्थ केयर, शमशीर वायलील (41 साल )

इस लिस्ट में तीसरे युवा अमीर भारतीय ओर कोई नही वीपीएस हेल्थ केयर के मालिक 41 साल के शमशीर वायलील है। रिपोर्टस के अनुसार वीपीएस हेल्थ केयर करीबन 1.54 बिलियन डॉलर यानी 11,369 करोड़ की है। और आपको जानकर हैरानी होगी कि इस हेल्थ केयर को खुले हुए ज्यादा समय भी नहीं हुआ है शमशीर ने साल 2007 में एक अस्पताल खोला था। जो आज के समय में सयुंक्त अरब अमीरात, ओमान तक पहुंच गया है।

शमशीर मूल रुप से केरल के रहने वाले है जिन्होनें अपनी पढ़ाई चेन्नई मेडिकल कॉलेज से की थी। शमशीर को अमीर भारतीयों की लिस्ट में 98वां स्थान मिला है।

2. पेटीएम, विजय शेख शर्मा (40 साल )

आज घर -घर में बिल पेय करने के लिए इस्तेमाल किय़ा जाने वाला एप पेटीएम के स्थांपक 40 साल के विजय शेखर शर्मा इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर है ऐसा इसलिए क्योंकि केवल 40 साल की उम्र में विजय शेखर शर्मा ने अपने एप के जरिए भारत के हर इलाके हर क्षेत्र में जगह बनाई है जिसके कारण उनकी कंपनी पेटीएम की कीमत आज के समय में करीबन 2.15 बिलियन डॉलर यानी की 15,855 करोड़ है।

विजय शेखर शर्मा फोर्ब्स की लिस्ट में 74वें स्थान पर है। विजय शेखर शर्मा यूपी के रहने वाले है जिन्होनें अपनी पढ़ाई बीटेक में की है।

1. डायरेक्टर आई, भाविन और दिव्यांक तुराखिया (36 साल और 38 साल)

आप अभी तक सोच रहे होगें कि वो सबसे युवा रईस भारतीय कौन है जिन्होनें सबसे कम उम्र में करोड़ो की कमाई की है। तो आपको बता दें कंपनी डायेरक्टर आई के को फाउंडर 36 साल के दिव्यांक तुराखिया और 38 साल के भाविन तुराखिया है। जिन्होनें सबसे कम उम्र में इतनी शौहरत और दौलत दोनों हासिल की है।

डायरेक्टर आई की स्थापना भाविन और दिव्यांक ने साल 1998 में केवल 25 हजार रुपये के साथ की थी। आप सोच सकते है कि ये दोनों भाई उस समय कितनी कम उम्र के रहे होंगे जब उन्होनें इस बिजनेस को शुरु किया वो भी इतनी कम लागत के साथ। फोर्ब्स के अनुसार भाविन और दिव्यांक की कंपनी डायरेक्टर आई की मार्केट वैल्यू करीबन 1.55 बिलियन डॉलर यानी 11, 433 करोड़ रुपए है।

ये कहानियां हमे बताती है की सफल होने के लिउए उम्र नहीं बल्कि जूनून चहिये। जूनून कुछ कर गुजरने का और इस जूनून के साथ साथ अपनी उर्जा को सही दिशा में लगाने की कला भी होनी चहिये।

Read More:

Hope you find this post about ”Young Entrepreneurs in India” useful and inspiring. if you like this articles please share on Facebook & Whatsapp. and for the latest update download: Gyani Pandit free android App

loading...
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.