आचार्य चाणक्य की कुछ रोचक बातें | Interesting Facts About Chanakya Hindi

Chanakya – चाणक्य भारतीय शिक्षक, अर्थशास्त्री और राजनैतिक सलाहकार थे. मौर्य साम्राज्य के विस्तार में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. वे कौटिल्य और विष्णु गुप्त के नामो से भी जाने जाते है. यहाँ हम आचार्य चाणक्य के कुछ रोचक बाते / Facts About Chanakya Hindi लेकर आये हैं, आशा करते हैं आपको पसंद आयेंगे .

Interesting facts about Chanakya

आचार्य चाणक्य की कुछ रोचक बातें / Interesting Facts About Chanakya Hindi

• चाणक्य का जन्म प्राचीन भारत में ईसा पूर्व 350 को हुआ. उनके जन्मस्थान को लेकर आज भी विवाद चल रहा है. कुछ लोगो का ऐसा मानना है की उनका जन्म तक्सिला में हुआ था और कुछ लोगो का मानना है की उनका जन्म दक्षिण भारत में हुआ था.

• उनके पिता का नाम कानीन (या चनक) और उनकी माता का नाम कानेस्वरी था. उनका नाम उनके पिता के नाम से ही लिया गया है.

• चाणक्य की बुद्धिमत्ता के बदौलत उस समय मौर्य साम्राज्य सबसे विशाल साम्राज्य बन चूका था.

• बाद में चाणक्य ने चन्द्रगुप्त के बेटे बिन्दुसार को मौर्य साम्राज्य का उत्तराधिकारी बनाया. चन्द्रगुप्त के बाद बिन्दुसार के भी चाणक्य राजनैतिक सलाहकार थे.

• चाणक्य अर्थशास्त्र और चाणक्य-निति के लेखक है, अर्थशास्त्र इकनोमिक पर लिखी उनकी किताब है. किताब में लिखी उनकी बात को लोग आज बी अपने जीवन में अपनाते है. चाणक्य निति में उन्होंने अपने विचारो को व्यक्त किया है.

• चाणक्य के जीवन पर काफी सेरिअल्स और फिल्मे बनाई गयी है. जैसे की चाणक्य (टीवी सीरियल), चन्द्रगुप्त मौर्य (तेलगु फिल्म). चाणक्य निति पर बहोत सी किताबे भी लिखी गयी है.

• चाणक्य एक ब्राह्मण है इसी वजह से उन्होंने अपनी पढाई प्राचीन भारतीय विश्वविद्यालय तक्षशिला से शिक्षा ग्रहण की. बाद में वे तक्षशिला के ही शिक्षक भी बने.

• ब्राह्मण होने की वजह से उनमे एक शासक बनने के सारे गुण थे. वे दिखने में भले ही अच्छे नही थे लेकिन ज्ञान का मामले में उनका कोई जवाब नही था.

• उन्होंने अपने सही राजा को ढूंडना तब शुरू किया जब नंदा साम्राज्य के राजा धनानंदा ने उन्हें अपमानित किया और उन्हें राजसी दरबार से बाहर निकाला. उनकी जब तभी पूर्ण हुई जब वे चन्द्रगुप्त मौर्य से मिले. उस समय चन्द्रगुप्त मौर्य काफी किशोर थे (उनकी आयु 12-13 वर्ष ही रही होगी). चाणक्य ने उन्हें कम उम्र में ही शासन करने का और समाज कल्याण करने का पाठ पढाया. बाद में मौर्य ने नंदा साम्राज्य का विनाश कर के मौर्य साम्राज्य स्थापित किया. और चन्द्रगुप्त मौर्य, मौर्य साम्राज्य के पहले शासक बने.

• चाणक्य की मृत्यु ईसा पूर्ण 280 BC में हुई. उनकी मृत्यु को लेकर इतिहास में बहोत सी कहानिया प्रचलित है. कुछ लोगो का ऐसा कहना है की सन्यास लेने के बाद वे जंगल चले गये थे और वही उनकी मृत्यु हो गयी और कुछ का ऐसा मानना है की बिन्दुसार के दरबार में किसी से आपसी मतभेद के कारण उनकी मृत्यु हुई.

Read Also:

Hope you find this post about ”आचार्य चाणक्य की कुछ रोचक बातें – Interesting facts about Chanakya in Hindi” useful. if you like this information please share on Facebook.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Interesting facts about Chanakya in Hindi. And if you have more information Interesting facts about Chanakya in Hindi then help for the improvements this article.

5 COMMENTS

  1. i am very happy to know about the great person how have very broad knowledge of economical conditions in india

  2. Aacharya chanakya ki bahut sari bate sikhne layak he. Aacharya chanakya bahutahi gyani the. Main unaka bahut aadar karati hu. Aap hame yesehi unake bareme rochak bate batate rahiye.

    Thanku

  3. aachary chanakya ke bareme interesting fact achche lage, chanakya ki buddhimatta ko sabhi log mante hain, aapne apni website par chanakyaniti, chanakya ke jivan bareme di huyi jankari padhakar chankya ke bareme hamara gyan aur badh gaya,
    dhanyavad…………..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.