Mahavir Swami biography | महावीर स्वामी जी की जीवनी

महावीर स्वामी – Mahavir Swami in Hindi

Mahavir Swami

पूरा नाम    – वर्धमान (महावीर)(Mahavir Swami)
जन्म        – चैत्र शुक्ला, 13
जन्मस्थान – वैशाली
पिता        – सिद्धार्थ
माता        – त्रिशिला

Mahavir Swami biography – महावीर स्वामी जी की जीवनी

महावीर स्वामी विश्व के उन महात्माओं में से एक थे जिन्होंने मानवता के कल्याण के लिये राजपाट को छोड़कर ताप और त्याग का मार्ग अपनाया था। बचपन से ही उनमें महानता के लक्षण दृष्टिगत होने लगे थे। 30 वर्ष की आयु में वन में जाकर ‘केशलोच’ के साथ उन्होंने गृह त्याग कर दिया। 12 वर्ष के कठोर तप के बाद जम्बक में एक शाल वृक्ष के नीचे उन्हें सच्चा ज्ञान प्राप्त हुआ और क्रमशः उनके उपदेश चतुर्दिक फैलने लगे। बिम्बिसार जैसे बड़े-बड़े राजा उनके अनुयायी बन गये। तीस वर्ष तक महावीर स्वामी ने त्याग, प्रेम एवं अहिंसा का संदेश फैलाया। जैन धर्म के वे 24 वें तीर्थकर थे।

महावीर स्वामी के कारण ही 23 वें तीर्थकर पार्श्वनाथ व्दारा प्रतिपादित सिध्दान्तों ने एक विशाल धर्म का रूप धारण किया। जिन्हें भगवान के अनुयायी जैन कहलाते थे और उनकी मान्यता के अनुसार जैन धर्म अनादिकाल से चला आ रहा है और इसका प्रचार करने के लिए समय-समय पर तीर्थकरों का आविर्भाव होता रहता है। महावीर 24 वें तथा अंतिम तीर्थकर थे और उनके व्दारा प्रतिपादित धर्म के स्वरूप का ही पालन आज इसके अनुयायियों व्दारा किया जाता है।

Loading...

जैन धर्म मर अहिंसा तथा कर्मों की पवित्रता पर विशेष बल दिया जाता है। उनका तीसरा मुख्य सिध्दान्त ‘अनेकांतवाद’ है, जिसके अनुसार दूसरों के दृष्टिकोण को भी ठीक-ठाक समझ कर ही पूर्ण सत्य के निकट पहुंचा जा सकता है।

विश्वबंधुत्व और समानता का आलोक फैलाने वाले महावीर स्वामी, 72 वर्ष की आयु में पावापुरी (बिहार) में कार्तिक कृष्णा 14 (दीपावली की पूर्व संध्या) को निर्वाण को प्राप्त हुये।

और अधिक लेख :

Note : आपके पास About Mahavir Swami biography in Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे।
अगर आपको Life History Of Mahavir Swami in Hindi Language अच्छी लगे तो हमें WhatsApp & Facebook पर Share कीजिये।
Note :- E-MAIL Subscription करे और पायें Essay With Short Biography About Mahavir Swami in Hindi and More New Article आपके ईमेल पर।

13 COMMENTS

  1. men wunke bihabha aur santan k bare me kisi histry book me padha tha jo uper bataegae bhagaban mahabir k jibani me nahi bataya gaya he.

  2. Yes..bilkul rajput
    Mahavir bhi
    Ram bhi
    Karishan bhi
    Budh bhi aur mira bhi ye sbhi rajput huwe h
    Rajput mtlb jaan ki baaji lgane wale
    Aur aatm uplbhdhi ko prapt hone ke liye jaan ki baji hi lgani pdti h
    Itna aasan nhi h aatm uplbhdi ko prapt hona

  3. i want to know about his teachings ………………….. tht i m nt getting in it …………pls update it fr me………….. pls

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here