Biography Of Arvind Kejriwal in Hindi | अरविंद केजरीवाल जीवनी

Arvind KejriwalArvind Kejriwal

पूरा नाम  – अरविंद गोबिंद राम केजरीवाल
जन्म       – 16 अगस्त 1968
जन्मस्थान – हिसार, हरियाणा
पिता       – गोबिंद राम केजरीवाल
माता       – गीता देवी
विवाह     – सुनीता केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल जीवनी – Biography Of Arvind Kejriwal in Hindi

अरविंद केजरीवाल का जन्म सिवनी, भिवनी जिला, हरयाणा के माध्यम-वर्गीय परिवार में 16 अगस्त 1968 को हुआ। वे गोबिंद राम केजरीवाल और गीता देवी के ३ बच्चो में से पहिले थे। उनके पिता इलेक्ट्रिकल इंजीनिअर थे, जो बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मेसरा से स्नातक थे और उनके इस काम की वजह से कई बार उनके परिवार को घर बदलना पड़ा।

केजरीवाल का ज्यादातर बचपन उत्तरी भारत के गावो में गुजरा जैसे सोनेपत, गाज़ियाबाद और हिसार। हिसार में उन्होंने कैंपस स्कूल और क्रिस्चियन मिशनरी स्कूल, सोनेपत से शिक्षा प्राप्त की।

वे इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खरगपुर से स्नातक हुए जिसमे यांत्रिक अभियांत्रिकी में उनकी प्रमुखता थी। बाद में वे 1989 में टाटा स्टील में शामिल हुए जहा उन्हें जमशेदपुर भेजा गया। लेकिन वहा केजरीवाल ने इस्तीफा दे दिया और सिविल सर्विस एग्जामिनेशन की तयारी करने में लग गये। उन्होंने अपना कुछ समय कोलकाता में बिताया, जहा वे मदर टेरेसा से भी मिले और रामकृष्ण मिशन में भी शामिल हुए और उत्तर-पूर्व के नेहरू युवा केंद्र को भी उन्होंने भेट दी।

1995 में अरविंद केजरीवाल ने सुनीता से शादी कर ली, जो राष्ट्रीय प्रशासन संस्था, मसुरी और राष्ट्रीय जिला कर संस्था, नागपुर में उनकी सहकर्मी थी। केजरीवाल और सुनीता को दो बच्चे है।

सिविल सर्विस की परीक्षा पास करने के बाद ही केजरीवाल आयकर विभाग में सहायक अधिकारी के रूप में शामिल हुए। और नवम्बर 2000 में, उन्हें 2 साल की छुट्टी दी गयी इस शर्त पर की वे उन दो सालो में अपना उच्च शिक्षण पूर्ण कर के वापिस जहा से काम छोड़ा वहा शामिल हो जायेंगे और कम से कम तिन साल लगातार काम करेंगे। अगर वे ऐसा करने में असफल हुए तो उन्हें छुट्टियों के दौरान जो तनखा मिलेगी वो वापिस करनी होंगी। और बाद में नवम्बर 2002 में वे दोबारा शामिल हुए।

केजरीवाल के अनुसार १ साल तक उन्हें कोई पद नही मिला, लेकिन कोई कम किये बिना ही उन्हें तनखा मिलती गयी। इसलिए 18 महीनो बाद उन्होंने बिना तनखा छुट्टी के लिए आवेदन किया। और वह उनके आवेदन को मंजूरी दे दी गयी। और फेब्रुअरी 2006 में उन्होंने अपने उस पद से इस्तीफा दे दिया, ऐसा कहा जाता है की केजरीवाल ने अधिकार पत्र पर लिखे तिन साल तक लगातार काम करते रहने के वादे को बिच में ही तोड़ दिया था।

लेकिन इवल के अनुसार उनके द्वारा लिए गये 18 महीनो के बिना तनखा वाली छुट्टियों को भी उनमे शामिल क्र. देना चाहिए, जिस से उनके 3 साल पुरे हो। कई सालो तक ये मतभेद चलता रहा और अंत में केजरीवाल ने अपने मित्र से कर्जा लेकर 927787 उन्हें देकर अपनी सर्विस छोड़ दी। लेकिन केजरीवाल के अनुसार इसमें उनका कोई नुकसान नही था।

अरविंद केजरीवाल भारतीय राजनेता और सामाजिक कार्यकर्त्ता है जो फरवरी 2015 से दिल्ली राज्य के मुख्यमंत्री है। इस से पहले भी वे दिसम्बर 2013 से फेब्रुअरी 2014 तक इस पद पर रह चुके है। वे आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रिय संयोजक है। 2015 के चुनावो में उनकी पार्टी ने भरी बहुमत हासिल किया, और 70 में से 67 सीट उन्होंने प्राप्त की।

अरविंद केजरीवाल एक यांत्रिक अभियांत्रिकी से स्नातक है जो उन्हें इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी खरगपुर से मिली, और वे भारतीय राजस्व विभाग (IRS) में आयकर विभाग में के जॉइंट कमिशनर के पद पर कार्यरत है।

2006 में, केजरिवाल को उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए रमण मेगसेसे अवार्ड से सम्मानित किया गया। क्योकि आयकर से जुडी कई धाराओ को क़ानूनी नियमो को उन्होंने परिवर्तन किया था, और भ्रष्टाचार के विरुद्ध जानकारी प्राप्त करने का अधिकार जारी भी किया। और उसी साल, IRS के बढ़ने के साथ ही उन्होंने अपने मेगसेसे अवार्ड की पूरी रकम एक नॉन-गवर्नमेंट आर्गेनाईजेशन (NGO) को लोगो की सेवा करने हेतु दान कर दी।

2012 में उन्होंने अपनी आम आदमी पार्टी का गठन किया, जहा 2013 में उन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव में दिल्ली की मुख्यमंत्री रही शिला दीक्षित को पराजित किया और 28 दिसम्बर 2013 से उन्होंने अपना कार्यकाल संभाला। और 49 दिन बाद ही 14 फेब्रुअरी 2014 को उन्होंने अपने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, ये कहकर की, दूसरी पार्टिया जनलोकपाल बिल पारित करने में उनका विरोध कर रही है और केंद्र सरकार भी उनकी कोई मदत नहीं कर कर रही है, साथ ही भ्रष्टाचार के विरुद्ध उठाये उनके फैसलों को भी कोई पार्टी नहीं मान रही“।

14 फरवरी 2015 को वे दोबारा दिल्ली के विधानसभा चुनाव में भारी बहुमत के साथ मुख्यमंत्री पद पर आसीन हुए।

Arvind Kejriwal Awards – अरविंद केजरीवाल के पुरस्कार

1. 2004: अशोक फेलो, सिविक इंगेजमेंट
2. 2005:’सत्येन्द्र दुबे मेमोरियल अवार्ड, आईआईटी कानपुर, सरकार पारदर्शिता में लाने के लिए उनके अभियान हेतु
3. 2006: उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए रमन मेगसेसे अवार्ड.
4. 2006: लोक सेवा में सीएनएन आईबीएन, ‘इन्डियन ऑफ़ द इयर’
5. 2009: विशिष्ट पूर्व छात्र पुरस्कार, उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए आईआईटी खड़गपुर
6. 2010: निति में बदलाव लेन वाले अभिकर्ता ऑफ़ द इयर, इकनोमिक टाइम्स ने अरुणा रॉय के साथ दिया
7. 2011: अन्ना हजारे के साथ NDTV ने इंडियन ऑफ़ द इयर का पुरस्कार दिया.
8. 2013: अमेरिकी पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ द्वारा 2013 के 100 ‘सर्वोच्च वैश्विक चिन्तक’ में शामिल
9. 2014: प्रतिष्ठित “टाइम” मैगज़ीन द्वारा “विश्व के सबसे प्रभावशाली व्यक्ति” के रूप में शामिल।

सीख – एक मध्यम परिवार से होने के बावजूद आज केजरीवाल, भारत का एक जाना-माना चेहरा बन चूका है। इनकी इस जीवनी सी हमें यह सीख मिलती है की महान बनने के लिए हम किस परिवार से है ये मायने नहि रखता बल्कि ये महत्वपूर्ण है की हम हमारे लक्ष्य प्राप्ति के लिए कितने प्रयत्न करते है। केजरीवाल की इन बातो से हमें यह सीखना चाहिये की किसी भी मुश्किल से बचने का बहाना धुंडने के बजाये अगर आप उस से लड़ने का उपाय सोचे, तो निच्छित ही परिणाम आपके लिये अच्छा होंगा।

Note: अगर आपके पास Arvind Kejriwal Biography in Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे।
अगर आपको हमारी Information About Arvind Kejriwal History in Hindi अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook पे Like और Share कीजिये।
Note: Email Subscription करे और पायें Essay On Arvind Kejriwal in Hindi आपके ईमेल पर। कुछ महत्वपूर्ण जानकारी अरविंद केजरीवाल के बारे में विकिपीडिया से ली गयी है।

11 COMMENTS

  1. The best chief minister of India. Peopleof Delhi very happy for work of honorable arvind ji. A day will come when arvind ji will be honorable prime minister of India and lead better our country better than honorable sh. Modiji. Jai hind

  2. केजरीवाल जी आप बहुत अच्छे हो परंतु इतने पढ़े लिखे होने के बाद भी कुछ बात आप ऐसी ऐसी बोल देते हो कि गवार और टाइप की हमें लगती है अब राजनीति में हो तो एक समझ के काम करना कि कभी किसी को धोखा लालच में मत रखना आज हमारे समक्ष यह बात हम देख रहे हैं कि कुमार विश्वास के साथ आपने ऐसा किया लोग क्या कहते हैं आपने किसी से पैसे लिए यह सब बातें क्या है आपका भी इन विषय में खुलकर बोलते नहीं हो और कहते हो कि मैं सही हूं कुछ ऐसा पक्षी भी रखो कि लोग यकीन हो आज धीरे-धीरे दिल्ली के लोगों का आपके ऊपर से विश्वास कम होता दिख रहा है कृपया इस पर आप निष्पक्ष बोलो तो ज्यादा अच्छा रहेगा आप ऐसे करोगे तो आने वाले समय में लोग आपको गलत ठहराएंगे ना चाहते हुए भी सरकार हाथ से छूट जाएगी समझिए सर चाहते हुए भी सरकार

  3. Arvind kejriwal ji Mai abhi 16 saal ka hu or aur aap k bare me Janne k liye excited tha aur aapka autobiography bhi padha Jo ek medium family se padha likh kar CM tak bne , society mai acche kaam kiye so aap k kaam se hum happy h

  4. Arvind Kejriwal ji i am happy with your work, Mai 33 saal ka hun or Muje nhi lagta aap koi glat kaam kar rahe ho, jo v karte ho yo media me aake kuch v bolte ho to aisa lagta hai ki jaise ek dost, bada bhai ya ek desh ka sacha sipahi bol raha ho jo kuch nhi janta ho but ye jarur janta hai ki koi uske desh ke sath galat nhi hone dega ab chahe bolne or karne ka tarika kuch v ho….. Really you are real HERO of polities really dear. Arvind bhai… you are a bhai just for me…..

  5. अरविन्द केजरीवाल जब तक बिना राजनीती में ए अच्छे काम कर रहे थे तो सब खुश थे अब वो राजनीती में आकर कुछ अच्छा करना चाहते है तो सब राजनेताओ की दुकानें बंद हो रही है जिस वजह से वो अब अरविन्द को बदनाम करने की कोई कसार नही छोड़ रहे है

    लेकिन अब लगता है ईश्वर सच का ही साथ देता हैई अब केजरीवाल को कोई नही रोक सकेता
    #arvind_for_pm

  6. श्री केजरीवाल जी
    आप इतने पड़े लिखे होकर जिस तरह की बाते करते बुरी लगती है जब अच्छा बोलते तो अच्छा लगता था पर लगातार जोड़ तोड़ ने आपकी छवि खराब हो रही हे।आप रायता बन रहे हो

  7. श्री मान केजरीवाल जी आप के काम को स्लयूट करता हूँ ।मै मानता हूँ आप व आपका रक्त शुद्ध है पर कई लोग आपको गालीयाँ देते है।आपको धप्पड़ तक मार देते है और आपको हरामी कहते है आप इन सबका मुहँ बन्द कर दे इनको बता दे की आप एक बाप की औलाद हो इनको सबूत दे कर बता दो की आप एक बाप की औलाद हो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.