महाराष्ट्र की “एलोरा गुफ़ाये” | Ellora Caves History In Hindi

Ellora Caves History

एलोरा की प्रसिद्ध गुफाएं महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित है। इसकी अद्भुत बनावट एवं धार्मिक विशेषताओं की वजह से इसे यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल के रुप में शामिल किया है। यह मशहूर एलोरा की गुफाएं औरंगाबाद से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर बेसाल्टिक की पहाड़ी के किनारे बनी हुई हैं।

एलोरा की गुफाओं में करीब 34 बेहद आर्कषक गुफाएं शामिल है, जिन्हें देखने दूर-दूर से पर्यटक आते हैं। इन गुफाओं में हिन्दू, जैन एवं बौद्ध धर्म का अद्भुत संगम देखने को मिलता है। ये गुफाएं दुनिया के सबसे बड़े रॉक-कट मठ-मंदिर गुफा परिसरों में से एक मानी जाती है।

अपनी अद्भुत शिल्पकारी एवं अद्दितीय बनवाट के साथ अपनी अलग-अलग विशेषताओं के लिए यह गुफाएं दुनिया भर में मशहूर हैं। एलोरा की गुफाएं कैलाश मंदिर एवं सबसे बड़ी एकल अखंड रॉक खुदाई की वजह से भी विश्व भर में जानी जाती हैं। आइए जानते हैं एलोरा की अद्भुत गुफाओं के बारे में –

एलोरा गुफ़ाये का रोचक इतिहास –  Ellora Caves History In Hindi

Ellora Caves History

एलोरा गुफा की जानकारी – Ellora Caves Information

कहां स्थित हैं (Ellora Ki Gufa Kaha Hai) औरंगाबाद, महाराष्ट्र
कब हुआ निर्माण (When Was Ellora Caves Built) 5वीं से 7वीं सदी के मध्य में
किसने बनवाईं (Ellora Caves Built By) राष्ट्रकूट वंश के शासकों द्वारा स्थापित की गईं।

आस्था का त्रिवेणी संगम हैं एलोरा की गुफाएं – Ellora Ki Gufa

वर्ल्ड हेरिटेज साइट यूनेस्को द्धारा विश्व धरोहर की लिस्ट में शामिल एलोरा की प्रसिद्द गुफाओं में 1 से 12 तक करीब बौद्ध धर्म की, 13 से 29 तक हिन्दू धर्म एवं 30 से 34 तक जैन धर्म की से संबंधित स्मारकों की बेहद आर्कषक गुफाएं हैं। इसके साथ ही इस गुफा में प्रसिद्ध कैलाश मंदिर भी बना हुआ है, जिससे कई पौराणिक कथाएं जुड़ी हुई हैं।

इसके अलावा इस गुफा में विश्वकर्मा देवता को समर्पित 10 चैत्यगृह भी हैं। करीब 350 से 700 ईसवी  के दौरान अस्तित्व में आईं इन गुफाओं का निर्माण राष्ट्रकूट वंश के शासनकाल के दौरान किया गया है।

एलोरा गुफाओ का इतिहास और जानकारी – Ellora Gufa Information

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में स्थित एलोरा की यह प्राचीन गुफाएं यानि Verul Caves और स्मारकों का इतिहास राष्ट्रकूट वंश के शासनकाल से जुड़ा हुआ है। इतिहासकारों की माने तो राष्ट्रकूट वंश के शासकों ने हिन्दू और बौद्ध धर्म की उत्कृष्ट गुफाओं का निर्माण करवाया था जो कि अपनी अद्भुत शिल्पकारी एवं अनोखी धार्मिक कला के लिए जानी जाती हैं।

जबकि जैन धर्म से संबंधित गुफाओं का निर्माण यादव वंश के शासनकाल में माना जाता है। यह भी कहा जाता है, इन हिन्दू, जैन और बौद्ध तीनों धर्मों के प्रति दर्शाई आस्था का त्रिवेणी संगम का प्रभाव देखने को मिलता है। इन गुफाओं के निर्माण के लिए कई बड़े व्यापारियों औऱ धनी लोगों ने धन दिया था।

इन बेहद आर्कषक एवं भव्य गुफाएं को देखने दूर-दूर से लोग आते हैं, वहीं ये गुफाएं सैलानियों के लिए शानदार विश्राम स्थल के रूप में भी जानी जाती हैं। एलोरा गुफाओं (Alora ki Gufa) के पास में ही दुनिया भर में मशहूर अजंता की गुफाएं भी स्थित है।

एलोरा गुफाओं में मुख्य पर्यटक एवं दर्शनीय स्थल – Tourist Places Ajanta Ellora Caves

  • एलोरा की 16 वीं गुफा में बना कैलाश मंदिर – Kailasa Temple Ellora
  • एलोरा की बेहद भव्य एवं आर्कषक विश्वकर्मा गुफा – Vishwakarma Temple Ellora
  • एलोरा के अंदर बनी मुख्य रामेश्वर गुफा – Rameshwar Temple Ellora
  • एलोरा गुफा में बनी रावण की खाई – Ravana Ki Khai
  • एलोरा की 14वीं गुफा के पास स्थित हिन्दू धर्म पर आधारित दशावतार गुफा – Dashavatara Temple Ellora
  • एलोरा गुफा का मुख्य पर्यटक स्थल है इंद्रा सभा – Indra Sabha Ellora
  • नीलकंठ के नाम से मशहूर एलोरा की गुफा संख्या 22 – Nilkanth Caves Ellora
  • एलोरा में स्थित प्राचीन तीन ताल गुफा – Tal Caves Ellora
  • ग्रीष्णेश्वर ज्योतिर्लिंगा और घ्रुश्नेश्वर मंदिर – Grishneshwar Jyotirlingaor Grishneshwar Temple
  • एलोरा गुफा में बना मुगल शासक औरंगजेब का मकबरा – Tomb Of Aurangzeb

एलोरा की गुफा से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य – Ellora Caves Mystery

  • एलोरा में करीब 100 गुफाएं बनी हुई हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ हिन्दू, बौद्ध और जैन धर्म से संबंधित 34 गुफाओं को ही पर्यटकों के लिए खोला गया है। एलोरा की गुफाओं को स्थानीय स्तर पर वेरुल लेणी (Verul Leni) के नाम से जाना जाता है।
  • एलोरा की गुफाएं भारत के रॉक-कट -वास्तुकला यानि कि शैल-कृत्य स्थापत्य कला का अद्भुत नमूना मानी जाती है।
  • विश्व हेरिटेज की साइट में शामिल एलोरा की प्रसिद्ध गुफाओं की खास बात यह है कि यह गुफाएं व्यापार मार्ग के बेहद नजदीक हैं, लेकिन इसके बाबजूद भी इनकी कभी उपेक्षा नहीं हुई है।
  • एलोरा की 16 वीं गुफा में बना विशाल कैलाश मंदिर के लिए भी अपनी विशेषता की वजह से दुनिया भर में मशहूर हैं। वहीं कैलाश मंदिर की शिल्पकला एवं कारीगरी अद्भुत एवं अतुलनीय है।
  • दुनिया भर में अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर एलोरा की 10वीं गुफा ‘विश्वकर्मा गुफा’ है, जो कि प्रख्यात बौद्ध गुफा है, जिसके अंदर एक चैत्यगृह भी है।
  • एलोरा की यह बेहद खूबसूरत गुफाएं ज्वालामुखीय बसाल्टी संरचनाओं को काट कर बनाई गई हैं, इन्हें ‘दक्कन ट्रेप’ भी कहा जाता है।
  • जैन-बौद्ध और हिन्दू धर्म की आस्था का त्रिवेणी संगम मानी जाने वाली एलोरा की गुफाओं के अंदर बनी बौद्ध धर्म आधारित गुफाओं की प्रतिमा में भगवान बुद्ध की जीवनशैली की साफ झलक देखने को मिलती है।
  • महाराष्ट्र के औरंगाबाद में बनी इन ऐतिहासिक और बेहद आर्कषक गुफाओं में ‘दी ग्रेट कईलसा गुफा’ सबसे बड़ी गुफा है।
  • अपनी अद्भुत शिल्पकारी, सुंदर नक्काशी और बेहतरीन कारीगिरी के लिए एलोरा की गुफाओं को साल 1983 में वर्ल्ड हेरिटेज साइट यूनेस्को द्धारा विश्व विरासत स्थल घोषित किया गया था।

एलोरा की गुफाओं को देखने का समय – Ellora Caves Timings

एलोरा की गुफाएं पर्यटकों के लिए सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक खुली रहती हैं। आप इन सारी गुफाओं को 3 से 4 घंटों में आराम से देख सकते हैं।

यह भी पढ़े: 

Please Note: अगर आपके पास Ellora Caves History In Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे। धन्यवाद अगर आपको हमारी Ellora Caves History In Hindi अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook पे Like और Share कीजिये।

Note: E-MAIL Subscription करे और पायें All Information Of India Ellora Caves In Hindi आपके ईमेल पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.