हिन्दू धर्म की रोचक बातें जो आप नहीं जानते होगे…

Interesting Fact about Hinduism

हिन्दू धर्म जिसके बारे में शायद ही कोई पूरी पूरी बात जानता हो क्योकि इस धर्म की शुरुआत कब हुई इसकी कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। एक ऐसा धर्म जिसमे कई सारी रीतियाँ है तो कई सारी कुरीतियाँ है लेकिन ये अद्भुत है। एक धर्म जिसमे सबसे अधिक देवी देवता है और सबसे बड़ी बात की सबको महत्व दिया जाता है और सभी पूज्य है। हिन्दू धर्म की ऐसी ही रोचक बातें आपको बता रहे है जो अपने नहीं जानी होगी।
Interesting Fact about Hinduism

हिन्दू धर्म की रोचक बातें जो आप नहीं जानते होगे – Interesting Fact about Hinduism

दुनियाभर में विवाह की कल्पना हिन्दू धर्म से शुरू हुई है। हिन्दू धर्म के माध्यम से लोगो ने विवाह करना सीखा और ये जाना की विवाह क्या होता है और इसका महत्व क्या है। पहला ऐसा धर्मं जिसने विवाह की अवधारणा दी और दुनिया ने इसे अपनाई।

हिन्दुओ में 108 पवित्र संख्या मानी गई है और हम इसके बारे में जानते है लेकिन इसकी वजह बहुत अलग है। दरअसल सूर्य से पृथ्वी की दूरी वा सूर्य का व्यास या चन्द्रमा की पृथ्वी से दूरी व चन्द्रमा के व्यास का अनुपात लगभग 108 होता है और इस वजह से इस संख्या को पवित्र माना गया है। आपने देखा होगा की हिन्दू धर्म में पवित्र माला में हमेशा 108 मोती ही होते है।

हिन्दू धर्म के बीस ऐसे मंदिर है जो की लगभग एक हजार साल पुराने है और इनमे आज भी कोई ना कोई ख़ास बात या फिर कोई ना कोई दैविक बात झलकती है जिसके चलते इनका महत्व है। कई सारे मंदिर ऐसे है जहाँ होने वाली घटनाओं के बारे में आज तक कोई पता नहीं लगा पाया।

हिन्दू ही एक ऐसा धर्म है जहाँ जानवरों को भी पवित्र और किसी ना किसी चीज का संकेत माना गया है। यहाँ हर एक जानवर भगवान से जुड़ा हुआ है। हर एक जानवर को महत्व दिया गया। ऐसा दुनिया के किसी भी धर्म में नहीं है की जहाँ जानवरों की पूजा होती हो जबकि हमारे यहाँ गाय और बैल पूजे जाते है।

हिन्दू धर्म की हर एक प्रथा और पुरानो में लिखी बातो को आज विज्ञान मानने को तैयार है। कई सारे खतरनाक मर्जो की दवा वैज्ञानिकों को हिन्दू धर्म के पुरानो से मिली है। इसके अलावा कई सारे ऐसे मसले है जिन्हें सुलझाने में हिन्दू धर्म के किताबो की मदत ली जाती है।

हिन्दू धर्म ही एक ऐसा धर्म है जहाँ सबसे पहले कामवासना की अवधारणा दी गई और बताया गया की ये मनुष्य का मूल स्वाभाव है। इसी वजह से कामवासना दुनिया में काम के क्षेत्र में सबसे अधिक बिकने वाली किताबो में से एक है।

दुनिया में हिन्दू धर्म ऐसा है जो आपको किसी सूत्र में नहीं बांधता है और आपको स्वतंत्र करता है। यानी की यह धर्म आपको स्वतंत्रता भी देता है जो की हर इन्सान का मूल अधिकार है।

हिन्दू धर्म ही एक ऐसा धर्म है जहाँ शक्ति यानी की पॉवर को देवी यानी की महिला का प्रतीक माना गया है। आपको किसी और धर्म में ऐसी व्याख्या नहीं मिलेगी जहाँ एक महिला को देवी या फिर शक्ति का रूप बताया गया हो लेकिन हिन्दू धर्म में ऐसा होता है और महिलाओ को उचित सम्मान दिया जाता है।

हिन्दू ही एक ऐसा धर्म है जहाँ मरने के बाद भी आत्मा के भटकने और उसके होने की अवधारणा दी गई और इससे पहले किसी भी धर्म ने ऐसा नहीं बताया था। हिन्दू धर्म में किये जाने वाले अंतिम संस्कार और उसके बाद की क्रियाएं इस बात की पुष्टि भी करती है।

एक इकलौता ऐसा धर्म जहाँ तैतीस करोड़ देवी देवता होने के बाद भी इस सिद्धांत को समझता है की ईश्वर एक है। यानी की अनेकता में एकता का भी सार हिन्दू धर्मं के द्वारा दिया गया है।

1 COMMENT

  1. बिलकुल सही कहा आपने की हमारे हिन्दू धरम में पशुओं को बी पूजा जाता है गाय और बैल के अलावा कुत्ते को भगवन भैरव की सवारी मन जाता है उल्लू को लक्ष्मी जी की सवारी मन जाता है और साउथ इंडिया में इनकी पूजा बी की जाती है । बहुत ही अच्छा आर्टिकल लिखा है आपने।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.