Skip to content

गुलज़ार साहिब के कुछ कोट्स और शायरी

Gulzar Quotes in Hindi

गुलज़ार साहिब जिनके लिखें हुए गाने आज भी हर किसी के होठों पर हमेशा रहते हैं, वही गुलज़ार साहिब आज भी सब के दिलो पर राज कर रहे हैं। आज हम उन्ही के लिखें कुछ कोट्स, शायरी – Gulzar Quotes, Gulzar Shayari को पढेंगे।

गुलज़ार साहिब के कुछ कोट्स और शायरी – Gulzar Quotes in Hindi (Shayari)

Gulzar ke Anmol Vichar

Gulzar ke Anmol Vichar

“थोडासा हस के थोडासा रुलाके पल यही जानेवाले हैं..!!”

“तकलीफ़ ख़ुद की कम हो गयी, जब अपनों से उम्मीद कम हो गईं…!!”

“घर में अपनों से उतनाही रूठो की आपकी बात और दूसरों की इज्जत, दोनों बरक़रार रह सके…!!”

Gulzar ke Anmol Vichar

Gulzar Quotes in Hindi

Gulzar Quotes in Hindi

“कुछ अलग करना हो तो भीड़ से हट के चलिए, भीड़ साहस तो देती हैं मगर पहचान छिन लेती हैं…!!”

“सीने में धड़कता जो हिस्सा हैं…. उसी का तो ये सारा किस्सा हैं..!!”

“कैसे करें हम ख़ुद को तेरे प्यार के काबिल, जब हम बदलते हैं, तुम शर्ते बादल देते हो..!!”

Gulzar Sahab Quotes in Hindi

Gulzar Sahab Quotes in Hindi

Gulzar Sahab Quotes in Hindi

“अच्छी किताबें और अच्छे लोग तुरंत समझमें नहीं आते उन्हें पढना पड़ता हैं..!!”

“किसी पर मर जाने से होती हैं मुहब्बत, इश्क जिंदा लोगों का नहीं..!!”

“दिल अगर हैं तो दर्द भी होंगा, इसका शायद कोई हल नहीं हैं…!!”

Gulzar Shayari in Hindi on Life

Gulzar Shayari in Hindi on Life

Gulzar Shayari in Hindi on Life

“तन्हाई की दीवारों पर घुटन का पर्दा झूल रहा हैं, बेबसी की छत के नीचे, कोई किसी को भूल रहा हैं…!!”

“कुछ बातें तब तक समझ में नहीं आती जब तक ख़ुद पर ना गुजरे..!!”

“शायर बनना बहुत आसान हैं… बस एक अधूरी मोहब्बत की मुकम्मल डिग्री चाहिए…!!”

Gulzar Shayari in Hindi

Gulzar Shayari in Hindi

Gulzar Shayari in Hindi

“तेरे जाने से तो कुछ बदला नहीं, रात भी आयी और चाँद भी था, मगर नींद नहीं…!!”

“वो चीज़ जिसे दिल कहते हैं, हम भूल गए हैं रख के कहीं…!!”

“कभी तो चौक के देखे को हमारी तरफ़, किसी की आँखों में हमको भी को इंतजार दिखे..!!”

Gulzar Thoughts in Hindi

Gulzar Thoughts in Hindi

Gulzar Thoughts in Hindi

“एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद..दूसरा सपना देखने के हौसले को ‘ज़िंदगी’ कहते हैं..!!”

“वक्त रहता नहीं कही भी टिक कर, आदत इस की भी इंसान जैसी हैं…!!”

“हाथ छुटे भी तो रिश्ते नहीं नहीं छोड़ा करते, वक्त की शाख से लम्हें नहीं तोडा करते…!!”

Hindi Quotes of Gulzar Sahab

Hindi Quotes of Gulzar Sahab

Hindi Quotes of Gulzar Sahab

“कौन कहता हैं की हम झूठ नहीं बोलते एक बार खैरियत तो पूछ के देखियें ….!!”

“बहुत अंदर तक जला देती हैं, वो शिकायते जो बया नहीं होती…!!”

“शोर की तो उम्र होती हैं ख़ामोशी तो सदाबहार होती हैं…!!”

2 thoughts on “गुलज़ार साहिब के कुछ कोट्स और शायरी”

Leave a Reply

Your email address will not be published.