स्मृति ईरानी का जीवन परिचय | Smriti Irani Biography

Smriti Irani

कई लोग बहुत ही छोटी उम्र में काफी समझदार हो जाते है और अपनी जिम्मेदारी को समझकर उसे निभाने की पूरी कोशिश करते है। क्यों की वह जानते है की कुछ बदलाव लाना है तो दुसरो पर जिम्मदारी नहीं दे सकते। इसके लिए खुद को काम करना होगा। ऐसी सोच रखनेवाले लोग जिंदगी में हमेशा कामयाब होते है।

Smriti Irani

स्मृति ईरानी का जीवन परिचय – Smriti Irani Biography

एक ऐसी ही व्यक्ति के बारे आज हम आपको बताने जा रहे है जिसमे अपने परिवार को संभालने के लिए बहुत कम उम्र में काम करना शुरू कर दिया था। उस इन्सान ने ना केवल अभिनय के क्षेत्र में पहचान बनायीं बल्की राजनीत में भी अपने काबिलियत पर बड़ी उपलब्धि हासिल की।

जिस व्यक्ति के बारे में यहापर बताया जा रहा वह आज हमारे देश की कपड़ा मंत्री है। देश की कपड़ा मंत्री का नाम लेने पर अब आप जान ही गए होंगे की यहापर किसकी बात हो रही है। हम बात कर रहे है देश की कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी की। तो चलिए जानते है उनकी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी।

स्मृति ईरानी का जन्म दिल्ली में एक मध्यम वर्ग परिवार में 23 मार्च 1976 में हुआ। उनके पिताजी पंजाबी और माँ बंगाली है। उन्हें दो बहने है और स्मृति ईरानी सबसे बड़ी है।

अपना परिवार चलाने के लिए उन्होंने 10 की पढाई के बाद ही काम करना शुरू कर दिया था। वह शुरू में सौंदर्य उत्पाद का प्रचार करती थी उसके लिए उन्हें रोजाना 200 रुपये मिलते है। लेकिन उनके नसीब में कुछ और ही लिखा था।

ग्लैमर की दुनिया से वह काफी प्रभावित हुई थी और उसके बाद उन्होंने फैसला लिया की उन्हें आगे बढ़ना है, मध्यम वर्ग से उन्हें छुटकारा पाना है।

1998 में उन्होंने फैसला लिया की उन्हें मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लेना है लेकिन वह अंतिम मुकाबले में पहुच ही नहीं पायी। आखिरकार उन्होंने मुंबई में जाकर एक नए करियर की शुरुवात करने का फैसला लिया। खुद के जरूरतों के पूरा करने के लिए उन्होंने मैकडोनाल्ड में भी काम किया। उसी दौरान उन्होंने मनोरंजन जगत में ऑडिशन देना शुरू कर दिया था।

स्मृति ईरानी ने 2001 में जुबिन ईरानी नामक पारसी व्यवसायी से शादी की। शादी के बाद उन्हें दो बच्चे हुए अक्तूबर 2001 में उन्होंने एक लड़के को जन्म दिया उसका नाम जोहर है। उसके दो साल बाद उन्हें एक लड़की हुई जिसका नाम जोइश है।

स्मृतो ईरानी का करियर – Smriti Irani Career

स्मृति ईरानी को करियर में कामयाबी तक पहुचने के लिए बड़ी तकलीफों का सामना करना पड़ा तब जाकर उन्हें एक बार ‘उह ला ला ला’ का एपिसोड को होस्ट करने का मौका मिला। उस शो में उन्हें मशहूर अभिनेत्री नीलम कोठारी की जगह पर काम करने का मौका मिला था।

उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड कर देखा ही नहीं साथ ही उस शो को करने के बाद वह काफी मशहूर हो चुकी थी और खास तौर पर मशहूर निर्माता एकता कपूर भी उनके अभिनय से काफी प्रभावित हो चुकी थी। उसके बाद उन्हें स्टार प्लस पर “क्यों की सास भी कभी बहु थी” जैसे सुपरहिट टीवी शो में काम करने का मौका मिला।

उसके बाद स्मृति ईरानी बहुत ही मशहूर हो गई और सभी लोग उन्हें पहचानने लगे थे। उस सीरियल में तुलसी का किरदार निभाने के लिए स्मृति ईरानी को कई सारे पुरस्कार मिले।

सीरियल में काम करने के अलावा उन्होंने उनकी कंपनी उग्राय एंटरटेनमेंट के माध्यम से कई सारे शो किए।

उन्होंने 2008 में ‘यह है जलवा’ जैसे डांस रियलिटी शो को भी होस्ट किया था। सब टीवी पर एक मणिबेन डॉट कॉम (2009-2010) नाम की कॉमेडी सीरियल आती थी। उस सीरियल के माध्यम से उन्होंने यह भी साबित कर दिया की वह एक अच्छी कॉमेडियन का किरदार भी निभा सकती है।

स्मृति ईरानी बंगाली फ़िल्म में भी काम कर चुकी है।

धीरे धीरे स्मृति ईरानी का राजनीती में आने लगी और माँ जन संघ की सदस्य बनी और उनके दादा आरएसएस के स्वयंसेवक थे।

2003 में ही स्मृति ईरानी ने भारतीय जनता पार्टी में प्रवेश किया था। उसके कुछ अलगे सालों में ही स्मृति ईरानी महाराष्ट्र युवा संघ की उपाध्यक्ष बन गयी। 2004 के आम चुनाव में उन्होंने चांदनी चौक निर्वंचन क्षेत्र से चुनाव लड़े थे लेकिन वह कपिल सिब्बल के विरुद्ध चुनाव में गिर गयी।

लेकिन उस चुनाव को लड़ने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की इसीलिए चुनाव में हार का सामना करने के बाद भी स्मृति ईरानी को केंद्रीय समिति का कार्यकारी सदस्य बनाया गया। धीरे धीरे स्मृति ईरानी आगे बढ़ते चली गयी। कुछ समय बाद ही उन्हें भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय सचिव बना दिया गया और 2010 में पार्टी के महिला संघ का अध्यक्ष चुना गया।

उनके पार्टी के प्रति समर्पण और नेतृत्व को देखकर बीजेपी ने उन्हें 2014 के आम चुनाव में राहुल गांधी के खिलाफ लड़ने के लिए टिकेट दिया था। उन्होंने उत्तर प्रदेश के अमेठी से राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था लेकिन उस चुनाव में स्मृति ईरानी को हार का सामना करना पड़ा मगर वह उस चुनाव में काफी कम वोटो से हार गयी थी।

उनकी काबिलियत को देखकर उन्हें नरेन्द्र मोदी के मंत्रिमंडल में मानव संसाधन विकास मंत्री बनाया गया और इसीके साथ ही वह कैबिनेट की सबसे युवा सदस्य बन गयी। कुछ साल के बाद मंत्रिमडल में कुछ बदलाव किये गए और 5 जुलाई को स्मृति ईरानी को कपडा मंत्रालय की जिम्मेदारी सौपी गयी।

स्मृति ईरानी को मिले हुए पुरस्कार – Smriti Irani Award

स्मृति ईरानी को ‘क्यों की सास भी कभी बहु थी’ सीरियल में तुलसी का किरदार निभाने के लिए लगातार चार सालों तक ‘इंडियन टेलीविज़न अकादमी अवार्ड’ दिए गए। 2001, 2002, 2003 और 2004 सालों के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया था। यही अकादमी पुरस्कार उन्हें 2010 में भी दिया गया।

स्मृति ईरानी को 2002, 2003 और 2006 में ‘इंडियन टेली अवार्ड’ से भी सम्मानित किया गया है।

उन्हें 2005 में ‘ग्रेट वीमेन अचीवर्स अवार्ड्स’ से भी सम्मानित किया जा चूका है।

गर्व इंडियन टीवी अवार्ड्स ने भी उन्हें 2014 में ‘बेस्ट टीवी पर्सनालिटी ऑफ़ द डिकेड अवार्ड’ से सम्मानित किया है।

Loading...

स्मृति ईरानी केवल देश की केवल मंत्री ही नहीं बल्की इसके पहले उन्होंने टीवी पर भी बतौर अभिनेत्री के रुप में काम भी किया है। उन्होंने अपने जीवन के दोनों किरदार बखूबी निभाए।

Read More:

Note: आपके पास About Smriti Irani in Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. धन्यवाद..
अगर आपको Life History Of Smriti Irani in Hindi Language अच्छी लगे तो जरुर हमें Whatsapp और Facebook पर Share कीजिये.
Note: Email Subscription करे और पायें Essay With Short Biography About Smriti Irani in Hindi and More New Article. आपके ईमेल पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.