लेखक विक्रम सेठ की जीवनी | Vikram seth Biography

Vikram Seth – विक्रम सेठ एक भारतीय कवी, उपन्यासकार, सफ़र लेखक, बच्चों के लेखक, संगीतनाट्य के पाठक, और इतिहास के लेखक है। इन्होने कई सारे उपन्यास और कविता की किताबे लिखी है। इन्हें बहुत पुरस्कार मिले है जिनमे साहित्य अकादेमी पुरस्कार, पद्मश्री, प्रवासी भारतीय सम्मान, डब्लू एच स्मिथ लिटरेरी अवार्ड और क्रॉसवर्ड बुक अवार्ड। सेठ के कविता संग्रहों में से कुछ किताबे जैसे मप्पिंग्स और बीस्टली टेल्स का भारतीय अंग्रेजी कविता में उल्लेखनीय योगदान है।

Vikram Seth लेखक विक्रम सेठ की जीवनी – Vikram seth Biography

विक्रम सेठ का जन्म कलकत्ता में हुआ। उनके के पिता प्रेम सेठ और मा लीला सेठ है। 1996 में एंग्लिकन कवी जॉर्ज हर्बर्ट का घर खरीदने के बाद और उसे नया बनाने के बाद, सेठ दिल्ली में अपने मातापिता के साथ रहते है और उनका एक बड़ा पुस्तकालय सँभालते है।

विक्रम सेठ का करियर – Vikram Seth Career

जब वह अमेरिका के स्टनफोर्ड यूनिवर्सिटी में थे, तब वह रचनात्मक लेखन के क्षेत्र में वालस स्तेग्नेर फेलो थे। यह वो समय था जब उन्होंने कविता लिखना शुरू कर दिया था जो इनके ‘मप्पिंग्स’ में सन 1980 मे प्रसिद्ध हुई थी। इस किताब को आलोचकों से अच्छी समीक्षा मिल नहीं पाई।

1980 से 1982 तक वह उनके क्षेत्र के शोध हेतु चीन चले गए थे। डॉक्टरेट शोध प्रबंध के साहित्य जिसे इन्होने कभी नहीं लिखा था इसको इकट्ठा करने के लिए चीन में बड़े पैमाने पर यात्रा की। जब वो चीन में थे तब नानजिंग यूनिवर्सिटी में शास्त्रीय चीनी कविता और भाषा का अध्ययन किया।

सन 1983 इनकी दूसरी किताब ‘फ्रॉम हेवन लेक’ प्रसिद्ध हुई। इसमें इन्होने उनकी चीन से भारत की यात्रा के बारे में बताया है। समीक्षकों ने इस किताब की प्रशंसा की और उनका कार्य सभी के सामने आया। 1985 में इनकी ‘द अम्बल एडमिनिस्ट्रेटर्स गार्डन’ नामक एक और कविता की किताब प्रकाशित हुई।

1986 में आई इनकी एक उपन्यास ‘द गोल्डन गेट’ अद्वितीय थी क्यु की के पूरी किताब कविता के रूप मी थी और ये सिलिकॉन वैली के लोगों के जीवन के बारे में बताती है। यह उपन्यास अलेक्सांद्र पुश्किन का कार्य ‘यूजीने ओनेगिन’ से प्रेरित है। यह किताब काफ़ी सफ़ल रही और साहित्यिक प्रेस से उन्हें काफ़ी प्रशंसा भी प्राप्त हुई।

1990 में इन्होने ‘आल यू हु स्लीप टुनाइट’ नामक कविता की किताब लिखी। और 1992 में ‘थ्री चायनीज पोएट्स’ नाम की कविता की पुस्तक लिखी है।

1992 में सेठ ने बच्चों के लिए एक किताब लिखी जिसका नाम ‘बीस्टली टेल्स फ्रॉम हेरा एंड देयर’ है। इसमें प्राणियों के बारे में दस कहानिया है।

1993 में इनकी सबसे प्रसिद्ध किताब आयी वो थी ‘अ सूटेबल बॉय’। ये कहाँनी स्वतंत्रता मिलने के बाद एक परिवार पर आधारित है। इस किताब में 1349 पन्ने है और ये इंग्लिश भाषा की लम्बी किताबों में से एक है।

1994 में इनकी एक और किताब आयी और वो थी ‘द फ्रॉग एंड नाइटिंगेल’।

1999 में इनकी ‘ इक्वल म्यूजिक’ किताब प्रसिद्ध हुई। इस किताब की कहानी वायलिन वादक माइकल और पियानोवादक जूलिया के प्यार पर आधारित है। इस किताब को संगीत के प्रशंसको ने काफ़ी पसंद किया। विक्रम सेठ ने इस किताब में जो संगीत का वर्णन किया है उसके लिए भी लोगों ने उनकी तारीफ की।

2005 में इनकी एक और किताब आयी वो थी ‘टू लाइव’। ये किताब सच्ची घटना पर आधारित है। ये कहानी इनके बड़े चाचा शांति बिहारी सेठ और उनकी जर्मन ज्यूइश चाची हेन्नेरले गर्दा कारो पर आधारित है।

अभी विक्रम सेठ ‘अ सूटेबल बॉय’ के अगले भाग पर काम कर रहे है। उसका नाम ‘अ सूटेबल गर्ल’ है जो 2016 में आने वाली है।

किताब ‘अ सूटेबल बॉय’ इनके करियर की सबसे अहम किताब मानी जाती है। यह इंग्लिश भाषा की लम्बी किताबों में से एक है। इसमें 1952 तक के चुनाव और राजनितिक मुद्दे की जानकारी दी गयी है।

विक्रम सेठ की कुछ किताबे – Vikram Seth Books

  • द गोल्डन गेट (1986)
  • अ सूटेबल बॉय (1993)
  • आन इक्वल म्यूजिक (1999)

बच्चों की किताबे – Vikram Seth Books for Children’s

  • अरिओन एंड द डॉलफिन (1994)

सत्य कथा पर आधारित किताबे – Vikram Seth Books for True Story

  • फ्रॉम हेवन लेक: ट्रेवल्स थ्रू सिंकियांग एंड तिबेट (1983)
  • टू लाइव (2005)
  • द रिवेरेड अर्थ (2005)

विक्रम सेठ की कुछ कवितायें – Vikram Seth Poems

  • द अम्बल एडमिनिस्ट्रेटर्स गार्डन (1985)
  • मप्पिंग्स (1986)
  • आल यू हु स्लीप टुनाइट (1990)
  • बीस्टली टेल्स (1991)
  • थ्री चायनीज पोएट्स (1992)
  • समर रिक्विम: अ बुक ऑफ़ पोयम्स (2012)
  • द फ्रॉग एंड नाइटिंगेल (1994)

विक्रम सेठ को मिले हुए पुरस्कार – Vikram Seth Awards

  • 1983- फ्रॉम हेवन लेक:ट्रेवल्स थ्रू सिंकियांग एंड तिबेट के लिए थॉमस कुक ट्रेवल बुक अवार्ड
  • 1985- हम्बल एडमिनिस्ट्रेटर्स गार्डन के लिए कामनवेल्थ पोएट्री प्राइज (एशिया)
  • 1988- गोल्डन गेट के लिए साहित्य अकादेमी अवार्ड
  • 1993- अ सूटेबल बॉय के लिए आयरिश टाइम्स इंटरनेशनल फिक्शन प्राइज (शोर्टलिस्ट)
  • 1994- अ सूटेबल बॉय के लिए कामनवेल्थ राइटर प्राइज (सर्वश्रेष्ट किताब)
  • 1994- अ सूटेबल बॉय के लिए डब्लूएच स्मिथ लिटरेरी अवार्ड
  • 1999- आन इक्वल म्यूजिक के लिए क्रॉसवर्ड बुक अवार्ड
  • 2001- ऑफिसर के लिए आर्डर ऑफ़ द ब्रिटिश एम्पायर
  • 2001- आन इक्वल म्यूजिक के लिए इएमएमए (बीटी एथनिक एंड मल्टीकल्चरल मीडिया अवार्ड)
  • 2005- प्रवासी भारतीय सम्मान
  • 2007- साहित्य और शिक्षा में पद्मश्री
  • 2013- भारत में सबसे 25 महान वैश्विक महापुरुष

Read More:

Note: I hope these “Life history of Vikram seth in Hindi language” will like you. then please share on whatsapp & like our facebook page. and for latest update download : Gyani Pandit Mobile App

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *