ऑस्ट्रिया के बारेंमें महत्वपूर्ण जानकारी | Austria Information in Hindi with History

Austria Information

ऑस्ट्रिया, अधिकारिक रूप से रिपब्लिक ऑफ़ ऑस्ट्रिया संघीय गणराज्य और सेंट्रल यूरोप के 8.7 मिलियन लोगो का बंदरगाह विहीन देश है। जिसकी राजधानी वियना हैं। ऑस्ट्रिया का इलाका ऊँचे पहाड़ो से घिरा हुआ है, देश का केवल 32% भाग ही 500 मीटर के निचे बसा हुआ है और देश का सर्वोच्च बिंदु 3798 मीटर (12461 फीट) की ऊंचाई पर है।

Austria Information

ऑस्ट्रिया के बारेंमें महत्वपूर्ण जानकारी – Austria Information in Hindi with History

ज्यादातर लोग अपनी घरेलु भाषा के रूप में जर्मन की बवेरियन बोलियों का उपयोग करते है और देश की अधिकारिक भाषा भी जर्मन ही है। देश की दूसरी स्थानिक भाषाओ में हंगेरियन, बुर्गेंलैंड क्रोएशियन और स्लोवेने शामिल है।

ऑस्ट्रिया की उत्पत्ति का इतिहास हब्सबर्ग साम्राज्य से जुड़ा हुआ है, जब देश का ज्यादातर भाग पवित्र रोमन साम्राज्य का भाग था। सुधार के समय बहुत सी उत्तरी जर्मन रानियाँ सम्राट से क्रोधित होकर विद्रोह के ध्वज के रूप में विरोध करने लगी।

तीस सालो तक स्वीडन राज्य और फ्रांस राज्य, प्रुशिया राज्य और नेपोलियोनिक आक्रमण ने जर्मनी के उत्तर में सम्राट की ताकत को कम कर दिया, लेकिन दक्षिण और साम्राज्य के गैर-जर्मन क्षेत्रो में सम्राट और रोमन कैथोलिक इसाईयो ने नियंत्रण बनाये रखा।

17 वी और 18 वी शताब्दी के समय ऑस्ट्रिया ने अपने आप को यूरोप के शक्तिशाली देश के रूप में स्थापित कर लिया था और नपोलियन के फ्रेंच के सम्राट बनने के बाद 1804 में अधिकारिक रूप से ऑस्ट्रियन साम्राज्य की घोषण की गयी।

1867 में यह साम्राज्य ऑस्ट्रिया-हंगरी में परिवर्तित हो गया। 1870-71 के फ्रांसो-प्रशियाई युद्ध में फ्रांस के हार जाने के बाद, ऑस्ट्रिया को नये जर्मन साम्राज्य से बाहर रखा गया और साथ ही आने वाली वर्षो में इसकी राजनीती और विदेशी नीतियों को प्रशियाई साम्राज्य में मिला दिया गया।

1914 के जुलाई संकट से पहले 28 जून को ऑस्ट्रिया के अर्चड्यूक फ्रांज फर्डीनांड की हत्या कर दी गयी। इसके बाद ऑस्ट्रिया-हंगरी जर्मन समर्थन की प्रतिज्ञा से काफी खुश हुए और 28 जुलाई को सर्बिया पर युद्ध करने की घोषणा की गयी, क्योकि वह देश ऑस्ट्रियाई अल्टीमेटम का अनुपालन नही कर रहा था। जुलाई संकट के समय युद्ध पर जाने वाला ऑस्ट्रिया पहला देश था, जो बाद में पहले विश्व युद्ध में परिवर्तित हुआ।

1918 में प्रथम विश्व युद्ध के अंत में हब्सबर्ग (ऑस्ट्रो-हंगेरियन) साम्राज्य के ख़त्म होने के बाद, ऑस्ट्रिया को अपनाया गया और जर्मनी के साथ संघ बनाने के उद्देश्य से जर्मन-ऑस्ट्रिया गणराज्य का नाम रखा गया। लेकिन वर्साय की संधि और संत-जर्मन-एन-लाये (1919) की संधि में इसे भुला दिया गया। और इसके कुछ समय बाद ही 1919 में पहले ऑस्ट्रियाई गणराज्य की स्थापना की गयी।

1938 में नाज़ी जर्मनी ने ऑस्ट्रिया पर कब्ज़ा कर लिया। यह कब्ज़ा 1945 में द्वितीय विश्व युद्ध के अंत तक चला, जिसके बाद जर्मनी पर सहयोगी दलों ने कब्ज़ा कर लिया और ऑस्ट्रिया के भूतपूर्व लोकतांत्रिक संविधान को लौटा दिया गया। 1955 में ऑस्ट्रियाई राज्य संधि ने पुनः ऑस्ट्रिया की स्थापना श्रेष्ट राज्य के रूप में की।

आज, ऑस्ट्रिया संसदीय प्रतिनिधि लोकतंत्र है जिसमे 9 संघीय राज्य बसे हुए है। 1.8 मिलियन की जनसँख्या के साथ देश की राजधानी और सबसे बड़ा शहर विएना है। ऑस्ट्रिया के दुसरे शहरी इलाको में ग्राज़, लिंज़, सल्जबर्ग और इंन्सब्रुक शामिल है।

प्रति व्यक्ति जीडीपी के अनुसार ऑस्ट्रिया दुनिया में सबसे समृद्ध देशो में से एक है। देश के लोगो का जीवन स्तर भी काफी उच्च है और मानव विकास सूची में इसका 21 वा स्थान है। 1955 से ऑस्ट्रिया यूनाइटेड नेशन का सदस्य है और 1955 में यह यूरोपियन संघ में शामिल हुआ और साथ ही यह OECD का संस्थापक भी है। 1995 में ऑस्ट्रिया ने शेंगेन समझौते पर भी हस्ताक्षर किये थे और 1999 में यूरो करेंसी को अपनाया था।

ऑस्ट्रिया के इतिहास में कुछ महत्वपूर्ण दिन – Important Dates in Austria History

1918 – हब्सबर्ग साम्राज्य का अंत।

1919 – जर्मन की संधि में ऑस्ट्रिया की सीमाओ को निर्धारित किया गया।

1920 – नये संविधान के आधार पर ऑस्ट्रिया गणराज्य की स्थापना की गयी।

1934 – सरकार ने सेना द्वारा समर्थित सामाजिक विद्रोह को कुचला। फादरलैंड फ्रंट के अलावा सभी राजनितिक पार्टियों को समाप्त कर दिया गया।

1936 – ऑस्ट्रिया ने खुद को ‘एक जर्मन राज्य’ के रूप में स्वीकार किया।

1938 – संघ : हिटलर द्वारा ऑस्ट्रिया को जर्मन में शामिल किया गया। अब ऑस्ट्रिया को ओस्टमार्क (ईस्टर्न मार्च) के नाम से जाना जाने लगा।

1945 – सोवियत सैनिको ने विएना को आज़ाद कराया। ऑस्ट्रिया पर सोवियत, ब्रिटिश, यूनाइटेड स्टेट और फ्रेंच सैनिको ने कब्ज़ा किया।

1946-47 – देनाज़िफीकेशन कानून पारित किया गया। पुननिर्माण की शुरुवात हुई।

1955 – ब्रिटेन, फ्रांस, यूनाइटेड स्टेट और सोवियत संघ ने संधि कर स्वतंत्र लेकिन तटस्थ ऑस्ट्रिया की स्थापना की। ऑस्ट्रिया को यूनाइटेड नेशन में शामिल किया गया।

1995 – ऑस्ट्रिया को यूरोपियन संघ में शामिल किया गया।

दोस्तों, अगर आपको हमारी ऑस्ट्रिया के बारेमें दी गयी जानकारी पसंद आयी हो, तो और पढिए ऑस्ट्रिया के बारेमें और भी कुछ रोचक बातें – Interesting Facts about Austria जिन बातों को पढ़कर आप हैरान रह जाओंगे.

Read More:

I hope these “Austria Information in Hindi” will like you. If you like these “Austria Information in Hindi with History” then please like our Facebook page & share on Whatsapp and for latest update download: Gyani Pandit free android App

2 thoughts on “ऑस्ट्रिया के बारेंमें महत्वपूर्ण जानकारी | Austria Information in Hindi with History”

  1. हिंदीकुंज

    आपने ऑस्ट्रिया के बारे में बहुत महत्वपूर्ण जानकारी दी .यह जानकारी पाठकों के लिए लाभप्रद हैं .

    1. Editorial Team

      शुक्रिया, ये जानकर अच्छा लगा कि आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगा, हम आगे भी अपनी वेबसाइट पर इस तरह के पोस्ट अपडेट करते रहेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *