चाईना के बारेंमें महत्वपूर्ण जानकारी | china information in hindi with history

दोस्तों, हमने हर बार खिलोनों पर या किसी चीज पर “Made In China” लिखा हुआ बहोत बार पढ़ा हैं, आज हम उसी चाइना देश के बारेमें जानकारी लेकर आयें हैं, तो आईये जानते हैं चाईना के बारेंमें महत्वपूर्ण जानकारी – China Information

china
चाईना के बारेंमें महत्वपूर्ण जानकारी – china information in hindi with history

अधिकारिक रूप से चीनी जनवादी गणराज्य (पीपल रिपब्लिक ऑफ़ चाइना), पूर्वी एशिया का एकात्मक संप्रभु राज्य है। 1.381 बिलियन की जनसँख्या के साथ, यह जनसँख्या के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा देश है।

चाइना की कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा शासित इस देश की राजधानी बीजिंग है। 22 से भी ज्यादा प्रांत के अधिकार, पाँच खुले क्षेत्र, चार डायरेक्ट कण्ट्रोल म्युनिसिपेलिटी (बीजिंग, टियांजिन, शंघाई और चोंगकिंग) और दो स्वशासित विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (होंग कोंग और मकाउ) है और साथ ही यह देश ताइवान पर संप्रभुता का दावा भी करता है।

देश के मुख्य शहरी भागो में शंघाई, गुआनझो, बीजिंग, चोंगकिंग, शेंज्हें और होंग कोंग शामिल है। चाइना के विशाल ताकत है और एशिया में चाइना के पास मुख्य क्षेत्रीय शक्ति भी है और अक्सर इसे संभावित महाशक्ति वाला देश भी कहा जाता है।

तक़रीबन 9.6 मिलियन वर्ग किलोमीटर से ढँका हुआ, चाइना जमीनी क्षेत्र के हिसाब से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है और कुल क्षेत्र के हिसाब से शायद यह दुनिया का तीसरा या चौथा सबसे बड़ा देश है, यह मापने की विधि पर निर्भर करता है।

चाइना का परिदृश्य विशाल और विविध है। हिमालय, काराकोरम, पामीर और तियन शान पर्वत श्रंखला चाइना को दक्षिण और मध्य एशिया से अलग बनाते है। चाइना की यांग्तज़े और पिली नदी, क्रमशः दुनिया की तीसरी और छठी सबसे लंबी नदी है, जो तिब्बतन प्लाटौ से शुरू होकर पूर्वी समुद्र-तट तक बहती है। चाइना का समुद्र तट प्रशांत महासागर के साथ 14,500 किलोमीटर लम्बा और बोहाई, पूर्वी चाइना और दक्षिण चाइना के समुद्रो से घिरा हुआ है।

चाइना दुनिया की सबसे प्राचीन सभ्यता के रूप में भी उभरकर सामने आया है। मिल्लेंनिया के लिये, चाइना का राजनीतिक तंत्र वंशानुगत राजतंत्र पर आधारित है, जो राजवंशो के नाम पर भी जाना जाता है।

221 BC से ही, जब किं साम्राज्य ने चीन साम्राज्य को बनाने के लिए बहुत से राज्यों का निर्माण किया था, तब इस राज्य का विस्तार कयी बार किया गया और बहुत से बदलाव भी किये गये। और 1912 में अंतिम साम्राज्य की जगह पर रिपब्लिक ऑफ़ चाइना (ROC) का निर्माण किया गया। इसने 1949 तक चाइना की मुख्यभूमि पर शासन किया था और अंततः चीनी सिविल वॉर में चाइना की कम्युनिस्ट पार्टी ने इसे पराजित किया था।

कम्युनिस्ट पार्टी ने बीजिंग में 1 अक्टूबर 1949 को जब ROC सरकार ताइवान में पुनर्स्थापित हो गयी थी तब पीपल रिपब्लिक ऑफ़ चाइना की स्थापना की थी। दोनों ROC ओत PRC शुरू से ही चाइना की वैध सरकार होने का दावा करते है। लेकिन फिर धीरे-धीरे चाइना ने वैश्विक स्तर पर अपनी पहचान बनायी।

1978 में आर्थिक सुधार के शुरू से ही, चाइना दुनिया के सबसे तेज़ विकसित देशो में शामिल हो गया। 2014 में चाइना जीडीपी दर के हिसाब से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश बना और पी.पी.पी (परचेसिंग पॉवर पैरिटी) दर के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा देश बना।

चाइना दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक और वस्तुओ का दूसरा सबसे बड़ा आयातक देश है। चाइना नुक्लेअर हथियारों के निर्माण में भी चाइना ने अपनी पहचान बनायी है और दुनिया की सबसे विशाल आर्मी भी चाइना के पास है और चाइना में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रक्षा बजेट पास किया जाता है। PRC यूनाइटेड नेशन का सदस्य है, जबकि ROC ने 1971 में यूनाइटेड नेशन सिक्यूरिटी कौंसिल का स्थायी सदस्य बनकर इसकी जगह ले ली थी।

इसके साथ ही चाइना दूसरी बहुत सी अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रिय संस्थाओ का सदस्य भी है, जिनमे WTO, APEC, BRICS, शंघाई कोऑपरेशन आर्गेनाईजेशन (SCO), BCIM और G-20 का समावेश है।

चाइना के इतिहास में कुछ महत्वपूर्ण दिन – Important Dates in China History

CA 1700-1046 BC – शांग साम्राज्य उत्तरी चाइना पर शासन करने लगा – यह पहला चीनी राज्य है जिसके सभी लिखित रिकॉर्ड बचे हुए है।

221-206 BC – पहले शासक किं शिहुंग्दी के शासनकाल में पहली बार चीनी गढ़ को एकजुट किया गया।

1644 – उत्तर में किये गये मांचू आक्रमण ने किंग साम्राज्य की स्थापना की।

1911-12 – सैन्य विद्रोह की वजह से सुन यात-सेन के नेतृत्व में रिपब्लिक ऑफ़ चाइना की घोषणा की गयी और अंतिम मांचू शासक का त्याग किया गया।

1931-45 – जापान पर हमला किया गया और चाइना के ज्यादातर भागो में क्रूर शासन की स्थापना की गयी।

1 अक्टूबर 1949 – कम्युनिस्ट लीडर माओ ज़ेडोंग ने राष्ट्रवादी कुओमिन टंग को सिविल वॉर में पराजित कर पीपल रिपब्लिक ऑफ़ चाइना का प्रचार किया।

1950 – चाइना ने पीपल लिबरेशन आर्मी (PLA) के सैनिको को तिब्बत भेजा।

1958-60 – माओ की “अच्छी सफलता” कृषि को बाधित किया।

1966-76 – माओ की “सांस्कृतिक क्रांति” से बड़े पैमाने पर सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक विकास किया।

1976 – माओ की मृत्यु हो गयी। 1977 से प्रैग्मैटिस्ट देंग ज़िओपिंग मुख्य लीडर के रूप में उभरे और देश की आर्थिक स्थिति में कयी सुधार किये।

1989 – बीजिंग के टिअनमेन स्क्वायर पर सौनिको ने प्रदर्शनकारियों पर आक्रमण कर सैकड़ो लोगो को मार गिराया।

दोस्तों , अगर आपको हमारी चाइना के बारेमें दी गयी जानकारी पसंद आयी हो, तो और पढिए चाइना के बारेमें और भी कुछ रोचक बातें – Interesting facts about China जिन बातों को पढ़कर आप हैरान रह जाओंगे.

Read More:

I hope these “china information in Hindi” will like you. If you like these
“china information in Hindi with History” then please like our facebook page & share on
Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.