मिस्र (इजिप्त) का इतिहास और महत्वपूर्ण जानकारी

Egypt History in Hindi

भारत की तरह ही मिस्र की सभ्यता भी बहुत पुरानी है और प्राचीन सभ्यता के अवशेष वहाँ की गौरव गाथा कहते हैं। यों तो मिस्र में १३८ पिरामिड हैं और काहिरा के उपनगर गीज़ा में तीन लेकिन सामान्य विश्वास के विपरीत सिर्फ गिजा का ‘ग्रेट पिरामिड’ ही प्राचीन विश्व के सात अजूबों की सूची में है। ऐसेही मिस्र की जानकारी – Egypt Information आगे पढिए –

मिस्र (इजिप्त) का इतिहास और महत्वपूर्ण जानकारी – Egypt History in Hindi

Egypt Information

इजिप्त देश के बारे में जानकारी – Information About Egypt

देश का नाम (Name of Country) इजिप्त/अरब रिपब्लिक ऑफ़ इजिप्त(Egypt)।
इजिप्त की राजधानी (Capital of Egypt) कैरो(Cairo)।
भौगोलिक महाद्वीपीय स्थान (Geographical Continental Placement of Egypt) उत्तर पूर्वी अफ्रीका और मध्य एशिया महाद्वीप
इजिप्त की भाषाएँ (Languages of Egypt) इजिप्शियन अरबी(आधिकारिक भाषा), सईदी अरबी, बेदावी अरबी, अँग्रेजी इत्यादि।
देश का कुल क्षेत्रफल (Total Area of Egypt) १०,१०, ४०८ किलोमीटर वर्ग।
क्षेत्रफल अनुसार इजिप्त का विश्व में स्थान (Areawise Egypt Rank in the World) ३० वा(30th)
देश की कुल जनसँख्या (Egypt Total Population) १०,१५,७६,५१७।
जनसँख्या अनुसार देश का विश्व में क्रमगत स्थान (Egypt Global Rank By Population) १५(15th)
देश का आर्थिक चलन (Currency of Egypt) इजिप्शियन पाउंड(Egyptian Pound)।
देश में कुल राज्यों की सँख्या (Total Number of States in Egypt) २७(Twenty Seven)
प्रमुख राष्ट्रीय पक्षी (National Bird of Egypt) स्टेपी ईगल।
राष्ट्रीय पेड़ (वृक्ष) (National Tree of Egypt) जिंजरब्रीड वृक्ष (Hyphaene Thebaica)
प्रमुख राष्ट्रीय फूल (पुष्प) (National Flower of Egypt) इजिप्शियन कमल पुष्प।
राष्ट्रीय फल (National Fruit of Egypt) आम।
इजिप्त देश का अन्य नाम (Other Name of Egypt) मिस्र/केमेट।

मिस्र की महत्वपूर्ण जानकारी – Egypt ki Jankari

अधिकारिक रूप से अरब रिपब्लिक ऑफ़ इजिप्त एक अंतरमहाद्वीपीय देश है जो अफ्रीका के उत्तर-पूर्वी कोने और एशिया के दक्षिण-पश्चिम कोने में फैला हुआ है। इजिप्त एक आभ्यंतरिक देश है, जो गाजा पट्टी और उत्तर-पूर्व में इजराइल, पूर्व में अकाबा की खाड़ी, पूर्व और दक्षिण में लाल सागर, दक्षिण में सूडान और पश्चिम में लीबिया की सीमाओ से घिरा हुआ है।

अकाबा की खाड़ी के आगे जॉर्डन और सिनाई पेनिनसुला के आगे सऊदी अरेबिया है, साथ ही जॉर्डन और सऊदी अरेबिया अपनी सीमाओं को इजिप्त के साथ नही बाटते। यह दुनिया का एकमात्र निकटवर्ती अफ्रासियन राष्ट्र है। इजिप्त का इतिहास किसी भी आधुनिक देश के इतिहास से काफी बड़ा है, साथ ही 10 मिलियन BC के समय में उभरे हुए चुनिंदा देशो में इजिप्त की गिनती की जाती है।

सभ्यता के उद्गम स्थल के नाम से प्रसिद्ध प्राचीन इजिप्त ने पहले ही लिखान, खेती, शहरीकरण, संगठित धर्म और मध्य सरकार के क्षेत्र में पहले से ही विकास कर लिया था। कुछ प्रतिष्ठित स्मारक जैसे गिज़ा का कब्रिस्तान और महान स्फिंक्स, साथ ही मेम्फिस के खंडहर, थेबिस, कर्णक और राजा की घाटी भी इस देश की मुख्य आर्कियोलॉजिकल साइट्स में से है, जिनमे पूरी दुनिया को रूचि है।

इजिप्त की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत उनकी राष्ट्रिय पहचान का एक अभिन्न आंतरिक भाग है। क्रिस्चियन धर्म का प्राचीनतम सेंटर, इजिप्त का सातवी शताब्दी में इस्लामीकरण किया गया था और यह देश बाद में मुख्य रूप से मुस्लिमो का ही देश बना रहा, जहाँ क्रिस्चियन धर्म के लोग अल्पसंख्यको में गीने जाते है।

तक़रीबन 92 लाख निवासियों से भी ज्यादा, इजिप्त उत्तरी अफ्रीका और अरब दुनिया का सबसे प्रसिद्ध देश है और अफ्रीका का तीसरा (नाइजीरिया और इथियोपिया के बाद) सबसे प्रसिद्ध देश और दुनिया में सभी देशी की तुलना में 15 वा सबसे प्रसिद्ध देश है।

इस देश के ज्यादातर लोग नील नदी के तट पर ही रहते है, जो 40,000 वर्ग किलोमीटर का एक क्षेत्र है, जहाँ केवल कृषि योग्य जमीन की ही खोज की गयी थी। इजिप्त के आधे से ज्यादा निवासी शहरी इलाको में रहते है। आधुनिक इजिप्त धार्मिक और शक्ति दोनों रूप से मजबूत है।

जहाँ उत्तरी अफ्रीका में संस्कृति, राजनीती और सैन्य शक्ति को ज्यादा महत्त्व दिया जाता है। साथ ही मुस्लिम देश इजिप्त की अर्थव्यवस्था सबसे विशाल और समृद्ध अर्थव्यवस्थाओं में से एक है और 21 वी शताब्दी में इजिप्त की अर्थव्यवस्था और भी ज्यादा बढ़ गयी थी। इजिप्त यूनाइटेड नेशन, अफ्रीकन संघ, अरब लीग, गुट-निरपेक्ष अभियान, और इस्लामिक कोऑपरेशन के सदस्य भी है।

इजिप्त के कुल राज्यों की सूची – States List of Egypt

प्रशासनिक तौर पे इजिप्त में हर राज्य का एक स्वतंत्र गवर्नर होता है जो राज्य के संबंधी सभी प्रशासनिक कार्य का प्रमुख नियंत्रक होता है, हर राज्य का गवर्नर देश के राष्ट्रपति के अधीन रहकर कार्य करता है। गवर्नर को राष्ट्रपति द्वारा दिए गए सभी सूचनाओं का संबंधित राज्य से जुड़े विषयो पर कार्य करना होता है तथा समय समय पर राज्य के स्थिति की जानकारी राष्ट्रपति को देना होता है।

इजिप्त में प्रशासन व्यवस्था का प्रबंधन करने हेतु कुल २७ राज्यों का निर्माण किया गया है, जिसकी सूची निम्नलिखित तौर पर दी गई है –

  1. असवान
  2. अस्यूत
  3. अलेक्जांड्रिया
  4. डेमिएत्ता
  5. गीज़ा
  6. बेहेइरा
  7. कैरो
  8. बेनी सुएफ
  9. डकाहलिया
  10. घारबिया
  11. कफ्र अल शेख
  12. मोनफिया
  13. लक्सेर
  14. इस्माइलिया
  15. न्यू वैली
  16. सुएझ
  17. फैय्यूम
  18. सोहाग
  19. दक्षिण सिनाई
  20. रेड सी
  21. मातृह
  22. मिनया
  23. उत्तर सिनाई
  24. कलयूबिया
  25. पोर्ट साइड
  26. केना
  27. शर्क़िया

इजिप्त देश की ऐतिहासिक और भौगोलिक पार्श्वभूमी – Geographical and Historical Background of Egypt

भौगोलिक दृष्टी से देखे तो इजिप्त का विश्व में स्थान अफ्रीका और मध्य एशिया ऐसे दोनों ही महाद्वीपों में आता है, विश्व के सबसे बड़े महाद्वीप एशिया का मध्य एशिया एक वो विभाग है जहाँ सबसे ज्यादा रेगिस्तान मौजूद है। विश्व की प्राचीन सभ्यताओं में से एक प्रमुख सभ्यता के तौर पर इजिप्त को दुनियाभर में पहचाना जाता है, जिसका सभ्यताकाल इसवी सदी पूर्व लगभग ३१५० साल पुराना है।

फराओ राजवंश को यहाँ का प्रमुख शासक माना जाता है जिनका साम्राज्य कालीन इतिहास अनेको शतकों का तक है, इनकी अधिक जानकारी आज भी प्राचीन इजिप्त के ऐतिहासिक दस्तावेजों से प्राप्त होती है। प्राचीन इजिप्शियन लोगो का प्रमुख देवता सूरज होता था जिसे वे ‘होरस’ के नामसे संबोधित करते थे, इसलिए तत्कालीन मान्यताएँ और उपासना लगभग सूरज को केन्द्रस्थान मानकर ही होती थी।

मृत व्यक्ति के शरीर की दफ़न विधि से जितना इजिप्त दुनिया में मशहूर हुआ है शायद और कोई देश ना हुआ हो। इनमे अधिकतर पिरामिड्स राजघरानो के लोगो के होते थे, जो आपको आजके सदी में भी देखने को मिल जायेंगे इनमे से ‘गीजा’ के पिरामिड विश्व के सात अजूबो में से एक है जो के कई सदियों से इतिहास के शोधकर्ता और पर्यटकों का ध्यान अपने और खिंच रहे है।

गर्मी के मौसम में यहाँ का सामान्य तापमान बहुत अधिक होता है, परंतु अन्य प्रदेशो के तुलना में गीजा के पिरामिड से नजदीकी क्षेत्र का तापमान बहुत कम रहता है, ये एक पहेली बना हुआ विषय है। शुरू से ही ‘नील’ नदी इजिप्त की प्रमुख नदी है जो के विश्व की सबसे लंबी नदी है। इजिप्त को नील नदी के देश के नामसे  भी जाना जाता है, जिसने इस देश के जीवनमान को गति देने का कार्य किया है।

तातनखामुन फराओ राजवंश का सबसे प्रसिद्ध राजा था, जिसके पिरामिड में ऐतिहासिक उत्खनन के बाद अमूल्य रत्न और सोने इत्यादि धातु पुरातत्व विभाग को मिले थे। कुल मिलाके अफ्रीका और मध्य एशिया को जोड़ने का प्रमुख कार्य इजिप्त करता है जिसमे यहाँ का प्रमुख तालाब सुएझ महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

भलेही सुएझ तालाब से अफ्रीका और एशिया महद्वीप अलग होते हो, पर कई सालो से इसका उपयोग व्यापारिक गतिविधियाँ, सफर, और अन्य सामान्य गतिविधियों हेतु किया जाता है।

इजिप्त देश के प्रमुख धर्म – Religions in Egypt

दुनिया की प्राचीन सभ्यताओं में से एक इजिप्त देश में अतिप्राचीन काल में अनेक ईश्वरवादी उपासना पद्धति हुआ करती थी जिसमे लगभग १४०० से भी ज्यादा देवी देवताओ की पूजा तत्कालीन इजिप्शियन करते थे। यहाँ देवताओ के साथ देवियों को भी सर्वोच्च शक्ति का स्थान दिया गया था, जिनमे बुध्दि का देवता, युध्द का देवता,मृत्यु देवता, प्रजनन की देवता आदि कार्य सूचक देवता होते थे।

इनके कार्य की तरह तत्कालीन भाषाओ अनुसार इनके नाम भी विशिष्ट होते थे जैसे के ईसिस, हाथोर, ओसिरिस, सेथ, होरस, रे, अफ्रोदीते, सेख्मेत, प्ताह, नेफेरतेम, आपोपीस (नागदेवता), अनूबिस इत्यादि। मृत्यु की देवता अनूबिस को स्मरण करते हुए ये लोग मृतक व्यक्ति के शरीर पर अंतिम संस्कार कर उसके ‘ममी’ को पिरामिड के अंदर रखते थे।

लगभग ४०० से ८०० इसवी सदी के बिच में इजिप्त में ईसाई धर्म का काफी ज्यादा प्रचार प्रसार हुआ था, वही इस्लाम धर्म के उदय के बाद यहाँ पर मुस्लिम मान्यताओं को माननेवाले लोगो की सँख्या बढ़ने लगी थी।

इसका कुल परिणाम ये हुआ के इजिप्त आज दुनिया में छटवे क्रम का अधिक मुस्लिम जनसँख्या का देश बन गया है, वही मध्य एशिया में इजिप्त का ईसाई जनसँख्या के मामले में अग्रक्रम लगता है जहाँ कैथोलिक, प्रोटेस्टंट इत्यादि ईसाई मत का पालन करनेवालो की सँख्या अधिक है।

इजिप्त की भाषाएँ – Languages of Egypt

लगभग मध्य एशिया के अधिकतर देशो की प्रमुख भाषा अरबी है या आम तरह की बोलीचाली में इसका इस्तेमाल किया जाता है। वैसे तो इसमें देश के अनुसार कोई खास अंतर नहीं होता परंतु इजिप्त में प्रमुखता से उपयोग में आनेवाली अरबी भाषा को ‘इजिप्शियन अरबी’ कहके पहचाना जाता है।

यह भाषा इस देश की आधिकारिक भाषा है जिसका अधिकतर बार प्रशासनिक कार्य, शिक्षा, और देशांतर्गत व्यापार आदि उद्देश्य हेतु इस्तेमाल होता है। देश के कुल आबादी के लगभग ७० प्रतिशत लोग आम बोलीचाली में इजिप्शियन अरबी का उपयोग करते है, इसके अलावा पूर्व इजिप्त में बेदावी अरबी भाषा को बोलने का अधिक चलन है।

अन्य भाषाओं में यहाँ पर सुदानी अरबी भाषा, सईदी अरबी, सीवी भाषा, डोमारी, नोबिन, ग्रीस देश की भाषाएँ इसके साथ इटालियन और अर्मेनिया की भाषाओ का भी प्रयोग किया जाता है। विश्व की प्रमुख भाषाओ में से अंग्रेजी, फ्रेंच, जर्मन का भी यहाँ पर प्रयोग होता है, वही अफ्रीका महाद्वीप की ट्रिगरीगन और अम्हारिक भाषा बोलनेवालों की संख्या भी यहाँ अच्छी खासी पायी जाती है।

इतिहास के शोध में ये साबित हुआ के प्राचीन काल में इजिप्त में इस्तेमाल होनेवाली भाषा कॉप्टिक इजिप्शियन भाषा थी जिसकी शिलालेख और पिरामिड पर बनी लिखावट मौजूद है।

इजिप्त का सामाजिक जीवन – Social Life of Egypt

अगर हमें इजिप्त के समाजजीवन पर चर्चा करनी हो तो हम यह कह सकते है के ये वो देश है जो ना केवल विश्व की प्रमुख प्राचीन सभ्यता है बल्कि इसके जीवनमान ने कई सारे बदलाव भी देखे है।जहाँ एक समय पर प्राचीन काल में अनेक ईश्वर पूजे जाते थे उसमे ईसवी सदी के दौर से आमूलाग्र बदल हुए है।

लगभग ईसवी सदी १५० पूर्व  तक इजिप्त देश में बहु ईश्वरवाद था पर स्थिति में बदलाव ईसवी सदी ४०० से हुए।जब ईसाई पद्धति और मान्यताओं का लोगो ने स्वीकार करना शुरू किया था। आगे इस्लाम ने देश के समाजजीवन में और ज्यादा बदलाव लाये जो के पूर्णतः एक ईश्वर को माननेवाले धर्म के रूप में प्रचलित हुआ।

आजके इजिप्त में शिक्षा के साथ तकनीक, साहित्य, चिकित्सा, शोध, कला, औद्योगीकरण इत्यादि क्षेत्र में सुधार होते दिखाई दे रहे है, पश्चिमी संस्कृति के साथ अफ्रीका और मध्य एशिया का मिश्रण यहाँ के सामान्य जीवनमान में दिखाई देता है। देश में अधिक सँख्या में मुस्लिम और ईसाई धर्मीय होने के कारण इनके सालभर में आनेवाले त्यौहार मनाये जाते है साथ ही परंपराओ का अनुसरण किया जाता है।

प्रार्थना स्थलों में यहाँ पर अधिकतर चर्च और मस्जिदे देखने को मिलती है, वही प्राचीन अवशेष के तौर पर इजिप्त के पुराने मंदिर आज भी मौजूद है जो इजिप्त के सच मायने में प्राचीन विरासत स्थल है। बात करे सामाजिक जीवन के व्यावहारिक अंग की तो प्राचीन काल के इजिप्शियन लोग गणित में बहुत ही होशियार माने जाते है।

ये लोग सूरज की स्थिति अनुसार दिन का समय बताने में सक्षम हुआ करते थे, इसके साथ मौसम के बदलाव, काल गणना, उम्र इत्यादि को पढ़ने की उनकी विशिष्ट गणितीय पध्दति थी।

इजिप्त की संस्कृति और परंपरा संक्षेप में – Cultre and Tradition of Egypt

इजिप्त की संस्कृति और विरासत को हम तीन प्रमुख विभागों के तौर पर देखेंगे जिसमे ईसवी सदी पूर्व का इजिप्त, ईसाई धर्म का प्रसार काल तथा इस्लाम के प्रचार प्रसार के बाद का इजिप्त।

  1. ईसवी सदी पूर्व का इजिप्त(BC 3150- BC 150):

लगभग ईसवी सदी पूर्व ३१५० से लेकर ईसवी सदी पूर्व १५० तक का समय अंतराल इजिप्त की प्राचीन सभ्यता का काल माना जाता है। जिसमे तत्कालीन लोग ‘कॉप्टिक इजिप्शियन’ (Coptic Egyptian) भाषा का प्रयोग करते थे, जो के आजके युग के भाषाओ के मुकाबले उतनी सरल भाषा शायद नहीं थी और आज इसे समझना उतना आसान भी नहीं होता है।

इतिहास के दाखलो से ये स्पष्ट हुआ है के दुनिया की प्रथम गर्भ निरोधन की प्रक्रिया प्राचीन इजिप्त में विकसित हुई थी जिसके लिए मिटटी, मगरमच्छ का गोबर शहद इस्तेमाल किया जाता था। इन लोगो का मानना था के इस लेपन से प्रजजन हेतु आवश्यक जीव मर जाते है, जिसका प्रयोग ये स्त्री के विशेष अंगो पर किया करते थे। शारीरिक दृष्टी से अजीब किस्म के लोगो को ही सेवक बनाने का प्रचलन उस समय इजिप्त में अधिक था, जिसमे बौने लोगो को अधिक खुशकिस्मत माना जाता था।

जीवन के प्रमुख संस्कारो में से अंतिम संस्कार की इनकी पद्धति अदभुत हुआ करती थी जिसमे मृत व्यक्ति के शरीर को विशिष्ट लेपन लगाकर उसे कपड़ो से लिपटा जाता था साथमे मृत्यु के देवता अबुनिस का स्मरण करते हुए कब्र खोदकर उसपर विशाल चौकोर शिलाए ढक दी जाती थी जिसका आकार काफी भव्य और त्रिभुज/तीन कोनो से युक्त होता था।

पिरामिड जमींन से लेकर एक विशिष्ट ऊँचाई तक तैयार किया जाता था, जिसमे मृत व्यक्ति के शरीर को ये लोग ‘ममी’ संबोधित करते थे।

2. ईसवी सदी का इस्लामपूर्व इजिप्त:

लगभग ईसवी सदी ८०० तक इजिप्त में ईसाई धर्म काफी फ़ैल गया था, आजके इजिप्त में आपको प्रोटेस्टंट, कैथोलिक, ग्रीक ऑर्थोडॉक्स और मैरोनाइट संस्कृति और परंपरा अनुसार जीवन व्यापन करनेवाले लोग अधिक दिखाई देंगे।

3. इस्लामिक इजिप्त:

देश में अत्यधिक जनसँख्या इस्लाम को माननेवाले लोगो की होने के कारण यहाँ पर प्रार्थना स्थलों में मस्जिद अधिक है वही सालभर में आनेवाले ईद इत्यादि धार्मिक त्यौहार यहाँ मनाये जाते है।

इजिप्त देश का प्रमुख भोजन – Staple Food of Egypt

निचे हमने आपको इस देश में आम तौर पसंदीदा तौर पर खाये वाले व्यंजनों की सूचि दी हुयी है जिसमे शामिल है –

  • शवरमा
  • मुलुखियाह
  • फुल मेडमेस
  • कोशारी
  • तामिया
  • कनाफ़ेह
  • कबाब एंड कोफ्ता
  • बकलावा
  • उम्म अली
  • महाशि
  • बाबा गणोश
  • बस्बोसा

इजिप्त के प्रमुख पर्यटन स्थल – Famous Tourist Places in Egypt

  • अबू सिम्बेल मंदिर
  • गीजा के पिरॅमिड
  • पिरॅमिड ऑफ़ द्जोसेर्ज (इजिप्त का सबसे पहला पिरॅमिड)
  • लक्सोर मंदिर
  • ग्रेट स्फिंक्स ऑफ़ गीजा
  • मदिनेत हाबू
  • नाब्क नेचर रिज़र्व
  • जंगल पार्क रिसोर्ट
  • कॉप्टिक मुजियम
  • नामा बे
  • कोलोरेड कैन्यन
  • टॉम्ब्स ऑफ़ द नोबल्स

इजिप्त के प्रमुख महोत्सव – Festivals of Egypt

यहाँ आप इजिप्त के प्रमुख धार्मिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रिय महोत्सवो की जानकारी को जानेंगे, जिसमे शामिल है –

  • ईद अल आधा
  • स्फिंक्स फेस्टिवल
  • रमदान (रमजान ईद)
  • सन फेस्टिवल (सूरज महोत्सव)
  • वफ़ा अल नील
  • मावलिद अल नबी
  • इस्लामिक नव वर्ष
  • कॉप्टिक ख्रिसमस
  • शाम अल नसीम
  • ईद अल घेटा

दोस्तों, अगर आपको हमारी इजिप्त के बारेमें दी गयी जानकारी पसंद आयी हो, तो और पढिए इजिप्त के बारेमें और भी कुछ रोचक बातें – Interesting Facts about Egypt जिन बातों को पढ़कर आप हैरान रह जाओंगे।

इजिप्त के बारेमें में अधिकतर बार पूछे वाले सवाल की जानकारी – Quiz on Egypt

  • इजिप्त देश का राष्ट्रीय ध्वज क्या है? (What is the National Flag of Egypt?)                          जवाब: प्रमुखता से इजिप्त का राष्ट्रीय ध्वज तीन रंगो से बना है, जिसमे सबसे निचे काले रंग का बिचमे सफ़ेद रंग का तथा सबसे ऊपर लाल रंग का ऐसे तीन आड़े दिशा में पटटीया मौजूद है। इसके बीचोबीच गरुड़ पक्षी का चिन्ह मौजूद है जिसे ईगल ऑफ़ सलाउदीन या प्राचीन इजिप्त के होरस से संबंधित माना जाता है, इस तरह आयताकार रूप में इजिप्त देश का राष्ट्रीय ध्वज होता है।
  • प्राचीन काल में इजिप्त देश में सर्वप्रथम बने पिरॅमिड का नाम क्या है? (what is the name of the first pyramid ever built in ancient Egypt?)                                                                    जवाब: स्टेप्स पिरॅमिड।
  • कुल कितने पिरॅमिडस इजिप्त में मौजूद है? (How many pyramids are there in Egypt?)            जवाब: लगभग ११८।
  • इजिप्त देश में किस शासन काल में पिरामिड निर्मिति का कार्य किया गया था? (Who built the pyramids in Egypt?)                                                                                                                जवाब: खुफु/फराओ साम्राज्य के शासन अंतर्गत पिरॅमिड निर्मिति का कार्य किया गया था, जिसमे राजा द्जोसेर्ज ने अपने स्थापत्य शैली के विशेषज्ञ इम्होटेप द्वारा विश्व का पहला पिरॅमिड बनवाया था।
  • विश्व में इजिप्त देश कहाँ पर स्थित है?(Where is Egypt located in the world?)                      जवाब: एशिया महाद्वीप के मध्य एशिया विभाग के अंतर्गत तथा अफ्रीका महाद्वीप में इजिप्त देश स्थित है।
  • इजिप्त देश की राजधानी क्या है?(What is the capital of Egypt?)                                          जवाब: कैरो (Cairo)
  • इजिप्त का आर्थिक चलन क्या है? (Currency of Egypt?)                                                        जवाब: इजिप्शियन पाउंड।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *