Skip to content

मेरा विद्यालय पर निबंध – Essay on My School in Hindi

मेरा विद्यालय पर निबंध नंबर 3 (700 शब्द) – Mera Vidyalaya Essay in Hindi

मुझे अपने स्कूल से बेहद लगाव है और यहां मुझे बेहद अच्छा लगता है, क्योंकि स्कूल में पढ़ाई के साथ-साथ मुझे खेल-कूद, सांस्कृतिक गतिविधियों में भी हिस्सा लेने का मौका मिलता है, जिससे मुझे बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

आपको बता दें मेरा स्कूल मेरे घर से करीब 1 किलोमीटर की दूरी पर एक शांत जगह पर स्थित है, जहां आस-पास कई सारे पेड़-पौधे लगे हुए हैं और शहर के प्रदूषण और शोर-शरावा नहीं सुनाई देता है, जिससे मेरा स्कूल बेहद स्वच्छ और शांतिपूर्ण दिखाई देता है।

मै रोज सुबह स्कूल बस से अपने स्कूल तक जाता हूं, वहीं मेरी इस यात्रा का भी स्कूल बेहद ख्याल रखता है, मेरे स्कूल से घर पहुंचने और घर से स्कूल पहुंचने का पूरा रिकॉर्ड मेरे स्कूल टीचर के पास होता है।

यानि की मेरी सुरक्षा का पूरा ख्याल मेरे स्कूल वाले रखते हैं, जो कि मुझे और मेरे अभिभावक को काफी अच्छा लगता है।

मेरा स्कूल काफी बड़ा है जिसमें करीब 2800 छात्र पढ़ते हैं, खास बात यह है कि हर छात्र के साथ समान तरह का व्यवहार किया जाता है और उनके बेहतर भविष्य बनाने पर पूरी तरह फोकस किया जाता है।

मेरे स्कूल में छात्रों की सुख – सुविधाओं पर भी खासा ध्यान दिया जाता है, ताकि किसी भी प्रकार का कष्ट विद्यार्थियों को न हो और वह पूरे लगन के साथ अपनी पढ़ाई पूरी कर सकें।

आपको बता दें कि मेरे स्कूल की स्थापना साल 1991 में हुई थी, और तब से लेकर अब तक इस स्कूल में काफी विकास हुआ हीं शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर मेरा स्कूल शहर में पहले पायदान पर है।

इस शहर में रहने वाले ज्यादाकर अभिभावक मेरे स्कूल में अपने बच्चों के एडमिशन करवाना चाहते हैं, क्योंकि इस स्कूल का अभी तक का रिकॉर्ड काफी अच्छा रहा है, उम्मीद करता हूं कि आगे भी मेरे स्कूल पहले नंबर पर ही बना रहे।

वहीं स्कूल की बनावट की बात करें तो मेरे स्कूल की बहुमंजिला इमारत देखने में काफी सुंदर लगती है और हर किसी को अपनी तरफ आर्कषित करती है।

इस स्कूल में करीब 50 कमरे हैं, जिसमें हर एक कमरे में लाइट की अच्छी व्यवस्था की गई है, इसके साथ ही खिड़कियां भी हैं, जिससे बच्चे पढ़ाई के दौरान प्राकृतिक हवा का भी आनंद ले सकें वहीं खिड़कियों से पर्याप्त रोशनी भी आती है, वहीं हर क्लासरूम में व्यवस्थित तरीके से बैंच की व्यवस्था की गई है।

इसके अलावा हर क्लासरूम में एक ब्लैडबोर्ड और एक व्हाइट बोर्ड भी है, जिसके माध्यम से टीचर बच्चों को किसी भी टॉपिक के बारे में जानकारी देते हैं।

इसके अलावा मेरे स्कूल में एक बड़ा खेल का मैदान है, जिसमें बास्केट बॉल कोर्ट, क्रिकेट नेट, स्केटिंग और टेबिल टेनिस की भी सुविधा उपलब्ध है।

मेरे स्कूल में तकनीकी कौशल को विकसित करने के लिए कम्यटूर लैब भी है, जिसमें बच्चों को कम्यटूर के बेसिक्स सिखाए जाते हैं और उन्हें इससे संबंधित शिक्षा दी जाती है, ताकि वह अपने भविष्य में इसका बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकें।

मेरे स्कूल में लैब भी हैं, जिसमें कई हजार किताबें रखी हुईं हैं, यह काफी बड़ा हैं, जिसमें एक समय में कई बच्चे एक साथ बैठकर पढ़ सकते हैं। लैब टीचर हमें नई-नई किताबों के बारे में बताती हैं और इन्हें घर लाकर पढ़ने की भी सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है।

कई बार मै तो अपने कोर्स से संबंधित किताबें भी लैब से लेकर घर ले आता हूं, जिससे मुझे किसी विशेष टॉपिक पर जानकारी हासिल करने में मद्द मिलती है।

मेरे स्कूल में एक बड़ा गार्डन भी है, जिसमें कई तरह के पेड़-पौधे लगे हुए हैं, जिन्हें देखकर बेहद अच्छा लगता है और स्कूल को भी प्राकृतिक सुंदरता प्रदान करता है, इससे विद्यार्थियों के अंदर अपने पर्यावरण को सुरक्षित रखने की भी भावना पैदा होता है।

मेरे स्कूल में सभी मजहब और धर्मों के लोग एक साथ पढ़ते हैं, जिससे समानता का भाव पैदा होता है और मिलजुल कर रहने की सीख मिलती है।

मेरा स्कूल सरकार से मान्यता प्राप्त एक निजी स्कूल है, जिसमें कक्षा 1 से लेकर कक्षा 12 तक बच्चे पढ़ सकते हैं। इसके अलावा मेरा स्कूल प्रशासन भी साफ-सफाई को लेकर काफी गंभीर है। आपको बता दें कि मेरे स्कूल ने मोदी सरकार के स्वच्छ भारत मिशन में भी अपना योगदान दिया है।

टीचर्स काफी योग्य, बुद्धिमान और अनुभवी हैं, जो बच्चों को बेहतर और आसान तरीके से सभी विषयों की जानकारी देते हैं, ताकि उन्हें हर विषय पर ज्ञान प्राप्त हो सके।

मेरे स्कूल में एक ऑडिटोरियम भी है, जिसमें समय-समय पर कई तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आय़ोजन होता है। इसके लिए हमारे देश के राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस और गांधी जयंती के दौरान बच्चे भाषण देते हैं, वाद-विवाद प्रतियोगिता, निबंध लेखन प्रतियोगिता समेत तमाम प्रतियोगिताओं का भी आयोजन होता है।

मेरे स्कूल में सभी सुख-सुविधाएं हैं और पढ़ाई का तरीका भी बेहद प्रगतिशील और रचनात्मक है, इसलिए मेरा स्कूल सबसे बेहतरीन स्कूल है।

Pages: 1 2 3 4

1 thought on “मेरा विद्यालय पर निबंध – Essay on My School in Hindi”

  1. आपने मेरा स्कूल निबंध बहोत अच्छे से लिखा है, मुझे बहोत पसंद आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.