Skip to content

अध्यापकों की विदाई पर भाषण – Farewell Speech for Teacher

Farewell Speech for Teacher in Hindi

फेयरवेल यानि कि विदाई समारोह तब होता है, जब कोई व्यक्ति अपनी अपना स्कूल, अपना कॉलेज, संस्था आदि छोड़कर किसी और संस्था में जाता है या फिर अपने पद से रिटायमेंट लेता है। हर व्यक्ति अपने जिंदगी में किसी न किसी रुप में विदाई लेते हैं या फिर दूसरे को देते हैं। फेयरवेल सीधे शब्दों में अलविदा या विदाई लेना होता है।

वहीं स्कूल में अध्यापक के छोड़कर जाने पर भी विदाई समारोह का आयोजन किया जाता है, जिसमें अध्यापक के लिए उसके सहयोगी शिक्षक, स्कूल के प्रधानाचार्य एवं विद्यार्थियों द्धारा भाषण के माध्यम से अपनी भावनाओं को व्यक्त किया जाता है।

इसके साथ ही उनकी अहमियत भी बताई जाती है, वहीं ऐसे मौके पर दिए जाने वाले भाषण को हम आपको आज अपने इस लेख में उपलब्ध करवा रहे हैं, जिसका आप अपनी जरूरत के मुताबिक इस्तेमाल कर सकते हैं –

अध्यापकों की विदाई पर भाषण – Farewell Speech for Teacher

Farewell Speech for Teacher

  • विदाई भाषण नंबर 1-

अध्यापक की विदाई पर प्रधानाचार्य के द्धारा दिया जाने वाला विदाई भाषण – Farewell Speech for Teacher Colleague

यहां पर मौजूद सभी शिक्षकगण, मेरे प्यारे छात्र-छात्राओं और सभी मेहमानों को मेरा नमस्कार। जैसे कि हम सभी जानते हैं कि हम सभी लोग आज यहां करन सिंह जी………..(शिक्षक का नाम काल्पनिक) को अलविदा कहने के लिए एकत्र हुए हैं। आज स्कूल के इस प्रतिभावान शिक्षक का हमारे स्कूल……..( स्कूल का नाम) में आखिरी दिन है।

करन जी ने अपने पढ़ाने के तरीके और विनम्र व्यवहार से सभी का दिल जीता है एवं उनका जिम्मेदाराना व्यवहार हमेशा मुझे भी काफी प्रभावित करता रहा है।

आज इस विदाई समारोह में स्कूल के प्रधानाचार्य होने के नाते मैं करन जी के प्रेरणादायक व्यक्तित्व के बारे में आप सभी को बताना चाहता हूं। इसके साथ ही करन जी के लिए अपनी भावनाओं को व्यक्त करना चाहता हूं, लेकिन सबसे पहले मैं करन जी को उनके द्धारा इस स्कूल में दिए गएमहत्वपूर्ण योगदान के लिए धन्यवाद करना चाहता हूं।

आज करन जी के विदाई समारोह के मौके पर मुझे बेहद दुख हो रहा है किआज हमारे स्कूल से एक होनहार एवं काबिल अध्यापक चला जाएगा, लेकिन दूसरी तरफ इस बात की खुशी भी है कि करन जी की नियक्ति इस शहर के सबसे बड़े स्कूल में की गई है। हमारे लिए बेहद गर्व की बात है कि हमें आपके जैसा अध्यापक मिला, जिसने स्कूल और छात्रों के उज्जवल भविष्य के लिए कड़ी मेहनत की। हमारी यही आशा है कि आप हमेशा ऐसे ही मेहनत करते रहें और सफलता की असीम ऊंचाईयों को छुएं।

करन जी आपने जिस तरह इस स्कूल के महत्वपूर्ण फैसलों में अपने विवेकपूर्ण सुझाव दिए हैं, साथ ही विद्यार्थियों को एक शिक्षक की तरह नहीं, बल्कि एक अभिभावक की तरह अपना मार्गदर्शन दिया है। वाकई काबिल-ए-तारीफ है । आपकी अपने काम के प्रति ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा हमें हमेशा ही प्रेरित करती रही है।

आपके इस स्कूल के लिए दिए गए योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता है। आपके अंदर वे सारे गुण हैं जो एक अच्छे और आदर्श शिक्षक के अंदर होने चाहिए। आपने हमेशा ही अपने विनम्र व्यवहार एवं तर्कपूर्ण निर्णयों से यह साबित किया है कि आप वास्तव में एक ऐसे शिक्षक हैं, जिसकी आज की शैक्षणिक संस्थानों को समाज में वास्तव में जरूरत है, क्योंकि एक शिक्षक न सिर्फ एक विद्यार्थी का भविष्य तय करता है, बल्कि राष्ट्र के तरक्की और विकास में भी अपना सहयोग देता है।

करऩ जी आप मेरे सबसे प्रिय शिक्षकों में से एक है। आपने जिस तरह कठिन परिस्थितयों में अपनी विवेकशीलता का इस्तेमाल कर महत्वपूर्ण फैसले लेने में मेरी मद्द की है। आप वास्तव में तारीफ के हकदार है एवं किसी भी स्क़ूल में आप एक वाइस-प्रिंसिपल एवं प्रिंसिपल के पद पर सुशोभित होने के योग्य हैं। मुझे आप पर और आपके काम पर पूरा विश्वास है।

आपकी अपने शैक्षणिक कार्य के प्रति ईमानदारी एवं समर्पण वास्तव में हमें प्रोत्साहित करती है। आप हम सभी के प्रेरणास्त्रोत हैं। जिस तरह आपने हमारे स्कूल के सभी विद्यार्थियों को उनके जीवन में आगे बढ़ने के लिए मेहनत की हैं एवं अपने अनुभव और तर्कशीलता से विद्यार्थियों को आसान टिप्स और ट्रिक्स बताई हैं, वो काफी प्रभावित करने वाला है।

आपके पढ़ाने के तरीका न सिर्फ हमारे स्कूल के छात्रों को भाता है, बल्कि मैं भी आपके शैक्षणिक कौशल का काफी मुरीद हूं। हमारे स्कूल के लिए बेहद गर्व और सम्मान की बात है कि आप अब शहर के सबसे बड़े स्कूल में अपनी सेवाएं देंगे। हकीकत में आप इस सफलता के काबिल है।

करन जी आपने जिस तरह अपने उचित मार्गदर्शन से हमारे स्कूल की नई ऊंचाईयों को हासिल करने में मद्द की है, वो अविस्मरणीय हैं।

आज आपके सहयोग से हमारा स्कूल ने अपनी एक नई पहचान विकसित की है। आपकी ईमानदारी, कर्तव्यनिष्ठा, प्रतिबद्धता और अनुशासनपूर्ण व्यवहार ही आपको अन्य लोगों से अलग बनाता है।

आपका इस तरह हमारे स्कूल से चले जाने पर यकीन नहीं हो रहा है, लेकिन शायद भाग्य को नहीं बदला जा सकता। आपके साथ इस स्कूल में इतना समय कब बीत गया पता ही नहीं चला। इस स्कूल के लिए आपके महत्वपूर्ण योगदान को कभी भी नहीं भुलाया जा सकता है। हमें पूरी आशा है कि आप जिस भी संस्थान से जुड़ेंगे, उस संस्थान की तरक्की होगी। यह दुआ है कि आप अपने जीवन में खूब सफलता हासिल करें एवं इसी तरह छात्रों का मार्गदर्शन करें।

इस स्कूल में आपके महत्वपूर्ण योगदान के लिए मैं तहे दिल से आपका शुक्रगुजार हूं।

बहुत-बहुत धन्यवाद।

  • विदाई भाषण नंबर 2-

शिक्षक की विदाई पर छात्र द्धारा दिया जाने वाला भाषण – Farewell Speech Given by Students to Teacher

आदरणीय प्रधानाचार्य महोदया, सम्मानीय शिक्षकगण एवं मेरे छोटे-बड़े सभी साथियों सभी को मेरा नमस्कार।

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि आज हम सभी अपने प्रिय अध्यापक आकाश सर को विदाई देने के लिए इकट्ठे हुए हैं। मै…आशीष अग्रवाल (अपना नाम)। इस स्कूल के कक्षा नौवीं का विद्यार्थी हूं। मैं इस विदाई समारोह के मौके पर अपने प्रिय अध्यापक के इस स्कूल से विदाई लेने पर उनके प्रति अपनी भावनाओं को व्यक्त करना चाहता हूं।

आकाश सर, आपके इस स्कूल से विदाई लेने की बात सचमुच दुखी कर देने वाली है, लेकिन सच तो यही है कि आज के बाद हम सभी छात्र आपसे फिर कभी क्लासेस नहीं ले सकेंगे, लेकिन इस घड़ी में हम सभी को दुखी नहीं होना चाहिए, बल्कि खुशी जाहिर करनी चाहिए कि हमें आप जैसे विद्धंत अध्यापक से पढ़ने का मौका मिला और उनके मार्गदर्शन से ही आज हम आज इस लायक बन पाए हैं।

आकाश सर, आप हमारे एक अध्यापक ही नहीं बल्कि अभिभावक भी थे। हम सभी छात्रों का आपसे एक शिक्षक का रिश्ता नहीं बल्कि एक परिवारिक रिश्ता है। जिस तरह आपने हम सभी छात्रों की न सिर्फ भौतिक विज्ञान के कठिन से कठिन सवालों को आसानी से हल करने में मद्द की है, बल्कि हमारी निजी समस्याओं को भी एक अभिभावक की तरह सुलझाया है। आपके द्धारा हमारे लिए किए गए योगदान को हम कभी नहीं भुला सकते हैं।

आपके मार्गदर्शन से ही  हमें अपने जीवन के लक्ष्यों को हासिल करने एवं अपने जीवन में सफलता पाने के लिए प्रोत्साहन मिला है। इसके साथ ही आपने जिस तरह प्रेरणात्मक उदाहरण देकर हमारे अंदर से नकारात्मक को दूर करने में हमारी मद्द की है एवं हमें अपनी जिंदगी में अनुशासित रहने एवं नियमों का पालन करना सिखाया है, इससे हमें अपने जीवन में तरक्की के पथ पर आगे बढ़ने में मदद् मिली है।

यही नहीं आप एक आदर्श और बेहतरीन शिक्षक है। आपकी ईमानदारी, विनम्र व्यवहार, कर्तव्यनिष्ठा हम सभी विद्यार्थियों को काफी प्रभावित करती है एवं हमें भी अपने लक्ष्य के प्रति प्रतिबद्ध रहना सिखाती है। आपने अपने महान और तर्कपूर्ण विचारों से हम सभी विद्यार्थियों की न सिर्फ सोच विकसित की है, बल्कि समय-समय पर हमारा हौसला आफजाई भी किया है।

आपके द्धारा इस स्कूल के लिए दिए गए महत्वपूर्ण योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता है। आपके शैक्षणिक समय के दौरान इस स्कूल ने काफी उपलब्धियां हासिल की हैं, एवं आज आपके पढ़ाए गए छात्र एवं हमारे सीनियर बड़े-बड़े संस्थानों में उच्च पदों पर बैठे हुए हैं। यही नहीं आपने स्कूल के हर छोटे-बड़े फंक्शन में अपनी भागीदारी से इसे काफी खास बनाया है, आपका योगदान अविस्मरणीय है।

आपके साथ बिताया गया हर पल हमारे लिए बेहद खास और अनमोल है। आपका इस तरह हम सभी छात्रों का यूं ही अकेले छोड़कर जाने का जहां एक तरफ हमें दुख है। वहीं दूसरी तरफ हमें गर्व भी महसूस हो रहा है कि आप अब इस शहर के सबसे बड़े संस्थान में बतौर प्रोफेसर अपनी सेवाएं देंगे।

हम बेहद सौभाग्यशाली हैं कि हमें आप जैसे एक ईमानदार और परिश्रमी शिक्षक से पढ़ने का मौका मिला। आपने जिस तरह हर मोड़ पर हमारी मद्द की है एवं हमें सही-गलत का एहसास करवाकर अपने कर्तव्यों का बोध करवाया है और हमारे सुनहरे भविष्य के लिए सफलता का पथ प्रशस्त किया है, इसके लिए हम सभी छात्र आपके सदैव आभारी रहेंगे।

आज आपके विदाई समारोह के मौके पर हमारी आपसे यही प्रार्थना है कि, आप जहां भी रहिए लेकिन हम सभी के संपर्क में रहिए एवं हमारा आगे भी इसी तरह मार्गदर्शन करते रहिए ताकि हम अपने जीवन में तरक्की कर सकें, क्योंकि आप जैसे शिक्षकों की बदौलत ही हम जैसे छात्रों के जीवन से अज्ञानता का अंधेरा दूर हो सकता है एवं ज्ञान की लौ प्रज्जवलित हो सकती है।

इस भाषण के अंत में मैं अपने प्रिय अध्यापक के लिए कुछ पंक्तियों के माध्यम से उनका आभार व्यक्त करना चाहता हूं –

“आपसे ही शान, आपसे पहचान देखी है, निष्ठा और समर्पण की, दास्तान देखी है।।
आपके कठोर प्रयासों से, हम सभी ने इस स्कूल की, जमीं से आसां तक की ऊंची उड़ान देखी है।।”

  • विदाई भाषण नंबर 3-

अध्यापक की विदाई पर सहयोगी अध्यापक के द्धारा भाषण – Goodbye Speech to Colleagues

आदरणीय प्रधानाचार्या, मेरी सभी सहयोगियों एवं मेरे प्यारे बच्चों सभी को मेरा नमस्कार।

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि आज हम सभी इस मौके पर सभी विद्यार्थियों के पसंदीदा अध्यापक और मेरे प्यारे सहयोगी …….अतुल शुक्ला (शिक्षक का नाम ) के विदाई समारोह पर इकट्ठे हुए हैं। आज मेरे सहयोगी का इस स्कूल में आखिरी दिन है, जिसके लिए मै बेहद दुखी हूं, हालांकि दूसरी तरफ उनके एक बड़ी संस्था में उप-प्राचार्य के पद पर नियुक्त होने की मुझे खुशी भी है। वे अपनी इस सफलता के योग्य भी है।

अतुल जी के साथ मुझे इस संस्थान में काम करते हुए करीब 5 साल का वक्त हो गया है, लेकिन यह वक्त कब बीत गया पता ही नहीं चला। अतुल जी के अंदर न सिर्फ एक आदर्श शिक्षक के सभी गुण हैं, बल्कि वे व्यक्तिगत रुप से भी बेहद अच्छे हैं। उन्होंने इस स्कूल के अहम फैसलों पर अपने बेहतरीन सुझाव दिए हैं एवं इस स्कूल को सफलता के नए पायदान को हासिल करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

उनका विनम्र, निष्ठापूर्ण एवं अनुशासित आचरण हमेशा ही मुझे प्रभावित करता रहा है। आप जिस तरह छात्रों के उज्जवल भविष्य के लिए सच्ची निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ मेहनत करते हैं, एवं सदैव उनकी मद्द करने के लिए तत्पर रहते हैं। इससे मुझे भी काफी प्रेरणा मिलती है। इस स्कूल की तरक्की के लिए जिस तरह आपने सच्चे मन से प्रयास किए हैं, वो वाकई प्रशंसनीय है।

स्कूल में इतनी व्यस्तता के बाबजूद भी हर रोज मेरे हालचाल लेना एवं समय निकालकर महत्वपूर्ण मुद्दों पर बात करना मुझे बेहद याद आएगा। अतुल आप मेरे लिए एक सहयोगी ही नहीं बल्कि एक भाई की तरह हैं। आपने मुझे मेरे प्रोफेशनल करियर से जुड़े फैसले लेने में ही मद्द नहीं की है, बल्कि निजी जिंदगी से जुड़े कुछ ऐसे सुझाव दिए हैं, जिनका मै हमेशा अनुसरण करता रहूंगा।

आपके अच्छे आचरण और  व्यवहार एवं पढ़ाने के शानदार तरीके की वजह से ही आज आप इस स्कूल के सभी विद्यार्थियों के प्रिय हैं। आपकी इस स्कूल से विदाई पर आज हर बच्चे की आंख नम है। अतुल आपने अपने अद्भुत शैक्षणिक कौशल एवं कुशल व्यवहार से हम सभी के दिल में अपनी एक अलग जगह बनाई है।

इसके साथ ही अपने मार्गदर्शन से न सिर्फ कई विद्यार्थियों के भविष्य को संवारा है, बल्कि अन्य शिक्षकों को भी अपने काम के प्रति ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ रहने के लिए प्रेरित किया है। आप हम सभी के लिए प्रेरणास्त्रोत हैं। आपके द्धारा इस स्कूल में दिए गए महत्वपूर्ण योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता है।

अतुल, इस संस्थान में आपके साथ काम करने के अनुभव को शब्दों में नहीं पिरोया जा सकता है। आपसे मेरा एक अलग रिश्ता बन चुका है।आपसे जुड़ी हर बात  सदैव याद आती रहेगी। आपके जैसे सहयोगी की कमी न सिर्फ मुझे खलेगी, बल्कि सभी विद्यार्थियों और इस संस्था के लोग भी सदैव आपको याद करेंगे एवं आपके अद्भुत शैक्षणिक तरीके एवं विनम्र व्यवहार की मिसाल देंगे।

अतुल आपके साथ बिताया गया हर पल बेहद शानदार था, मुझे बेहद गर्व महसूस हो रहा है कि मुझे आपके जैसे सहयोगी के साथ काम करने का मौका मिला है। मैं इस भाषण के अंत में सिर्फ आपसे यही विनती करना चाहता हूं कि आप जहां पर भी जाएं हम सभी से संपर्क बनाएं रखें एवं ऐसे ही सफलता हासिल करते रहें एवं आने वाली पीढ़ी एवं समाज को शिक्षित करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते रहें।

धन्यवाद।।

Read More:

Hope you find this post about “Farewell Speech for Teacher” useful. if you like this Article please share on Facebook & Whatsapp.

Leave a Reply

Your email address will not be published.