कॉमेडी के बेताज बादशाह कादर खान…

Kader Khan

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता कादर खान – Kader Khan जिन्होंने न सिर्फ एक अच्छे एक्टर के रूप में दर्शकों का मनोरंजन किया बल्कि उनका फिल्म में होने का मतलब था कि फिल्म में कॉमेडी के सीन जरूर होंगे क्योंकि वे कॉमेडी के बेताज बादशाह थे। उन्होंने फिल्म में हर किरदार की भूमिका शानदार तरीके से निभाई है।

कादर खान एक अच्छे एक्टर और कॉमेडियन तो थे ही इसके साथ ही वे एक अच्छे स्क्रि्प्ट राइटर, डयलॉग राइटर और डायरेक्टर भी थे। आपको बता दें कि उन्होंने करीब 300 से ज्यादा फिल्मों में काम किया और 250 से ज्यादा मूवी में डायलॉग लिखे। कादर खान वर्सेटाइल एक्टर भी थे। आइए अब जानते हैं मशहूर अभिनेता के जीवन के बारे में और उनके संघर्षों के बारे में –

Kader Khan Biography

अभिनेता और कॉमेडियन कादर खान – Kader Khan Biography

नाम (Name)कादर खान
जन्म दिन (Birthday)11 दिसम्बर, 1937
जन्म स्थान (Birthplace)काबुल, अफगानिस्तान
माता (Mother)इकबाल बेगम
पिता (Father)अब्दुल रहमान
बेटे (Son) शाहनवाज और सरफराज
शिक्षा (Education)इस्माइल युसूफ कॉलेज से इंजीनीयिरिंग की पढ़ाई की
मृत्यु (Dead)31 दिसम्बर, 2018

कादर खान का जन्म और परिवार- Kader Khan Family

कादर खान का जन्म 11 दिसम्बर, 1937 को अफगानिस्तान के काबुल में हुआ। कादर खान  विशेष रुप से पास्थून के काकर जनजाति से संबंधित थे। वे अब्दुल रहमान और इकबाल बेगम के 4 बेटो में से एक थे। उनके तीन अन्य भाई शामसउर रहमान, फजर रहमान और हबीब उर रहमान थे। जब वह 1 साल के थे तभी वे अपने परिवार के साथ मुंबई आ गए थे। और उनका बचपन कठोर संघर्ष में झुग्गी-झोपड़ियों में बीता।

कादर खान के बेटे और पत्नी – Kader Khan Son and Wife

आपको बता दें कि कादर खान की पत्नी का अजरा खान है, जिनसे उन्हें 2 बेटे शाहनवाज और सरफराज हैं।

कादर खान की शिक्षा – Kader Khan Education

कादर खान ने मुंबई के म्यूनिसिपल स्कूल से अपनी प्रारंभिक पढ़ाई की। वे पढ़ने में बचपन से ही काफी होश्यिार थे। इसी वजह से उन्हें आगे चलकर इस्माइल युसूफ कॉलेज (जो कि मुंबई यूनिवर्सिटी से एफिलिएटेड थी) से अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है।

कादर खान का फिल्मी करियर – Kader Khan Film Career

कादर खान ने 1973 में ‘दाग’ फिल्म से अपने अभिनय करियर की शुरुआत की। इसमें राजेश खन्ना मुख्य भूमिका में थे। इससे पहले वह रणधीर कपूर और जया बच्चन की फिल्म ‘जवानी-दिवानी’ के लिए संवाद लिख चुके थे। इसके बाद 1981 में कादर खान ने नसीब फिल्म में भी काम किया था, जिसमें उन्होंने अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी, ऋषि कपूर और शत्रुघन सिन्हा भी थे। इसके बाद उन्हें एक के बाद एक फिल्में मिलती गई और दर्शकों के दिल में उनके लिए एक अलग जगह बन गई।

आपको बता दें कि एक पटकथा लेखक के तौर पर खान ने मनमोहन देसाई और प्रकाश मेहरा के साथ कई फिल्में लिखी। कादर खान ने मनमोहन देसाई के साथ मिलकर ‘धर्म वीर’, ‘गंगा जमुना सरस्वती’, ‘कुली’ ‘देश प्रेमी’, ‘सुहाग’, ‘अमर अकबर एंथनी’ और मेहरा के साथ ‘ज्वालामुखी’, ‘शराबी’, ‘लावारिस’ और ‘मुकद्दर का सिकंदर’ जैसी फिल्में लिखी।

खान ने ‘कुली नंबर 1’, ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’, ‘कर्मा’, ‘सल्तनत’ जैसी फिल्मों के संवाद लिखे। उन्होंने करीब 300 फिल्मों में काम किया और 250 से ज्यादा फिल्मों केलिए डायलॉग भी लिखें हैं। उन्हें रोटी फिल्म के लिए डायलॉग लिखने पर बुहत अच्छा वेतन भी मिला था।

कॉमेडियन के बादशाह कादर खान, सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के अलावा फिरोज खान और गोविंदा जैसे बड़े नामों के साथ काम करने के लिए काफी मशहूर रहे हैं। उन्हें कॉमेडी किरदारों की पहचान डेविड धवन की फिल्मों से मिली थी।

इसके अलावा कादर खान ने कुछ सीरियल में भी काम किया था जिमें हंसना मत, मिस्टर धनसुख हाय!  पड़ोसी… कौन है दोषी?  और 2012 में सब टीवी पर आने वाला मूवर्स एंड शेखर्स में काम किया था। उन्होंने 1981 में एक फिल्म शमा भी प्रोड्यूस की थी।

कादर खान की मशहूर फिल्में – Kader Khan Film

किल दिल, इन योर आर्म्स, मिस्टर मनी, डोंट वरी, उमर कोई मेरे दिल में हैं, लकी: नो टाइम फॉर लव, सुनो ससुर जी, बस्ती, डाइल 100, धड़कन, कुंवारा, बिल्ला नंबर 786, अनाड़ी नंबर 1, आंटी नंबर 1, जुदाई, सपूत, याराना, वीर, दीडॉन, आग, साजन का घर, खुद्दार, दिल हैं बेताब, अंगार, बोल राधा बोल, दो मतवाले, नसीब, अदालत, बैराग, दाग

स्किप्ट राइटर के तौर पर फिल्मों में काम –       

उन्होंने शराबी, कुली, लावारिस, मुकद्दर का सिकंदर और अकबर-एन्थोनी के डाइलॉग भी लिखे थे। इसके अलावा उन्होंने अग्निपथ और नसीब जैसी सुपरहिट फिल्मों के स्क्रीन प्ले भी लिखे।

कादर खान को सम्मान और फिल्मफेयर अवॉर्ड – Kader Khan Award

बॉलीवुड के दिगग्ज अभिनेता कादर खान को फिल्मों में बेहतरीन अभिनय के लिए कई अवॉडर्स से नवाजा जा चुका है। इसके अलावा उन्हें अमेरिकन फेडरेशन ऑफ मुस्लिम फ्रॉम इंडिया ने उनके टेलेंट और भारत में मुस्लिम कम्यूनिटी के लिए दिए गए योगदान को पहचाना। वहीं उन्हें दिए गए फिल्मफेयर अवॉर्ड नीचे लिखे गए हैं –

  • 1982 में कादर खान को मेरी आवाज सुनो के लिए बेस्टर डायलॉग के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था।
  • 1991 में बाप नंबर बेटा 10 नंबरी के लिए बेस्ट फिल्मफेयर कॉमेडियन का अवॉर्ड मिला था।
  • 1993 में अंगार में बेस्ट डायलॉग के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था।
  • इसके अलावा उनका नाम साल 1984 में भी फिल्म हिम्मतवाला, 1986 में आज का दौर, 1990 में सिक्का, 1992 में हम, 1994 में आंखे, 1995 में मै खिलाड़ी तू अनाड़ी, 1996 में साजन चले ससुराल के लिए और 1999 में दुल्हे राजा में बेस्ट कॉमेडी के लिए बेस्ट फिल्म फेयर अवॉर्ड में नामांकित किया गया था।

कादर खान निधन – Kader Khan Dead

मशहूर अभिनेता कादर खान का 31 दिसम्बर, 2018 को  निधन हो गया। लंबी बीमारी के बाद 81 साल की उम्र में उन्होंने कनाडा के एक अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली। आपको बता दें कि कादर खान प्रोग्रेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी डिसऑर्डर के शिकार हो गए थे, जिसकी वजह से उनके दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था इसलिए वे काफी दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहे लेकिन काफी इलाज के बाद भी वे बच नहीं सके। वहीं उनका निधन बॉलीवुड के लिए एक बड़ा नुकसान है।

कादर खान, बॉलीवुड में अपनी बेहतरीन अदाकारी और शानदार डायलॉग से लोहा मनवा चुके हैं, वहीं वे हमारे दिल में हमेशा जिंदा रहेंगे। ज्ञानी पंडित की पूरी टीम उन्हें भावपूर्ण श्रद्दांजली अर्पण करती है और उनकी आत्मा की शांति के लिए दुआ करती है।

Loading...

Read Also:

  1. सुपरस्टार रजनीकांत की जीवनी
  2. लोकप्रिय अभिनेता अजय देवगन की कहानी
  3. धर्मेन्द्र की जीवन कहानी
  4. Shilpa Shetty biography

I hope these “Kader Khan biography in Hindi” will like you. If you like these “Kader Khan information in Hindi” then please like our Facebook page & share on Whatsapp. Credit – Some information from Google & Wikipedia.

6 COMMENTS

  1. अफ़ग़ानिस्तान से आ कर भारत मे इतना बड़ा नाम कर गये इस महान व्यक्तित्व को नमन । 🙏🙏🙏

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.