Skip to content

केरल दर्शनीय स्थल | Kerala Tourism places

Kerala Tourism places

केरल दक्षिण-पश्चिमी भारत के उष्णकटिबंधीय मालाबार तट पर बसा हुआ एक राज्य है। इसकी राजधानी तिरुवनन्तपुरम (त्रिवेन्द्रम) है। जिसे नेशनल जियोग्राफिक ने विश्व के 10 स्वर्गो में भी शामिल किया गया है।

Kerala Tourism places

केरल दर्शनीय स्थल – Kerala Tourism places

केरल विशेषतः पर्यावरण पर्यटन की पहल करने के लिए प्रसिद्ध है। इसकी अद्वितीय संस्कृति और परंपरा की वजह से ही यह भारत के सबसे प्रसिद्ध पर्यटनो में से एक है। 13.31% की दर से बढ़ने वाला पर्यटन उद्योग, राज्य की आर्थिक व्यवस्था को सुधारने में भी सहायक है। केरल विशेषतः अपने उष्णकटिबंधीय बैकवाटर और त्रिवेंद्रम में पाए जाने वाले प्राचीन समुद्र तटो के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ कोवलम और वेर्कला नामक दो प्राचीन समुद्र तट पाए जाते है।

इदुक्की के हरे भरे रंग से लेकर त्रिवेंद्रम और कोच्ची जैसे गूंजने वाले शहरो तक केरल में हमें विविध पर्यटक स्थल देखने मिलते है। राज्य की प्रसिद्ध आकर्षणीय जगहों में कोवलम, कप्पड़, मुज्हुप्पिलानगद, चेराई और वेर्कला के समुद्र तट और मुन्नार, ठेक्कड़ी, रामाक्कलमदुनेल्लिंपथी, पोंमुदी और वायानद जैसे पहाड़ी इलाके और कन्हागड़ का बेकाल किला और कन्नूर के एंजेलो किले जैसे किले और परियार और एराविकुलम जैसे वन्यजीव अभयारण्य शामिल है।

बैकवाटर के परिसर में हमें बहुत सी नदियाँ, झरने और नहरे देखने मिलती है, जहाँ भारी मात्रा में पर्यटक जमा होते है। विरासतीय स्थल जैसे ईस्ट फोर्ट, कुथिरा मलिका, हिल पैलेस, मत्तंचेरी महल भी काफी प्रसिद्ध है। साथ ही त्रिवेंद्रम, कोची, त्रिचुर, कालीकट और कुइलों जैसे शहर शॉपिंग और पारंपरिक नाट्य प्रदर्शन के लिए प्रसिद्ध है।

ग्रैंड केरल शॉपिंग फेस्टिवल (GKSF) एशिया के विशाल शॉपिंग महोत्सवो में से एक है, जिसकी शुरुवात 2007 में हुई थी। तब से लेकर आज तक हर साल दिसम्बर से जनवरी के बीच में इस फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। इस कालावधि में दुकानों और गाडियों को GKSF के पास अपना पंजीकरण करवाना अनिवार्य होता है और इस फेस्टिवल में वस्तुओ की खरीदी करने पर भारी छुट भी दी जाती है।

शॉपिंग के साथ-साथ व्यापारी यहाँ ग्राहकों को विशेष उपहार स्वरुप फ्री कूपन भी देते है और साथ ही हर सप्ताह के अंत में लकी ड्रा भी निकालते है। दुसरे देशो में आयोजित किये जाने वाले शॉपिंग फेस्टिवलो की तुलना में यह फेस्टिवल पुरे केरल राज्य को एक विशालकाय शॉपिंग मॉल में परिवर्तित कर देता है और इसमें केवल बड़े व्यापारी ही हिस्सा नही लेते बल्कि छोटे-मोटे व्यापारी भी अपने स्टाल इस फेस्टिवल में लगाते है। राज्य में पर्यावरण पर्यटन को ज्यादा महत्त्व दिया जाता है और अपनी संस्कृति और परंपराओ को वे लोगो तक पहुचाते है। केरल राज्य की सरकार लगातार पर्यावरण को क्षति पहुचाये बिना ही पर्यवरण पर्यटन को विकसित करने की कोशिश में लगी रहती है।

Read More:

Hope you find this post about ”केरल दर्शनीय स्थल – Kerala Tourism places” useful. if you like this information please share on Facebook.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Kerala tourism… and if you have more information about Kerala tourism then help for the improvements this article.

Leave a Reply

Your email address will not be published.