ऐसा अनोखा शहर जहाँ गर्मियों में 2 महीनें रात नहीं होती और सर्दियों में 1.5 महीने सूरज नहीं निकलता!

Murmansk Russia

Murmansk Russia – हमारी इस धरती के ऐसे बहुत सारे कोने है जो अपने आप में हमसे कही ना कही अलग है। वहां का पहनावा, खानपान और जीवन सब अलग है। इसके साथ साथ वहां प्रकृति भी अपना अलग ही रंग दिखाती है।

ऐसी ही एक जगह है रूस (Russia) में जिसका नाम है Murmansk और यहाँ लगभग चालीस दिनों तक सर्दियों के मौसम में रात रहती है और गर्मियों के मौसम में लगातार 60 दिन तक उजाला रहता है। फिर भी यह शहर चलता है और वैसे ही काम कर रहा होता है। इसे सनलेस सिटी भी कहते है।

ऐसा अनोखा शहर जहाँ गर्मियों में 2 महीनें रात नहीं होती और सर्दियों में 1.5 महीने सूरज नहीं निकलता – Murmansk Russia

Murmansk Russia

मूरमान्स्क लोगों की जनसंख्या – Murmansk  Population

ऐसा नहीं है की इस तरह के अजीब मौसम के चलते इस जगह में लोग नहीं रहते है। इस जगह की जनसँख्या लगभग तीन लाख है और यहाँ बाकी सुविधाएँ जैसे ट्रांसपोर्ट आदि सब मौजूद है। टूरिस्ट दुनियाभर से यहाँ आते है और यहाँ रूककर इस जगह के बदलते मिजाज का मजा लेते है।

प्रथम विश्वयुद्ध के बाद जन्म हुए इस शहर को रूस के प्रमुख बंदरगाहों में भी गिना जाता है। यहाँ मौसम इतना भयावह हो जाता है की सर्दियों के मौसम में यहाँ का तापमान लगभग -34 डिग्री तक चला जाता है। ऐसे तापमान के बाद भी यहाँ सारे काम हो रहे होते है। लोग ऑफिस और बच्चे स्कूल जाते है।

Murmansk Russia 2

पोलर दिन और पोलर रातें – Polar day And Polar Night

इस जगह में जहाँ पर चालीस दिन सूर्य नहीं उगता और साठ दिन तक रात नहीं होती उसे अलग अलग नामो से जाना जाता है। जिन 40 दिनों यानी की सर्दियों में जब सूर्य नहीं निकलता है तो इसे पोलर नाईट – Polar Night  कहा जाता है और यह समय लगभग 2 दिसम्बर से 11 जनवरी तक का होता है। इसके अलावा लगभग 22 मई से लगभग 23 जुलाई तक यहाँ रात नहीं होती है और केवल दिन रहता है जिसे पोलर डे – Polar day कहा जाता है।

उस समय यहाँ के लोग भूल चुके होते है की रात कब हुई थी। वैसे यहाँ बाहर के लोग कम ही जाते है क्योकि बदलते मौसम और अलग माहौल की वजह से यहाँ उनका रुकना सही नहीं होता है। स्थानीय लोग तो इस माहौल में रच बस गए है लेकिन बाहर के लोग खुद को बड़ी मुश्किल से एडजेस्ट कर पाते है।

हमारे और आपके शहर में तो रोजाना सुबह सूर्य निकलता है और हमे सब सामान्य लगता है लेकिन यहाँ के लोग सूरज निकलने पर जश्न मनाते है। सर्दियों के मौसम में पहली बार 34 मिनट का सूर्य निकलता है और यहाँ के लोग सडको में आ जाते है और जश्न मनाते है। इसके बाद धीरे धीरे मौसम में बदलाव होने लगता है।

Murmansk Russia 1

डॉक्टर्स का कहना होता है की भले ही इस इस माहौल में लोग सेट हो गए हो लेकिन सूर्य का इतने दिन ना निकलना कही ना कही इन लोगो के लिए खतरे की बात है। विटामिन डी की कमी होने की सम्भावना यहाँ के लोगो में रहती है जो की होती भी है। फिर भी आजतक कोई इस बदलाव की वजह से मरा नहीं और ना ही शहर छोड़कर गया।

बिजली का एडजेस्टमेंट-

जब सर्दियों के समय में तापमान माइनस में चला जाता है तो यहाँ के लोग बिजली बचाते है और इसका इस्तेमाल तब किया जाता है जब सूरज अपने चरम पर होता है और गर्मियों के मौसम में रात नहीं होती है। तब यहाँ का तापमान बहुत अधिक बढ़ जाता है लेकिन फिर भी लोग इस मौसम में रह रहे होते है। सर्दियों के मौसम में बची हुई बिजली का इस्तेमाल ये गर्मियों के मौसम में करते है।

Read More:

Loading...

Hope you find this post about ”Murmansk Russia” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article About Murmansk Russia… And if you have more information History of Murmansk Russia then help for the improvements this article.

8 COMMENTS

    • Thank you, sir, for finding our post informative. We are obliged to receive precious and positive comments stay tuned to Gyani Pandit for other such articles.

    • Thank you for showing your interest in our post on gyanipandit.com. We at Gyanipandit are committed to collect global information and presented before you.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.