क्रिकेटर पार्थिव पटेल बायोग्राफी | Parthiv Patel Biography

Parthiv Patel – पार्थिव पटेल भारतीय क्रिकेटर, विकेटकीपर और बल्लेबाज भी है। वो बाये हाथ के बल्लेबाज है। वो गुजरात के लिए घरेलु क्रिकेट खेलते है।

क्रिकेटर पार्थिव पटेल बायोग्राफी – Parthiv Patel Biography
Parthiv Patel

पार्थिव पटेल का जन्म 9 मार्च 1985 में गुजरात (भारत) के अहमदाबाद में हुआ। उनकी शादी अवनि जावेरी से हुई। वो बाये हाथ के बल्लेबाज है और गुजरात के लिए खेलते है।

पार्थिव पटेल का करियर – Parthiv Patel Career

2016-17 की रणजी ट्राफी गुजरात की झोली में डालने में पार्थिव पटेल का सबसे बड़ा योगदान रहा है। ओडिशा और झारखण्ड को क्वार्टरफाइनल और सेमी फाइनल में हराकर गुजरात केवल दूसरी बार फाइनल में पहुच चूका था। जनवरी में गुजरात का मुकाबला गतविजेता मुंबई से हुआ। वो मैच इंदौर में खेला गया था।

पटेल ने बढ़िया प्रदर्शन करके पहली पारी मे 90 रन और दूसरी पारी में 143 रन बनाए और ट्राफी जितने में गुजरात का रास्ता आसान कर दिया। रणजी ट्राफी के फाइनल में पटेल ने जो 143 रन बनाए वो उनका सबसे बड़ा स्कोर है।

इस जीत के साथ ही गुजरात ने पहली बार रणजी ट्राफी जीती और पटेल गुजरात के पहले कप्तान बने जिन्होंने घरेलु स्थर के तीन अहम ट्राफी जीती।

पार्थिव पटेल ने 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ ट्रेंट ब्रिज में पहला टेस्ट मैच खेला और वो टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे युवा विकेटकीपर बन गए। उस वक्त उनकी उम्र केवल 17 साल थी। वो चोटिल अजय रात्रा की जगह पर खेल रहे थे और इसके साथ ही उन्होंने पाकिस्तान के सबसे युवा विकेटकीपर हनीफ मोहम्मद (उम्र 17 साल 300 दिन) का रोकार्ड भी तोड़ दिया।

लेकिन 2008 में धोनी के आने के कारण और पार्थिव की ख़राब विकेटकीपिंग के चलते उन्हें कुछ मेचो के लिए बाहर कर दिया गया।

2003 में पटेल ने पहला ओडीआई मैच न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ खेला था। उन्हें 2003 के विश्व कप के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया था लेकिन उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका ही नहीं दिया गया क्यु की उस वक्त भारतीय टीम में राहुल द्रविड़ को एक सक्षम विकेटकीपर और बल्लेबाज के रूप में देखा जा रहा था।

उसके बाद उन्हें सचिन तेंदुलकर चोटिल होने के कारण दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच खेलने के लिए टीम में फिर से शामिल किया गया।

2015 में वो मुंबई इंडियन्स की तरफ़ से सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलते हुए नजर आये।

पोर्ट ऑफ़ स्पेन में क्वीन्स पार्क ओवल मैदान पर उन्होंने पहला टी20 मैच खेला था। उस मैच में पटेल सलामी बल्लेबाज के रूप में खेल रहे थे और उनका साथ देने के लिए एक और नए बाये हाथ के बल्लेबाज शिखर धवन खेल रहे थे।

मोहाली में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में पार्थिव पटेल को चोटिल वृद्धिमान सहा की जगह पर लिया गया था। चयनकर्ताओ के निर्णय को सही साबित करते हुए उन्होंने उस मैच में शानदार प्रदर्शन कर के केवल 54 गेंदों में नाबाद 67 रन बनाए जिसकी वजह से भारत को मैच में जीत मिली।

Read More: 

If you like these “Parthiv Patel” then please like our Facebook page & share on Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *