क्या आप राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार के बारेमें यह जानते हैं | Rajiv Gandhi Khel Ratna Award

Rajiv Gandhi Khel Ratna

आज के समय खेल केवल स्वास्थ के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं रह गया है बल्कि किसी भी देश का दुनियाभर में पहचान का कारण भी बन गया। विश्वस्तर पर जब किसी खिलाड़ी का नाम होता है। तो उस खिलाड़ी के साथ उस देश का नाम भी होता है।

लेकिन विश्वस्तर पहचान बनाना या विश्व स्तरीय प्रतियोगताओं को जीतना आसान नहीं होता, इसके लिए खिलाड़ी दिन – रात मेहनत करते हैं। अब जब खिलाड़ी इतनी मेहनत कर देश का नाम रोशन करेंगे तो उन्हें भी इसके लिए सम्मनित करना जरुरी है। भारत अलग – अलग खेलों में विश्वस्तर पर प्रतियोगतिओँ में विजय होने वाले खिलाड़ियों को राजीव गांधी खेल रत्न – Rajiv Gandhi Khel Ratna, अर्जुन पुरस्कार, द्रोणाचार्य पुरस्कार और ध्यांनचंद पुरस्कार दिया जाता है।

खेल के क्षेत्र में दिया जाने वाला सबसे बड़ा पुरस्कार खेल रत्न – Khel Ratna को माना जाता है। जिसे पाना हर खिलाड़ी का सपना होता है। लेकिन अक्सर लोगों के मन में ये सवाल आता है कि आखिर इतने खिलाड़ियो में से खेल रत्न के लिए खिलाड़ियों को कैसे चुना जाता है।

Rajiv Gandhi Khel Ratna Award
Rajiv Gandhi Khel Ratna Award

क्या आप राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार के बारेमें यह जानते हैं – Rajiv Gandhi Khel Ratna Award

Rajiv Gandhi Khel Ratna – राजीव गाँधी खेल रत्न भारत में खेल के क्षेत्र में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है। जिसे भारत के खेल मंत्रालय द्वारा दिया जाता है। राजीव गाँधी खेल रत्न के लिए खेल के सभी क्षेत्रों के खिलाड़ियों में से बेहतरीन खिलाड़ियों का चुनाव किया जाता है।

जिन्होनें पूरे साल सबसे बेहतर प्रर्दशन किया हुआ साथ ही जिनके पास अंको की संख्या सबसे ज्यादा हो। खिलाड़ियों के अंक ओलंपिक, विश्व चैंपियनशिप और एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स के आधार पर होते है।

अलग – अलग खेलों के लिए क्या है प्वाइंट सिस्टम –

  • ओलंपिक में गोल्ड मेडल के लिए 80, सिल्वर के लिए 70 और ब्रांज मेडल के लिए 55 अंक दिए जाते है।
  • विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल 40, सिल्वर मेडल के लिए 30 और ब्रांज मेडल के लिए 20 अंक दिए जाते हैं।
  • एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल 30, सिल्वर मेडल 25 और ब्रांज मेडल 20 अंक दिए जाते है।
  • कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल 25, सिल्वर मेडल 20 और ब्रांज मेडल 15 अंक दिए जाते हैं।

हालांकि प्वाइंट तालिका के बाद खेल रत्न के लिए चुनाव करने वाली समिति के हाथ में होता है कि वो किसी खिलाड़ी को उसके प्रर्दशन के दम पर 20 अंक दे सकते हैं। जिसके बाद ही तय होता है कि खेल रत्न किसी खिलाड़ी को दिया जाएगा।

लेकिन यहां पर जानने वाली बात ये भी है कि क्रिकेट को क्योंकि ओलंपिक में शामिल नहीं किया जाता है। साथ ही ये दूसरे किसी ऐसे विश्वस्तरीय खेल समारोह में सम्मलित नहीं है जिसमें सभी खेल भाग लेते है।

वो इसलिए की क्रिकेट के खिलाड़ियों को प्वाइंट सिस्टम के आधार पर नहीं चुना जाता है। क्रिकेट के किसी खिलाड़ी को खेल रत्न देने के लिए पुरस्कार के लिए नियुक्त की गई 11 सदस्यों की समिति चर्चा करने के बाद अंत में वोट के जरिए खिलाड़ी के नाम का चुनाव कर सकती है।

शायद यही वजह है कि भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली जिनका नाम दो बार पहले भी खेल रत्न के लिए में समिति के समक्ष सुझाव के रुप में रखा गया था। तब उनके नाम पर सहमति नहीं बन पाई थी।

लेकिन विराट कोहली का साल 2016 -17 का खेल प्रर्दशन देखते हुए उनका नाम इस खेल रत्न के लिए चुना गया है। इसके अलावा वर्ल्ड चैंपियन वेट लिफ्टर मीराबाई चीनू को इस पुरस्कार के लिए चुना गया है। इन दोनों खिलाड़ियों को 25 सितंबर 2018 को खेल रत्न से सम्मनित किया जाएगा।

राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार में खिलाड़ी को एक पदक, सर्टिफ्रिकेट और 7.5 लाख रुपये दिए जाते हैं।

Read More:

Please Note: If you have more information, or if I feel anything wrong then immediately we will keep updating this as we wrote a comment. Thank you

Loading...

If you like our Information About Rajiv Gandhi Khel Ratna Award In Hindi, then we can share and share it on Facebook.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.