राजनाथ सिंह जी की जीवनी – Rajnath Singh Biography in Hindi

Rajnath Singh Biography in Hindi

सियासत में अपना सिक्का जमाने से पहले राजनाथ सिंह एक प्रोफेसर के तौर पर काम कर चुके हैं। वो भारतीय राजनीति का वो शख्स हैं, जिन्होंने अपने सियासी सफर में अपार सफलता हासिल की है। तो आइए विस्तार से जानते हैं अपने कामों को बखूबी अंजाम तक पहुंचाने वाले और आम लोगों के दिलों में राज करने वाले एक लोकप्रिय ओर सशक्त राजनेता राजनाथ सिंह के बारे में – Rajnath singh

राजनाथ सिंह जी की जीवनी – Rajnath Singh Biography in Hindi

पूरा नाम (Name): राजनाथ सिंह (Rajnath Singh)
जन्मतिथि (Birthday): 10 जुलाई 1951, भभौरा, जिला चंदौली, उत्तर प्रदेश, भारत
पिता (Father Name): रामबदन सिंह
माता (Mother Name): गुजराती देवी
पत्नी (Wife Name): सावित्री सिंह
बच्चे (Children Name): पंकज सिंह (बेटा), नीरज सिंह (बेटा), अनामिका सिंह (बेटी)
शैक्षिक योग्यता (Education): फिजिक्स में पोस्ट ग्रेजुएशन

“सियासी गुरु” राजनाथ सिंह का जन्म, शिक्षा, परिवार एवं शुरुआती जीवन – Rajnath Singh Family, Son, Daughter

भारतीय राजनीति के प्रमुख स्तंभों में से एक राजनाथ सिंह जी उत्तरप्रदेश के बनारस के पास एक छोटे से गांव चंदौली के साधारण परिवार में 10 जुलाई साल 1951 में जन्में थे। उनके पिता राम बदन सिंह ने खेती-किसानी कर अपना परिवार का पेट पाला, जबकि उनकी माता गुजराती देवी घरेलू महिला थी।

भारतीय राजनीति में अपनी अलग पहचान रखने वाले राजनाथ सिंह ने गोरखपुर यूनिवर्सिटी से फिजिक्स विषय से अपनी मास्टर डिग्री हासिल की थी। इसके बाद साल 1971 में राजनाथ सिंह को केबी डिग्री कॉलेज में बतौर प्रोफेसर नियुक्त किया गया। आपको बता दें कि अपने कॉलेज के समय से ही राजनाथ को राजनीति में काफी दिलचस्पी थी, इसलिए वे 13 साल की उम्र में ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ गए और यहीं से इनके अंदर देश की सेवा करने की भावना उत्पन्न हुई।

इसके बाद साल 1969 से लेकर 1971 तक कुशल प्रशासक राजनाथ सिंह जी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के संगठानात्मक सचिव रहे। वहीं इस दौरान साल 1971 में वे, सावित्री सिंह से शादी के परिणय सूत्र में बंधे, इन दोनों के 1 बेटी और 2 बेटे भी हैं।

सशक्त राजनेता राजनाथ सिंह जी का सियासी सफर – Rajnath Singh Political Career

RSS से लेकर विद्यार्थी परिषद और फिर जनसंघ के जिला सचिव पद से राजनाथ सिंह जी का सियासी सफर शुरु हुआ और फिर वे लगातार सियासत में अपना सिक्का जमाने में सफल होते चले गए और वर्तमान में वे भारत सरकार के सबसे जिम्मेदार और अहम रक्षा मंत्रालय का जिम्मा संभाल रहे हैं, तो आइए जानते हैं सशक्त सियासतदान राजनाथ सिंह जी के राजनीतिक सफरनामा के बारे में

  • राजनीतिक करियर की शुरुआत में कुशल राजनेता राजनाथ सिंह जी को सबसे पहले साल 1974 में भारतीय जन संघ द्धारा मिर्जापुर क्षेत्र के सेक्रेटरी के तौर पर नियुक्त किया गया।
  • इमरजेंसी के दौरान कई महानों तक जेल में रहने के बाद साल 1975 में भारतीय जन संघ द्धारा उन्हें मिर्जापुर का जिला अध्यक्ष के रुप में नियुक्त किया गया।
  • इसके बाद राजनाथ सिंह जी साल 1977 में मिर्जापुर से पहली बार विधायक के रुप में चुने गए।
  • दिग्गज नेता राजनाथ सिंह जी को साल 1984 में बीजेपी की युवा इकाई का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया।
  • अपनी कुशल रणनीति से लोगों के मन में अपनी खास पहचान बना चुके राजनेता राजनाथ सिंह जी को साल 1986 में बीजेपी के यूथ विंग का राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया।
  • इसके बाद साल 1988 में राजनाथ सिंह जी, बीजपी यूथ विंग के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रुप में चुने गए।
  • राजनाथ सिंह जी की प्रतिभा को समझते हुए, साल 1991 में उत्तप्रदेश के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के कार्यकाल में बतौर शिक्षा मंत्री नियुक्त किया गया। इस दौरान उन्होंने यूपी बोर्ड में नकल करने वालों के खिलाफ शिकंजा कसा और अपने अन्य कामों से अपनी एक अलग पहचान विकसित की।
  • राजनाथ सिंह जी को साल 1994 में राज्य सभा के सदस्य के तौर पर चुना गया।
  • साल 1997 में राजनाथ सिंह जी को यूपी में बीजेपी के राज्य प्रेजिडेंट के रुप में चुना गया।
  • इसके बाद राजनाथ सिंह जी को केन्द्र में अटल की सरकार के दौरान कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिला। 1999 से 2003 तक उन्होंने अपनी कुशल रणनीति के साथ केन्द्रीय कृषि मंत्री और केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री के रुप में कई काम किए। राजनाथ सिंह ने Unemployment, its Reasons and Remedies नामक एक किताब भी लिखी है।
  • इसके बाद साल 2000 में 2 साल से भी कम समय के लिए वे उत्तप्रदेश के मुख्यमंत्री के रुप में चुने गए। इतने कम समय में ही उन्होंने यूपी में दलित और पिछड़े वर्ग के उत्थान के लिए आरक्षण कोटा तय करवाने और सामाजिक न्याय समित का गठन करने समेत कई विकास काम कर खूब वाहवाही लूटी। और जनता के दिल में एक आदर्श राजनेता के रुप में अपनी पहचान बनाई।
  • यूपी के सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद साल 2002 में ही राजनाथ सिंह जी को बीजेपी के राष्ट्रीय जनरल सेक्रेटरी के रुप में नियुक्त किया गया।
  • इसके बाद साल 2005 से साल 2009 तक राजनाथ सिंह जी ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रुप में पार्टी की कमान संभाली।
  • साल 2009 में राजनाथ सिंह जी ने चुनाव लड़ा और वे गाजियाबाद क्षेत्र से सांसद चुने गए।
  • इसके बाद साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में उन्होंने लखनऊ क्षेत्र से चुनाव लड़ा और 2 लाख 72 हजार 749 वोट से जीत दर्ज कर रिकॉर्ड बनाया। और वे लखनऊ से सांसद चुने गए।
  • 26 मई साल 2014 में ही मोदी सरकार के कैबिनेट में उन्हें केन्द्रीय गृह मंत्री नियुक्त किया गया।
  • इसके बाद साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने लखनऊ क्षेत्र से चुनाव लड़ा और करीब 3 लाख 47 हजार 302 वोट से चुनाव में जीत हासिल कर अपनी ही जीत का रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया।
  • साल 2019 में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद मोदी सरकार के कैबिनेट में उन्हें रक्षा मंत्री बनाया गया।

इस तरह राजनाथ सिंह जी ने जब से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की, तब से कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और निरंतर अपने राजनीतिक जीवन में सफलता के नए आयामों को हासिल करते रहे।

ज्ञानी पंडित की पूरी टीम भारतीय राजनीति के सशक्त राजनेता राजनाथ सिंह के लिए यही कामना करती है कि वे देश की राजनीति के ”ध्रुवतारा” की तरह चमकें और अपने जीवन में असीम तरक्की हासिल करें, और भारतीय जनता का इसी तरह नेतृत्व करें।

More Articles: 

Hope you find this post about ”Rajnath Singh Biography in Hindi” useful and inspiring. if you like this Information About Rajnath Singh In Hindi then please share on Facebook & Whatsapp.

Gyanipandit.com Editorial Team create a big Article database with rich content, status for superiority and worth of contribution. Gyanipandit.com Editorial Team constantly adding new and unique content which make users visit back over and over again.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.