इको फ्रैंड्ली गणेश चतुर्थी पर एकदम नए लेटेस्ट स्लोगन

Slogans on Eco Friendly Ganesh Chaturthi in Hindi

गणेश चतुर्थी का पर्व हर साल विघ्नहर्ता और मंगलकर्ता गणेश जी के जन्मोत्सव के रुप में मनाया जाता है। इस पर्व का बच्चे, बड़े सभी बेसब्री से पूरे साल इंतजार करते हैं। गणेश चतुर्थी को विनायक चतुर्थी भी कहा जाता है, जिसे हर साल हिन्दू कैलेंडर के भाद्रपद मास शुक्ल् पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है।

वैसे तो इस पर्व की रौनक पूरे देश में देखने को मिलती है, लेकिन महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी का पर्व काफी हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जाता है।

इस पर्व पर लोग गणेश प्रतिमा अपने घर पर स्थापित कर करते हैं, गणेश उत्सव 11 दिन तक चलता है और फिर 11 वें दिन यानि की अनंत चतुर्थी के दिन गणपति का नदियां में विर्सजन करते हैं वहीं नदियों में मूर्ति विर्सजन करने से नदिया लगातार प्रदूषित हो रही हैं, जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए और पर्यावरण के लिए नुकसानदायक है, इसलिए हम सभी को इको-फ्रैंड्ली तरीके से गणेशोत्सव मनाने पर अपना सहयोग देना चाहिए।

वहीं इकोफ्रैंडली गणेश पर्व पर यहां हम कुछ यूनीक और एकदम लेटेस्ट स्लोगन उपलब्ध करवा रहे हैं, जो कि पर्यावरण के हित को ध्यान रखने हुए इस पर्व को मनाने के लिए लोगों को जागरूक करेंगे।

इकोफ्रैंड्ली गणेश चतुर्थी पर लेटेस्ट स्लोगन – Slogans on Eco Friendly Ganesh Chaturthi in Hindi

Slogans On Eco Friendly Ganesh Chaturthi
Slogans On Eco-Friendly Ganesh Chaturthi

“नदियों को प्रदूषण से बचाएं, घर में मिट्टी के ही गणेश लाएं।”

“पीओपी से बने गणपति को करें अस्वीकार और मिट्टी के गणपति का विर्सजन कर करें पर्यावरण पर उपकार।”

“प्रदुषण और बीमारी से रहना चाहते हैं दूर, तो इको फ्रैंड्ली गणपति ही लाएंगे जीवन में नूर।।”

Ganesh Chaturthi Slogans in Hindi

गणेश चुतुर्थी पर लोग बप्पा के आगमन और उनके स्वागत की तैयारियां कई देने पहले से ही करने लगते हैं, ऐसे में बाजार में भी पीओपी यानि कि प्लास्टिक ऑफ पेरिस और कैमिकल वाले रंगों के इस्तेमाल से बनने वाली मूर्तियां बिकती हैं, जो कि देखने में तो काफी सुंदर लगती हैं, लेकिन यह पर्यावरण के लिहाज से काफी हानिकारक होती हैं क्योंकि एक समय बाद गणपति प्रतिमा का  विसर्जन भी करना होता है।

वहीं पीओपी पर्यावरण को प्रदूषित करता है, दरअसल पीओपी एक समय बाद पानी की सतह पर इकट्ठा हो जाता है। वहीं इसी पानी का इस्तेमाल हम खाना पकाने, खेती करने आदि में करते हैं, जिसका बुरा प्रभाव हमारे स्वास्थ पर पड़ता है, साथ ही फसलें भी काफी प्रभावित होती हैं।

“फीकी नहीं पड़े गणेश पर्व की रौनक, इसलिए इकोफ्रैंड्ली गणेश का ही करें विर्सजन।”

“इस गणेश चतुर्थी पर इकोफ्रैंडली गणपति लाकर पर्यावरण को दें उपहार, गणेश भगवान आपका करेंगे कल्याण।”

“अगर चाहते हैं कि बनी रहे बप्पा की कृपा आप पर हर दम तो, इको फ्रैंड्ली गणपति लाकर ही करें विर्सजन।”

Ganpati Visarjan Slogans in Hindi

गजानन की इकोफ्रैंडली मूर्ति घर पर ही आसानी से मिट्टी, हल्दी, आटा आदि का इस्तेमाल कर बनाई जा सकती है, इसके अलावा अब बाजारों में भी इकोफ्रैंड्ली गणेश प्रतिमा आसनी से मिल जाती हैं।

ऐसी प्रतिमाएं पानी में आसानी से घुल जाती हैं, वहीं इन प्रतिमाओं को सुंदर कच्चे और नैचुरल कलर का इस्तेमाल कर सुंदर बनाया जा सकता है, जिससे पानी को प्रदूषित होने से बचाया जाता सकता है और बीमारियां फैलने के खतरे को कम किया जा सकता है।

इसलिए हम सभी को इकोफ्रैंडली तरीके से ही गणेशोत्सव पर्व को मनाना चाहिए तभी इस पर्व का महत्व और भी अधिक बढ़ सकेगा।

वहीं इकोफ्रैंडली गणेश चतुर्थी पर लिखे गए स्लोगन को आप अपने दोस्तों और करीबी मित्रों के साथ सोशल मीडया पर शेयर कर लोगों को इसके प्रति जागरूक कर सकते हैं।

“तो गणेश पर्व पर इकोफ्रैंडली गणपति लाएं यही है प्रकृति की कामना, ताकि न नरना पड़े कभी दुखों का सामना।”

“प्रकृति का संदेश, मिट्टी के हों गणेश।”

“मिट्टी के गणेश लाएं और घर में ही विर्सजन की परंपरा अपनाएं।”

“पर्यावरण के प्रति बने उदार, तभी बप्पा करें आपका उद्दार। “

Gyanipandit.com Editorial Team create a big Article database with rich content, status for superiority and worth of contribution. Gyanipandit.com Editorial Team constantly adding new and unique content which make users visit back over and over again.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.