“स्टैच्यू ऑफ यूनिटी” भारत के लौहपुरुष को होगी श्रद्धांजली!

Statue of Unity

भारत के लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल के स्मारक के रूप में बनी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी मूर्ति न केवल हमारे महान राष्ट्र के स्वतंत्रता संग्राम के हर व्यक्ति की याद दिलाएगी बल्कि सरदार वल्लभभाई पटेल की एकता, देशभक्ति, समावेशी विकास और सुशासन की दूरदर्शी विचारधाराओं को विकसित करने के लिए हमारे देश के लोगों को  प्रेरित भी करेगी।

यह स्मारक बाकी स्मारकों की तरह सिर्फ एक मूक स्मारक नहीं होगी, बल्कि ये स्टैच्यू पूरी तरह कार्यात्मक होगी। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी सामाजिक-आर्थिक विकास को बेहतर कनेक्टिविटी, स्वास्थ्य और शिक्षा के बुनियादी ढांचे और कृषि विकास के लिए अनुसंधान केंद्र के रूप में भी विकसित करेगी।

Statue of Unity
Statue of Unity

 “स्टैच्यू ऑफ यूनिटी” भारत के लौहपुरुष को होगी श्रद्धांजली – Statue of Unity

31 अक्टूबर को लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का लोकार्पण किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश की विशाल प्रतिमा का अनावरण कर सरदार वल्लभभाई पटेल को श्रद्धांजली अर्पित करेंगे।

आपको बता दें कि यह मूर्ति अहमदाबाद से 200 किमी दूर जनजाति जिले नर्मदा के सरदार सरोवर डैम के पास बनाई गई है। इस मूर्ति का निर्माण काम लगभग पूरा हो चुका है। दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा को बनाने में करीब 44 महीने का समय लगा है।

सरदार वल्लभभाई पटेल स्वतंत्र भारत के पहले गृह मंत्री और स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्होनें भारत को आजाद करवाने की लड़ाई में भी अपना अहम योगदान दिया था और आजादी के बाद भारतीय राजाओं को अपनी रियासत देश में मिलाने के लिए राजी करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

सैकड़ों मजदूरों की मेहनत से बनी दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति

दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी यूं ही नहीं बन गई। सरदार बल्लभ भाई पटेल की मूर्ति , दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति है, जिसकी ऊंचाई 182 मीटर है। इस मूर्ति को बनाने में हजारों मजदूर और सैकड़ों इंजीनियर महीनों तक जुटे रहे।

यही नहीं स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को बनाने में अमरीका, चीन से लेकर भारत के शिल्पकारों ने भी कड़ी मेहनत की। वहीं इस प्रतिमा को बनाने में अन्य खास बात यह है कि हजारों वर्करों में 200 कर्मचारी चीन के थे।।

इस मूर्ति को बनाते वक्त इस बात पर खास ख्याल रखा गया कि सरदार बल्लभ भाई पटेल का चेहरा कैसा हो और भावभंगिमा कैसी हो इसे तय करने में भी काफी समय लग गया। आपको बता दें कि इस प्रतिमा को सिंधु घाटी सभ्यता की कला से बनाया गया है।

वहीं इसकी खास बात यह है कि इस मूर्ति को बनाने में  4 धातुओं का इस्तेमाल किया गया है। जिसमें कई सालों जंग नहीं लगेगी। इसके साथ ही लौहपुरुष के स्टैच्यू में 85 फीसदी तांबा का इस्तेमाल किया गया  है।  स्टैच्यू को ब्रांज रंग का रखा गया है।

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी कि ऊंचाई – Statue of Unity Height

182 मीटर ऊंची इस मूर्ति के निर्माण में 25,000 टन लोहे और 90,000 टन सीमेंट का इस्तेमाल किया गया है। मूर्ति को 7 किमी दूर से देखा जा सकता है। इसकी खासियत यह भी है कि राज्य की असेंबली सीट 182 के बराबर ही इसकी ऊंचाई रखी है।

आपको बता दें कि ऊंचाई में यह अमेरिका के स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी (93 मीटर) का दुगना है। जबकि रियो डी जेनेरियो के क्राइस्ट द रिडीमर टावर से चार गुना ऊंचा है।

सरदार सरोवर नर्मदा बांध, हाइवे और हजारों किमी नर्मदा नहर बनाने वाले राठौड़ की देखरेख में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी एक रिकार्ड समय करीब 44 महीने  में बनकर तैयार हो गई। फिलहाल, अभी तक दुनिया की सबसे बड़ी मूर्ति चीन की बुद्ध प्रतिमा थी जिसकी ऊंचाई 128 मीटर थी।

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी होगा एक टूरिस्ट स्पॉट – Statue of Unity will be a Tourist Spot

आपको बता दें कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को पहले ही गुजरात सरकार द्दारा एक टूरिस्ट स्पॉट के रूप में घोषित किया जा चुका है। यहां इस मूर्ति के अलावा एक एक गार्डन और बोटिंग फैसिलिटीज की सुविधा भी दी जा रही है। इसके साथ ही ये लोगों के लिए एक प्रेरणा स्रोत होगी। इसमें एक हाईटेक म्यूजियम भी होगा, जिसमें देश के स्वतंत्रता सेनानियों के 90 सालों का इतिहास रहेगा।

ये भारत की सबसे ऊंची प्रतिमा तो होगी ही साथ में दुनिया के लिए किसी अजूबे से कम नहीं होगा।

कई सालो सें चल रहा निर्माण काम

आपको बता दें कि साल 2010 में गुजरात सरकार ने इस लंबे प्रोजक्ट की घोषणा की गई थी। जबकि साल 2013 में नरेन्द्र मोदी ने इसकी आधारशिला रखी थी, और इंजीनियरिंग कंपनी एल एंड टी को इसका कांट्रैक्ट दिया गया था। इसके बाद मोदी ने इस काम का जिम्मा सरदार सरोवर नर्मदा निगम के अध्यक्ष और गुजरात के हाइवे व कैनालमैन एसएस राठौड़ को सौंपा गया था।

Loading...

Read More:

I hope these “Statue of Unity” will like you. If you like these “Statue of Unity” then please like our Facebook page & share on Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free android app.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.