Skip to content

सुकन्या समृद्धि योजना | Sukanya Samriddhi Yojana

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश की बेटियों को उच्च शिक्षा देने और सुरक्षा देने के उद्देश्य से सकुन्या समृद्धि योजना – Sukanya Samriddhi Yojana की शुरुआत की। देश में लगातार घट रही महिलाओं की संख्या में कमी आ रही है और महिलाओं पर हो रहे अत्याचार बढ़ रहे हैं जिसको लेकर प्रधानमंत्री मोदी ये कदम उठायें है। इस योजना के माध्यम से पालक अपनी बेटी के भविष्य को बेहतर बना सकते हैं साथ ही उन्हें भविष्य के लिए अच्छी सुविधाएं मुहैया करवा सकते हैं।

बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की है आपको बता दें कि इस योजना का सबसे ज्यादा फायदा लोगों को अपनी बेटियों को उच्च शिक्षा देने में और उनकी शादी में होने वाले खर्च को आसानी से करने में मिलेगा।

Sukanya Samriddhi Yojana

Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना – Sukanya Samriddhi Yojana

बेटियों के लिए बनाई गई इस योजना के तहत अभिभावक न्यूनतम राशि के साथ सुकन्या समृद्धि अकाउंट भी खोल सकते हैं जिसमें जमा की गई राशि पर अधिकतम ब्याज देने का भी प्रावधान है जिससे अभिभावक अपनी बेटी के भविष्य को सुरक्षित कर सकते हैं।

हम सभी जानते हैं कि माता पिता को बेटियों की पढ़ाई और और उनकी शादी में खर्च को लेकर काफी चिंता रहती है। जिसको लेकर मोदी सरकार ने इस योजना के माध्यम से बेटियों के माता पिता की चिंता कम करने की कोशिश की गई है जिससे माता पिता बेटियों की पढ़ाई और शादी में होने वाले खर्च के लिए इस योजना के माध्यम से आसानी से पैसा जोड़ सकते हैं। आपको बता दें कि इस योजना की खास बात यह है कि इसके तहत टैक्स में भी छूट मिलेगी और निवेश में अच्छा ब्याज मिलेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2 दिसंबर 2014 में की थी। जिसका मुख्य मकसद देश में नारी शक्ति को समृद्ध औऱ सशक्त बनाना है।

आपको बता दें कि इस योजना के लाभ वे लोग उठा सकते हैं जो अपनी बेटियों की सपनों को पूरा करना चाहते हैं और उनके भविष्य के लिए बचत करना चाहते हैं।

इस योजना के तहत बेटी के माता-पिता उसके सुनहरे भविष्य के लिए छोटी-छोटी बचत कर सकते हैं और अपनी बेटी के सपने को पूरा सकते हैं आपको बता दें कि सुकन्या समृद्दि योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत चलाई जा रही है।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटी के माता-पिता को अपनी बच्ची का सुकन्या समृद्धि खाता खोलना होगा। सुकन्या समृद्धि खाता खोलना काफी आसान है। खाता आप बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाकर खोल सकते हैं। इसके साथ ही जिन बैंकों में PPF अकाउंट खोलते हैं उन बैंकों में सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोल सकते हैं।

सुकन्या समृद्ध योजना के तहत बच्चियों के माता-पिता के साथ उनके अभिभावकों को वित्तीय सुरक्षा दी जाती हैं, जिससे वे छोटे निवेश पर ज्यादा ब्याज दरों का लाभ उठा सकते हैं।

मोदी सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना में हाल ही में बहुत बड़ा बदलाव किया है। दरअसल इस योजना के तहत जमा होने वाली न्यूनतम राशि को घटाकर 250 रुपए कर दिया है। पहले इसके तहत 1000 रुपए की राशि जमा की जाती थी आपको बता दें कि बालिका के माता-पिता या संरक्षक बेटी के नाम से खाता भी खुलवा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य – Purpose of Sukanya Samriddhi Yojana

  • बेटियों के कल्याण को प्रोत्साहित करने का उद्देश्य।
  • बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा देने का उद्देश्य।
  • बेटियों की शादी में होने वाले खर्च को आसानी से पूरा करने का उद्देश्य।
  • बेटियों के लिए छोटी बजट योजनाओं को बढ़ावा देने का उद्देश्य।
  • बेटियों के लिए सकरात्मक भावना पैदा करने का उद्देश्य।
  • बेटे-बेटी के बीच के फर्क को कम करने का उद्देश्य।
  • लिंगानुपात को कम करने का उद्देश्य।
  • लिंग परीक्षण को रोकने के उद्देश्य।
  • कन्या भ्रूण हत्या पर लगाम लगाने का उद्देश्य।

सुकन्या समृद्धि योजना से लाभ – Benefits of Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत के जहां लोगों के बीच बेटियों को उच्च शिक्षा देने के लिए जागरूकता फैली है वहीं इससे बेटियों को भविष्य को सुनिश्चत करने में मद्द मिलती है। इसके साथ ही इस योजना के माध्यम से बेटियों के आर्थिक सशक्तिकरण को बढ़ावा देने में मदत मिलती है।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बच्ची के माता-पिता छोटी बचत कर बेटी के भविष्य के लिए निवेश कर सकते हैं। इस योजना के तहत खोले गए खाते में अच्छी दर से ब्याज मिलता है जिसका काफी फायदा मिलता है इस योजना के तहत कई और भी फायदे प्राप्त होतें हैं जो कि निम्नलिखित हैं –

  • सुकन्या समृद्धि योजना लड़कियों के आर्थिक सशक्तिकरण को बढ़ावा देती है जिससे लड़कियों की स्थिति मजबूत बनती है।
  • इसके योजना के तहत बेटियों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान की जाती है जब तक लड़की 18 साल की होती है जब तक लड़की के खाते में उसके अभिभावक की तरफ से नियमित रूप से पैसे जमा किए जाते हैं जिससे पैसे की बचत होती है।
  • बेटियों को शिक्षा को बढ़ावा मिला है।
  • बेटियों में आत्मनिर्भर बनने का भाव पैदा होता है।
  • सुकन्या समृद्धि खाते के तहत टैक्स में छूट मिलती है।
  • सुकन्या समृद्धि खाता देश के किसी भी हिस्से में ट्रांसफर किया जा सकता है।
  • इस योजना के तहत जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि को भी 1000 रुपए से घटाकर 250 रुपए कर दिया गया है जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना का फायदा ले सकेंगे।
  • इस योजना के तहत सुकन्या समृद्धि खाते से अच्छी ब्याज दर मिलती है।
  • इस योजना के तहत 10 साल से कम उम्र की लड़की का खाता बैंक में खोला जाता है जिसे 10 साल के बाद लड़की खुद संचालित करती हैं लेकिन इससे पहले लड़की के माता-पिता ही इस खाते को चला सकते हैं।
  • सुकन्या समृद्धि खाते की मैच्योरिटी खाता खोलने की तारीख से 21 साल बाद होती है या फिर बेटी की शादी की तारीख पर भी निर्भर करती है।
  • सुकन्या समृद्धि खाते के समय से पहले बंद करने की अनुमति 18 साल के पूरा करने के बाद दी जाती है लेकिन ये तभी दी जाती है जब लड़की का विवाह हो जाता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोले गए खाते से लड़की की शादी में होने वाले खर्च को आसानी से करने में मद्द मिलती है।
  • इस योजना के तहत बेटियों की शादी के खर्च के लिए या उच्च शिक्षा के लिए खाताधारक की 18 साल की उम्र पूरा करने के बाद आंशिक निकासी के रूप में 50% तक की राशि निकाली जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के नियम ? – Rules for opening Sukanya Samriddhi account?

सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ बेटियों को फायदा दिलवाने के लिए लॉन्च की गई है वहीं इसके तहत सिर्फ बेटियों का खाता खोल सकते हैं। सुकन्या समृद्धि खाता बच्ची के अभिभावक या संरक्षक 10 साल से पहले खुलवा सकते हैं।

इसके तहत बैंक में या फिर पोस्ट ऑफिस में बेटी के नाम खाता खोला जा सकता है। खाता खोलने के कुछ महत्वपूर्ण नियम है जिनका वर्णन नीचे दिया गया है।

एक बेटी के नाम से सिर्फ एक ही सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं।

अभिभावक या संरक्षक दो बेटियों के अलग-अलग एक सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं।

जुड़वा बेटियों के लिए सुकन्या समृद्धि खाते खोलने के लिए जन्म संबंधी प्रमाणपत्र देना होगा जिसके यह खाता खोला जा सकता है।

किन-किन बैंको में सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं ? – Which banks can open Sukanya Samriddhi account?

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटी के अभिभावक या संरक्षक जिन बैंकों में खाता खोल सकते हैं उनकी लिस्ट नीचे दी गई है।

  • भारतीय स्‍टेट बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक, सिंडिकेट बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक
  • ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
  • स्‍टेट बैंक ऑफ मैसूर
  • स्‍टेट बैंक ऑफ हैदराबाद
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • देना बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • केनरा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र
  • स्‍टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर
  • स्‍टेट बैंक ऑफ बीकानेर और जयपुर
  • स्‍टेट बैक ऑफ पटियाला
  • विजया बैक
  • इंडियन ओवसीज बैंक
  • इंडियन बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • एक्‍सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • इलाहाबाद बैंक

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए महत्वपूर्ण जानकारी – Important information for opening Sukanya Samriddhi account

  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत जन्म से लेकर 10 साल तक की बच्ची का खाता खोला जा सकता है।
  • इस योजना के तहत जमा की जाने वाली रकम की न्‍यूनतम राशि 250 रुपए है। आपको बता दें कि पहले ये राशि 1000 रुपए थी जिसे हाल ही में मोदी सरकार ने घटा दिया है।
  • सुकन्या समृद्धि खाते में पैसा खाता खुलने के 14 साल तक जमा करवाना होगा।
  • यह खाता बेटी के 21 साल के होने पर ही मेच्योर होगा।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटी की शिक्षा या उसकी शादी के लिए 50 प्रतिशत राशि बेटी के 18 साल के होने पर निकाली जा सकती है।
  • सुकन्या समृद्धि खाता 21 साल के बाद बंद हो जाता है जिसका पूरा पैसा बेटी के अभिभावक या संरक्षक को मिलता है। वहीं अगर बेटी की शादी 18 से 21 साल के बीच में होती है तो इस खाते को तभी बंद कर दिया जाता है।
  • सुकन्या समृद्धि खाते के तहत अगर खाते में पैसा जमा करने में देरी होती है तो इसके लिए महज 50 रुपए की राशि पैनल्टी के तौर पर लगाई जाएगी।

उदाहरण के जिए समझिए सुकन्या समृद्धि खाते से मिलने वाले फायदे को –

  • अगर आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत 2018 में 1000 रुपए की राशि से अकाउंट खोलते हो तो आपको 14 साल तक यानि की 2032 तक हर साल 12 हजार रुपए की राशि इस खाते में जमा करनी होगी।
  • वहीं अगर इस राशि पर हर साल 8.6 प्रतिशत से ब्याज मिलता रहेगा तो आपकी बच्ची जब 21 साल की होगी तब उसे 6,07128 रुपए मिलेंगे। आपने ध्यान दिया होगा कि आपने महज खाते में कुल 1.68 लाख रुपए ही जमा करवाए हैं लेकिन बाकी के 4, 39,128 रुपए ब्याज के मिले जिसका इस्तेमाल आप बेटी की शादी या फिर उसकी शिक्षा के लिए कर सकते हैं।

बंद सुकन्या समृद्धि खाते को दोबारा शुरू कैसे करें? – How to restart the closed Sukanya Samriddhi account?

50 रुपए का जुर्माना देकर किसी भी बंद हो चुके सुकन्या समृद्धी खाता को फिर से शुरु किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत मिलने वाली ब्याज दर 2018 ?

सुकन्या समृद्धि खाते की वर्तमान ब्याज दर 8.1 प्रतिशत है, जो कि 01 जनवरी 2018 से लागू की गई है। आपको बता दें कि भारत सरकार हर तिमाही में नई ब्याजदर की घोषणा करती है। योजना शुरू होने से लेकर अब तक की ब्याज दरें नीचे लिखी गईं हैं –

  • 1 अप्रैल 2014 से 31 मार्च 2015 तक — 9.1 %
  • 1 अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2016 तक— 9.2 %
  • 1 अप्रैल 2016 से 30 सितंबर 2016 तक— 8.6 %
  • 1 अक्टूबर 2016 से 31 दिसंबर 2016 तक— 8.5 %
  • 1 जुलाई 2017 से 31 दिसंबर 2017 तक— 8.3 %
  • 1 जनवरी 2018 से 30 सितंबर 2018 तक— 8.1 %
  • सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट कैसे खोलें ?

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी बैंक में जाकर एक फॉर्म भरना होगा। जिसके लिए आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए जिनका वर्णन नीचे दिया गया है।

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज- Documents required to open Sukanya Samriddhi Account

  • बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र (एड्रेस प्रूफ)
  • पहचान प्रमाण पत्र (आईडी प्रूफ)
  • अभिभावक के दो फोटो

आपको बता दें कि सुकन्या समृद्धि अकाउंट आप पोस्ट ऑफिस में भी खोल सकते हैं इसके अलावा ये ऑनलाइन भी खोला जा सकता है आप खाता खोलने के लिए इस लिंक

https://rbidocs.rbi.org.in/rdocs/content/pdfs/494SSAC110315_A3.pdf

पर जाकर फॉर्म भर सकते हैं और सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोल सकते हैं। जब आपका अकाउंट खुलता है तो बैंक, पोस्ट ऑफिस आपको एक पासबुक मुहैया करवाती है जिसमें आप अकाउंट से संबंधित सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

इसके साथ ही नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर भी आप अकाउंट खोल सकते हैं। आपको बता दें कि इस योजना के तहत निवेश करने पर आवेदक को टैक्स में छूट मिलती है इसके साथ ही ब्याज भी अच्छी दर पर प्राप्त होता है।

आपको बता दें कि इस योजना के तहत बैंक आपको 1 जनवरी 2018 से 8.1 प्रतिशत की दर से ब्याज दे रहा है इसके साथ ही सुकन्या समृद्धि योजना की खास बात यह है कि मैच्योरिटी पर मिलने वाली रकम भी टैक्स फ्री होती है।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अगर आपका सुकन्या समृद्धि खाता खोला गया है और 21 साल से पहले ही बच्ची की मृत्यु हो जाती है तो उस केस में खाता बंद कर दिया जाता है और सारी राशि अभिभावक को सौंप दी जाती है। वहीं नए नियम के मुताबिक बेटी की शादी पर 100 फीसदी रकम निकाल सकते हैं जबकि खाता मैच्योर होने पर इस पर कोई भी ब्याजा नहीं दिया जाएगा।

सुकन्या समृद्धि खाते के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें – How To Apply Online For Sukanya Samriddhi Account

  • सुकन्या समृद्धि खाते के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको 28 नेशनल बैंकों में से किसी भी बैंक की वेबसाइट में जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा इसके लिए आपको अपने जरूरी दस्तावेजों की जानकारी भी देनी होगी। जिसे बैंक की तरफ से प्रमाणित किया जाएगा।
  • इसके बाद सभी जानकारी भरने और जरूरी दस्तावेजों को अपलोड करने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • वहीं आवेदन पत्र जमा करने के बाद आप पहली राशि बैंक खाते में जमा कर खाता चालू कर सकते हैं। पैसा जमा करने के लिए आप नेट बैंकिंग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • खाता ओपन होने के पश्चात जब भी आपके खाते में पैसे जमा करते हैं। आपको SMS द्वारा सभी जानकारी प्रदान कर दी जाती है।

Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन कैसे करें –

अगर आप इस योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में जाना होगा।

इसके बाद बैंक या पोस्ट ऑफिस से आपको एक फॉर्म प्राप्त करना होगा जिसमें बैंक आपसे कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की जानकारी भी लेगा इसके साथ ही आपको समृद्धि खाते का फॉर्म प्राप्त करना होगा वहीं आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही भरनी होगी।

इसके बाद आपको आवेदन पत्र में जरूरी सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी संलग्न कर आवेदन पत्र बैंक में या पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा। ये प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपका अकाउंट में खाता खोल दिया जाएगा और आपको बैंक की तरफ से एक पासबुक भी मिलेगी जिसमें आपके सभी लेन-देन की जानकारी होगी।

सुकन्या समृद्धि योजना वाकई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहनीय पहल है। इस योजना के माध्यम से बेटियों को सुरक्षा देकर उनके भविष्य को सुनिश्चित किया जा सकता है ।वहीं बड़े स्तर पर लोग इस योजना का फायदा ले रहे हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana अकाउंट में आप कब तक पैसा जमा कर सकते हैं – How long can you deposit money in the Sukanya Samriddhi Yojana account?

अगर आपने अपनी बेटी के नाम से सुकन्या समृद्धि खाता खोला है तो आप खाता खोलने की तारीख से लेकर 15 साल पूरा होने तक खाते में पैसे जमा कर सकते हैं। इसके बाद खाता खोलने की तारीख से 16 साल की शुरुआत और 21 वर्ष के अंत तक आप किसी भी तरह की की धनराशि जमा नहीं कर सकते हैं।

वहीं इसकी खास बात यह है कि आपको कि 16 साल से लेकर 21 साल तक ब्याज मिलता रहेगा।

Source and More Information: Website

Read More:

Hope you find this post about ”Sukanya Samriddhi Yojana” useful. if you like this articles please share on Facebook & Whatsapp. and for the latest update download : Gyani Pandit free android App

2 thoughts on “सुकन्या समृद्धि योजना | Sukanya Samriddhi Yojana”

    1. धन्यवाद मुस्कान जी आपने हमारे इस लेख को पढ़ा और इस पोस्ट को सराहा। हमें उम्मीद है कि आगे भी आप हमारे पोस्ट को पढ़ते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.