चिंता को दूर करने के उपाय | Stress Management In Hindi Tips

अपनी चिंता को दूर करने के आसान तरीके – Stress Management Tips – तांत्रिक रूप से चिंता भविष्य में होने वाली घटनाओ को लेकर होती है। हम कभी-कभी डरावने अनुमानों के साथ भविष्य का अंदाज़ा लगाते है जो कभी भी सच के आधार पर नही होते। काम पर ध्यान न होना, दैनिक जीवन में चिंता के शारीरक और भावनात्मक लक्षण ह्रदय की धड़कन का बढ़ना, लगातार सोते रहना, पढाई में ध्यान न होना और दोस्त, परिवार और अपने सहकर्मियों की बातो पर ध्यान ना होना है। चिंता और दुःख भविष्य में आने वाली मुश्किलों (जो हमेशा सही नही होती) की पहले से दी हुई शारीरिक और भावनात्मक प्रतिक्रिया है। चिंता की वजह से हमारे जीवन में कयी मुश्किलें आती है और इसके चलते हम कयी भूल भी कर देते है जैसे कही बाहर जाते समय चाबी भूल जाना और सुबह बिना वजह की घाई करना इत्यादि।  यहापर कुछ चिंता को दूर करने के उपाय – Tension Free TipsStress Management In Hindi दिये है। आप यह आसान उपाय अपनाकर अपनी चिंता को आसानी से दूर कर सकते हो।

“अप्राकृतिक कर्म बहुत जादा तनाव पैदा करता है।”

Tension Free Tips Stress Management

चिंता को दूर करने के आसान उपाय – Tension Free Tips Stress Management In Hindi

1. स्वप्न फलक बनाने की कोशिश करे –

चिंता हमेशा भविष्य को लेकर ही होती है जो हमें डरावना और काला दिखायी देता है इसीलिए अपने दिमाग के विचारो को बदलने की कोशिश करते रहे। जब भी आपको लगे की कोई चिंता आपको सताये जा रही है तब दिमाग में भविष्य को लेकर अच्छे सपने देखने की कोशिश करे, इससे आपकी 90% चिंता दूर हो जाती है। सपने देखने की जगह आप भविष्य में अपने लिए किसी अच्छे और खुबसूरत लक्ष्य का निर्माण भी आप अपने दिमाग में कर सकते है। आप e-विज़न बोर्ड Pinterest या Pinspiration का उपयोग कर भी दिमाग में किसी प्रोजेक्ट का विज़न का निर्माण कर सकते हो। और जब भी आप स्वप्न फलक बनाओ तब T.H.I.N.K. साधन का उपयोग जरुर करे, इसका मतलब सच (True), सहायक (Helpful), प्रेरणादायक (Inspiring), जरुरी (Necessary) और प्रकार (Kind) से है।

2. हँसी –

जब आपका काम पूरा हो जाये तब बेहतर होगा की आप थोडा ब्रेक लेकर आराम कर लेवे और उस समय में हँसने की कोशिश करे और हँसते रहे।

3. पर्याप्त नींद ले –

पर्याप्त नींद ना होने की वजह से आपको कभी-कभी गंभीर समस्या भी हो सकती है। इसका असर सिर्फ आपके शारीरिक स्वास्थ ही नही बल्कि पूरी नींद ना होने से आपकी चिंता और तनाव और भी बढ़ जाती है। और कभी-कभी तो इससे कष्टदायक समस्या भी हो सकती है और चक्कर भी आ सकते है। इसीलिए जब भी आपको चिंता हो तो 7 से 9 घंटो तक सोने की कोशिश करे। ऐसा करने से आपका दिन चिंतामुक्त हो जायेगा।

4. दिमाग को अस्त-व्यस्त ना करना –

शारीरिक अस्तव्यस्त = मानसिक अस्तव्यस्त। दिमाग में एकसाथ बहुत सारे काम होने से आराम करना मुश्किल हो जाता है और आप लगातार कभी न खत्म होने वाले काम करते रहते हो। इसीलिए कामो को बाटकर उन्हें पर्याप्त समय देने की कोशिश करे और हर काम होने के बाद थोडा सा आराम कर लेवे। इससे आपके दिमाग पर ज्यादा प्रेशर नही पड़ेगा और आप और आपका दिमाग दोनों ही चिंतामुक्त रहेंगे। ऐसा करने से आपका दिमाग भी स्वस्थ रहेगा और चिंता की भी कोई गुंजाईश नही होगी।

5. साँस लेने की कोशिश करना –

दर्द भरे अटैक से बचने के लिए साँस महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। जब भी आपको चिंता या तनाव की अनुभूति हो तब धीरे-धीरे साँस लेते रहे, इससे आपका दिमाग और आपका शरीर दोनों शांत रहेंगे। लगातार और लंबी साँस लेते रहने से आपके दिमाग को शांत रहने का संदेश मिलता है। अभ्यास से यह पता चला है की साँस लेने के तरीके का सीधा असर आपके दिमाग और आपके शरीर पर होता है।

6. शांत रहे –

जब आप पूरी तरह से चिंता से ग्रस्त हो तब शांत ही रहने की कोशिश करे। मतलब ना ही किसी फोन का उपयोग करे, ना ईमेल करे, ना टीवी देखे, ना न्यूज़ देखे और कुछ भी ना करे। लोगो को इस बात का अंदाज़ा होने दीजिये की आप चिंता में नही है और फ्री है। क्योकि अभ्यास से यह पता चला है की शोरगुल से आपकी चिंता का स्तर और भी बढ़ जाता है। इसीलिए दैनिक जीवन में काम करने के साथ-साथ कुछ समय शांत रहना भी बहुत जरुरी है।

7. सही और अच्छा खाना खाये –

चिंता सीधे हमारे शरीर पर प्रहार करती है – हमारी भूख बदल सकती है या हम लगातार किसी खाद्य पदार्थ की लालसा करते रहते है। लेकिन शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आपको न्यूट्रीशन से भरपूर खाद्य जैसे विटामिन बी और ओमेगा 3 एस से युक्त खाद्य और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थ खाने की जरुरत है। अभ्यास से यह पता चला है की विटामिन बी मानसिक स्वास्थ के लिए अच्छा है और ओमेगा 3 एस से आपकी चिंता भी दूर होती है। जबकि कार्बोहाइड्रेट से आपका शरीर शांत और स्वस्थ रहता है। और अभ्यास से यह भी पता चला है की शक्कर युक्त खाद्य पदार्थ खाने से आपकी चिंता और आपका तनाव और भी बढ़ सकता है।

8. खेलने की कोशिश करे –

चिंता के समय आप कयी पालतू जानवरों के साथ समय बिता सकते हो या उनके साथ खेल भी सकते हो। जबतक ऑफिस से हमें रिसेस (भोजन) की छुट्टी नही मिलती तबतक आपको खुद की जिम्मेदारी स्वयं ही उठानी पड़ेगी। इसके लिए आप अपने किसी दोस्त के पालतू कुत्ते को कही बाहर टहलने भी ले जा सकते हो या फिर किसी नवजात शिशु के साथ खेल भी सकते हो।

उपर दिए गए उपायों को अपनाकर आप आसानी से अपनी चिंता से छुटकारा पा सकते हो।

नोट – यदि आपको यह लगता है की आप गंभीर चिंता से लगातार परेशान रहते हो तो तुरंत अपने मेडिकल प्रोफेशनल से बात करे। चिंता के लक्षणों को ठीक करने के कयी आसान उपाय है। लेकिन आप अपनी रोजमर्रा की चिंता को दूर करना चाहते हो तो आप उपर दिए गए उपायों को अपनाकर उन्हें दूर कर सकते हो।

यह बेहतरीन लेख हमें शिल्पा जी द्वारा प्राप्त हुआ हैं। उनके और लेख आप Lifestylehindi.com इस वेबसाइट पर देख सकते हैं।

If You Like Stress Management Tips Then More Article For You – 

    1. खुद को बेहतर बनाने के टिप्स
    2. Success steps and tips in Hindi
    3. Depression Treatment
    4. Self Confidence

Note :- अगर आपको Tension Free Tips Stress Management In Hindi अच्छी लगे तो Please इसे आपके दोस्तों के साथ Share कीजिये.
Note :- E-MAIL Subscription करे और पायें Stress Management In Hindi Tips And More Personality Development Article आपके ईमेल पर.

Loading...

4 COMMENTS

  1. रंजीत कुमार बबलूजी संगठन सचिव सूचना जनजागरन मंच

    सकारात्मक लेख

    • धन्यवाद रंजीत जी, इस लेख में दिए गए सुझावों पर अगर सही में अमल किया जाए तो चिंता से मुक्ति मिल सकती है और कोई भी इंसान सुकून भरी जिंदगी जी सकता है।

    • Thanx for reading our post on gyanipandit,.com. One of the most important thing in today’s life is to live stress-free. These tips will help you to live a stress-free life.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.