4 Steps For Success – सफलता का फार्मूला

Steps For Success

दोस्तों, मै खुद को हमेशा एक सवाल पूछता हु की, ”सफलता मिलने के लिए कोई फार्मूला है ?” “Successful लोग कौनसा ऐसा रास्ता चुनते है जिसमे से उनको जो चाहिए वो मिलाता है?”

Success

Success की 4 Steps (Tips) in Hindi – सफलता का फार्मूला

बहोत से Successful लोगो का Study, Books, और Seminar में से मेरे समज में जो आया वो आज मैं आपसे शेयर कर रहा हु. Successful लोग अलग-अलग Area’s मे क्यो न हो और उनकी लक्ष्य पूरा करने की Planing अलग-अलग भी होगी फिर भी उनमे कुछ तो Similar है और वो हैं उन्हें जो चाहिए वो पाने के लिए वो अलग Step में अलग कदम(Steps) उठाते है. और मै इस Steps को “Success की 4 steps” कहता हु.

Success पहली Step – आपका लक्ष्य Clear रखो.

आपको जो चाहिए वो पाने के लिए, पहली Step मतलब आपको Exactly क्या चाहिए ये मालूम होना. पर बहोत से लोगो को उनको जो चाहिए वो मिलाता नहीं क्योकि उन्हें Exactly क्या चाहिए ये पता नहीं होता. बहोत से लोग कहते है की उन्हें Successful बनना है, पर जब उन्हें पूछा की मतलब Exactly क्या ? तब बहोत से लोगो का जवाब होता है की “पक्का क्या वो पता नहीं“ या उनका कुछ बेमतलब सा जवाब होता है की “मुझे सुखी होना है“ “मुझे बहोत से पैसे कमाने है“ “मुझे मेरे सभी Problem Solve करने है “ और बहोत कुछ…. आपको ये समजना चाहिये की जब तक आपको आपका लक्ष्य ही पता न हो तब तक आपके पास की क्षमता, समय, और इतर उपकरणों का Use कैसे करना यही आपको समझेंगा नहीं Successful लोगो का यही सबसे Important गुण होता है ये मुझे मेरे खोज से समज मे आया. उनको Exactly  क्या चाहिए उनकी Future के बारे मे Planing उनके Mind मे क्लियर होती है और उसी Way में वो कोशिश करते है, सचिन तेंडुलकर को उसके बचपन से एक ही पता था की “मुझे क्रिकेट खेलना है और जितना हैं, बस्स “ Future के बारे उसके मे Mind में Picture क्लियर थी और इस लिए वो रातदिन सिर्फ एक ही बात जीता था वो मतलब “क्रिकेट”. उसके वजह से आज लोग उसे क्रिकेट का भगवान् कहते हैं. इसी तरह अगर और Successful लोगो का Study करे तो यही Similar चीज महसूस होंगी की उनके लक्ष्य क्लियर थे.

Success दूसरी Step – लक्ष्य पूरा करने के लिए Planing बनाये.

Planing बनाना मतलब Exactly क्या करना है ? Planing करना मतलब आपका लक्ष्य पूरा करने के लिए अपने काम को Step By Step लगाना.

Example:– अगर आपको Bombay To Goa Travel करना होंगा तो आपको कुछ चीजे Step By Step करनी होंगी आपको पहले Bombay स्टेशन आकर टिकिट निकलना होंगा फिर प्लेटफार्म पर जाना होंगा, ट्रेन पकडनी होंगी और Goa स्टेशन पर उतरना होंगा ये Step By Step Work आपको करना होंगा. इसी तरह आपका लक्ष्य पूरा करने के लिए जो Planing करोंगे उसकी Step बहोत Important है और Planing करने से पहले सही खोज करनी होगी और फिर Planing करनी चाहिए Planing ये Writing में होनी चाहिए. की आगे मुझे क्या steps उठाने हैं, इस तरह आपका आधा काम आसान होंगा.

Success तीसरी Step – Action लीजिये – अभी लीजिये.

तीसरी Step मतलब आपका लक्ष्य पूरा करने के लिए आपके Planing के बाद Action लेना और यही Step आपको आपके लक्ष्य के पास लेकर जाती है Successful लोग और सपना देखनेवालो में अगर कोई Different होंगा तो वो है Action लेना. और Action लेने के लिए Mental और Physical तरीके से Strong होना बहोत जरुरी होता है. खुद के Emotion  पे काबू पाके, जोश और आत्मविश्वास के साथ लक्ष्य के दिशा मे Action लेना जरुरी है.

Success चौथी Step – सीखिए और डटे रहिये.

जब आप अपने Planing के अनुसार Action ले रहे है तब सिर्फ दो चीजे होने की Chances होती है. एक – आप आपका लक्ष्य पूरा करेंगे और दो – आपको जो Acceptation होती है वो पूरी नहीं होंगी कुछ तो आपके Acceptation से अलग होंगा. आप में से बहोत से लोग इसे असफलता कहते है. असफलता ये सबके जीवन में आती है क्या ? Yes.  आप मुझे एक ऐसा Successful इंसान ढूंढके दिखाओ जिसने कभी असफलता नहीं देखी है. इसके अलावा जितना ज्यादा Step उतना ही असफलता का प्रमाण ज्यादा और इसलिए मुझे मेरे खोज में ऐसा समझ में आया की इंसान जितना Successful होता हैं. उसके जीवन में असफलता का प्रमाण उतनाही ज्यादा. कुछ लोग असफलता मिलने पर दूसरी चिजो को जिम्मेदार ठहराते है उनको लगता है की लक्ष्य पूरा करना उनके लिए बहोत मुश्किल है वो निराश होकर Work करना ही छोड़ देते है. वो कहते है “मैंने कोशिश की और फँस गया अब और नहीं “ सभी Successful लोग इसपर उपाय ढूढ़ते है. जब वो अपना लक्ष्य पूरा नहीं कर पाते तब वो उसको असफलता नहीं मानते, वो उनमे से कुछ नया सिखते है, उन्होंने बनाया हुआ Planing सही नहीं होंगा या उनके Steps में कुछ छुटा होंगा वो नई सिख लेकर अपने Planing में बदलाव लाते है और फिर Steps लेते है.

Friends, आपने ये बात ध्यान में रखना चाहिए की जब-जब आपको असफलता मिलती है तब-तब आपको उसमे से कुछ नया सिखना चाहिए. आपके कोशिश में कुछ बदलाव लाने चाहिए. जब तक की आपका लक्ष्य पूरा नहीं होता. ऐसा कहा जाता है की, Thomas Edison ने Electric Light Bulb की खोज लगाने के लिए पुरे 10,000 बार कोशिश की जब उन्हे इस बारे मे पूछा गया तब उन्होंने कहा था की “ हर एक असफल कोशिश के बाद मै मेरे Technique में कुछ बदलाव लाया और मेरा लक्ष्य पूरा हुआ. पहले 9,999 कोशिशो में मै Light Bulb कैसे नहीं बनता, ये सिखा!

और अधिक लेख :

  1. सफलता के लिये ज्ञान की बाते
  2. जीवन में सफलता पाने के 11 सूत्र
  3. 5 प्रेरणादायक जीवन मंत्र
  4. सोच जो आपकी जिंदगी बदल सकती है !
  5. Foodking Sarathbabu ” फर्श से अर्श तक “

Note : अगर आपको हमारे Success 4 Steps And Tips In Hindi अच्छे लगे तो जरुर हमें Facebook पे Like और Share कीजिये.
Note:- E-MAIL Subscription करना मत भूले.

Loading...

17 COMMENTS

  1. Thank you sir mugh 4 steps formulla success ka bahut achha laga .agar niyamo ka palan karke success hota hu to iska shhre apko jata h. Kripya esi jankari dekar hamara margdarsan karte rahe.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.