क्रिकेटर व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण की बायोग्राफी | V. V. S. Laxman Biography

V. V. S. Laxman – व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण एक भूतपूर्व भारतीय क्रिकेटर और वर्तमान में एक बेहतरीन क्रिकेट कमेंटेटर है। उन्हें भारत के सर्वोत्तम और प्रसिद्ध बल्लेबाजो में से एक माना जाता है।

VVS Laxman क्रिकेटर व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण की बायोग्राफी – V. V. S. Laxman Biography

व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण का पूरा नाम वन्गीपुरापू वेंकट साईं लक्ष्मण है। उनका जन्म 1 नवम्बर 1974 को आंध्रप्रदेश प्रदेश के हैदराबाद में एक प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. शांताराम और डॉ. सत्याम्भा के यहाँ तेलगु ब्राह्मण परिवार में हुआ।

उनका विवाह जी.आर. शैलजा के साथ संपन्न हुआ। उनकी दो संतान है, जिनका नाम सर्वजीत और अचिंता है।

व्ही.व्ही.एस लक्ष्मण भूतपूर्व भारतीय राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के परपोते है।

व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण का करियर – V. V. S. Laxman Career

लक्ष्मण का क्रिकेट करियर बेहतर रहा है। गेंदबाजों को लाभदायी मैदान पर भी उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया है।

ऑस्ट्रेलिया, न्यू ज़ीलैंड और वेस्ट इंडीज की गेंदबाजों को सहायक पिचो पर भी उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी कर गेंदबाजों को परेशान किया है।

लंबे समय तक व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण भरतीय टेस्ट टीम का हिस्सा बने रहे, जिसमे ज्यादातर समय वे राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर के साथ खेले।

भारतीय खेमे में उन्हें ‘लछु भाई’ के नाम से जाना जाता है और उनके नाम कुल 17 टेस्ट शतक है। तेज और स्पिन दोनों तरह के गेंदबाजों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन कर कयी बार लक्ष्मण ने भारत को जीत दिलाई है।

निचले क्रम के बल्लेबाजो के साथ वे आसानी से साझेदारियाँ कर लेते थे। इसका उत्तम उदाहरण हमें 2010 में मोहाली में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गये मुकाबले में दिखा।

घायल होने के बावजूद उन्होंने सुरेश रैना की सहायता से प्रज्ञान ओझा के साथ मिलकर लंबी साझेदारी की और भारत को मैच हारने से भी बचाया।

1998 में ज़िम्बाब्वे के खिलाफ लक्ष्मण ने एकदिवसीय मैचों में पर्दापण किया और पहले ही मैच में तीन गेंदों के सामना कर वे पोमी म्बंग्वा का शिकार बने। अपने पर्दापण मैच में उन्होंने तीन गेंदों का सामना कर शून्य रन बनाए।

इसके बाद बहुत से बार उन्हें वापसी का मौका मिला लेकिन उनका वे फायदा नही उठा सके। एकदिवसीय मैचों में उनके कुल चार शतको में से तीन शतक 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गयी व्ही.बी. सीरीज के चार मैचों में आए।

इस बाद का खेद उन्हें लगातार रहेगा की लंबा करियर होने के बावजूद वे भारत की तरफ से एक भी वर्ल्ड कप नही खेल सके।

खेल के लंबे प्रारूप में व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलना पसंद है। अपने 17 टेस्ट शतको में से 6 उन्होंने इसी टीम के खिलाफ बनाए।

2012 में न्यू ज़ीलैंड सीरीज में अपना चुनाव होने के दो दिन बाद ही उन्होंने सन्यास की घोषणा कर दी।

फ़िलहाल वे हैदराबाद फ्रैंचाइज़ी के मेंटर और BCCI द्वारा स्थापित क्रिकेट सलाहकार समिति के सदस्य भी है।

व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण को मिले हुए अवार्ड – V. V. S. Laxman Awards

  • 2001 में भारत सरकार ने खेल में उनकी उपलब्धियों को देखते हुए उन्हें ‘अर्जुन अवार्ड’ से सम्मानित किया।
  • 2002 में विस्डन क्रिकेटर ऑफ़ दी इयर बने।
  • 2011 में उन्हें भारत के चौथे सर्वोच्च पुरस्कार ‘पद्म श्री’ से सम्मानित किया गया।
  • 4 फरवरी 2015 को नयी दिल्ली की तेरी यूनिवर्सिटी ने उन्हें डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया।

Read:

Note: If you have more information, or if I have anything wrong then I will keep updating this as soon as we write to him in a comment.
If you like it, please share it on Whatsapp and facebook.
E-MAIL Subscribes and Find Essay With Short Biography About V. V. S. Laxman In Hindi And More New Article On Your Email.

2 thoughts on “क्रिकेटर व्ही.व्ही.एस. लक्ष्मण की बायोग्राफी | V. V. S. Laxman Biography”

    1. Editorial Team

      Your statement is completely true. V V S Laxman is a great Indian player. He represented India in several international matches. His performance in test cricket is unparallel. His batting style was totally controlled and perfect. You may read other Indian players biography on our website gyanipandit.com.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *