क्या होता है ‘Tally’? जानिए इसे विस्तार से..

‘Tally Software’ से जुडी अहम जानकारी 

आप में से कुछ लोग वाणिज्य क्षेत्र से संबंधित होंगे जिसमे आप छोटे बडे के स्तर का व्यवसाय करते होंगे या फ़िर अकाउंट से जुडे नौकरी की चाह भी रखने वाले छात्र होंगे जिन्हे भविष्य में अच्छे रोजगार के विकल्प की तलाश होंगी। कंप्यूटर की मदद से अकाउंट को नियंत्रित करने हेतू टैली सॉफ्टवेयर काफी जाना माना और बेहतरीन विकल्प साबित हुआ है, जिसके वजह से व्यवसाय तथा दफ्तर में अकाउंट से जुडे कार्य काफी आसान और सटीक होने में मदद मिली है।

वैसे तो बहुत से लोगो ने टैली सॉफ्टवेयर के बारे में सुना होता है, पर अगर सचमें आपको इसका संपूर्ण ज्ञान प्राप्त करने की इच्छा हो तो अनिवार्य तौर पर इस कोर्स को पुरा करना आवश्यक बन जाता है। इस लेख द्वारा आपको “टैली” के बारे में कुछ बुनियादी बातो को जानने को मिलेगा, जिसका हर किसी व्यक्ती को लाभ होगा साथमे इस सॉफ्टवेयर के विषय में आपकी दिलचस्पी और बढ जायेगी।

यहाँ हम आपको टैली सॉफ्टवेयर का संक्षेप में परिचय और इतिहास, टैली के उपयोग, विभिन्न वर्जन के नाम, ये सॉफ्टवेयर किस प्रकार से और कौनसे उपकरणो में कार्य करता है इत्यादि पह्लूओ के बारे जानकारी देंगे।

क्या है ‘Tally’? जानिए इसे विस्तार से.. – What is Tally in Hindi

What is Tally in Hindi
What is Tally in Hindi

प्रमुख मुद्दे :-

  1. आखिर टैली सॉफ्टवेयर क्या होता है? जानिए संक्षेप मे – About Tally in Hindi
  2. टैली सॉफ्टवेयर का इतिहास – History of Tally in Hindi
  3. टैली सॉफ्टवेयर के विभिन्न वर्जन – Types of Tally
  4. सॉफ्टवेयर टैली की विशेषताएँ – Tally Software Features.
  5. टैली सॉफ्टवेयर के फायदे और उपयोग – Benefits and Uses of Tally Software
  6. कोर्स का अवधी (टैली सॉफ्टवेयर) – Tally Course Duration
  7. टैली कोर्स का शुल्क – Tally Course Fees
  8. टैली कोर्स हेतू आवश्यक पात्रताए – Eligibility for Tally Course
  9. कोर्स का पाठ्यक्रम(टैली सॉफ्टवेयर) – Syllabus of Tally Course
  10. टैली कोर्स के बाद मौजूद रोजगार विकल्प – Job Opportunities after Tally Course
  11. टैली कोर्स उत्तीर्ण करने के बाद दी जानेवाली सैलरी – Tally Job Salary
  12. संक्षेप मे जानकारी’टैली विथ जी.एस.टी’ के बारे मे – Tally with GST Course
  13. टैली सॉफ्टवेयर के बारे मे अधिकतर बार पुछे जाने वाले सवाल – Tally Quiz Questions with Answers

आखिर टैली सॉफ्टवेयर क्या होता है? जानिए संक्षेप मे – About Tally in Hindi

आजके आधुनिक युग में जहाँ पर अधिकतर कार्य तकनीक के सहायता से पुरे किए जाते है जिसमे विभिन्न सॉफ्टवेयर को व्यवसाय और अन्य क्षेत्रो में प्रमुखता से उपयोग में लाया जाता है। ठीक इसी तरह कुछ दशको पहले हिसाब किताब, बिलिंग, रसीद इत्यादि को कागज पर हाथो से बनाने का अधिक प्रचलन हुआ करता था।

कागज पर लिखे हुए हिसाब किताब में बहुत सारी कमियाँ तो थी, साथ ही सटीक तौर पर परिणाम प्राप्त करने में भी दिक्कते आती थी इसिलिए टैली सॉफ्टवेयर का आविष्कार किया गया जिसके द्वारा कंप्यूटर की मदद से अकाउंट के लगभग बहुत से कार्य सटीक तौर पर संपन्न होने लगे।

आपको बताना चाहेंगे की टैली सॉफ्टवेयर की मदद से कंप्यूटराइज्ड अकाउंटिंग द्वारा काफी गतिशील और सटीक तौर पर परिणाम प्राप्त होते है, जिस से प्रतिदिन के हिसाब किताब काफी आसान होते है।

आगे हम जानेंगे की टैली सॉफ्टवेयर का आविष्कार कैसे हुआ था साथ ही इसका इतिहास क्या है, जिससे आपको इस विषय को समझने मे और ज्यादा आसानी हो जाएगी।

टैली सॉफ्टवेयर का इतिहास – History of Tally in Hindi

जैसा के हमने आपको बताया है के पहले के जमाने मे कागज पर हिसाब किताब रखने का प्रचलन होने के कारण बहुत बार सटीक तौर पर कार्य करने मे दिक्कत होती थी, जिसमे हिसाब किताब को सही तरीके से रखने संबंधी मुश्किलो का सामना करना पडता था।

कुछ इस तरह की तकलीफो का सामना टैली के जनक श्री. श्याम सुंदर गोयनका जी को भी हुआ करता था, जिनका टेक्स्टटाइल का कच्चा माल सप्लाय करने का व्यवसाय था। हर बार इन्हे हिसाब किताब के आंकडे मिलाने मे दिक्कते हो रही थी साथ ही कागज पर हुए हिसाब किताब को संभालना भी जोखीम भरा कार्य था।

इन सभी मुश्किलो का हल निकालने हेतू श्री. गोयनका जी ने कंप्यूटराइज्ड अकाउंटिंग के लिए एक सॉफ्टवेयर का आविष्कार किया, जो के उस समय का बेहतरीन आविष्कार साबित हुआ क्योंकी ऐसा कोई भी विकल्प उस जमाने मे मौजूद नही था।

श्री.श्याम सुंदर गोयनका जी ने अपने सुपुत्र श्री. भारत गोयनका जी के साथ मिलकर साल १९८६ मे एम.एस डॉस (MS-DOS) नामक सॉफ्टवेयर बनाया जो के आगे चलकर टैली सॉफ्टवेयर के नामसे मशहूर हुआ।

टैली सॉफ्टवेयर के विभिन्न वर्जन – Versions of Tally

निम्नलिखित तौर पर हमने आपको टैली सॉफ्टवेयर के शुरुवात से अबतक हुए वर्जन की जानकारी दी हुई है, जो के इस प्रकार से है –

  1. टैली ४.५
  2. टैली ५.४
  3. टैली ६.३
  4. टैली ७.२
  5. टैली ८.१
  6. टैली ९.०
  7. टैली इ.आर.पी ९

टैली सॉफ्टवेयर की विशेषताएँ – Tally Software Features

यहाँ हम आपको बताएंगे उन खास विशेषताओ के बारे मे जो खास तौर पर टैली सॉफ्टवेयर मे मौजूद होती है, जो के निचे दिए हुए तौर पर है –

  • टैली सॉफ्टवेयर के मदद से बकाएदार और खराब डेबिटर्स की भुगतान से संबंधित मामलो मे पहचान करना आसान हो जाता है।
  • डेटा एंट्री और अकाउंटिंग संबंधी कार्य काफी गतिशीलता से पुरे होते है।
  • एक से अधिक बडी मात्रा के डेटा को एक साथ अपडेट करने मे टैली सॉफ्टवेयर सक्षम होता है।
  • टैली सॉफ्टवेयर के माध्यम से स्टॉक की निगरानी रखना संभव होता है।
  • टैली सॉफ्टवेयर मे लगभग १ लाख कंपनीयो के रेकॉर्ड्स को एक साथ सुरक्षित रखने की व्यवस्था दी गई होती है।
  • इस सॉफ्टवेयर के मदद से ऐसे भी कंपनीयो के अकाउंटस का प्रबंधन और रिपोर्ट्स तैयार किया जाता है, जो एक से अधिक स्थानो पर कार्य करती है।
  • टैली सॉफ्टवेयर के मदद से लाभ केंद्र और लागत के विश्लेषण करने मे सहायता मिल जाती है।
  • उपयोगकर्ता के भाषा विकल्प के चयन अनुसार रेकॉर्ड को सहेज कर रखने में इससे परिणाम प्राप्त करने मे तथा समय समय पर चेक करने हेतू टैली सॉफ्टवेयर सक्षम होता है।

टैली सॉफ्टवेयर के फायदे और उपयोग – Benefits and Uses of Tally Software

बहुत से लोगो के मन मे ये प्रश्न होगा के टैली कोर्स को सिखने के बाद इसका उपयोग किस तरह से हो सकता है तो इससे जुडी जानकारी आपको निम्नलिखित तौर पर दी गई है, जो के इस प्रकार से है –

  • अगर आप अकाउंट से जुड़े क्षेत्र में नौकरी करते है या फिर स्वतंत्र व्यवसाय करते है, तो इन दोनो स्थिती मे टैली का आपको फायदा होता ही, क्योंकी अधिकतर हिसाब किताब को आप इस सॉफ्टवेयर के मदद से सुचारू रूप से सहेज कर रख सकते हो , तथा एक से ज्यादा कंपनीयो या दफ्तर के महत्वपूर्ण हिसाब किताब को रोज मर्रा रख सकते हो।
  • किसी कोचिंग सेंटर पर टैली कोर्स सिखाने का कार्य भी आप आसानी से कर सकते है।
  • अगर आप टैली कोर्स सिख चुके हो और आपको पुरे समय कामकाज करना संभव ना हो तो उस स्थिती मे आप पार्ट टाईम अकाउंटेंट के तौर पर नौकरी भी कर सकते हो।
  • बहुत बार जी.एस.टी रिटर्न को फाईल करनेवाले लोगो की आवश्यकता रहती है, इस स्थिती मे टैली की मदद से अगर आपको जी.एस.टी रिटर्न को फाईल करना आता है, तो इस कार्य द्वारा भी धन अर्जित करने का विकल्प प्राप्त हो जाता है।
  • बहुत से लोग आर्थिक स्थिती कमजोर होने के कारण कम समय मे रोजगार प्राप्त करना चाहते है उस स्थिती मे टैली वो अनिवार्य कोर्स साबित होता है जो ऐसे लोगो को रोजगार दिलाने के लिए मददगार साबित होता है।
  • विभिन्न दफ्तरो मे कर्मचारियो के वेतन, उपस्थिती, बोनस,कटौती, भुगतान से संबंधित अकाउंट प्रबंधन हेतु टैली सॉफ्टवेयर की मदद ली जाती है जिससे सटीकता से परिणाम प्राप्त होते है।
  • अधिकतर बँकिंग व्यवस्था मे ग्राहको के अकाउंट प्रबंधन का कार्य टैली सॉफ्टवेयर की मदद से किया जाता है।
  • टैली सॉफ्टवेयर मे मौजूद ऑडीट टूल की मदद से विभिन्न व्यवसाय क्षेत्र और कंपनीयो को वित्तीय वर्ष के मौजुदा ऑडीट से संबंधित कार्य करने मे आसानी होती है, अधिकतर बार इस टूल द्वारा लेन देन से संबंधित चीजो पर नियंत्रण रखने का प्रमुख कार्य किया जाता है।
  •  कई बार ऐसा भी होता है के कुछ लोगो को रसीद, बिलिंग, चालान, वाउचर को सहेज कर रखना होता है, जो के महत्वपूर्ण होते है इस स्थिती मे टैली सॉफ्टवेयर द्वारा ऐसे कार्य बखुबी किए जाते है।
  •  विश्व मे कुछ प्रमुख संस्थाए ऐसी भी होती है जिनका विश्वभर मे विस्तार हुआ रहता है, इस स्थिती मे ऐसे संस्थाओ का महत्वपूर्ण डेटा टैली सॉफ्टवेयर द्वारा नियंत्रित कर उपयोग मे लाया जाता है। इसका फायदा ये होता है के दुनिया के किसी भी देश से इस संस्था से जुडे व्यक्तियो को टैली सॉफ्टवेयर द्वारा डेटा प्रबंधन करने मे आसानी हो जाती है।

टैली कोर्स का अवधी – Tally Course Duration

हम आपको बता दे की टैली कोर्स का अवधी लगभग ३ माह से लेकर ६ माह तक का होता है, जिस अवधी मे आप इस कोर्स को पुरा कर सकते है।

टैली कोर्स का शुल्क – Tally Course Fees

इस कोर्स हेतू लगभग ६००० हजार रूपए तक का शुल्क होता है, जिसमे विभिन्न स्थानो के अनुसार अंतर देखने को मिल सकता है।

टैली कोर्स हेतू आवश्यक पात्रताए – Eligibility for Tally Course

अगर आप टैली कोर्स को प्रवेश लेने के इच्छुक है तो आपको निम्नलिखित पात्रता को पुरा करना आवश्यक बन जाता है, जो के इस प्रकार से है –

  1. इच्छुक छात्र ने न्यूनतम १२ वी कक्षा को मान्यताप्राप्त शिक्षा संस्थान/ बोर्ड से उत्तीर्ण करना अनिवार्य होता है।
  2. इच्छुक छात्र को व्यवसाय प्रबंधन से जुडा ज्ञान होना आवश्यक माना जाता है।
  3.  जिन छात्रो को स्नातक डिग्री को उत्तीर्ण कर इस कोर्स हेतू प्रवेश लेना है, तो इस स्थिती मे वाणिज्य शिक्षा धारा से स्नातक परीक्षा उत्तीर्ण छात्रो हेतू इस कोर्स को बेहतर विकल्प के तौर पर माना जाता है।

टैली कोर्स का पाठ्यक्रम – Syllabus of Tally Course

यहाँ हम जानेंगे टैली कोर्स के पाठ्यक्रम के बारे मे जिसमे निचे दी हुई बाते शामिल होती है, जैसे के –

  • इन्वेंटरी(Inventory)
  • बँकिंग (Banking)
  • बिलिंग (Billing)
  • पे रोल (Pay Roll)
  • अकाउंटिंग (Accounting)
  • टैक्सेशन (Taxation)

टैली इ.आर.पी ९ (सरलकृत) का पाठ्यक्रम – Tally ERP Simplified Syllabus.

  • वोल्युम १ – Volume 1.
  1. अकाउंटिंग एंड इन्वेंटरी प्रबंधन (Accounting And Inventory Management)
  2. बिल (Bill)
  3. रिपोर्ट्स (Reports)
  4. ऑर्डर प्रोसेसिंग एंड प्री क्लोजुएर ऑफ़ ऑर्डर्स (Order Processing And Pre-Closure of Orders)
  5. बिल ऑफ मटेरीअल्स (Bill of Materials)
  6. कॉस्ट सेन्टर्स एंड कॉस्ट कॅटेगरिज(Cost Centers And Cost Categories)
  7. झिरो वैल्यू एन्ट्री( Zero Value Entry)
  8. प्राईस लेव्हल एंड प्राईस लिस्ट (Price Level And Price List)
  9. पॉइंट ऑफ़ सेल्स (Point of Sales)
  10. डिफरेंट एक्चुअल बिल एंड क्वांटिटी (Different Actual Bill And Quantity)
  • वोल्युम २ – Volume 2
  1. वैट (Vat)
  2. एसेंशियल ऑफ़ टैक्सेशन (Essential of Taxation)
  3. टी.डी.एस (TDS)
  4. सर्विस टैक्स (Service Tax)
  5. एडवांस्ड फीचर (Advanced Feature)
  6. एक्साइज (Excise)

टैली इ.आर.पी ९ (विकसित) का पाठ्यक्रम- Tally ERP Advanced Syllabus

  1. फंडामेंटल ऑफ़ अकाउंट एंड इन्वेंटरी (Fundamentals of Account And Inventory)
  2. एडवांस्ड इन्वेंटरी एंड टेक्नोलॉजिकल कैपेबिलिटीज (Advanced Inventory And Technological Capabilities)
  3. पेरोल एण्ड एडवांस्ड फीचर्स (Payroll And Advanced Features)
  4. एडवांस्ड टैक्सेशन(Advanced Taxation)
  5. फंडामेंटल्स ऑफ़ टैक्सेशन (Fundamentals of Taxation)

टैली कोर्स के बाद मौजूद रोजगार विकल्प – Job Opportunities after Tally Course

यहाँ हम आपका परिचय कराएंगे उन रोजगार विकल्पो के पदो के साथ जो टैली कोर्स को पुरा करने के पश्चात आपको प्राप्त हो जाते है, इनमे शामिल पद निम्नलिखित तौर पर है जैसे के –

  • टैक्स अकाउंटेंट (Tax Accountant)
  • एडमिन एग्जीक्यूटिव (Admin Executive)
  • सिनियर अकाउंटेंट (Senior Accountant)
  • फाइनेंशियल एनालिस्ट (Financial Analyst)
  • टैली ऑपरेटर (Tally Operator)
  • सुपरवाइजरी अकाउंटेंट (Supervisory Accountant)
  • ऑडिट एग्जीक्यूटिव (Audit Executive)
  • एकाउंटिंग असिस्टेंट (Accounting Assistant)
  • टैली अकाउंट्स मैनेजर (Tally Accounts Manager)
  • सर्विस को-ऑर्डिनेट विथ टैली (Service Co-Ordinate With Tally)
  • अकाउंट एग्जीक्यूटिव (Account Executive)
  • टैली जूनियर अकाउंटेंट (Tally Junior Accountant)

टैली कोर्स उत्तीर्ण करने के बाद दी जानेवाली सैलरी – Tally Job Salary

जिन सभी लोगो ने टैली कोर्स को उत्तीर्ण किया होता है उन्हे अधिकतर बार अकाउंट्स से संबंधित क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध होते है, यहाँ पर नौकरी का स्थान, कंपनी का विस्तार, उम्मीदवार का पूर्वानुभव आदि प्रमुख बातो को ध्यान में रखकर सैलरी प्रदान की जाती है।

आम तौर पर शुरुवात में प्रतिमाह १२,००० से लेकर १५,००० हजार रुपये तक सैलरी टैली उत्तीर्ण लोगो को दी जाती है, जिसमे सालाना ५ लाख से लेकर ७ लाख रूपये तक बढ़ोतरी देखने को मिल जाती है।

‘टैली विथ जी.एस.टी’ के बारे मे संक्षेप मे जानकारी – Tally with GST Course

संपूर्ण भारत मे १ जुलाई २०१७ से कर प्रणाली मे बदलाव कर जी.एस.टी पद्धती को लागू कर दिया गया था, जिसके अनुसार सामग्री और सेवा से जुडे लेन-देन पर पहले से लागू करप्रणाली को रद्द कर केवल जी.एस.टी ही एकमात्र कर व्यवस्था शुरू की गई थी।

टैली सॉफ्टवेयर अकाउंटिंग से जुड़े कार्य से संबंधित होने के कारण इसमें जी.एस.टी को शामिल किया गया। टैली के मदद से जी.एस.टी से संबंधित डेटा का स्वीकार करने तथा इसे सहेज कर रखने का कार्य किया जाता है। इस से व्यवसाय से जुड़े रोज मर्रा की लेन देन में जी.एस.टी लागु कर बिलिंग करना तथा प्रत्येक बिल को सहेज कर रखने का प्रमुख कार्य करना आसान बन गया है।

जी.एस.टी का अर्थ गुड्स एंड सर्विस टैक्स होता है, जिसको टैली विथ जी.एस.टी सॉफ्टवेयर मे दिया हुआ रहता है, कुछ आसान बातो का चरणबध्द तरीके से पालन कर आपको जी.एस.टी को सक्रीय कराना होता है।

इस क्रिया से आप बेहतर तरीके से जी.एस.टी से जुडे हिसाब किताब के कार्य कर सकते है, और यकीन मानिए ये काफी सरलता से परिणाम उपलब्ध करवाता है।

इस प्रकार से अब तक आपने टैली के बारे मे विभिन्न पह्लूओ के बारे मे जानकारी को पढा जिसका निकट भविष्य मे आपको अवश्य लाभ होगा।

आशा करते है के ये जानकारी आपको काफी पसंद आयी होगी, अन्य लोगो को इस जानकारी का लाभ पहुचाने हेतू लेख को अवश्य साझा करे। हमसे जुडे रहने हेतू बहुत बहुत धन्यवाद..

टैली सॉफ्टवेयर के बारे मे अधिकतर बार पुछे जाने वाले सवाल – Tally Quiz Questions with Answers

Q. टैली (Tally) का फुल फॉर्म तथा हिंदी मे अनुवाद क्या होता है? (Full Form of ‘Tally’?)

जवाब: ‘ट्रांसजेक्शन अलॉवड़ इन ए लिनियर लाइन यार्ड्स’ जिसका हिंदी मे अनुवाद ‘एक रेखीय परिमाण पद्धती से अनुमत प्राप्त लेन देन’ होता है।

Q. मुझे बताइए के टैली कोर्स का कुल अवधी कितना है? (Tally course total duration?)

जवाब: ३ माह से लेकर ६ माह तक।

Q. टैली कोर्स का शुल्क कितना होता है? (Tally course fees?)

जवाब: लगभग ६ हजार रूपए तक।

Q. टैली कोर्स के लिए प्रवेश हेतू न्यूनतम शिक्षा पात्रता क्या होती है? (Educational eligibility criteria to get admission for Tally course?)

जवाब: कक्षा १२ वी को उत्तीर्ण करना आवश्यक होता है।

Q. सबसे पहले बने टैली संस्करण का नाम क्या था?(Tally first version name?)

जवाब: टैली ४.५

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *