नर्सिंग कोर्स ए.एन.एम कि संपूर्ण जानकारी

ANM Course Details in Hindi

अक्सर हम देखते है के चिकित्सा के क्षेत्र में कई बड़े अस्पतालों में प्रमुख चिकित्सको के अलावा कई अन्य ढेर सारे सहकर्मी होते है।जिनमे नर्सेस, जुनिअर स्तर के प्रॅक्टिशनर चिकित्सक तथा सफाई कमर्चारी इत्यादि होते है।

सार्वजानिक हो या निजी अस्पताल कुल मिलाके सभी जगह पर ढेर सारी चिकित्सा संबंधी सेवाए सभी लोगो तक पहुचाने हेतु एक व्यवस्था बनाना तथा उसमे नियोजन रखना परम आवश्यक होता है।

प्रमुख चिकित्सको के गैर मौजूदगी में आम तौर पर बहुत सारी स्वास्थ्य और ईलाज संबंधी जिम्मेदारियों का दायित्व नर्सेस और जुनिअर स्तर के चिकित्सको के ऊपर निर्भर होता है।ये सारी चिजे सुचारू रूप से संभालने हेतु नर्सेस को उनके साथ सहकर्मियों की जरुरत होती है।

अक्सर इन सहकर्मियों की अत्याधिक आवश्यकता प्रसूति केंद्र या फिर मैटर्निटी अस्पताल में होती है, जहा महिला सहकर्मी हमें नर्सेस के साथ मदद के हेतु देखने को मिलती है।

आम भाषा में इन सहर्मियो को ‘दाई’ कहा जाता है, जिसे मेडिकल के शब्दों में ‘मिडवाइफरी’ संबोधन दिया गया है।ये सभी सहकर्मी प्रसूति केंद्र या अस्पताल में मौजूद होते है, जो के इन सभी चिजो को संभालने हेतु प्रशिक्षित किये हुए रहते है।

हालाकि इस तरह के कार्य करने हेतु प्रशिक्षण संबंधी शिक्षाक्रम भी शिक्षा व्यवस्था में मौजूद होते है, जिसमे सभी बुनियादी चिजो का ज्ञान प्रदान किया जाता है।

इस महत्वपूर्ण लेख में आप ऐसेही नर्सिंग से जुड़े मिडवाइफरी डिप्लोमा कोर्स ए.एन.एम् की संपूर्ण बुनियादी जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।जिसमे इस कोर्स में प्रवेश हेतु पात्रता, अवधी तथा अन्य महत्वपूर्ण चिजो को आप बारिकी से समझ और जान पायेंगे।जिससे जो भी इच्छुक व्यक्ती इस कोर्स को प्रवेश लेना चाहता है, उन्हें जानकारी के माध्यम से मदद मिल पायेगी।

नर्सिंग कोर्स ए.एन.एम कि संपूर्ण जानकारी – ANM Course Details in Hindi

ANM Course Details in Hindi
ANM Course Details in Hindi

ए.एन.एम् का फुल फॉर्म या अर्थ क्या होता है? – ANM full form or What is ANM Course

ए.एन.एम् का फुल फॉर्म “ऑक्जिलरी नर्सिंग मिडवाइफरी” होता है, जो के नर्सिंग में सहकर्मी यानि ‘दाई’ से संबंधित शिक्षाक्रम होता है।जिसमे इस कोर्स में प्रवेश प्राप्त छात्रो को नर्सेस के साथ काम करने हेतु सभी आवश्यक चिजो का ज्ञान प्रदान कर प्रशिक्षित किया जाता है।

इस कोर्स के शिक्षाक्रम में दवाई, स्वास्थ्य तथा सहकर्मी बनने हेतु आवश्यक चिजो की सभी प्रकार की जानकारी दी जाती है।जिसमे इस प्रकार के शिक्षाक्रम को पूरा करने वाले व्यक्ती ना केवल व्यावसायिक क्षेत्र में अपितु सामाजिक जिवन तथा व्यक्तिगत जिवन में स्वास्थ्य सहकर्मी के तौर पर जिम्मेदारियों को संभालने हेतु सक्षम हो जाते है।

प्रसूति गृह में इस तरह के सहकर्मियों की अत्याधिक आवश्यकता होती है, जो के नवजात शिशु एवं उनकी माताओ की देखभाल करने में खासे सक्षम होते है। ये एक डिप्लोमा स्तर का प्रमाणपत्र कोर्स होता है, इसकी अन्य जानकारी हम आगे विस्तार से देनेवाले है।

ए.एन.एम् कोर्स की अवधी – ANM Course Duration

इस डिप्लोमा शिक्षाक्रम की तय अवधी २ साल की होती है, जिसमे अधिकतर बार असफल होना मतलब इस शिक्षाक्रम की तय अवधी में बढ़ोतरी होना होता है।

शिक्षाक्रम का शुल्क – ANM Course Fees

इस शिक्षाक्रम में शिक्षा का शुल्क अवसतन सालाना १०,००० से लेकर ६०,००० तक होता है, जो के पुरे शिक्षाक्रम का शुल्क निकाले तो लगभग १ लाख से लेकर १ लाख २० हजार तक हो सकता है। वही दुसरे ओर निजी संस्था या महाविद्यालय में इस शुल्क में बढ़ोतरी होती है।

अगर कोई छात्र घरसे बाहर अन्य शहर में इस शिक्षाक्रम को पूरा करने जाता है तो, इसमें अन्य खर्च भी जुड़ जाते है।

हम नजर डालेंगे विभिन्न राज्यों में इस शिक्षाक्रम के शुल्क पर जैसे के कुछ राज्यों के शिक्षा शुल्क की जानकारी निम्नलिखित तौर पर दी गई है।

१. उत्तर प्रदेश राज्य में ए.एन.एम् शिक्षाक्रम का शुल्क – ANM Course Fees in UP

इस राज्य में इस शिक्षाक्रम का संपूर्ण शुल्क लगभग १ लाख से लेकर ४ लाख के बिच आता है, जिसमे शिक्षा शुल्क में बुनियादी अंतर महाविद्यलय के चयन अनुसार होता है। जैसा के अगर आप इस कोर्स हेतु सार्वजानिक महविद्यालय में प्रवेश लेते है तो निजी महविद्यालय की तुलना में आपको खर्च काफी कम आता है।

२. राजस्थान राज्य में ए.एन.एम्  शिक्षाक्रम का शुल्क – ANM Course Fees in Rajasthan

लगभग १ लाख से लेकर ३.५ लाख तक का शिक्षा शुल्क इस राज्य के महाविद्यालयों में इस शिक्षाक्रम हेतु होता है, जिसमे आपके महाविद्यालय के चयन अनुसार कुछ हद तक अंतर आ सकता है।

३. बिहार राज्य में ए.एन.एम् कोर्स का शुल्क – ANM Course Fees in Bihar

बिहार में ए.एन.एम् शिक्षाक्रम का निजी महाविद्यालय में संपूर्ण शुल्क लगभग १.५ लाख तक होता है।वही सार्वजनिक महाविद्यालय में ये शुल्क बहुत कम होता है जो के लगभग १०,००० तक का होता है।

४. महाराष्ट्र में ए.एन.एम् कोर्स का शुल्क. – ANM Course Fees in Maharashtra

इस शिक्षाक्रम का शुल्क महाराष्ट्र राज्य में सार्वजानिक महाविद्यालय के अंतर्गत लगभग सालाना ६०,००० तक का होता है जो के संपूर्ण कोर्स के हिसाब से लगभग १ लाख २० हजार तक का होता है। वही निजी महविद्यालय में शिक्षाशुल्क लगभग ४ लाख तक का होता है।

ए.एन.एम् शिक्षाक्रम में प्रवेश हेतु पात्रता – ANM Course Eligibility

इस शिक्षाक्रम में प्रवेश हेतु पात्रता निम्नलिखित तौर पर होती है;

  1. न्यूनतम कक्षा १२ वी विज्ञान,वाणिज्य अथवा कला शाखा से उत्तीर्ण करना अनिवार्य होता है।
  2. कक्षा १२ वी में न्यूनतम औसत अंक ५० प्रतिशत तक होने चाहिए।
  3. प्रवेश हेतु इच्छुक व्यक्ति की न्यूनतम आयु १७ साल से लेकर अधिकतम ३५ तक होनी चाहिए।

ए.एन.एम् शिक्षाक्रम का पाठ्यक्रम – ANM Course Syllabus

निचे हमने इस शिक्षा क्रम का संपूर्ण पाठ्यक्रम दिया है, जिसे पढकर आपको इस शिक्षाक्रम संबंधी अधिक जानकारी मिल पायेगी।

  • प्रथम वर्ष – ANM 1st Year Syllabus

विषय:

  1. कम्युनिटी हेल्थ एंड नर्सिंग
  2. प्राइमरी हेल्थकेयर नर्सिंग
  3. प्रिवेंशन ऑफ़ डिसिज एंड रिस्टोरेशन ऑफ़ हेल्थ
  4. हेल्थ प्रोमोशन एंड नुट्रीएशन
  5. चाइल्ड हेल्थ एंड नर्सिंग -१
  6. इंटरनल/लेबर रूम
  7. एनवायर्नमेंटल सेनिटेशन
  8. पोस्ट नेटल केयर
  9. निओनेटल केयर यूनिट
  • द्वितीय वर्ष – ANM 2nd Year Syllabus

विषय:-

  1. मिडवाइफरी थ्योरी
  2. मिडवाईफरी प्रैक्टिकल
  3. चाइल्ड हेल्थ एंड हेल्थ नर्सिंग- २
  4. हेल्थ सेंटर मैनेजमेंट प्रैक्टिकल
  5. हेल्थ सेंटर मैनेजमेंट थ्योरी
  6. अँन्टीनॅटल वार्ड

ए.एन.एम् शिक्षाक्रम में प्रवेश हेतु प्रवेश प्रक्रिया – ANM Course Admission Process

जैसा के इस शिक्षाक्रम में प्रवेश हेतु दो तरीके से प्रवेश प्रक्रिया पूरी की जाती है, जिसमे या तो कक्षा १२ वी के कुल प्राप्त अंको के आधार पर छात्रो को प्रवेश निर्धारित किया जाता है। इसके अलावा कुछ महविद्यालयो में इस शिक्षाक्रम हेतु पात्रता परीक्षा के अंको के आधार पर प्रवेश निश्चित किया जाता है।

१.सिधे तौर पर प्रवेश – Direct Admission 

इसमें छात्रो को उनके कक्षा बारवी के कुल अंको के आधार पर प्रवेश तय किया जाता है,जहा प्राप्त हुए सभी प्रवेश हेतु आवेदनों के आधार पर महाविद्यालय में मेरिट लिस्ट लगाई जाती है।

या फिर महाविद्यालयों के अधिकारिक वेबसाईट पे भी इस तरह की मेरिट लिस्ट जारी की जाती है,जिसमे उच्च अंक प्राप्त छात्रो को प्रधानक्रम दिया जाता है।

२.एंट्रेंस परीक्षा के आधार पर – By Qualifying Entrance Exam.

जैसा के कुछ महाविद्यालयों में पात्रता परीक्षा के आधार भी छात्रों का चयन होता है, ऐसेही कुछ पात्रता परीक्षा निम्नलिखित तौर पर दी गई है।

१. जे.आई.पी.एम.ई.आर नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम
२. इंडियन आर्मी नर्सिंग एंड जी.एन.एम
३. पी.जी.आई.एम.ई.आर नर्सिंग

उपरोक्त दी गई एंट्रेंस परीक्षा अंको के आधार पर कुछ महविद्यालयो में छात्रो को प्रवेश निश्चित किया जाता है।

एन.एन.एम कोर्स प्रवेश हेतु महाविद्यालय/यूनिवर्सिटी – ANM College

जैसा के संपूर्ण भारतभर में नर्सिंग और उससे जुड़े शिक्षाक्रम से संबंधित महाविद्यालय एवं शिक्षा संस्थाए मौजूद है, ऐसेही कुछ प्रमुख महविद्यालयो की जानकारी निम्नलिखित तौर पर दी गई है।

  1. तीर्थंकर महावीर महविद्यालय – मोरादाबाद
  2. अपोलो कॉलेज ऑफ़ फिजिओथेरपी – दुर्ग
  3. युनिवर्सल ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन्स – अंबाला
  4. परुल यूनिवर्सिटी- गुजरात
  5. भावना इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च – भुवनेश्वर
  6. मोहम्मद अली जुहार यूनिवर्सिटी – रामपुर
  7. एन. आई.एम.एस यूनिवर्सिटी- जयपुर
  8. रामा यूनिवर्सिटी- कानपूर
  9. तिलक महाराष्ट्र विद्यापीठ – पुणे
  10. स्वामी विवेकानंद सुभार्ती यूनिवर्सिटी – मिरत
  11. दिल्ली इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड पैरामेडिकल साइंसेस- नई दिल्ली
  12. सर्वोदय हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर – फरीदाबाद
  13. हैप्पी चाइल्ड कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग- सोनिपत (हरियाणा)
  14. श्री गुरु राम राय यूनिवसिर्टी – देहरादून
  15. साईनाथ यूनिवर्सिटी – रांची
  16. संगम यूनिवर्सिटी- भिलवाडा
  17. भगवंत यूनिवर्सिटी- अजमेर
  18. विद्यादिप ग्रुप ऑफ़ कॉलेज एंड स्कुल – सूरत
  19. बंगाल यूनिवर्सिटी ऑफ़ हेल्थ साइंस – लुधियाना
  20. बेल एयर कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग – सातारा (महाराष्ट्र)
  21. गिरिराज नर्सिंग स्कूल- बारामती
  22. गोदावरी कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग- जलगाँव
  23. इंदिरा गाँधी नर्सिंग स्कुल- नागपुर
  24. कलावती इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग एजुकेशन- नई मुंबई
  25. के.टी पाटिल कॉलेज ऑफ़ बी.एस.सी नर्सिंग एंड स्कुल ऑफ़ नर्सिंग – ओस्मानाबाद
  26. माँ गायत्री स्कुल ऑफ़ नर्सिंग- नवसारी (अमरावती- महाराष्ट्र)
  27. महाराष्ट्र इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग साइंसेस – लातूर
  28. महात्मा फुले पैरामेडिकल कॉलेज- अकोला
  29. पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग- ग्वालियर
  30. कुशाभाऊ ठाकरे नर्सिंग कॉलेज- भोपाल
  31. पारिजात कॉलेज- इंदौर
  32. बिहार इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग एंड पैरामेडिकल- पटना
  33. मगध एएनएम् ट्रेनिंग स्कुल- पटना
  34. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ हेल्थ एजुकेशन एंड रिसर्च- पटना
  35. कर्नाटक ग्रुप ऑफ़ कॉलेज- बंगलोर
  36. मातृश्री रमाबाई आंबेडकर कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग – बंगलोर
  37. ए.एन.एम ट्रेनिंग स्कूल – डिंडीगुल (तमिलनाडु)
  38. स्कूल ऑफ़ नर्सिंग- तिरुवल्लुर
  39. हेल्थ एंड फॅमिली वेलफेअर सेंटर – चेन्नई
  40. एस.व्ही.एस मेडिकल कॉलेज- महबुबनगर
  41. मदर टेरेसा कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग- हैदराबाद
  42. प्रतिमा इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस- करीमनगर
  43. तिरुमाला मेडिकल अकादमी- निज़ामाबाद
  44. गवर्नमेंट टी.डी मेडिकल कॉलेज- अलाप्पुज़ा
  45. त्रावनकोर मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल – कोल्लम
  46. कोचीन मेडिकल कॉलेज- कोचीन, इत्यादि………..

ए.एन.एम कोर्स के बाद रोजगार के अवसर एवं सैलरी – Job Opportunities And Salary After A.N.M

कुछ प्रमुख पदों का विवरण निम्नलिखित तौर पर दे रहे है, जिनपर आसानी से इस कोर्स को पूर्ण करने के बाद नौकरी मिल जाती है।

  1. होम नर्स
  2. मिडवाइफ
  3. आय.सी.यु नर्स
  4. कम्युनिटी हेल्थ वर्कर
  5. लिगल नर्स कंसल्टेंट्
  6. सर्टिफाइड नर्सिंग असिस्टेंट
  7. फॉरेंसिक नर्स
  8. स्टाफ नर्स
  9. टिचर – नर्सिंग स्कुल
  10. सीनियर नर्स एजुकेटर

उपरोक्त दिए गए सभी पद मेडिकल के निजी एवं सार्वजनिक दोनों क्षेत्र में मौजूद रहते है, जहा पर इस क्षेत्र के अनुसार आप सैलरी प्राप्त कर सकते है।सामान्यतः इन पदों को सालाना दो लाख से लेकर साढ़े तीन लाख तक का सैलरी पैकेज या पे स्केल दिया जाता है।

इस प्रकार से २ साल के अवधी के इस डिप्लोमा कोर्स को पूर्ण कर आप एक अच्छे सुनहरे भविष्य का निर्माण कर सकते है, जो के खासकर महिला वर्ग के लिए प्राधान्य क्रम का शिक्षाक्रम होता है।

हम आशा करते है उपरोक्त दी गई कोर्स संबंधी सभी बुनियादी जानकारी आपको जरुर पसंद आई होगी एवं इसका आपको जिवन में अवश्य लाभ होगा। हमारे अन्य विषय पर बने लेख अवश्य पढ़े तथा और लोगो तक पहुचाये, हमसे जुड़े रहने के लिए बहुत धन्यवाद।………

इस विषय पर अधिकतर बार पूछे जाने वाले सवाल – FAQ

१. ए.एन.एम् का फुल फॉर्म क्या होता है?

जवाब: ए.एन.एम् का फुल फॉर्म “ऑक्जिलरी नर्सिंग मिडवाइफरी” होता है।

२. नर्सिंग के शिक्षाक्रम ए.एन.एम् का अवधी क्या होता है?

जवाब: २ साल।

३. ए.एन.एम् कौनसे स्तर का शिक्षाक्रम होता है?

जवाब: डिप्लोमा प्रमाणपत्र स्तर का।

४. मुझे ए.एन.एम् में प्रवेश लेना है, इसका शिक्षा शुल्क क्या होता है?

जवाब: संपूर्ण शिक्षाक्रम का शुल्क १.५ लाख से लेकर ३.५ लाख के बिच होता है, जो के आपके निजी या सार्वजानिक महाविद्यालय के चयन अनुसार तय होता है।

५. क्या ए.एन.एम् कोर्स करने के बाद सार्वजानिक क्षेत्र में नौकरी मिल सकती है?

जवाब: हा।

६. ए.एन.एम् प्रवेश हेतु पात्रता परीक्षा देना अनिवार्य होता है क्या?

जवाब: नहीं, कुछ विशेष महाविद्यालय ही सिर्फ इस तरह के पात्रता परीक्षा आयोजित करते है।आम तौर पर सिधे तरीके से आप प्रवेश ले सकते है।

७. मैंने कला शाखा से कक्षा बारवी उत्तीर्ण की है, तो क्या मै ए.एन.एम् कोर्स के लिए प्रवेश ले सकता हु?

जवाब: हा।

८. ए.एन.एम् में प्रवेश हेतु न्यूनतम शिक्षा संबंधी पात्रता क्या होती है?

जवाब: कक्षा १२ वी उत्तीर्ण करना अनिवार्यता होती है।

९. ए.एन.एम् कोर्स पूरा करने के बाद सैलरी क्या होती है?

जवाब: सालाना २ लाख से लेकर ३.५ लाख के बिच सैलरी दी जाती है।

१०. जी.एन.एम् का फुल फॉर्म क्या होता है?

जवाब: जनरल नर्सिंग मिडवाइफरी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *