Skip to content

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर निबंध – Essay on Beti Bachao Beti Padhao

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर निबंध नंबर 3 (700 शब्द) – Essay on Beti Bachao Beti Padhao 3 (700 Word)

समाज में बेटियों की हो रही दुर्दशा और लगातार घट रहे लिंगानुपात, समाज के लोगों की संकीर्ण मानसिकता का सबूत है। समाज में बेटी – बेटा के प्रति फैली असामनता की भावना का नतीजा ही है कि आज कन्या भ्रूण हत्या, बलात्कार जैसे जघन्य अपराधों में बढ़ोतरी हो रही है।

बेटियों को बोझ समझकर कई लोग उन्हें जन्म से पहले कोक में ही मार देते हैं तो कई लोग ऐसे भी हैं कि बेटियों को जन्म लेने पर उन्हें कटीली झाड़ियों में फेंक देते हैं या फिर अंधविश्वास के चलते उन्हें जिंदा जला देते हैं, जिसके चलते पिछले कुछ सालों में बेटियों की संख्या में काफी गिरावट दर्ज की गई है।

इसी को देखते हुए भारत में मोदी सरकार ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की –

क्या है मोदी सरकार की बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना? – What is Beti Bachao Beti Padhao Scheme

देश में लगातार घट रहे बेटियों के लिंगानुपात पर काबू पाने, बेटियों को सुरक्षा करने और उन्हें शिक्षित करने के उद्देश्य से 22 जनवरी साल 2015 में मोदी सरकार ने हरियाणा के पानीपत में इस योजना की शुरुआत की।

इस योजना को शुरुआत में देश के 100 जिलों में शुरु किया गया फिर बाद में यह देश के सभी राज्यों में शुरु की गई।

शुरुआत में जिन जिलों में बेटियों की संख्या बेहद कम थी और उनकी स्थिति बेहद खराब थी उन जिलों में इस योजना की शुरुआत की गई थी ताकि वहां की बेटियों की दशा में सुधार लाया जा सके और बेटियों के प्रति लोगों की संकीर्ण सोच को बदला जा सके।

विश्व बालिका दिवस के मौके पर देश की बेटियों को बचाने और उन्हें समाज में उचित दर्जा दिलवाने का संकल्प लिया गया।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के उद्देश्य – Beti Bachao Beti Padhao Scheme Purpose

समाज में बेटियों की स्थिति में सुधार करने, बेटियों के घट रहे लिंगानुपात में काबू पाने और उन्हें शिक्षित कर समाज में उन्हें उचित दर्जा दिलावाने के मकसद से इस योजना की शुरुआत की गई थी देश की बेटियों के बेहतर भविष्य का निर्माण हो सके।

इस योजना के तमाम उद्देश्यों के बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं जो कि इस प्रकार है –

  • कन्या भ्रूण हत्या पर लगाम लगाना
  • समाज में बेटियों की स्थिति में सुधार लाना
  • समाज में बेटी-बेटा के बीच फैली असमानता को दूर करना
  • बेटियों की सुरक्षा को सुनिश्चनत करना
  • बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा देना
  • लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाना
  • बेटियों के जीवन स्तर में सुधार करना

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत क्यों हुई ? – Beti Bachao Beti Padhao Scheme Launched

लगातार घट रहे बेटियों के लिंगानुपात को देखते हुए मोदी सरकार ने इस योजना की शुरुआत की थी क्योंकि बेटियों की संख्या में लगातार आ ही कमी बेहद चिंता की बात है।

यहां तक की दुनिया के लिए भी काफी बड़ा संकट गहरा सकता है, जिस तरह से लोग बेटों को चाह में बेटियों को जन्म से पहले ही मार रहे हैं, उसको देखते हुए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत की गई, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग बेटियों के महत्व को समझ सकें और बेटियों की सुरक्षा और शिक्षा को लेकर जागरूक हो सकें।

इसके साथ ही समाज में बेटी और बेटा के बीच समानता का भाव पैदा हो सके इस योजना के तहत ब्लॉक स्तर, जिला स्तर और पंचायत स्तर पर जागरूकता अभियान का भी आयोजन किया जा रहा है, जिसमें लोग बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के लाभ – Beti Bachao Beti Padhao Scheme Benefits

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के माध्यम से बेटियों को बेटों की तरह दर्जा दिलवाने और सशक्त बनाने की कोशिश की है, वहीं इस योजना से बेटियों के जीवन स्तर में काफी हद तक सुधार आया है।

हर क्षेत्र में बेटियां आगे बढ़ रही हैं फिर चाहे वह राजनीति का क्षेत्र हो, मेडिकल का क्षेत्र हो, इंजीनियर का क्षेत्र या फिर अन्य कोई और क्षेत्र। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के तहत बेटियों को कई तरह के लाभ मिले हैं, जिनके बारे में नीचे लिखा गया है –

  • बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के माध्यम से बेटियों की शिक्षा के प्रति जागरूकता फैली।
  • इस योजना के तहत देश की कई बेटियों को उनकी शादी में भी आर्थिक रुप से मद्द की जा रही है।
  • बेटियों की पढ़ाई का खर्च भी उठाया जा रहा है।
  • कन्या भ्रूण हत्या को रोकने में मद्द मिल रही है।
  • बेटिया आत्मनिर्भर बन रही है।

निष्कर्ष-

मोदी सरकार द्धारा शुरु की गई बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना, लगातार महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे जघन्य अपराधों को रोकने के लिए एक प्रशंसनीय पहल है।

इस योजना से जहां लोग बेटियों की सुरक्षा और शिक्षा को लेकर जागरूक हो रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ इससे देश में शिक्षा के स्तर में भी सुधार होगा और एक सभ्य और शिक्षित समाज के निर्माण में मद्द मिलेगी। इसके साथ ही इससे देश के आर्थिक विकास में भी मद्द मिलेगी।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के तहत बेटियों को उनका अधिकार मिलने में मद्द मिल रही है, ज्यादा से ज्यादा महिलाओं में आत्मनिर्भर बनने की भावना का विकास हो रहा है, इसके साथ ही समाज में भी महिलाओं के प्रति सम्मान की भावना और ज्यादा विकसित हुई है।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना की खास बात यह है कि इसके तहत सरकार बेटियों की शिक्षा के साथ-साथ उनकी शादी के लिए भी आर्थिक मद्द रही है जिससे देश की कई बेटियों की जिंदगी संवर रही हैं और उनके बेहतर भविष्य का भी निर्माण हो रहा है।

Read More:

Hope you find this post about ”Essay on Beti Bachao Beti Padhao in Hindi” useful. if you like this articles please share on Facebook & Whatsapp.

Pages: 1 2 3