होली पर कुछ कविताएँ

Holi Poem in Hindi

हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार होली प्रेम, भाईचारा, सोहार्द, सदभाव एकता रंग एवं मिठाई का पर्व है, जिसे सभी भारतीय आपस में मिलजुल बनाते हैं। होली के उत्सव को फाल्गुन मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है।

इस पर्व से कई धार्मिक और पौराणिक कथाएं जुड़ी हुई हैं। इस पर्व का धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और जैविक महत्व है। इसलिए इस पर्व को लोग बेहद धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं।

यह नई खुशियों, उमंग और उत्साह का पर्व है। जिसे बुराई पर अच्छाई की जीत के पर्व के रुप में मनाया जाता है। दिल को जोड़ने वाला यह उत्सव हैं और यह उत्सव देश के सबसे प्राचीन त्योहारों में से एक है, हमारे पुराण में इस त्यौहार से जुडी बहुत सी कहानियाँ हैं। जैसे उनमें से सबसे दिलचस्प कृष्ण-राधा प्रेम कहानी, प्रहलाद और हिरणकश्यप के की कहानी, बुराई पर अच्छाई की जीत की हमेशा याद दिलाती है।

वहीं होली के पर्व को कुछ कवियों ने सुंदर रचनाओं में पिरोया है। होली के पवित्र पर्व के महत्व को इन कविताओं द्धारा समझा जा सकता हैं। आज हम यहाँ वही कविताएँ आप के लिए लाये हैं।

होली पर कुछ कविताएँ – Holi Poem in Hindi

Holi Poem

Holi Poem Hindi

होली आयी

होली आयी, होली आयी, साथ ढेरों खुशियाँ लायी
होली खेले राधा सँग कन्हाई
डाले इक दूजे पे रंग गुलाल
हो गए सब के रंगबिरंगी गाल
यह प्यार का त्योहार सबसे निराला
खुश है सब के संग कान्हा
चढा सब पर प्रेम का ऐसा रँग
मस्ती मे झूमे सबका अन्ग-अन्ग
आओ हम भी साथ खेले होली
चलो आज होलिका को सब मिल के जलाएँ
एक नया इतिहास बनाएँ
जलाएँ हम उसमे अपने बुरे विचार
कटु-भावो का करे तिरस्कार
नफरत की दे दे आहुति
आज लगाएँ प्रेम भभूति
प्रेम के रन्ग मे सब रन्ग डाले
नफरत नही कोई मन मे पाले
सब इक दूजे के हो जाएँ
आओ हम सब होली मनाएँ

Holi Kavita in Hindi

रंग-बिरंगे त्योहार होली को सभी लोग अपने-अपने तरीके से मनाते हैं, हालांकि सभी का इस पर्व को मनाने का मकसद एक ही हैं। इस पर्व से होलिका और भक्त प्रह्लाद, राधा-कृष्ण के पवित्र प्रेम, भगवान शिव और पार्वती समेत तमाम पौराणिक कथाएं जुड़ी हुई हैं, जिसकी वजह से इस पर्व का महत्व और भी बढ़ जाता है।

इस पर्व से लोगों की गहरी आस्था जुड़ी हैं। वहीं कवि ने भी अपनी कविता में होली के पर्व का प्यार एवं खुशियों के पर्व के रुप में बेहद शानदार ढंग से वर्णन किया है।

वहीं आप होली पर लिखी गईं इन कविताओं को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर भी शेयर कर सकते हैं और लोगों को इसके महत्व के बारे में जागरूक कर सकते हैं।

Holi Kavita in Hindi
Holi Kavita in Hindi

पुराने दिनों की याद दिलाती होली

होली आती हैं हमें याद दिलाती
पिचली कितनी होली
वो बचपन की होली
वो सखियों की होली
वो गुजियों वाली होली
सब कुछ याद दिलती
होली आती हैं रंग गले लगाती हैं
आकर सब को नहलाती हैं,
होली आती हैं हमें हमारे पुराने दिनों की याद दिलाती हैं।

Kavita on Holi Festival

होली

होली है भाई होली है
मौज मस्ती की होली है
रंगो से भरा ये त्यौहार
बच्चो की टोली रंग लगाने आयी है
बुरा ना मानो होली है
होली है भाई होली है
एक दूसरे हो रंग लगाओ
मन की कड़वाहट को छोड़ो
सब मिल के खुशियां मनाओ
अपनी परंपरा कभी न छोड़ो
बुरा ना मानो होली है
होली है भाई होली है
होलिका दहन का मतलब समझो
हिरणकश्यप के दंभ को तोड़ो
भक्त प्रह्लाद को रखना याद
कभी न छोड़ना सच का साथ
बुरा ना मानो होली है
होली है भाई होली है

~ सूर्यकांत त्रिपाठी “निराला”

Holi Festival Poem in Hindi

होली का पर्व एक ऐसा पर्व है, जिसे हर वर्ग, जाति के लोग बेहद धूमधाम और उत्साह से मनाते हैं तो वहीं कई लोगों की इस पर्व से अपने बचपन की यादें भी जुड़ी रहती हैं।

कवि ने अपनी कविता में पुराने दिनों की यादों के रुप में इसका बेहद खूबसूरती से वर्णन किया है। इसके साथ ही होली पर बच्चों की मौज-मस्ती, मेल-मिलाप का भी वर्णन किया है।

हालांकि, आजकल बदलते युग के साथ होली ने भी आधुनिकता का रुप ले लिया है, लेकिन हम सब को होली के महत्व को समझकर इस पर्व को आपस में मिलजुल कर प्रेम और भाईचारे के साथ मनाना चाहिए और इस दिन अपने अंदर की सभी बुराईयों को खत्म करने का संकल्प लेना चाहिए।

Holi Festival Poem in Hindi
Holi Festival Poem in Hindi

होली आज मनाना है

आज हमें तुमको रंग लगाना है
होली आज मनाना है।
इनकार मत करो
रंगों को तुम स्वीकार करो
आज रंगो से तुम्हें नहलाना है
होली आज मनाना है।
भर के पिचकारी जो मारी
भीगा सारा अंग अंग भीगी साड़ी
तुम्हे अपने ही रंग में रंगवाना है
होली आज मनाना है।
रंग गुलाल तो बहाना है
दूरियाँ सारी दिलों की मिटाना है
तो कैसा ये शरमाना है
होली आज मनाना है।

~ अंशुमन शुक्ल

3 thoughts on “होली पर कुछ कविताएँ”

  1. atoot bandhan

    सभी कवितायें बहुत सुन्दर हैं , रंगोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं

  2. होली की बहुत बहुत बधाई । होली पर बहुत अच्छी कविताओ का संकलन किया गया है ।

    होली के इन रंगो मे अपने मन मुटाव को उडा दे और प्यार से होली मनाएँ।

    GyanDrashta

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *