आईएमएफ की पहली महिला मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ!

Gita Gopinath

हर व्यक्ति की चाह होती है कि वो एक दिन अपने देश का नाम विश्वभर में प्रसिद्ध करें। और इसी बात को भारत से बेहतर कौन समझ सकता है? आज के समय में भारतीयों की ताकत और बुद्धी को पूरा विश्व सलाम कर रहा है। शायद यही कारण है कि अमेरिका में 33 प्रतिशत डॉक्टर भारतीय है इसके अलावा नासा में भी भारतीय का प्रभुत्व साबित है।

दुनिया की टॉप कंपनीज में काम करने वाले अधिंकाश लोग भारतीय है। और यही इन टॉप कंपनीज में से कई कंपनियों के तो शीर्ष पद भी भारतीय ही विराजमान है फिर चाहे हम गूगल के सीईओ सुंदर पिच्चई की बात करें या फिर माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडला की।

खैर इन बातों को काफी समय गुजर चुका है लेकिन हाल ही में भारत ने एक ओर क्षेत्र में अपनी बुद्धिमता का परिचय दिया है। दरअसल हाल ही में भारतीय मूल की गीता गोपीनाथ को IMF – आईएमएफ यानी अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष का प्रमुख – IMF Head नियुक्त किया गया है। किसी भारतीय महिला का अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रमुख बनना किसी बड़ी उपलब्धि से कम नही है। जिसे लेकर हमें गर्व महसूस होना चाहिए।

आपको बता दें इस बात कि जानकारी खुद आईएमएफ ने ट्विटर के जरिए दी है। गीता गोपीनाथ – Gita Gopinath अभी तक हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के तौर पर कार्यरत है। चलिए आपको बताते है गीता गोपीनाथ – Gita Gopinath की जिदंगी से जुड़ी कुछ अहम बातें

Gita Gopinath
Gita Gopinath

आईएमएफ की पहली महिला मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ – IMF Head Gita Gopinath

Gita Gopinath – गीता गोपीनाथ मूल रुप से केरल की रहने वाली है। गीता गोपीनाथ का जन्म भी केरल में ही हुआ है। गीता केरल सरकार की वित्तीय सलाहाकर भी रह चुकी है। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई ने गीता की नियुक्ति की थी। जिसे लेकर गीता ने कहा था कि वो इस पद को पाकर काफी गौरवान्वित महसूस कर रही है।

गीता गोपीनाथ ने अपनी पढ़ाई साल 1992 दिल्ली यूनिवर्सिटी के नंबर वन कॉलेज लेडी श्रीराम कॉलेज से इकॉनोमिक्स में पूरी की थी। इसके अलावा गीता गोपीनाथ ने दिल्ली स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से ही मास्टर डिग्री भी की। जिसके बाद गीता वॉशिंगटन चली गई। जिसके बाद गीता ने प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से पीएचडी पूरी की।

गीता गोपीनाथ अब तक कई महत्वपूर्ण पदों पर अब तक विराजमान रह चुकी है। Gita Gopinath – गीता गोपीनाथ ने साल 2001 से 2005 तक शिकागो यूनिवर्सिटी में अस्टिंटेट प्रोफेसर तौर पर काम किया। इसके बाद साल 2005 में गीता हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर के तौर पर कार्यरत हुई। और साल 2010 में हार्वर्ड की प्रोफेसर बन गई। इसके बाद हार्वर्ड में कार्यरत रहते हुए ही गीता साल 2015 में इंटरनेशनल स्टडीज़ एंड ऑफ़ इकनॉमिक्स में भी प्रोफेसर के तौर पर पढ़ाने लगी।

आपको बता दें गीता गोपीनाथ अमेरिकन इकनॉमिक्स की सह संपादक है साथ ही नेशनल ब्यूरो ऑफ इकनॉमिक रिसर्च में इंटरनेशनल फाइनेंस एंड मैक्रोइकनॉमिक की सह निदेशक भी है।

गीता गोपीनाथ के नाम अंतराष्ट्रीय वित्तीय संकट, कर्ज, बाजार की समस्याओँ, व्यापार में निवेश, संबंधित 40 रिसर्च लेख लिखने की उपलब्धि है।

और शायद यही वजह भी है कि गीता गोपीनाथ आज अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रमुख नियुक्त की गई है साथ ही ये भारतवर्ष के लिए भी एक उपलब्धि की बात है कि हमारे देश की महिलाएं वैश्विक स्तर पर हमारे देश का नाम रोशन कर रही है।

जरूर पढ़े:  

Loading...

Please Note: अगर आपके पास IMF Head Gita Gopinath की Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. धन्यवाद
अगर आपको हमारी Information About IMF Head Gita Gopinath In Hindi अच्छी लगे तो जरुर हमें Facebook पे Like और Share कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.