प्यार पर कुछ कविताएँ | Love Poem in Hindi

Love Poem in Hindi

दोस्तों, प्यार शब्द का मतलब आसानी से समझ नहीं आयेंगा उसे हमें महसूस करना होंगा। प्यार एक ऐसी क्रिया हैं जिसे भगवान ने हमारे लिए बनाया हैं। प्यार, दुनिया का वो खूबसूरत एहसास है जो कि हर किसी की जिंदगी को खूबसूरत बना देता है। ऐसा जरूरी नहीं कि प्यार सिर्फ एक लड़का और लड़की के बीच में ही हो। प्यार भाई-बहन, माता-पिता किसी से भी हो सकता है। प्यार को सिर्फ वो लोग ही समझ सकते हैं, जिन्होंने अपनी जिंदगी में सच में किसी से सच्चा प्यार किया है।

जब इंसान किसी से सच्चे मन और श्रद्दा के साथ प्यार करता है तो इसका मतलब यह है कि वो, उस इंसान की सभी अच्छी और बुरी आदतों से भी प्यार करता है और उसके अच्छे-बुरे हर वक्त में साए की तरह उसका साथ देता है। वहीं कई बार लोग लव्जों में अपने मन की भावनाओं को व्यक्त नहीं कर पाते हैं, ऐसे में प्यार पर लिखीं गईं इस तरह की Love Poem के माध्यम से आप अपने दिल की बात कह सकते हैं और इन कविताओं को सोशल मीडिया साइट्स पर भी शेयर कर सकते हैं।

प्यार पर कुछ कविताएँ – Love Poem in Hindi

Love Poem

Hindi Kavita On Love

प्यार में कई बार अपनी भावनाओं को इजहार करने की भी जरूरत होती है, वहीं इस तरह की कविताएं आपको अपने दिल की बात को खूबसूरती के साथ इजहार करने का मौका तो देती ही हैं साथ ही आपके पलों को और भी अधिक  खुशनुमा बनाने का काम करती हैं। प्यार में इंसान सब कुछ भुलाकर सिर्फ और सिर्फ उस व्यक्ति की खुशी और सफलता के बारे में सोचता है जिससे वो प्यार करता है।

“अपना प्यार बना लो….”
मुझे अपनी जान बना लो,
अपना अहसास बना लो,
मुझे अपने अल्फाज़ बना लो,
अपने दिल की आवाज़ बना लो,
बसा लो अपनी आँखों में
मुझे अपना ख़्वाब बना लो,
मुझे छुपा लो सारी दुनिया से
अपना एक गहरा राज बना लो
आज बन जाओ मेरी मोहब्बत
और मुझे अपना प्यार बना लो….

Poem on Love in Hindi

जब हम किसी से सच्चा प्यार करते हैं तो यही चाहते हैं कि वो हमारे साथ जिंदगी भर रहे और प्यार में जुदाई के नाम से ही आंखे नम हो जाती है और एक अजीब सा डर सताने लगता है। वहीं इस पोस्ट में हमने जुदाई नामक शीर्षक से एक बेहतरीन कविता शेयर की है, जिसकी हर एक पंक्ति में इसका गहरा अर्थ छिपा हुआ है। आप इस तरह की कविताओं को अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर अपने दोस्तों केक साथ शेयर कर सकते हैं।

“जुदाई”
जो तुमसे दूर चला गया हैं, उसके लिए क्यों आँसू बहाना
जो अतीत का पन्ना हैं, उसके लिए क्यों अपना वर्तमान गवाना,
जो जब वो बेगाना हैं, उसके लिए क्यों खुद को दिन रात रुलाना,
पर अब वो किसी और के संग हैं, अब वो किसी और की दिल की उमंग हैं
तुम्हारी अच्छाई बहुत अच्छी लगती हैं,
तुम्हारी बुराई बहुत बुरी लगती हैं,
तुम्हारे सौ झूट के आगे हमें तुम्हारी एक बात सच्ची लगाती हैं.
तुम एक बार माफ़ी मांगो,
हम अपने आंसू भुला देते हैं,
दूसरी बार मांगो तो तुम्हारे संग चले आते हैं
हमारी खुद की बाते हमें गलत लगाती हैं,
तुम्हारी सौ गलत बातें भी आंखिर हमें अच्छी लगाती हैं,
तुमसे बिछड कर जीने के लिए जिंदगी कब तैयार हुई
सिर्फ़ जुदा होने के ख्याल से आँखे नाम हो जाती हैं.

Hindi Love Poems

कई लोग जिससे प्यार करते हैं, उससे अपने मन की बात नहीं कह पाते है, या फिर नेगेटिव रिस्पॉन्स के डर से अपनी भावनाओं को मन में ही छिपा लेते हैं, ऐसे लोगों के लिए प्यार पर लिखीं गई ये खूबसूरत कविताएं काफी काम की साबित हो सकती है। इन कविताओं के माध्यम से आप भी अपनी मोहब्बत का इजहार खूबसूरती से कर सकते है और अपना इंप्रेशन भी सामने वाले पर जमा सकते हैं।

“दिल की चाहत”
मेरे दिल की चाहत,
कल भी तुम थे और आज भी तुम हो
मेरी ज़रूरत,
कल भी तुम थे और आज भी तुम हो
तुमने तो मुझे कबका भुला दिया
मेरी आदत,
कल भी तुम थे और आज भी तुम हो
तुमने न जाना कितना, तुमको प्यार किया
मेरी इबादत,
कल भी तुम थे और आज भी तुम हो
बेखबर बनते हो, खबर हो के भी
मेरी किस्मत,
कल भी तुम थे और आज भी तुम हो

Pyar par Kavita

कई लोगों को अपनी जिंदगी में प्यार में धोखा भी मिलता है, ऐसे लोग अंदर ही अंदर घुटते रहते हैं और बैचेनी के साथ अपनी जिंदगी जीने लगते है। कई बार तो व्यक्ति अपने मन की भावनाओं को किसी के साथ शेयर नहीं कर पाता ताकि उसका समाज में और परिवार में मजाक न बने। ऐसी स्थिति में व्यक्ति काफी परेशान रहने लगता है। ऐसे में इस तरह के कविताओं के माध्यम से भी वे अपनी भावनाओं को व्यक्त कर सकते हैं और अपने मन का बोझ हल्का कर सकते हैं।

“तन्हाई”
सदिया गुजर गयी किसी को अपना बनाने में,
मगर एक पल भी न लगा उन्हें हमसे दूर जाने में…
लोगो की साजिशों का रंग उनपे ऐसा छाने लगा,
के उसके बाद तो हम उन्हें अपने दुश्मन नज़र आने लगे….
हम फिर भी हस्ते रहे उनके जुल्मों को सह कर भी,
धीरे धीरे उनके सितम सह कर हमें मजा आने लगा……..
जब थक गए हमारी रूह तक को तड़पा कर वों,
तब वो धीरे धीरे हमसे दूर जाने लगे……
ये गम तन्हाई दर्द और यादोँ के साये,
ये सब तोहफ़ा हमनें उनसें ही है पाए….
मेरी ग़लती सिर्फ़ इतनी सी थी के मैं वफ़ादार निकला,
जितने दिल से की उनकी मोहब्बत में उतना ही बड़ा गुन्हेगार निकला….

Gyanipandit.com Editorial Team create a big Article database with rich content, status for superiority and worth of contribution. Gyanipandit.com Editorial Team constantly adding new and unique content which make users visit back over and over again.

11 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.