महात्मा गांधी जी पर कविताएं…

Mahatma Gandhi Poem In Hindi

महात्मा गांधी जी देश के एक ऐसे युगपुरुष थे, जो कि अपने प्रभावशाली व्यक्तित्व एवं महान सिद्धान्तों की वजह से समस्त संसार के प्रेरणास्त्रोत बने।

सत्य और अहिंसा उनके दो ऐसे सशक्त हथियार थे, जिन्होंने देश के स्वतंत्रता संग्राम में क्रूर ब्रटिश शासकों भी अपने घुटने टेकने के लिए मजबूर कर दिया था।

गांधी जी आजादी के मुख्य सूत्रधार थे, जिनका जन्म 2 अक्टूबर, 1869 में गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। उनकी जयंती को पूरी दुनिया में अहिंसा दिवस एवं भारत में राष्ट्रीय पर्व के तौर पर मनाया जाता है।

इस दिन सभी भारतीय एकजुट होकर बापू जी को सच्चे मन में श्रद्धासुमन अर्पित करते हैं और उनके द्धारा राष्ट्र के लिए दिए गए त्याग, बलिदान और समर्पण को याद करते हैं एवं उनके विचारों का अनुसरण करने का संकल्प लेते हैं।

2 अक्टूबर को मनाई जाने वाली गांधी जयंती के मौके पर स्कूलों, कॉलेजों में आयोजित कार्यक्रमों में गांधी जी के महान व्यक्तित्व की व्याख्या करने एवं उनके प्रति कृतज्ञता प्रकट करने के लिए कई अध्यापकों एवं छात्रों द्धारा गांधी जी पर लिखीं गईं कुछ  कविताएं भी सुनाईं जाती हैं।

वहीं आज हम आपको अपने इस लेख में गांधी जी पर लिखीं गई कुछ ऐसी ही कविताएं उपलब्ध करवाएं, जिन्हें पढ़कर न सिर्फ आपको गांधी जी के उदारवादी, आदर्शवादी एवं सैंद्धान्तवादी व्यक्तित्व के बारे में पता चलेगा, बल्कि देश के राष्ट्रपिता के प्रति सम्मान की भावना भी विकसित होगी।

Mahatma Gandhi Poem in Hindi

महात्मा गांधी जी पर कविताएं – Mahatma Gandhi Poem In Hindi

बापू

आँखों पर चश्मा हाथ में लाठी और चेहरे पर मुस्कान,

दिल में था उनके हिंदुस्तान,

अहिंसा उनका हथियार था,

अंग्रेजों पर भारी जिसका वार था,

जात-पात को भुला कर वो जीना सिखाते थे,

सादा हो जीवन और अच्छे हो विचार,

बड़ो को दो सम्मान और छोटो को प्यार,

बापू यही सबको बताते थे,

लोगों के मन से अंधकार मिटाते थे,

स्वच्छता पर वे देते थे जोर,

माँ भारतीय से जुड़ी थी उनकी दिल को डोर,

ऐसी शख्सियत को हम कभी भूला ना पाएंगें,

उनके विचारों को हम सदा अपनायेंगे।

महात्मा गांधी जी पर कविताएं – Mahatma Gandhi Kavita

बापू जी की देशभक्ति एवं उनके द्धारा राष्ट्र के लिए किए गए त्याग, बलिदान और समर्पण पर यूं तो कई कविताएं लिखी गईं हैं,

लेकिन इस लेख में हम आपको सत्य और अहिंसा के पुजारी एवं आजादी के महानायक महात्मा गांधी जी पर लिखी गई कुछ ऐसी कविताएं उपलब्ध करवा रहे हैं, जिन्हें पढ़कर आप सभी भारतवासी के मन में गांधी जी के लिए सम्मान की भावना पैदा होगी एवं उनकी अहमियत को समझने में मद्द मिलेगी।

महात्मा गांधी जी पर लिखीं गईं इन कविताओं को आप अपनी सोशल मीडिया साइट्स फेसबुक, व्हाट्सऐप, ट्वीटर, इंस्टाग्राम आदि पर भी शेयर कर उन्हें श्रद्धांजली दे सकते हैं।

बापू तेरा जीवन महान।

बापू तेरा जीवन महान।

तेरी कथनी करनी महान, तेरे कर्मों की गति महान।

बापू तेरा जीवन महान।

सत्य, अहिंसा के बल का जन-जन को भान कराया था।

मानव में ईश्वर की सत्ता का तुमने बोध कराया था।

तूने जगती को दिखा दिया भारत की संस्कृति है महान।।

बापू तेरा जीवन महान।

तूने अंग्रेजी सत्ता की ताकत को धूल चटा दी थी।

जन-जन के मानस में तूने सत्याग्रह शक्ति जगा दी थी।

तेरे श्रम, त्याग, तपस्या से स्वाधीन हुआ भारत महान।।

बापू तेरा जीवन महान।

तूने दुश्मन से प्यार किया, अन्यायों का प्रतिकार किया।

भूले, भटके इन्सानों को नवजीवन का आधार दिया।

चल पड़े करोड़ो मानव – जन, तेरे जीवन का पथ महान।।

बापू तेरा जीवन महान।

निर्धन, शोषित जनता को लागु उद्योग का उपहार दिया।

चरखे का चक्र चला कर शोषक सत्ता का संहार किया।

दे मंत्र स्वदेशी का तूने फिर जगा दिया था स्वाभिमान।।

बापू तेरा जीवन महान।

हर ऊँच-नीच के भेद भाव को मिटा दिया तूने बापू।

जो थे अछूत उनको हरिजन का नाम दिया तुमने बापू।

भंगी बस्ती में वास किया तुम दीनबंधु वैष्णव महान।।

बापू तेरा जीवन महान।

महात्मा गांधी जी पर कविताएं – Gandhi Jayanti Par Hindi Kavita

तमाम परेशानियों एवं संघर्षों का सामना करने के बाद भी महात्मा गांधी जी अंग्रेजों से आजादी पाने के अपने लक्ष्य से नहीं हिले और न ही कभी उन्होंने इसके लिए हिंसक तरीका अपनाया।

उनके सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने के कारण ही उन्हें ‘महात्मा’ एवं राष्ट्रपिता की उपाधि दी गई थी। अंग्रेजों के अत्याचार के खिलाफ शांति से अपनी आवाज बुलंद करने वाले गांधी जी ने अपना पूरा जीवन राष्ट्र की सेवा में समर्पित कर दिया और अन्य लोगों को भी सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने की सीख दी।

उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ सविनय अवज्ञा आंदोलन, असहयोग आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन चलाकर ब्रिटिश हुकूमत को उनकी वास्तविकता से वाकिफ करवा दिया था।

उनका मुख्य उद्देश्य भारत देश मे एकजुटता लाना एवं समाज में फैली जातिगत भेदभाव एवं छूआछूत जैसी तमाम कुरोतियों को दूर करना था।

आज हम सभी भारतीय महात्मा गांधी जी द्धारा स्वतंत्रता संग्राम में किए  गए अथक प्रयासों के बल पर ही आजाद भारत में चैन की सांस ले रहे हैं।

वहीं गांधी जयंती के मौके पर गांधी जी के जीवन पर समर्पित ये कविताएं उनकी महानता को प्रस्तुत करती हैं। इन कविताओं के माध्यम से आप भी अपने राष्ट्रपिता के प्रति सम्मान प्रकट कर सकते हैं।

राष्ट्रपिता तुम कहलाते हो सभी प्यार से कहते बापू,
तुमने हमको सही मार्ग दिखाया सत्य और अहिंसा का पाठ पढ़ाया,
हम सब तेरी संतान है तुम हो हमारे प्यारे बापू।
सीधा सादा वेश तुम्हारा नहीं कोई अभिमान,
खादी की एक धोती पहने वाह रे बापू तेरी शान।
एक लाठी के दम पर तुमने अंग्रेजों की जड़ें हिलायी,
भारत माँ को आजाद कराया राखी देश की शान।

महात्मा गांधी जी पर कविताएं – Mahatma Gandhi Par Kavita In Hindi

सभी भारतीयों को एकजुट करने और अंग्रेजों को भारत छोड़ने के लिए मजबूर करने वाले स्वतंत्रता संग्राम के महान महानायक गांधी जी के जीवन से हर किसी को प्रेरणा लेने की जरूरत है, जिस तरह गांधी जी ने अपना पूरा जीवन राष्ट्र की सेवा में समर्पित कर दिया एवं एक साधारण मनुष्य की तरह उन्होंने अपनी जिंदगी जी उससे आज के हर युवाओं को सीखने लेनी चाहिए।

महात्मा गांधी जी एक कुशल प्रशासक थे, जिन्हें सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर सत्तासीन क्रूर ब्रिटिश अधिकारियों के बीच अपना रास्ता निकालना आता था।

गांधी जी का मानना था कि संतोष पूरी मेहनत और प्रयास से मिलता है न कि फल प्राप्ति से, पूरा प्रयास ही असली विजय होती है।

उनके जीवन पर लिखी गईं इन कविताओं के माध्यम से उनके प्रति सभी भारतीयों के मन में सम्मान का भाव पैदा होता है साथ ही उनके द्धारा राष्ट्र के लिए दिए गए बलिदानों के महत्व को समझने में मद्द मिलती है।

बापू महान, बापू महान!
ओ परम तपस्वी परम वीर
ओ सुकृति शिरोमणि, ओ सुधीर
कुर्बान हुए तुम, सुलभ हुआ
सारी दुनिया को ज्ञान
बापू महान, बापू महान!!
बापू महान, बापू महान
हे सत्य-अहिंसा के प्रतीक
हे प्रश्नों के उत्तर सटीक
हे युगनिर्माता, युगाधार
आतंकित तुमसे पाप-पुंज
आलोकित तुमसे जग जहान!
बापू महान, बापू महान!!
दो चरणोंवाले कोटि चरण
दो हाथोंवाले कोटि हाथ
तुम युग-निर्माता, युगाधार
रच गए कई युग एक साथ.
तुम ग्रामात्मा, तुम ग्राम प्राण
तुम ग्राम हृदय, तुम ग्राम दृष्टि
तुम कठिन साधना के प्रतीक
तुमसे दीपित है सकल सृष्टि

और अधिक लेख: 

  1. Mahatma Gandhi Quotes
  2. महात्मा गांधीजी की जीवनी
  3. Motivational quotes in Hindi
  4. स्वतंत्रता सेनानियों के नारे
  5. महात्मा गांधी पर निबंध

Note: You have more Mahatma Gandhi Poem in Hindi please write on comments.
If you like, Mahatma Gandhi Kavita in Hindi & Poem on Mahatma Gandhi then please share with others.

1 thought on “महात्मा गांधी जी पर कविताएं…”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *