मातृत्व दिवस पर भाषण | Mother day Speech

Mother day Speech

माँ का महत्व हर किसी भी व्यक्ति के जीवन में बहुत मायने रखता है। किसी भी इन्सान के जीवन की शुरुवात उसकी माँ से ही होती है। माँ अपने बच्चे को जन्म देती है, उसे अच्छे संस्कार देती है और उसे एक अच्छा इन्सान बनाती है। माँ के प्रति अपना प्यार और आदर जताने के लिए हम सब मातृत्व दिवस – Mother day मनाते है।

मातृत्व दिन के इस मौके पर हम सबने अपनी माँ के प्रति कृतज्ञता जतानी चाहिए। इस अच्छे मौके पर बहुत जगह पर भाषण दिए जाते है। स्कूल में भी इस मौके पर भाषण दिए जाते है। इस लेख में निचे माँ विषय पर बहुत सुन्दर और सरल भाषा में भाषण -Mother day Speech दिया गया है। उसकी मदत लेकर कोई भी काफी प्रभावी भाषण तयार कर सकता है।

Mother Day Speech

मातृत्व दिवस पर भाषण – Mother day Speech

आदरणीय प्राचार्य, आदरणीय शिक्षक और मेरे प्यारे मित्रो!

आज हम सब यहापर मातृत्व दिवस मनाने के लिए इकट्ठा हुए है। मै खुद को बहुत भाग्यवान समझती हु क्यों की आज मुझे माँ विषय पर अपने विचार आपके सामने रखने का मौका मिला है।

वैसे तो हमारा जीवन हमारे माँ और पिताजी की सेवा करने के लिए समर्पित रहता है लेकिन आज का जो दिन है वो केवल माँ के लिए ही खास है की इस दिन मातृत्व दिन मनाया जाता है, इसीलिए यह दिन हम सबके लिए और माँ के लिए काफी विशेष है।

इसी दिन हमें अपनी माँ के प्रति कृतज्ञता और प्यार का इजहार करने का मौका मिलता है। माँ अपनी पूरी जिंदगी अपने बच्चो के लिए ही जीती है, उनका खयाल रखती है लेकिन इसके बदले में वो अपने बच्चो से कुछ भी नहीं मांगती।

माँ को उसके बच्चो से अगर कुछ चाहिए तो वो अपने बच्चो से केवल प्यार की अपेक्षा रखती है। माँ के बच्चे उसके पास ही रहे, उसे प्यार करे, उसे गले लगा ले, यही माँ के लिए दुनिया की सबसे बड़ी चीज होती है।

माँ के साथ में जो हमारा रिश्ता होता है वो निस्वार्थ होता हैं हम अपने जिंदगी की कोई भी बात केवल अपनी माँ से खुल कर बता सकते है। जिंदगी में कितनी भी बड़ी मुश्किल आये माँ अपने बच्चो के साथ खड़ी रहती है और हर समस्या दूर करने में अपने बच्चो की सहायता करती है।

बहुत से ऐसे बच्चे होते है जो अपनी माँ की अहमियत को समझते ही नहीं, मगर जब उन्हें अपनी माँ का महत्व समझ में आता है तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। कुछ अपनी माँ को वृद्धाश्रम भेजते है और यह बात बहुत ही शर्मनाक है।

बहुत से लोग माँ की तुलना भगवान से करते है, लेकिन असल में माँ तो एक साक्षात देवी है जिसे हम खुद अपनी आखो से देख सकते है। माँ एक ऐसी देवी है जो हमें जन्म देती है, हमारे लिए कितने त्याग करती।

माँ जो हमारे लिए करती है उतना कोई भी इस दुनिया में कर नहीं सकता। इस दुनिया की किसी भी चीज की तुलना माँ के साथ में नहीं की जा सकती। माँ ऐसी व्यक्ति है जो हमारी किसी भी बात पर बिना पूछताछ किये विश्वास कर लेती है। माँ के सिवा इस दुनिया की कल्पना भी नहीं की जा सकती क्यों की इस दुनिया की निर्मिती केवल माँ की वजह से ही हुई है।

किसी भी इन्सान के कामयाबी में उसकी माँ का योगदान सबसे बड़ा होता है। माँ के बिना हमारी जिंदगी मुमकिन ही नहीं। माँ ही एक ऐसी व्यक्ति होती है जो अपने बच्चो को शिक्षा देती है, उन्हें अच्छे संस्कार सिखाती है, अपने बच्चो को पैरों पर चलना सिखाती है।

आज के इस अवसर पर हमने अपनी माँ के आभार मानने चाहिए क्यों की उसकी वजह से ही हम बड़े हुए, अगर माँ नहीं होती तो हम भी नहीं होते। माँ त्याग और समर्पण का प्रतिक होती है। इसीलिए आज हम इस दिवस को एक अविस्मरणीय और यादगार बनाने की कोशिश करते है।

परिवार में कई सारे लोग रहते है। मगर घर में बच्चा केवल अपनी माँ के पास ही अधिकतर रहता है। परिवार के अन्य लोगो के साथ में रहना उसे अच्छा लगता ही नहीं।

घर में भाई, बहन, माँ, बाप, दादा दादी रहते है फिर बच्चा अपनी माँ के पास में रहना अधिक पसंद करता है। घर के सभी लोग अच्छे होने के बाद भी बच्चे को केवल अपनी माँ ही अच्छी लगती है। इसीलिए दुनिया में माँ का जो महत्व है, उसका जो स्थान है वो सबसे ऊपर है।

Read More:

Hope you find this post about ”Mother day Speech” useful. if you like this Article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.