महान लोगों के महान प्रेरणादायक भाषण | Motivational Speech

Motivational Speech

जीवन में हम बहुत बार असफ़ल होते हैं, लेकिन इस असफ़लता से हमारा जीवन समाप्त नहीं हो जाता। बल्क़ि उस असफ़लता से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता हैं। यह अनमोल विचार तो हमनें कई बार सुना होंगा की,

“असफलता ही सफ़लता की पहली सीढ़ि होती हैं”

Motivational Speech

महान लोगों के महान प्रेरणादायक भाषण – Motivational Speech

इसी असफलता की निराशा से बाहर निकलने के लिए हमें प्रेरणा की बहुत जरुरत होती हैं। यह प्रेरणा हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। आज जो भी महान लोग बने हैं उन्हें सफ़लता प्राप्त करने के लिए असफ़लता से गुजरना पड़ा। तभी वह महान बन सकें। असफ़ल से हार मानने वाले कभी अपने लक्ष्य तक नहीं पहुँच सकतें। और कभी अपने सपनोँ को साकार नहीं कर सकतें।

अगर आप भी ऐसी असफ़लता की निराशा से गुजर रहे हो तो महान लोगोनें भाषण देते वक्त अपनी “असफलता से सफ़लता” तक की कहानी बतायी हैं उसे पढ़े ताकि आपकों उससे प्रेरणा मिले।

प्रेरणादायक भाषण को पढ़ने के लिए आगे की लिंक पर क्लीक करके आप उसे पढ़ सकते हैं।

“किस्मत के साथ एक वादा” यह भाषण चाचा नेहरू ने आज़ाद भारत को 14 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को दिया था और उन्होंने अपने भाषण में ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ किये गए दशको तक संघर्ष के बारे में बताया था।

लोकमान्य तिलक ने 1917 में नाशिक में होम रूल लीग की स्थापना के पहली वर्षगाठ पर भाषण दिया था।

मार्टिन लूथर किंग जूनियर अमेरिका के एक पादरी, आन्दोलनकारी (ऐक्टिविस्ट) एवं अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक अधिकारों के संघर्ष के प्रमुख नेता थे। उन्होनें 28 अगस्त 1963 में वाशिंगटन डी।सी। में दिया था।

“दी गैटिसबर्ग एड्रेस” यूनाइटेड स्टेट के राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन ने 1863 में अमेरिकन सिविल वॉर के समय भाषण दिया था। अमेरिका के इतिहास में उनके द्वारा दिये गए इस भाषण को सबसे महानतम भाषणों में से एक माना जाता है।

प्रेसिडेंट बराक ओबामा यूनाइटेड स्टेट ऑफ़ अमेरिका के 44 वे प्रेसिडेंट है और साथ ही अमेरिकी इतिहास के पहले काले प्रेसिडेंट है। प्रेसिडेंट बनने के कुछ समय बाद ही उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार से नवाजा गया था। अपने स्वीकृत भाषण में दुनिया की शांति के बारे में कुछ कहाँ। यह बराक ओबामा का हिंदी में अनुवाद किया गया भाषण हैं।

यह भाषण भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में डिजिटल इंडिया इवेंट पर सेन जोस, कैलिफोर्निया में दिया था। उनके सभी भाषण हमेशा प्रेरणा से भरे होते हैं। वह एक ऐसे व्यक्ति हैं जिनके जीवन में पीछे पलटकर देखा जाएँ तो उनसें बहुत कुछ सीखने जैसा हैं।

भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी किरण बेदी ने 31 अगस्त 1994 को मनिला में रमण मेगसेसे अवार्ड लेते समय के शानदार भाषण दिया था।

माय विज़न फॉर इंडिया – डॉ। अब्दुल कलाम कलम ने हैदराबाद के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (IIT) में 25 मई 2011 को अपना सबसे बेहतरीन भाषण दिया था।

जब सचिन तेंदुलकर अपना अंतिम मैच खेल रहे थे तब लाखो लोग इस सुनहरे मौके पर इकठ्ठा हुए थे। सचिन तेंदुलकर के इस प्रेरणादायक भाषण ने सभी को भावुक कर दिया था।

आझादी के लढाई में सुभाषचंद्र बोस ने यह प्रेरणादायक भाषण दिया था। उनके द्वारा कहा गया यह भाषण बाद में इतिहासिक बन गया और लाखो युवा उनके इस भाषण से प्रेरित हुए थे।

“भारत छोडो आन्दोलन – Quit India Movement” पर महात्मा गांधी ने 8 अगस्त 1942 को A.I।.C.C. मुंबई में दिया गया यह भाषण महात्मा गांधी के सबसे बेहतरीन भाषणों में से एक है।

चार्ली चैपलिन का अंतिम भाषण द ग्रेट डिक्टेटर – Charlie Chaplin Speech The Great Dictator (1940) दिया गया है, जो सभी समय के सबसे प्रेरणादायक और महान भाषणों में गिना जाता है।

स्वामी विवेकानंद हमेशा से युवाओं को प्रेरित करते आये है, विश्व धर्म सम्मेलन में उन्होंने दिया भाषण अपने आप में एक अमृतवाणी है।

एप्पल के सीईओ स्टीव जॉब्स 12 जून 2005 को स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक समारोह में शामिल हुए थे, जहाँ उन्होंने सबसे प्रसिद्ध भाषण Best speech “Stay Hungry Stay Foolish” दिया था। कुछ ही मिनट का ये भाषण दिया था। छोटा भाषण मगर प्रेरणादायक, उत्साहित और मनुष्य जीवन को कार्मिक दृष्टिकोण से देखने पर मजबूर कर देता है।

Read More:

Hope you find this post about ”Motivational Speech” useful. if you like this Article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update download: Gyani Pandit free Android app.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *